PSEB 5th Class Hindi रचना कहानी-लेखन

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Hindi Rachana Kahani Lekhan कहानी-लेखन Exercise Questions and Answers, Notes.

PSEB 5th Class Hindi Rachana कहानी-लेखन (2nd Language)

प्यासा कौवा

एक बार गर्मी का मौसम था। जेठ महीने की दोपहर थी। आकाश से आग बरस रही थी। सभी प्राणी गर्मी से घबरा कर अपने घरों में आराम कर रहे थे। पक्षी अपने घौंसलों में दोपहरी काट रहे थे।

PSEB 5th Class Hindi रचना कहानी-लेखन

ऐसे समय में एक कौवा प्यास से छटपटा रहा था। वह पानी की तलाश में इधर-उधर उड़ रहा था। परन्तु उसे कहीं पानी न मिला। अन्त में वह एक बाग में पहुँचा। वहाँ पानी का घड़ा पड़ा था। कौवा घडे को पाकर बहुत प्रसन्न हुआ। वह उड़कर घड़े के पास गया।

उसने पानी पीने के लिए घड़े में अपनी चोंच डाली। परन्तु घड़े में पानी बहुत कम था। उसकी चोंच पानी तक न पहुँच सकी। फिर भी – उसने आशा न छोड़ी।

उसी समय उसको एक युक्ति सूझी। वहाँ बहुत से कंकर पड़े थे। उसने एक-एक कंकर घड़े में डालना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में पानी ऊपर आ गया। कौवा बड़ा प्रसन्न हुआ। उसने जी भर कर पानी पिया और ईश्वर को धन्यवाद दिया।

शिक्षा-

  • जहाँ चाह वहाँ राह
  • आवश्यकता आविष्कार की जननी है।
  • यत्न करने पर कोई उपाय अवश्य निकल आता है।

चालाक लोमड़ी

एक लोमड़ी थी। वह बहुत भूखी थी। वह भोजन की खोज में इधर-उधर घूमने लगी। जब सारे जंगल में भटकने के बाद भी कुछ न मिला तो वह गर्मी और भूख से परेशान होकर एक पेड़ के नीचे बैठ गई। अचानक उसकी नज़र ऊपर की ओर गई। वहाँ पर एक कौवा बैठा हुआ था।

उसके मुँह में रोटी का टुकड़ा था। रोटी देखकर लोमड़ी के मुँह में पानी भर आया। वह कौए से रोटी छीनने का उपाय सोचने लगी। तभी उसने कौए को कहा, “क्यों कौवा भैया। सुना है तुम गीत बहुत अच्छा गाते हो। क्या मुझे गीत नहीं सुनाओगे ?” कौवा अपनी झूठी प्रशंसा को सुन कर बहुत खुश हुआ।

उसने ज्यों ही गाने के लिए मुँह खोला त्यों ही रोटी का टुकड़ा नीचे गिर गया। लोमड़ी ने रोटी का टुकड़ा उठाया और नौ-दो ग्यारह हो गई। कौवा पछताने लगा।

शिक्षा-किसी की झूठी प्रशंसा में कभी नहीं आना चाहिए।

PSEB 5th Class Hindi रचना कहानी-लेखन

दो बिल्लियाँ और बन्दर

किसी नगर में दो बिल्लियाँ रहती थीं। एक दिन उन्हें रोटी का टुकड़ा मिला। वे आपस में लड़ने लगीं। वे उसे आपस में समान भागों में बाँटना चाहती थीं लेकिन उन्हें कोई ढंग न मिला।

उसी समय एक बन्दर उधर आ निकला। वह बहुत चालाक था। उसने बिल्लियों से लड़ने का कारण पूछा। बिल्लियों ने उसे सारी बात सुनाई। वह तराजू ले आया और बोला, “लाओ, मैं तुम्हारी रोटी को बराबर बाँट देता हूँ।” उसने रोटी के दो टुकड़े लेकर

एक-एक पलड़े में रख दिये। जिस पलड़े में रोटी अधिक होती, बन्दर उसे थोड़ी-सी तोड़ कर खा लेता। इस प्रकार थोड़ी-सी रोटी रह गई। बिल्लियों ने अपनी रोटी वापस माँगी। लेकिन बन्दर ने शेष बची रोटी भी मुँह में डाल ली। बिल्लियाँ मुँह देखती रह गईं। शिक्षा-आपस में लड़ना-झगड़ना अच्छा नहीं।

अंगूर खट्टे हैं

एक बार एक लोमड़ी बहुत भूखी थी। वह भोजन की खोज में इधर-उधर गई पर भोजन नहीं मिला। अन्त में वह एक बाग में पहुँची। वहाँ उसने अंगूर की बेलों पर अंगूरों के गुच्छे देखे। इन्हें देखकर उसके मुँह में पानी आ गया। वह इन्हें खाना चाहती थी। अंगूर बहुत ऊँचे थे।

वह इन्हें पाने के लिए उछलने लगी। बार-बार उछलने पर भी उसके हाथ एक भी अंगूर नहीं लगा। अन्त में वह थक गई और निराश होकर यह कहती हुई वापिस लौट गई कि अंगूर खट्टे हैं। मैं इन्हें खाऊँगी तो बीमार पड़ जाऊँगी। शिक्षा-हाथ न पहुँचे थू कौड़ी।

लालची कुत्ता

एक बार एक कुत्ते को बहुत भूख लगी। वह भोजन की खोज में इधर उधर भटका। अन्त में उसे एक रोटी का टुकड़ा मिला। वह उसे अकेले में बैठकर खाना चाहता था। रास्ते में नदी का पुल पार करते समय उसने पानी में झाँका। पानी में उसे अपनी ही परछाईं दिखाई दी।

PSEB 5th Class Hindi रचना कहानी-लेखन

उसने समझा कि यह कोई दूसरा कुत्ता है जिसके पास भी एक रोटी का टुकड़ा है। उसके मन में लालच आ गया। उसने उस दूसरे कुत्ते से भी रोटी छीननी चाही। इसलिए वह ज़ोर से भौंका। भौंकने से उसका अपना रोटी का टुकड़ा भी पानी में जा गिरा। वह अपना टुकड़ा भी खो बैठा।

अब वह पछताने लगा और निराश होकर वापिस लौट गया।

शिक्षा-लालच बुरी बला है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Hindi Rachana Nibandh Lekhan निबंध-लेखन Exercise Questions and Answers, Notes.

PSEB 5th Class Hindi Rachana निबंध-लेखन (2nd Language)

मेरा घर

मेरा घर जालन्धर की बस्ती शेख में है। मेरा घर पक्की ईंटों से बना है। मेरा घर बहुत ही साफ़-सुथरा है। घर में प्रवेश करने के लिए काले रंग का एक बड़ा दरवाज़ा है। यह दरवाजा लोहे का है। बाहर की दीवारों का रंग हल्का हरा है। मैं अपने घर में माता-पिता, एक छोटे भाई और बहन के साथ रहता हूँ।

मेरे घर में चार कमरे हैं जिसमें एक बैठक और दो बैड रूम हैं तथा एक कमरा स्टोर रूम है जिसमें घर का फालतू सामान पड़ा रहता है। एक कमरा हम दो भाई-बहन का है। एक । रसोई घर तथा एक नहाने का छोटा कमरा भी है। रसोई घर में माता जी खाना बनाती हैं। हमारा कमरा बहुत सुन्दर है।

इसकी दीवारों का रंग हल्का पीला है। अपने कमरे में हमने अपनी तस्वीरें लगा रखी हैं। हमारा घर छोटा पर रोशनी वाला तथा हवादार है। मेरे घर में सुख-शान्ति का वास है क्योंकि घर में सभी प्यार से रहते हैं। मुझे मेरा घर बहुत प्रिय है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

मेरा मित्र

मोहन मेरा मित्र है। उसके पिता गाँव के नम्बरदार हैं। उसकी माता जी गाँव के प्राइमरी स्कूल में पढ़ाती हैं। मैं और मेरा मित्र मोहन पाँचवीं श्रेणी में एक ही स्कूल में पढ़ते हैं। हम दोनों समय पर स्कूल जाते हैं। श्रेणी के कमरे में बड़ी लगन के साथ पढ़ाई करते मैं और मेरा मित्र सफ़ाई का खास ध्यान रखते हैं।

हम दोनों हर रोज़ इकट्ठे ही खेलने जाते हैं। अक्सर हम दोनों स्कूल का काम मिल-जुल कर ही निपटाते हैं। हमारे अध्यापक हम दोनों पर बहुत खुश रहते हैं क्योंकि हम उनकी हर आज्ञा का पालन करते हैं। हम दोनों मित्र हर परीक्षा में अच्छे अंक लेकर पास होते हैं। मुझे अपने मित्र पर गर्व है। भगवान् ऐसा मित्र हर किसी को दे।

मेरा स्कूल

मेरे स्कूल का नाम ‘सरकारी प्राइमरी स्कूल’ है।

यह रेलवे स्टेशन के पास ही है। हमारे स्कूल में दस कमरे हैं। हर कमरे में हवा तथा रोशनी का पूरा प्रबन्ध है। सभी कमरों में बिजली के पंखे लगे हुए हैं। सभी कमरे बहुत अच्छे सजे हुए हैं। मेरे स्कूल में छोटा-सा बगीचा भी है। इसमें सुन्दर फूल खिले हुए हैं। इन फूलों से हमारे स्कूल की सुन्दरता और भी बढ़ जाती है। स्कूल में एक खेल का मैदान भी है। हम आधी छुट्टी के समय यहाँ खेलते हैं। हमारे स्कूल में सभी अध्यापक बहुत अच्छे हैं।

उनका पढ़ाने का ढंग बड़ा सरल है। इसलिए हमारे स्कूल के परिणाम सदा अच्छे रहते हैं। सच पूछो तो हमारा स्कूल हमारे नगर का सबसे अच्छा स्कूल है।

मेरा प्रिय अध्यापक

मेरे स्कूल में बहुत-से अध्यापक हैं। लेकिन श्री राजेन्द्र कुमार जी मुझे बहुत अच्छे लगते हैं। वह मेरे प्रिय अध्यापक हैं। उनके पढ़ाने का ढंग बहुत सरल है। वह विद्यार्थियों से बड़े प्रेम के साथ व्यवहार करते हैं।

उन्होंने उच्च शिक्षा प्राप्त की है। वह स्वयं उच्च विचारों वाले तथा नम्र-स्वभाव के व्यक्ति हैं। वह स्वयं भी सदा सत्य बोलते हैं और हमें भी सदा सत्य के पथ पर चलने की शिक्षा देते हैं। वह सदा समय पर स्कूल आते हैं।

वह बहुत ही दयालु हैं। वह गरीब तथा कमज़ोर बच्चों की सहायता भी करते हैं। वह एक अच्छे खिलाड़ी भी हैं इसी कारण वह हमें भी खेलने की प्रेरणा देते हैं। ईश्वर उनकी आयु लम्बी करे।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

होली

होली रंगों का त्योहार है। होली घर-घर खुशियाँ बाँटती है। यह एक ऐसा त्योहार है, जिसमें न कोई. बड़ा होता है, न कोई छोटा माना जाता है। होली में जात-पात का भेद भी समाप्त हो जाता है। गाँव हो या शहर सब लोग मिल कर होली खेलते हैं। एकदूसरे पर गुलाल डालते हैं। प्यार से सभी होली की हुड़दंग मचाते हैं। होली के दिन सभी के चेहरे लाल, नीले, काले रंगों से रंगे होते हैं। होली पर एक-दूसरे को उपहार भी दिये जाते हैं। होली हमारे भाई-चारे को मज़बूत बनाती है। होली हमें भक्त प्रह्लाद की याद दिलाती है।

होली को वसन्त ऋतु का उपहार माना जाता है। यह त्योहार हम सब को सभी प्रकार के झगड़े खत्म करने की प्रेरणा देता है। आपसी भाईचारे को बढ़ाना ही होली का सच्चा सन्देश है।

जन्म दिन कैसे मनाया

इस बार मैंने अपना जन्म दिन बहुत ही सादगी से मनाया। यह मेरा नवम् जन्म दिन था। इस दिन प्रातः काल मैंने नहा धोकर नए कपड़े पहने और गुरुद्वारे में माथा टेकने गया। आते हुए मार्ग में शिव जी के मन्दिर में भी हो आया। मैंने अपने माता-पिता के चरण स्पर्श किए। उन्होंने मुझे दीर्घायु होने का आशीर्वाद प्रदान किया। मेरे माता-पिता और मेरी बहन ने मुझे सुन्दर-सुन्दर उपहार दिए और मैंने भी अपनी नन्हींसी प्यारी बहन को उपहार के रूप में गुड़िया प्रदान की। मेरे सभी मित्रों को मेरे जन्म दिन का पता एक दिन पहले ही चल गया था।

जन्म दिन के दिन शाम से ही मित्रों की मंडली मेरे घर आ पहुँची। किन्हीं के हाथों में गुलदस्ते थे तो किन्हीं के हाथों में उपहार के पैकेट। मेरा मन मित्र-मंडली को पाकर झूम उठा। मेरे माता जी ने चाय-पार्टी का पहले से ही प्रबन्ध कर रखा था। पिता जी स्वयं बढ़िया-बढ़िया मिठाइयाँ लेकर आए थे। सभी ने मुझे बधाइयाँ दीं। हमने केक काटा और गाने लगाकर खूब नाचे। हमने अपने जन्मदिन पर खूब मजा किया। इस बार का जन्मदिन मुझे सदा याद रहेगा।

मेरी श्रेणी का कमरा

मैं पाँचवीं श्रेणी का छात्र हूँ। अपने गाँव के स्कूल में पढ़ता हूँ। हमारा स्कूल तालाब के किनारे ऊँचे स्थान पर स्थित है। स्कूल में प्रवेश करते ही दाईं ओर मेरी श्रेणी का कमरा है। इसके बाहर रंग-बिरंगे फूलों की क्यारियाँ हैं। ये मेरे श्रेणी के कमरे की सुन्दरता को चार चाँद लगा रही हैं। मेरी श्रेणी का कमरा बहुत ही साफ़-सुथरा और शान्त है। किसी भी प्रकार का यहाँ कोई शोर नहीं है। इसी कारण सभी छात्रों का दिल पूरी तरह पढ़ाई में लगा रहता है।

‘मेरी श्रेणी का कमरा हवादार है। इसमें किसी प्रकार की घुटन अनुभव नहीं होती। गर्मियों में बिजली के पंखे हवा देते हैं। सर्दियों में खिड़कियाँ बन्द करके ठंडी हवा से बचाव होता है। श्रेणी के ऐसे कमरे प्रत्येक स्कूल में होने चाहिए। साथ ही हमें अपने श्रेणी के कमरे की स्वयं सफ़ाई का ध्यान रखना चाहिए।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

दीवाली

दीवाली हमारे देश का एक पवित्र और प्रसिद्ध त्योहार है। यह त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है। यह दशहरे के बीस दिन बाद आता है। इस दिन भगवान् राम लंका के राजा रावण को मार कर तथा वनवास के चौदह वर्ष खत्म कर अयोध्या लौटे थे। तब लोगों ने उनके स्वागत में रात को दीये जलाए थे। उनकी पवित्र याद में यह दिन बड़े सम्मान से मनाया जाता है। इस दिन सिक्खों के छठे गुरु गुरु हरगोबिन्द जी ग्वालियर के किले से मुक्त होकर लौटे थे अतः इसलिए सिक्ख भी बड़े उत्साह से इस त्योहार को मनाते हैं।

दीवाली से कई दिन पहले ही इसकी तैयारी आरम्भ हो जाती है। लोग घरों की लिपाई-पुताई करते हैं। कमरों को सजाते हैं। घरों का कूड़ा-कर्कट बाहर निकालते हैं। अमावस को दीपमाला मनाई जाती है। – इस दिन लोग मित्रों को बधाई देते हैं और मिठाइयाँ बाँटते हैं।

बच्चे और युवा नए-नए वस्त्र पहनते हैं। रात को आतिशबाज़ी चलाते हैं। लोग रात को लक्ष्मी की पूजा करते हैं। कुछ लोग दुर्गा सप्तशति का पाठ भी करते हैं। दीवाली हमारा धार्मिक त्योहार है। इस दिन शराब आदि का सेवन नहीं करना चाहिए न ही इस दिन जुआ आदि खेलना चाहिए। इसकी पवित्रता बनाए रखने के लिए इसे उचित रीति से मनाना चाहिए।

दशहरा

दशहरा प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह आश्विन मास की शुक्ला दशमी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन श्री राम ने रावण पर विजय पाई थी। भगवान् राम के वनवास के दिनों में रावण छल से सीता को हर ले गया था। राम ने हनुमान और सुग्रीव आदि मित्रों की सहायता से लंका पर हमला किया तथा रावण को मार कर लंका पर विजय पाई। तभी से यह दिन मनाया जाता है।

दशहरा रामलीला का आखिरी दिन होता है। भिन्नभिन्न स्थानों में अलग-अलग प्रकार से यह दिन मनाया जाता है। हिमाचल में कुल्लू का दशहरा सबसे प्रसिद्ध है, वहाँ यह त्योहार कई दिनों तक मनाया जाता है। दशहरे के दिन रावण, कुम्भकर्ण तथा मेघनाथ के कागज़ के पुतले बनाए जाते हैं।

इस दिन कुछ लोग शराब पीते हैं और लड़ते हैं। यह ठीक नहीं। यदि ठीक ढंग से इस त्योहार को मनाया जाए तो बहुत लाभ हो सकता है।

वर्षा ऋतु

भारत में मई और जून की कड़कती गर्मी के बाद जुलाई और अगस्त में वर्षा का आगमन होता है। वर्षा का स्वागत किसान नाच-गा कर करते हैं, स्त्रियाँ झूला झूलती हैं तथा बच्चे नंग-धडंग हो कर वर्षा में गलियों और बाजारों में घूमते हैं। चारों तरफ हरियाली छा जाती है। जल ग्रहण कर पौधे और वृक्ष खुशी से झूम उठते हैं। तालाब और जौहड़ पानी से भर जाते हैं। जगह-जगह मेंढक टर-टराने शुरू हो जाते हैं।

नदी-नालों में बरसात का पानी भर जाने से नवयौवन का संचार हो जाता है। समय पर यदि अच्छी वर्षा हो जाए तो देश में अन्न का संकट टल जाता है। वर्षा ऋतु काफ़ी कष्टप्रद भी है। यह ऋतु अपने साथ अनेक मुसीबतें भी ले आती है। कई स्थानों पर बाढ़ें आ जाती हैं। भारी हानि होती है। वर्षा ऋतु में कई बीमारियाँ भी फैल जाती हैं। फिर भी वर्षा ऋतु का हमारे जीवन में बहुत महत्त्व है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

प्रातः भ्रमण

प्रातः भ्रमण शरीर को स्वस्थ रखने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह न केवल शरीर को स्वस्थ रखता है बल्कि चुस्ती-स्फूर्ति भी प्रदान करता है। प्रातःकाल सैर करने से सारा दिन काम करने में मन लगता है और थकान भी महसूस नहीं होती। मैं प्रतिदिन अपने मित्र मोहन के साथ प्रात:काल सैर के लिए निकलता हूँ। वह सुबह मेरे घर आता है फिर हम इकट्ठे ही सैर को निकल पड़ते हैं।

रास्ते में कई और लोग सैर के लिए जाते हुए मिलते हैं। हम एक बाग़ में पहुँच कर थोड़ा सैर करते हैं फिर कुछ व्यायाम करते हैं। बाग़ में सुबह के समय सुन्दर और ताजी हवा चलती है। फूलों की सुगन्ध से सारा

वातावरण महक उठता है। घास, फूलों और पत्तियों पर ओस की बूंदें मोतियों के समान चमकती हैं। हम कुछ देर हरी-हरी घास पर नंगे पाँव चलते हैं। ऐसा करने से आँखों की रोशनी बढ़ती है। कुछ समय पश्चात् सूर्य-देवता अपने दर्शन देने लगते हैं। प्रात:कालीन सूर्य की किरणें शरीर के लिए अच्छी होती हैं। थोड़ा विश्राम करने के पश्चात् हम घर की ओर चल पड़ते हैं। सुबह की सैर हमें नीरोग रखती हैं और हमारी बुद्धि भी तीक्षण होती है।

26 जनवरी-गणतन्त्र दिवस

26 जनवरी हमारा गणतन्त्र दिवस है। यह राष्ट्रीय उत्सवों में विशेष स्थान रखता है, क्योंकि भारतीय गणतन्त्रात्मक लोकराज का अपना बनाया संविधान इसी पुण्य तिथि को लागू हुआ था। इसी दिन सन् 1950. ई० को भारत में गर्वनर जनरल के पद की समाप्ति हुई थी और शासन का मुखिया राष्ट्रपति बनाया गया था।

सन् 1929 में जब लाहौर में कांग्रेस का अधिवेशन हुआ तो उसमें कांग्रेस के प्रधान श्री जवाहरलाल नेहरू बने थे। उन्होंने यह आदेश निकाला था कि 26 जनवरी के दिन प्रत्येक भारतवासी राष्ट्रीय झण्डे के नीचे खड़ा होकर प्रतिज्ञा करे कि हम भारत के लिए आज़ादी की मांग करेंगे और उसके लिए आखिरी. दम, तक संघर्ष (जद्दो-जहद) करेंगे। तब से हर साल 26 जनवरी का पर्व मनाने की परम्परा (रिवाज़) चल पड़ी।

चाहे यह समारोह देश के हर बड़े-छोटे शहर में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है परन्तु भारत की राजधानी दिल्ली में इसकी शोभा देखते ही बनती है। हर प्रदेश के लोकनर्तक दल लोक नाच तथा शिल्प, आदि का प्रदर्शन करते हैं। कई ऐतिहासिक महत्त्व की वस्तुएं भी दिखाई जाती हैं। भारत के सैनिक दस्ते भी इस अवसर पर अपनी शक्ति प्रकट-करते हैं। छात्र-छात्राएँ भी इसमें भाग लेती हैं और कला का प्रदर्शन करती हैं।

स्वतन्त्रता दिवस-15 अगस्त

आ प्यारे स्वतन्त्र देश आ, स्वागत करता हूँ तेरा।

तुझे देखकर आज हो रहा, प्रमुदित दूना मन मेरा।

15 अगस्त, सन् 1947 का दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाने योग्य है। उस दिन भारत माता की गुलामी के बन्धन टूक-टूक हुए थे। इस आज़ादी को प्राप्त करने के लिए अनेक देशभक्तों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे। पण्डित जवाहरलाल जी स्वतन्त्र भारत के पहले प्रधानमन्त्री बने।

संसद् भवन पर तिरंगा झण्डा लहराया गया था। उस दिन दिल्ली के लाल किले पर पं० जवाहर लाल नेहरू ने अपने हाथों से तिरंगा झण्डा लहराया था। लाखों लोगों ने उसमें भाग लिया। अब स्वतंत्रतादिवस के अवसर पर देश का वर्तमान प्रधानमंत्री दिल्ली में ध्वजारोहण करता है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

व्यायाम

व्यायाम शरीर को ठीक रखने का सबसे अच्छा साधन है। व्यायाम का अर्थ है- शरीर को हिलानाडुलाना। हमारा शरीर एक मशीन की भान्ति है। इसे ठीक रखना अति आवश्यक है। खेल खेलना, कुश्ती लड़ना और सैर करना ये सब व्यायाम ही हैं। _ व्यायाम करने से हमारे शरीर को अनेक लाभ होते हैं।

व्यायाम करने वाला मनुष्य कभी अति मोटा नहीं हो सकता। हमारी पाचन शक्ति बढ़ती है और अनेक रोगों से छुटकारा मिलता है। इससे शरीर को ताकत मिलती है और स्फूर्ति आती है। व्यायाम प्रायः खाली पेट करना चाहिए। इसके लिए प्रातःकाल का समय ही अच्छा होता है।

प्रात:काल की सैर सबसे अच्छा व्यायाम है। व्यायाम सदा खुली हवा में करना चाहिए। व्यायम सब को करना चाहिए। मुझे व्यायाम का बड़ा चाव है। मैं प्रतिदिन सैर करने जाता हूँ। किसी खुले मैदान में पहुँच कर मैं अपने मित्रों के साथ फुटबाल खेलता हूँ। मुझे किसी प्रकार का रोग नहीं है। शरीर भी हृष्ट-पुष्ट है। इसका एकमात्र कारण व्यायाम है।

हमारा देश

हमारे देश का नाम भारत है। यह हमारी मातृभूमि है। दुष्यन्त और शकुन्तला के पुत्र भारत के नाम पर इसका भारत नाम पड़ा। यह एक विशाल देश है। जनसंख्या की दृष्टि से यह संसार में दूसरे स्थान पर है। इसकी जनसंख्या 125 करोड़ से भी ज्यादा है। यहाँ पर अलग-अलग जातियों के लोग रहते हैं।

भारत के उत्तर में हिमालय है और शेष तीनों ओर समुद्र है। स्थान-स्थान पर हरे-भरे वन इसकी शोभा है। यह एक कृषि प्रधान देश है। यहाँ की 80% जनता गाँवों में रहती है। यहाँ गेहूँ, मक्का-बाजरा, ज्वार, चना, धान, गन्ना आदि फसलें होती हैं। यहाँ की धरती बहुत उपजाऊ है।

यहाँ गंगा-यमुना जैसी पवित्र नदियाँ बहती हैं। इसकी भूमि से लोहा, कोयला, सोना आदि कई प्रकार के खनिज पदार्थ निकलते हैं।

यहाँ पर कई धर्मों के लोग निवास करते हैं। सभी प्रेम से रहते हैं। यहाँ पर अनेक तीर्थस्थल हैं। ताजमहल, लालकिला, सारनाथ, शिमला, मंसूरी, श्रीनगर आदि पर्यटन स्थल हैं जो देखने योग्य हैं। यहाँ पर कई महापुरुषों ने जन्म लिया। राम-कृष्ण, गुरुनानक, दयानन्द, रामतीर्थ, तिलक, गांधी आदि इस देश की शोभा थे। यहाँ के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद हैं। यह देश दिन दुगुनी रात चौगुनी उन्नति कर रहा है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

खेलों का लाभ

विद्यार्थी जीवन में खेलों का बड़ा महत्त्व है। पुस्तकों में उलझ कर थका-मांदा विद्यार्थी जब खेल के मैदान में जाता है तो उसकी थकावट तुरन्त गायब हो जाती है। विद्यार्थी अपने आप में चुस्ती और ताज़गी अनुभव करता है। मानव जीवन में सफलता के लिए मानसिक, शारीरिक शक्तियों के विकास से जीवन सम्पूर्ण बनता है। स्वस्थ, प्रसन्न, चुस्त और फुर्तीला रहने के लिए शारीरिक शक्ति का विकास ज़रूरी है। शरीर का विकास खेल-कूद पर निर्भर करता है।

यदि हम सारा दिन कार्य करते हैं तो शरीर में घबराहट, चिड़चिड़ापन या सुस्ती छा जाती है। ज़रा खेल के मैदान में जाइये, फिर देखिए घबराहट, चिड़चिड़ापन या सुस्ती कैसे दूर भागती है। शरीर हल्का-फुल्का और साहसी बन जाता है। मन में और अधिक कार्य करने की लगन पैदा होती है।

खेलों में भाग लेने से विद्यार्थी खेल के मैदान में से अनेक शिक्षाएं ग्रहण करता है। खेलें संघर्ष द्वारा विजय प्राप्त करने की भावना पैदा करती हैं। खेलें हँसते-हँसते अनेक कठिनाइयों पर विजय प्राप्त करना सिखा देती हैं। खेल के मैदान में विद्यार्थी के अन्दर अनुशासन में रहने की भावना पैदा होती है। सहयोग करने तथा भ्रातृभाव की आदत बनती है।

मेरा प्रिय खेल कबड्डी

आज हमारे भारत देश में अनेक खेल खेले जाते हैं। उन सब खेलों में कबड्डी का खेल मेरा प्रि: खेल है। यह खेल सब खेलों में सस्ता खेल है। आज यह खेल भी राष्ट्रीय खेल में गिना जाता है। यह दो प्रकार का है-पंजाबी कबड्डी और नेशनल कबड्डी।

यह खेल भी दो पक्षों में खेला जाता है। इस खेल की प्रत्येक टीम में सात खिलाड़ी होते हैं। यह खेल केन्द्र में रेखा डालकर खेला जाता है। यह खेल किसी खुले मैदान में खेला जाता है। इस खेल में यदि किसी एक खिलाड़ी का सांस टूट जाता है या विपक्ष के खिलाड़ी उसे छू लेते हैं या पकड़ लेते हैं तो रैफरी उसे मरा हुआ घोषित कर देता है। इस प्रकार विपक्ष एक अंक प्राप्त कर लेता है।

यदि वह खिलाड़ी दूसरे पक्ष के जितने खिलाड़ियों को छूकर अपने पक्ष में लौट आता है तो रैफरी विपक्ष के उतने ही खिलाड़ियों को मरा हुआ घोषित कर देता है। इस प्रकार यह बीस मिनट तक चलता है। बीस मिनट बाद रैफरी अर्धावकाश की सीटी मार देता है। अर्धावकाश पांच मिनट का होता है।

इस समय में खिलाड़ी जलपान करते हैं। इसके अतिरिक्त दोनों टीमों के प्रशिक्षक अपने खिलाड़ियों की गलतियों को बताते हैं। पाँच मिनट बाद रैफरी की सीटी के बाद फिर खेल उसी क्रम से शुरू होता है और बीस मिनट के बाद फिर समाप्त हो जाता है। पहले तथा दूसरे समय में जो टीम ज्यादा नंबर लेती है वही विजयी होती है।

PSEB 5th Class Hindi रचना निबंध-लेखन

ग्रीष्म ऋतु

बसन्त की समाप्ति पर ग्रीष्म का आगमन होता है। ग्रीष्म ऋतु ज्येष्ठ और आषाढ़ महीनों में पड़ती है। बसन्त में चलने वाली मन्द-मन्द हवा ग्रीष्म के आते ही गर्म हवा में बदल जाती है जिसे दूसरे शब्दों में ‘लू’ कहते हैं।

ग्रीष्म के प्रारम्भ होते ही दिन भी मानो गर्मी से फैलने लगते हैं। सूर्य का उदय शीघ्र ही हो जाता है और फिर अस्ताचल की ओर उसका गमन भी देर से होता है। दोपहर के समय तो मानो आकाश से अंगारे बरसते हैं। एक ओर जलती हुई लू तो दूसरी ओर जलाती हुई भूमि। इस समय बाहर निकलना भी एक समस्या बन जाता है। पशु-पक्षी भी इस समय पेड़ों के नीचे विश्राम करते हैं।

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Hindi Rachana Patra Lekhan पत्र-लेखन Exercise Questions and Answers, Notes.

PSEB 5th Class Hindi Rachana पत्र-लेखन (2nd Language)

प्रश्न 1.
मुख्याध्यापक को बीमारी के कारण अवकाश (छुट्टी) के लिए प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

श्रीमान् मुख्याध्यापक महोदय,
खालसा प्राइमरी स्कूल,
जालन्धर।

श्रीमान् जी,
सविनय निवेदन है कि मुझे कल रात से ही बहुत तेज़ बुखार हो गया है। डॉक्टर ने मुझे आराम करने के लिए कहा है। इसलिए मैं आज स्कूल में उपस्थित नहीं हो सकता। कृपा करके मुझे दो दिन (14-4-20….) से (15-4-20…..) की छुट्टी दी जाए। मैं आपका बहुत धन्यवादी हँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
विजय कुमार
पाँचवीं कक्षा ‘ए’

तिथि : 14-4-20…..

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 2.
आवश्यक (ज़रूरी) काम के कारण छुट्टी के लिए प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

श्रीमान् मुख्याध्यापक जी,
गवर्नमैंट प्राइमरी स्कूल,
नकोदर।

श्रीमान् जी,
विनम्र निवेदन यह है कि आज मुझे घर पर अति आवश्यक कार्य पड़ गया है। इसलिए मैं स्कूल में उपस्थित नहीं हो सकता। कृपा करके मुझे एक दिन का अवकाश देकर कृतार्थ करें। मैं आपका अति धन्यवादी हूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
बलदेव सिंह,
कक्षा पाँचवीं ‘बी’

तिथि : 5 मई, 20………

प्रश्न 3.
फीस माफी के लिए मुख्याध्यापक को प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

श्रीमान् मुख्याध्यापक महोदय,
शिवालिक प्राइमरी स्कूल,
नवां शहर।

श्रीमान् जी,
सविनय निवेदन है कि मैं आपके स्कूल में पाँचवीं श्रेणी में पढ़ता हूँ। मैं एक निर्धन विद्यार्थी हूँ। मेरे पिता जी एक कारखाने में मजदूरी करते हैं। उनकी मासिक आमदनी केवल दो हज़ार रुपये है। इस आय से परिवार का गुजारा बहुत मुश्किल से होता है। अतः मेरे पिता जी मेरी फीस नहीं दे सकते। मुझे पढ़ने का बहुत शौक है। कृपा करके मेरी पूरी फीस माफ कर दें। मैं आपका जीवन भर आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
प्रमोद कुमार,
कक्षा पाँचवीं ‘ए’
रोल नं0 15

तिथि : 10 मई, 20………

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 4.
जुर्माना माफ करवाने के लिए मुख्याध्यापिका को प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

श्रीमती मुख्याध्यापिका जी,
खालसा प्राइमरी स्कूल,
अमृतसर।

श्रीमती जी,
सविनय प्रार्थना है कि सोमवार को मेरी अंग्रेजी की अध्यापिका जी ने हमारा टैस्ट लेना था। उस दिन मेरे माता जी बीमार थे। घर में मेरे अतिरिक्त कोई नहीं था। अत: उस दिन मैं स्कूल में उपस्थित नहीं हो सकी। मेरी अध्यापिका ने मुझे बीस रुपये विशेष जुर्माना किया है। मेरे पिता जी बहुत गरीब हैं। मैं यह जुर्माना नहीं दे सकती। वैसे मैं इंग्लिश में बहुत अच्छी हूँ। इस बार त्रैमासिक (तिमाही) परीक्षा में मेरे 100 में से 80 अंक आए थे। अतः कृपा करके मेरा जुर्माना माफ कर दें। मैं आपकी अत्यन्त आभारी हूँगी।

आपकी आज्ञाकारी शिष्या,
सुरजीत कौर
कक्षा पाँचवीं ‘ए’

तिथि : 15 अगस्त, 20….

प्रश्न 5.
भाई के विवाह के कारण अवकाश के लिए प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

मुख्याध्यापक महोदय,
डी० ए० वी० हाई स्कूल,
अमृतसर।

श्रीमान् जी,
सविनय निवेदन है कि मेरे बड़े भाई का विवाह 10 मार्च को होना निश्चित हुआ है। विवाह में मेरा शामिल होना बहुत ज़रूरी है। बारात अमृतसर से लुधियाना जाएगी। अतः कृपा करके मुझे 9 मार्च से 11 मार्च तक तीन दिन का अवकाश प्रदान करें। मैं आपका धन्यवादी हूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
अजय शर्मा
कक्षा पाँचवीं, रोल नं0 28

दिनांक : 8 मार्च 20…..

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 6.
स्कूल छोड़ने का प्रमाण-पत्र (सर्टीफिकेट) लेने के लिए मुख्याध्यापक को प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

श्रीमान् मुख्याध्यापक जी,
गुरु नानक मिंटगुमरी प्राइमरी स्कूल,
कपूरथला।

श्रीमान् जी,
सविनय प्रार्थना यह है कि मेरे पिता जी की बदली फिरोज़पुर की हो गई है। इसलिए हम सबको यहाँ से जाना पड़ रहा है। मेरा यहाँ अकेला रहना मुश्किल है। अतः मुझे स्कूल छोड़ने का प्रमाण-पत्र देने की कृपा करें ताकि फिरोजपुर जाकर मैं अपनी पढ़ाई जारी रख सकूँ। मैं आपका बहुत आभारी हूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
सुखबीर सिंह,
कक्षा पाँचवीं ‘ए’

तिथि : 15 सितम्बर, 20…..

प्रश्न 7.
चाचा जी को उपहार के लिए धन्यवाद पत्र लिखो।
उत्तर :

47 बी, पीतमपुरा,
नई दिल्ली।
20 अक्तूबर 20….

पूज्य चाचा जी,

प्रणाम।
मेरे जन्म दिन पर आपके द्वारा भेजा गया उपहार मुझे मिल गया है। यह एक सुन्दर घड़ी है। मुझे घड़ी की ज़रूरत भी थी। अब मुझे स्कूल पहुँचने में देरी भी नहीं होगी। इस घड़ी से मैं समय का पूरा-पूरा लाभ उठा सकूँगा। इस सुन्दर उपहार के लिए एक बार फिर आपका धन्यवाद। चाची जी को प्रणाम और मिन्टू को प्यार।।

आपका भतीजा
सुरेश

(सूचना–छात्रों के बौद्धिक विकास के लिए उक्त पत्र दिये गये हैं।)

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 8.
मुख्याध्यापक को विद्यालय से मुफ्त पुस्तकें एवं वर्दी प्राप्त करने के लिए प्रार्थना-पत्र।
उत्तर :
सेवा में

मुख्याध्यापक जी,
राजकीय प्राथमिक विद्यालय,
पटियाला।

महोदय,
निवेदन है कि मैं आपके विद्यालय की पाँचवीं कक्षा का छात्र हूँ। मेरे पिता जी सरकारी कार्यालय में लिपिक हैं। हम तीन भाई-बहन हैं। पिताजी का वेतन इतना कम है कि वे हमारी पढ़ाई का भार सम्भालने में कठिनाई का अनुभव कर रहे हैं। मैंने चौथी कक्षा की वार्षिक परीक्षा में 96% अंक प्राप्त किये हैं। खेलों में भी मेरी रुचि है। आपसे सानुरोध प्रार्थना है कि हमारी आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए मुझे विद्यालय की ओर से पाँचवीं श्रेणी की पुस्तकें तथा वर्दी देने की कृपा करें। मैं आपका हृदय से आभारी रहूँगा।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
रमेश,
पाँचवीं ‘ग’।

दिनांक : ……………………………….

प्रश्न 9.
अपने छोटे भाई को पत्र लिखो जिसमें प्रातः भ्रमण (सुबह की सैर) के लाभ बताए गए हों।
उत्तर :

208, कृष्ण नगर,
गुरदासपुर।
11 जुलाई, 20…….

प्रिय भाई नरेश,

चिरंजीव रहो।
कल माता जी का पत्र मिला। पढ़ कर पता चला कि तुम बीमार रहने के कारण बहुत कमज़ोर हो गए हो। तुम सुबह देर तक सोए रहते हो। प्यारे भाई! प्रातः उठ कर सैर करनी चाहिए। सुबह की सैर से स्वास्थ्य उत्तम होता है। प्रातः भ्रमण से शरीर चुस्त रहता है। कोई बीमारी पास नहीं फटकती। मांसपेशियों में नए रक्त का संचार होता है। फेफड़ों को साफ़ वायु मिलती है। ओस पड़ी घास पर नंगे पांव चलने से बल, बुद्धि और आँखों की रोशनी बढ़ती है। दिमाग को शक्ति मिलती है। इसलिए प्रातः घूमने अवश्य जाया करो। आशा है तुम मेरे आदेश का पालन करोगे। पूज्य माताजी को प्रणाम और अनु को प्यार।

तुम्हारा बड़ा भाई
प्रदीप कुमार।

प्रश्न 10.
अपनी सखी को गर्मियों की छुट्टियां साथ बिताने के लिए निमन्त्रण दो।
उत्तर :

45, लक्ष्मीपुरा,
अमृतसर।
16 अप्रैल, 20….

मोनिका,

मधुर स्मृति।
इस बार गर्मियों की छुट्टियां 15 मई से 15 जुलाई तक हो रही हैं। अब की बार गर्मियों की छुट्टियों में हमारा शिमला जाने का विचार है। एक तो सख्त गर्मी से बच जायेंगे, दूसरे एक सुन्दर पहाड़ी स्थान की सैर हो जाएगी। हमने जून के पहले सप्ताह में जाने का निश्चय कर लिया है। वहाँ पहाड़ियों पर घूमने से जहाँ सेहत सुधरेगी, वहाँ पढ़ाई भी अच्छे – ढंग से होगी। मेरे माता-पिताजी तथा छोटा भाई भी साथ जायेंगे। हम पिताजी से पढ़ लिया करेंगे।

प्रिय सखी ! यदि तुम साथ चलने को तैयार हो जाओ तो आनन्द आ जाएगा।

आशा है, तुम शीघ्र पत्र डालकर मुझे अपना विचार लिखोगी। माता जी को नमस्ते।

तुम्हारी सखी.
मीनाक्षी।

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 11.
मित्र की सफलता पर बधाई पत्र लिखो।
उत्तर :

208, प्रेम नगर,
करनाल।
11 अप्रैल, 20…..

प्रिय मित्र सुरेश,
कल ही तुम्हारा पत्र मिला। यह पढ़कर बहत ही खुशी हई कि तुम पाँचवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण (पास) हो गए हो। मेरी ओर से अपनी इस शानदार सफलता पर हार्दिक बधाई स्वीकार करो। मैं कामना (इच्छा) करता हूँ कि तुम अगली परीक्षा में भी इसी प्रकार सफलता प्राप्त करोगे। मैं एक बार फिर तुम्हें बहुत-बहुत बधाई देता हूँ। – अपने माता-पिता को मेरा प्रणाम कहना।

तुम्हारा मित्र,
राजबीर।

प्रश्न 12.
अपनी माता जी को अपनी कुशलता के बारे में पत्र लिखो।
उत्तर :

सरकारी स्कूल छात्रावास,
मोगा।
1 अगस्त, 20…..

पूज्य माता जी,

सादर प्रणाम।
मैं पिछले रविवार को यहाँ पहुँच गया था। सोमवार से हमारी पढ़ाई ठीक प्रकार से शुरू हो गई है। मैं पूर्णतया कुशल से हूँ। बुखार के कारण जो कमजोरी आ गई थी, वह अब नहीं रही। छात्रावास में भोजन का अच्छा प्रबन्ध है। किसी प्रकार की चिन्ता न करें। अब मैं समय सारिणी के अनुसार चल रहा हूँ। प्रातः 5 बजे उठ जाता हूँ। शौचादि से निवृत्त होकर कुछ व्यायाम करता हूँ, फिर नहा-धोकर अल्पाहार लेकर पढ़ने बैठ जाता हूँ। 9 बजे स्कूल का समय है। वहां से लौटकर सायं 5 बजे सब छात्र क्रीड़ा-क्षेत्र में चले जाते हैं। मैं कबड्डी टीम में हूँ। रोज़ की कसरत से मेरे अन्दर नई ताज़गी का आभास होने लगता है। रात को समय पर सो जाता हूँ।

आपका पुत्र,
अमित कुमार
पाँचवीं ‘ए’।

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 13.
अपने जन्मदिन पर अपने चाचा जी को निमन्त्रण (बुलावा) पत्र लिखो।
उत्तर :

205, मॉडल टाऊन,
पंचकुला।
20 अप्रैल, 20….

पूज्य चाचा जी,

सादर प्रणाम।
आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी कि 23 अप्रैल को मेरा जन्मदिन है। इसलिए मैं अपने मित्रों को शाम की चाय पार्टी दे रहा हूँ, आप भी चाची जी, रिंकू और नीता को लेकर इस छोटी-सी चाय पार्टी पर आएं।

चाची जी को प्रणाम। रिंकू और नीतू को प्यार।

आपका भतीजा,
नरेश कुमार।

प्रश्न 14.
अपने मित्र को बड़े भाई के विवाह के अवसर पर निमन्त्रण पत्र लिखो।।
उत्तर :

4/105, माल रोड,
लुधियाना।
12 सितंबर, 20….

मित्र राजेश,
तुम्हें यह जानकर खुशी होगी कि मेरे बड़े भाई का विवाह 15 सितंबर, ……… को होना निश्चित हुआ है। बारात मनाली जा रही है। इस खुशी के अवसर पर मैं आपको आने का निमन्त्रण देता हूँ।

कृपया इस अवसर पर आ कर इसकी रौनक को और बढ़ाइये। आपको बारात के साथ भी चलना पड़ेगा। सचमुच अगर तुम साथ होगे तो बड़ा मज़ा आएगा। भैया और माता-पिता को साथ लाना न भूलना।

तुम्हारा मित्र,
हितेश कुमार।

PSEB 5th Class Hindi रचना पत्र-लेखन

प्रश्न 15.
रुपये मंगवाने के लिए पिताजी को पत्र लिखो।
उत्तर :

गवर्नमैंट प्राथमिक स्कूल,
डेरा बसी।
15 मई, 20….

पूज्य पिता जी,

सादर प्रणाम।
आपको यह जानकर बड़ी खुशी होगी कि मैं चौथी कक्षा में अच्छे अंक लेकर उत्तीर्ण (पास) हो गया हूँ। अब मुझे पाँचवीं श्रेणी में दाखिला लेना है। इस श्रेणी की पुस्तकें एवं कापियां भी खरीदनी हैं। इसलिए कृपा करके मुझे पचास रुपये मनीआर्डर द्वारा शीघ्र भेज दें ताकि मैं ठीक समय पर पाँचवीं श्रेणी में दाखिला ले सकूँ।

माता जी को प्रणाम। बिटू और मधू को प्यार।

आपका पुत्र,
रमेश कुमार।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Hindi Grammar Muhavare मुहावरे Exercise Questions and Answers, Notes.

PSEB 5th Class Hindi Grammar मुहावरे (2nd Language)

1. अन्धे की लकड़ी – एकमात्र सहारा,
प्रयोग – रमेश ही बुढ़ापे में मुझ अन्धे की लकड़ी है।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

2. अँगूठा दिखाना – साफ़ इन्कार करना.
प्रयोग – जब मैंने सुरेश से दस रुपए माँगे तो उसने अंगठा दिखा दिया।

3. अपना उल्लू सीधा करना – अपना मतलब निकालना,
प्रयोग – आजकल हर कोई अपना उल्लू सीधा करना चाहता है।

4. अगर – मगर करना – टाल – मटोल करना,
प्रयोग – मैंने मुकेश से अपने पैसे वापिस माँगे तो वह अगर – मगर करने लगा।

5. अन्धेरे घर का उजाला – इकलौता बेटा,
प्रयोग – रमन हमारे अन्धेरे घर का उजाला

6. अपने मुँह मियाँ मिट्ठ बनना – अपनी प्रशंसा आप करना,
प्रयोग – मनुष्य को अपने मुँह मियाँ मिट्ट नहीं बनना चाहिए।

7. अंग – अंग ढीला होना – थक जाना,
प्रयोग – दिन भर मेहनत करने से मजदूरों का अंग – अंग ढीला हो जाता है।

8. आँखों का तारा – बहुत प्यारा,
प्रयोग – सुनील तो अपने माता – पिता की आँखों का तारा है।

9. आगे – पीछे फिरना – चापलूसी करना,
प्रयोग – आजकल बहुत – से नेता मन्त्रियों के आगे – पीछे फिरते हैं।

10. आग – बबूला होना – गुस्से में आना,
प्रयोग – अंगद की खरी – खरी सुनकर रावण आग – बबूला हो गया।

11. आँखों में धूल झोंकना – धोखा देना,
प्रयोग – ठग राम की आँखों में धूल झोंक कर पाँच सौ रुपए ले गया।

12. आकाश से बातें करना – बहुत ऊँचा होना,
प्रयोग – कुतुबमीनार आकाश से बातें करता

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

13. आँख खलना – होश आना,
प्रयोग – जब ईमानदार समझा जाने वाला नौकर सेठ के घर का सारा सामान इकट्ठा कर भाग गया तब सेठ की आँखें खुलीं।

14. आकाश – पाताल का अन्तर – बहत अन्तर,
प्रयोग – सोहन और मोहन के स्वभाव में आकाश – पाताल का अन्तर है।

15. आसमान सिर पर उठाना – बहुत शोर मचाना,
प्रयोग – अध्यापक के कक्षा से बाहर निकलते ही लड़कों ने आसमान सिर पर उठा लिया।

16. ईंट से ईंट बजाना – नाश करना,
प्रयोग – बन्दा बहादुर ने सरहिन्द की ईंट से ईंट बजा दी।

17. ईद का चाँद होना – बहुत दिनों बाद दिखाई देना,
प्रयोग – अरे सुरेश ! तुम तो ईद के चाँद हो गए हो, कहाँ रहते हो ?

18. उठ जाना – मर जाना,
प्रयोग – वह अचानक संसार से उठ गया।

19. एक आँख से देखना – समान व्यवहार,
प्रयोग – माता – पिता अपने सभी बच्चों को एक आँख से देखते हैं।

20. काम आना – युद्ध में मारे जाना,
प्रयोग – भारत – पाक युद्ध में अनेक भारतीय वीर काम आए।

21. कलम तोड़ना – बहुत बढ़िया लिखना,
प्रयोग – मुन्शी प्रेमचन्द ने उपन्यास लिखने में कलम तोड़ कर रख दी है।

22. कान पर जूं न रेंगना – कोई असर न होना,
प्रयोग – मेरे कहने पर तो उसके कान पर जूं तक नहीं रेंगती।

23. कम कसना – तैयार होना.
प्रयोग – आज से मैंने पढ़ने के लिए कमर कस ली है।

24. कफन सिर पर बाँधना – मरने के लिए तैयार रहना,
प्रयोग – भारत की रक्षा के लिए वीर हमेशा सिर पर कफ़न बाँधे फिरते हैं।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

25. कमर टूटना – निराश होना, उत्साह खत्म होना,
प्रयोग – जवान बेटे की मौत से बूढ़े पिता की कमर टूट गई।

26. कलेजे पर साँप लोटना – ईर्ष्या से जलना,
प्रयोग – हरीश की लाटरी निकलने का समाचार सुनकर मोहन के कलेजे पर साँप लोटने लगा।

27. काम तमाम करना – मार डालना,
प्रयोग – तलवार के एक ही वार से उसने अपने शत्रु का काम तमाम कर दिया।

28. कोल्हू का बैल बनना – रात – दिन काम करने वाला,
प्रयोग – कोल्हू का बैल बनने पर भी आजकल निर्वाह मुश्किल से होता है।

29. खाला जी का घर – आसान काम,
प्रयोग – आठवीं श्रेणी पास करना खाला जी का घर नहीं है।

30. खाक छानना – मारे – मारे फिरना,
प्रयोग – बचपन में बलदेव पढ़ा नहीं और अब खाक छानता फिरता है।

31. गले का हार – बहुत प्यारा,
प्रयोग – सुरेश अपने माता – पिता के गले का हार है।

32. गागर में सागर भरना – संक्षेप में बहुत कुछ कहना,
प्रयोग – रहीम ने अपने दोहों में गागर में सागर भर दिया है।

33. घी के दीये जलाना – बहुत खुशी मनाना,
प्रयोग – जब श्री रामचन्द्र जी अयोध्या वापिस पहुँचे तो लोगों ने घी के दीये जलाए।

34. घोड़े बेचकर सोना – बेफिक्र होकर सोना,
प्रयोग – परीक्षा के बाद सब विद्यार्थी घोड़े बेचकर सोते हैं।

35. घड़ों पानी पड़ना – लज्जित होना,
प्रयोग – अपराध साबित होने पर रामसिंह पर घड़ों पानी पड़ गया।

36. चकमा देना – धोखा देना,
प्रयोग – डाकू पुलिस को चकमा देकर भाग गए।

37. चादर से बाहर पैर पसारना – आमदनी से अधिक खर्च करना,
प्रयोग – चादर से बाहर पैर पसारने वाले लोग अन्त में पछताते हैं।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

38. छक्के छुड़ाना – बुरी तरह हराना,
प्रयोग – युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना के छक्के छुड़ा दिए।

39. जूतियाँ चाटना – खुशामद करना,
प्रयोग – सोहन दूसरों की जूतियाँ चाट कर अपना काम निकालने में चतुर है।

40. टका – सा जवाब देना – साफ़ इन्कार करना,
प्रयोग – मैंने जब महेन्द्र से पुस्तक माँगी तो उसने मुझे टका – सा जवाब दे दिया।

41. टूट पड़ना – हमला करना,
प्रयोग – देखते – ही – देखते भारतीय सेना शत्रु पर टूट पड़ी।

42. टेढ़ी खीर – कठिन काम,
प्रयोग – आठवीं की परीक्षा पास करना टेढ़ी खीर है।

43. डींग मारना – शेखी मारना,
प्रयोग – डींग मारने वालों पर विश्वास मत करो।

44. तलवे चाटना – खुशामद करना,
प्रयोग – बलबीर दूसरों के तलवे चाट कर काम निकालने में निपुण है।

45. तूती बोलना – प्रभाव होना, प्रसिद्धि होना,
प्रयोग – धनी व्यक्ति की प्रत्येक स्थान पर तूती बोलती है।

46. दाँत खट्टे करना – बुरी तरह हराना,
प्रयोग – भारत ने युद्ध में दो बार पाकिस्तान के दाँत खट्टे किए।

47. दिन फिरना – अच्छे दिन आना,
प्रयोग – अरे दिनेश ! चिन्ता मत करो, दिन फिरते देर नहीं लगती।

48. नमक – मिर्च लगाना – छोटी – सी बात को बढ़ा – चढ़ा कर कहना,
प्रयोग – हरीश के स्कूल से भागने पर सुरेश ने मुख्याध्यापक से खूब नमक – मिर्च लगाकर उसकी शिकायत की।

49. नाकों चने चबाना – खूब तंग करना,
प्रयोग – सुभाष चन्द्र बोस जैसे वीरों ने अंग्रेज़ी सेना से टक्कर लेकर उसको नाकों चने चबा दिए थे।

50. नानी याद आना – संकट में पड़ना, घबराना,
प्रयोग – जब भीम की गदा की चोटें दुर्योधन को सहनी पड़ी, तो उसे नानी याद आ गई।

51. नौ – दो ग्यारह होना – भाग जाना,
प्रयोग – पुलिस को देखते ही चोर नौ – दो ग्यारह हो गया।

52. पानी – पानी होना – बहुत लज्जित होना,
प्रयोग – सच्चाई सामने आने पर बलदेव शर्म से पानी – पानी हो गया।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

53. पीठ दिखाना – युद्ध से भाग जाना,
प्रयोग – युद्ध के मैदान में पीठ दिखाना कायरों का काम है, वीरों का नहीं।

54. प्राण पखेरू उड़ना – मर जाना,
प्रयोग – डॉक्टर के आने से पहले ही रोगी के प्राण पखेरू उड़ गए।

55. पेट में चूहे दौड़ना – बहुत भूख लगना,
प्रयोग – माता जी ! जल्दी खाना दीजिए, मेरे पेट में तो चूहे दौड़ रहे हैं।

56. फूला न समाना – बहुत खुश होना,
प्रयोग – परीक्षा में प्रथम आने का समाचार सुनकर दिनेश फूला नहीं समाता था।

57. फूट – फूट कर रोना – बहुत अधिक रोना,
प्रयोग – पिता के मरने का समाचार सुनकर पुत्र फूट – फूट कर रोने लगा।

58. बाएँ हाथ का खेल – आसान काम,
प्रयोग – इस नदी को तैर कर पार करना कोई बाएँ हाथ का खेल नहीं है।

59. बाल – बाल बचना – मुश्किल से बचना,
प्रयोग – मोहन सिंह बस दुर्घटना में बाल बाल बच गया।

60. भीगी बिल्ली बनना – डर से दबे रहना,
प्रयोग – जब तक मास्टर जी क्लास में रहते हैं, लड़के भीगी बिल्ली बनकर बैठे रहते हैं।

61. राई का पहाड़ बनाना – बात को बढ़ा – चढ़ा कर बताना,
प्रयोग – जसदेव को तो राई का पहाड़ बनाने की आदत है।

62. रंगा सियार – धोखेबाज,
प्रयोग – तुम्हें सतीश की बातों में नहीं आना चाहिए, वह तो निरा रंगा सियार है।

63. लेने के देने पड़ जाना – अपना ही नुकसान हो जाना,
प्रयोग – भारत पर आक्रमण करके पाकिस्तान को लेने के देने पड़ गए।

64. सितारा चमकना – किस्मत खुलना,
प्रयोग – परिश्रम करने से मनुष्य का सितारा अवश्य चमकता है।

65. सात घाट का पानी पीना – बहुत अनुभवी होना,
प्रयोग – सुरेन्द्र को कोई धोखा नहीं दे सकता, क्योंकि उसने सात घाट का पानी पीया है।

66. सिर खाना – फ़िजूल की बातें करके तंग करना,
प्रयोग – नालायक विद्यार्थी कक्षा में अध्यापक का सिर खाते रहते हैं।

67. हवा से बातें करना – बहुत तेज़ दौड़ना,
प्रयोग – महाराणा प्रताप का घोड़ा हवा से बातें करता था।

PSEB 5th Class Hindi Vyakaran मुहावरे

68. हवा हो जाना – भाग जाना,
प्रयोग – पहरेदार को अपनी तरफ आते देखकर चोर हवा हो गया।

69. हाथ – पाँव मारना – प्रयत्न करना,
प्रयोग – आजकल बहुत हाथ – पाँव मारने पर भी कठिनता से गुज़ारा होता है।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Hindi Grammar Vyakaran Exercise Questions and Answers, Notes.

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran (2nd Language)

प्रश्न 1.
भाषा किसे कहते हैं ?
उत्तर :
जिस साधन द्वारा हम अपने विचार दूसरों पर प्रकट करते हैं, और दूसरों के विचारों तथा भावों को समझ सकते हैं; उसे भाषा कहते हैं जैसे – हिन्दी, मराठी, बांग्ला, पंजाबी आदि भाषाएँ हैं।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
भाषा के प्रकार लिखो।
उत्तर :
भाषा के दो प्रकार हैं –

  • लिखित और
  • मौखिक।

प्रश्न 3.
लिपि किसे कहते हैं ? हिन्दी की लिपि का नाम लिखो।
उत्तर :
जिन वर्ण चिह्नों के द्वारा भाषा लिखी जाती है, उसे लिपि कहते हैं। हिन्दी भाषा की लिपि का नाम देवनागरी है।

प्रश्न 4.
व्याकरण किसे कहते हैं ? उसके कितने भेद हैं ?
उत्तर :
जिस शास्त्र की सहायता से हमें किसी भाषा को शुद्ध लिखना और बोलना आता है, उसे व्याकरण कहते हैं। व्याकरण के तीन भेद होते हैं – वर्ण विचार, शब्द विचार और वाक्य विचार।

प्रश्न 5.
वर्ण या अक्षर किसे कहते हैं ?
उत्तर :
वह छोटी – से – छोटी ध्वनि जिसका कोई खण्ड न हो सके, (वर्ण) अक्षर कहलाती है, जैसेअ, क्, स्, प, ह, इ, उ आदि।

प्रश्न 6.
वर्णमाला किसे कहते हैं ?
उत्तर :
वर्गों के समूह को वर्णमाला कहते हैं।

प्रश्न 7.
हिन्दी वर्णमाला में कितने वर्ण (अक्षर) हैं ?
उत्तर :
हिन्दी वर्णमाला में ग्यारह स्वर और तैंतीस व्यंजन हैं।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 8.
वर्ण के कितने भेद होते हैं ?
उत्तर :
वर्ण के दो भेद हैं –

  • स्वर
  • व्यंजन।

प्रश्न 9.
स्वर किसे कहते हैं ?
उत्तर :
जो बिना किसी अन्य वर्ण की सहायता से बोले जाते हैं, उन्हें स्वर कहा जाता है। जैसे – अ, इ, उ, ऋ आदि ग्यारह स्वर हैं।

प्रश्न 10.
व्यंजन किसे कहते हैं ?
उत्तर :
जो वर्ण स्वर की सहायता के बिना बोले नहीं जा सकते, उन्हें व्यंजन कहते हैं।

प्रश्न 11.
शब्द किसे कहते हैं ? ये कितने प्रकार के होते हैं ?
उत्तर :
अक्षरों और वर्णो के ऐसे समूह को शब्द कहते हैं जिसका अपना कोई अर्थ हो, जैसे – पुस्तक कलम, मेज़, गाय आदि।

प्रश्न 12.
संज्ञा की परिभाषा लिखो और उसके भेद बताओ।
उत्तर :
किसी व्यक्ति, स्थान, वस्तु आदि के नाम को संज्ञा कहा जाता है। जैसे – जालन्धर, दिल्ली, मेज, कुर्सी, मोहन, राकेश आदि।

संज्ञा के भेद – व्यक्तिवाचक, जातिवाचक, भाववाचक, समूहवाचक और द्रव्यवाचक।

प्रश्न 13.
सर्वनाम की परिभाषा व भेदों के नाम लिखो।
उत्तर :
संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले विकारी शब्द को सर्वनाम कहते हैं, जैसे – सोहन, मोहन के साथ उसके घर गया। इस वाक्य में ‘उसके’ सर्वनाम मोहन के स्थान पर प्रयुक्त हुआ है।

सर्वनाम के भेद – सर्वनाम के छ: भेद माने जाते

  • पुरुषवाचक सर्वनाम।
  • निश्चयवाचक सर्वनाम।
  • अनिश्चयवाचक सर्वनाम।
  • सम्बन्धवाचक सर्वनाम।
  • प्रश्नवाचक सर्वनाम।
  • निजवाचक सर्वनाम।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 14.
विशेषण किसे कहते हैं ? इसके भेदों के नाम लिखो।
उत्तर :
जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता प्रकट करते हैं, उन्हें विशेषण कहा जाता है, जैसेवीर पुरुष। इसमें ‘वीर’ शब्द पुरुष की विशेषता प्रकट करता है। इसलिए यह विशेषण है।

विशेषण के भेद – विशेषण के चार भेद माने जाते हैं

  • गुणवाचक विशेषण।
  • संख्यावाचक विशेषण।
  • परिमाणवाचक विशेषण।
  • सार्वनामिक विशेषण।

प्रश्न 15.
क्रिया किसे कहते हैं ? क्रिया के |भेदों के नाम लिखो।
उत्तर :
जिन शब्दों द्वारा किसी काम का करना होना, सहना आदि पाया जाए, उसे क्रिया कहते हैं। जैसे – मोहन पढ़ता है। कमला लिखती है। क्रिया के भेद – क्रिया के दो भेद माने जाते

  • सकर्मक क्रिया
  • अकर्मक क्रिया।

1. लिंग परिवर्तन

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 1
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 2

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 3
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 4

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

2. वचन बदलो

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 5

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 6
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 7
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 8

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

3. विपरीतार्थक शब्द

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 9
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 10

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 11
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 12

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

4. समानर्थक शब्द

  • स्कूल – विद्यालय, पाठशाला
  • वार्षिक – सालाना, वर्ष का।
  • विद्यार्थी – छात्र, शिष्य।
  • अंक – नम्बर।
  • बधाई – मुबारक क्षमा – माफी।
  • समय – वक्त सही – ठीक, उचित।
  • सवाल – प्रश्न तारीफ – प्रशंसा, बढ़ाई।
  • मास्टर – गुरु, अध्यापक।
  • शरारती – नटखट, दुष्ट।
  • पेड़ – वृक्ष, विटप।
  • हिरण – मृग।
  • डर – भय।
  • मुख – मुँह।
  • अन्दर – भीतर।
  • सावधान – होशियार, चौकस।
  • खबर – समाचार पक्षी – पंछी, खग।
  • बगीचा – उपवन, बाग।
  • तीर – बाण, शर।
  • राजा – नृप, नरेश।
  • पंख – पर, पक्ष।
  • शरीर – तन, गात।
  • अध्यापक – शिक्षक, गुरुजन।
  • प्रतीक्षा – इन्तजार।
  • सहारा – सहायता, मदद।
  • आकाश – नभ, आसमान।
  • कहानी – कथा, गल्प।

शब्दों के अर्थ एवं वाक्य प्रयोग

(i) झरना = झरने।
(ii) मुस्काता = मुस्काते।
(iii) बहाता = बहाते।
(iv) फैलाता = फैलाते।
उत्तर :
उपरोक्त रेखांकित शब्दों के बहुवचन रूप सामने लिखे गए हैं। विद्यार्थी इनका ज्ञान भली प्रकार जान लें।

1. मिसरी सी (मीठी) – कोयल की मीठी कूक कानों में मिसरी सी घोलती है।
2. सच (सत्य) – सच – सच बताओ, कल तुम कहाँ थे ?
3. रच – रच (बना – बनाकर) – कभी भी बातें रच – रच कर मत कहो।
4. प्रणाम (नमन) – हमें अपने माता – पिता और गुरुजनों को प्रणाम करना चाहिए।
5. पवित्र (स्वच्छ) – बालक ने पवित्र – सरोवर में स्नान किया।
6. रेहड़ी (ठेला) – वह फलों की रेहड़ी लगाता है।
7. धूलि (मिट्टी) – गाड़ी धूलि उड़ाती चली गई।
8. वार्षिक (वर्ष का) – कल स्कूल की वार्षिक परीक्षा का परिणाम निकलेगा।
9. परिणाम (नतीजा) – अच्छे काम का परिणाम अच्छा ही होता है।
10. उदास (निराश) – पिता जी के न आने से रोहित उदास हो गया।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

11. विश्वास (भरोसा) – मुझे अपने मित्र पर पूरा विश्वास है।
12. क्षमा (माफी) – उसने मुझसे क्षमा माँगी।
13. आत्मविश्वास (स्वयं पर भरोसा) – बालक ने आत्म – विश्वास से कहा।
14. जुर्माना (आर्थिक दण्ड) – प्रधानाचार्य ने मुझे दस रुपए जुर्माना कर दिया है।
15. राष्ट्रपति (राष्ट्र का संरक्षक) – श्री रामनाथ कोविंद हमारे वर्तमान राष्ट्रपति हैं।
16. नाखुश (नाराज) – वह आपसे नाखुश है।।
17. मार – मार (मारना) – पुलिस ने मार – मार कर चोर को अधमरा कर दिया।
18. डरते – डरते (डर कर) – बच्चा डरते – डरते मेरे सामने आया।
19. आज्ञाकारी (आज्ञा मानने वाला) – श्रवण कुमार एक आज्ञाकारी बालक था।
20. क्रोध (गुस्सा) – रमेश को जल्दी ही क्रोध आ जाता है।
21. मीठे – मीठे (मिठास से भरे) – शबरी ने श्री राम को मीठे – मीठे बेर खाने को दिए।
22. कनपटी (कान के पास वाला स्थान)गोली उसकी कनपटी पर लगी।
23. समय (वक्त) – हमें सब काम समय पर ही करना चाहिए।
24. नित (नित्य, प्रतिदिन) – हमें प्रतिदिन नहाना चाहिए।
25. मेहनत (परिश्रम) – परीक्षा में सफल होने के लिए मेहनत तो करनी ही पड़ेगी।
26. सुबकना (रोना) – पिता जी की डाँट खाकर वह सुबकने लगा।
27. तारीफ़ (प्रशंसा) – उसने कल मेरी खूब तारीफ़ की।
28. दण्ड (सजा) – शरारती रमेश को उसकी शरारतों के कारण अध्यापक ने दण्ड दिया।
29. साहसी (बहादुर) – रमा बहुत साहसी लड़की है।
30. प्रसन्न (खुश) – मुझसे सभी प्रसन्न हैं।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

31. पीठ – थपथपाना (शाबाशी देना) – रमा की बहादुरी पर अध्यापक ने उसकी पीठ थपथपाई।
32. नटखट (शरारती) – भील बहुत नटखट था।
33. परेशानी (तकलीफ) – मुझसे आपको कोई परेशानी नहीं होगी।
34. आदत (स्वभाव) – शराब पीने की उसकी आदत बुरी है।
35. नज़र बचाकर (चुपक ) – वह स की नज़र बचाकर भाग गया।
36. लज्जित (शर्मिन्दा) – अपने बुर कार्यों के कारण वह लज्जित है।
37. व्यवहार (बर्ताव) – हमें सबसे अच्छा व्यवहार करना चाहिए।
38. कुम्हार (बर्तन बनाने वाला) – कुम्हार बर्तन बनाता है।
39. भाईचारा (भ्रातृत्व भावना) – त्योहार हमें परस्पर प्रेम और भाईचारे का सन्देश देते हैं।
40. भला (अच्छा) – वह बहुत भला आरमी
41. धड़ाम से (जोर से) – मोहन धड़ाम से। गिर पड़ा।
42. नुकसान (हानि) – वर्षा ने फसलों को काफ़ी नुकसान पहुंचाया।
43. पाठशाला (स्कूल) – वह रोज़ाना पाठशाला जाता है।
44. प्रतियोगिता (स्पर्धा) – मैंने स्कूल की खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।
45. नन्हीं (छोटी) – नन्हीं सी चींटी भी परिश्रम में विश्वास रखती है।
46. पार्क (खेल का मैदान) – रमेश खेलने के लिए पार्क में गया है।
47. कण (छोटा सा टुकड़ा) – ईश्वर कणकण में विद्यमान है।
48. कतार (लाइन) – टिकट लेने के लिए सभी कतार में खड़े हैं।
49. हिम्मत (साहस) – हमें मुश्किल के समय हिम्मत से काम लेना चाहिए।
50. सहपाठी (साथ पढ़ने वाला) – वह लड़का मेरा सहपाठी है।
51. स्कूल (विद्यालय) – वह स्कूल में पढ़ाता है।
52. नृत्य (नाच) – भंगड़ा पंजाब का प्रसिद्ध नृत्य है।
53. उपहार (तोहफ़ा) – मुझे जन्मदिन पर खूब उपहार मिले।
54. मेहमान (अतिथि) – हमारे घर मेहमान आए हैं।
55. स्वागत करना (सत्कार करना) – हमें अपने अतिथि का स्वागत करना चाहिए। अथवा उन्होंने हमारा बड़ी गर्मजोशी से स्वागत किया।
56. अलविदा (जुदाई) – हमने अपने मित्रों को अलविदा कहा और लौट आए।
57. होशियार (सावधान) – होशियार! आगे खतरा है।
58. खबर (समाचार) – हमें सुनीता की कोई खबर नहीं मिली।
59. जीवित (जिन्दा) – वह अभी भी जीवित।
60. कोशिश (यत्न) – कोशिश करने पर सभी काम सफल होते हैं।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

61. निगलना (समूचा खा जाना) – अजगर ने छिप म्ली को समूचा ही निगल लिया।
62. चिल्लाना (शोर मचाना) – शेर को देखकर लोगों ने चिल्लाना शुरू कर दिया।
63. सराहना (प्रशंसा) – सभी रीना की बहादरी की सराहना करने लगे।
64. पुरस्कार (इनाम) – अतिथि महोदय ने पुरस्कार बाँटे।
65. मगरमच्छ (कुंभीर) – मगरमच्छ शिकार की तलाश में था।
66. धन्यवाद (शुक्रिया) – मुख्याध्यापक महोदय ने सभी लोगों का धन्यवाद किया।
67. ठान लना (पक्का इरादा कर लेना) – मैंने इस प्रतियोगिता के नीतने की ठान ली है।
68. दुःख (कष्ट, तकलीफ) – दुःख में भी हिम्मत से काम लेना चाहिए।
69. उल्लंघन (नियम को तोडना) – नियमों का उल्लंघन नहीं करना चाहिए।
70. जोखिम (खतरा) – राधा ने जान जोखिम में डालकर मोहित को बचा लिया।
71. दुर्घटना (बुरी घटना, एक्सीडेंट) – कल शाम सड़क दुर्घटना में चार व्यक्ति मारे गए।
72. दुरुपयोग (बुरा उपयोग) – समय का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए।
73. सदुपयोग (अच्छा लगेग) – समय का सदुपयोग करना चाहिए।
74. गँवार (गाँव का रहने वाला) – मोहन गाँव में रहने के कारण गँवार कहलाता है।
75. बुत (मूर्ति) – मुस्लिम लोग बुत परस्ती (मूर्ति पूजा) नहीं करते।
76. प्रतीक्षा (इंतजार) – मुझे गाड़ी की प्रतीक्षा करनी पड़ी।
77. तीर (बाण) – श्रवण के सीने में तीर लगा।
78. छटपटाना (तड़पना) – तीर लगने पर हंस छटपटाने लगा।
79. चचेरा भाई (चाचा का बेटा) – देवदत्त, सिद्धार्थ का चचेरा भाई था।
80. शिकायत (दोष लगाना) – बच्चों ने अध्यापक से राम की शिकायत की।
81. अहिंसा (हिंसा न करना) – गाँधी जी अहिंसा के पुजारी थे।
82. प्रेम (प्यार) – सभी से प्रेमपूर्वक रहना चाहिए।
83. करुणा (दया) – ईश्वर करुणा के सागर
84. परोपकार (दूसरों का भला करना) – हमें सदा परोपकार करना चाहिए।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

महत्त्वपूर्ण गद्यांश एवं उनके प्रश्नोत्तर

निम्नलिखित गद्यांशों को पढ़कर नीचे दिए ‘गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

1. एक बार ईश्वरचन्द्र विद्यासागर कहीं जा रहे थे। तभी एक बालक उनके पास आया और एक पैसा’ माँगने लगा। विद्यासागर ने उससे पूछा कि यदि मैं तुम्हें एक पैसे के स्थान पर एक रुपया दे दूँ तो तुम क्या करोगे? बालक ने उत्तर दिया कि मैं फिर भीख नहीं माँगूगा। उसका उत्तर सुनकर विद्यासागर ने उसे एक रुपया दे दिया।

प्रश्न 1.
बालक ने एक पैसा किससे मांगा?
(क) पिता से
(ख) माता से
(ग) ईश्वरचन्द्र विद्यासागर से
(घ) गुरु जी से।
उत्तर :
(ग) ईश्वरचन्द्र विद्यासागर से

प्रश्न 2.
ईश्वरचन्द्र विद्यासागर ने बालक को कितने पैसे देने को कहा?
(क) एक – पैसा
(ख) एक रुपया
(ग) दस रुपये
(घ) सौ रुपये।
उत्तर :
(ख) एक रुपया

प्रश्न 3.
बालक ने विद्यासागर जी को क्या आश्वासन दिया?
(क) भीख माँगने का
(ख) भीख न माँगने का
(ग) पढ़ने का
(घ) न पढ़ने का।
उत्तर :
(ख) भीख न माँगने का

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 4.
जब ईश्वरचन्द्र विद्यासागर जी कहीं जा रहे थे तब उनके पास कौन आया?
(क) बालक,
(ख) ऋषि
(ग) राजा
(घ) भिखारी।
उत्तर :
(क) बालक।

2. कृष्णपुर गाँव की पाठशाला में गुरु जी गणित की कापियाँ देख रहे थे। वह गोपाल की कापी देखकर बहुत खुश हुए क्योंकि उसने सारे सवाल ठीक हल किए थे। उन्होंने कक्षा के सामने गोपाल की तारीफ भी!

प्रश्न 1.
पाठशाला किस गाँव में थी?
(क) कृष्णनगर
(ख) कृष्णपुर
(ग) कृष्णा
(घ) कान्हापुर।
उत्तर :
(ख) कृष्णपुर

प्रश्न 2.
पाठशाला में कौन थे?
(क) बच्चे
(ख) शिक्षक
(ग) गुरु जी
(घ) शिष्य।
उत्तर :
(ग) गुरु जी

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 3.
गुरु जी किस विषय की कापियाँ देख रहे थे?
(क) गणित की
(ख) हिंदी की
(ग) साइंस की
(घ) पंजाबी की।
उत्तर :
(क) गणित की

प्रश्न 4.
गुरु जी किसकी कापी देखकर खुश हुए?
(क) बच्चे की
(ख) शिष्य की
(ग) गोपाल की
(घ) शिक्षक की।
उत्तर :
(ग) गोपाल की

प्रश्न 5.
गुरु जी ने कक्षा के सामने किसकी तारीफ की?
(क) गोपाल की
(ख) अरुण की
(ग) विद्यार्थी की
(घ) रवि की।
उत्तर :
(क) गोपाल की।

3. भोलू अपने किए पर शर्मिन्दा था। उसके पिता जी ने उसे समझाते हुए कहा कि बेटा, हमें दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए। ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे दूसरों का नुकसान हो।

प्रश्न 1.
भोलू किस पर शर्मिन्दा था?
(क) अपने किए पर
(ख) अपने वादे पर
(ग) अपने मित्र पर
(घ) अपनी बात पर।
उत्तर :
(क) अपने किए पर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
भोलू को किसने समझाया?
(क) मित्र ने
(ख) भाई ने
(ग) पिता जी ने
(घ) माता जी ने।
उत्तर :
(ग) पिता जी ने

प्रश्न 3.
भोलू को पिता जी ने दूसरों के साथ कैसे व्यवहार की शिक्षा दी?
(क) अच्छे
(ख) बुरे
(ग) सहनशील
(घ) निड़र।
उत्तर :
(क) अच्छे

प्रश्न 4.
हमें कैसा कार्य करना चाहिए?
(क) श्रेष्ठ
(ख) बुरा
(ग) खर्चीला
(घ) बेकार।
उत्तर :
(क) श्रेष्ठ।

4. किसी पेड़ पर बंदर और बंदरिया का जोड़ा रहता था। उसका एक छोटा बच्चा भी था। जिसका नाम भोलू था। वह बड़ा ही नटखट था। वह हमेशा ऐसी शरारतें करता था। जिससे दूसरों को परेशानी होती। उसकी इस आदत से सभी दखी थे।

प्रश्न 1.
बंदर और बंदरिया का जोड़ा कहां रहता था?
(क) पेड़ पर
(ख) घर में
(ग) जंगल में
(घ) खोखर में।
उत्तर :
(क) पेड़ पर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
बंदर और बंदरिया के बच्चे का क्या नाम था?
(क) काला
(ख) भोल
(ग) डोलु
(घ) गोलू।
उत्तर :
(ख) भोलू

प्रश्न 3.
भोलू कैसा बच्चा था?
(क) नन्हा
(ख) मुन्ना
(ग) नटखट
(घ) बड़बड़।
उत्तर :
(ग) नटखट

प्रश्न 4.
भोलू हमेशा क्या काम करता था?
(क) मारता
(ख) खेलता
(ग) नहाता
(घ) शरारतें।
उत्तर :
(घ) शरारतें।

5. रानी आज बहुत उदास है। कल उसकी पाठशाला में खेल प्रतियोगिता होने जा रही है। वह कितने ही दिनों से इसकी तैयारी कर रही थी? परंतु जब इसकी फाइनल रिहर्सल हई तो वह उसमें चौथा स्थान ही प्राप्त कर सकी।

प्रश्न 1.
रानी आज कैसी थी?
(क) हास
(ख) उदास
(ग) परिहास
(घ) खुश।
उत्तर :
(ख) उदास

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
रानी की पाठशाला में कल कौन – सी प्रतियोगिता होनी थी?
(क) क्रिकेट
(ख) खो – खो
(ग) कुश्ती
(घ) खेल।
उत्तर :
(घ) खेल

प्रश्न 3.
प्रतियोगिता में रानी को कौन – सा स्थान प्राप्त हुआ?
(क) पहला
(ख) दूसरा
(ग) तीसरा
(घ) चौथा।
उत्तर :
(घ) चौथा

प्रश्न 4.
रानी किस कारण उदास हो रही थी?
(क) खेल प्रतियोगिता के
(ख) फेल होने के
(ग) अंक कम आने के
(घ) चोट लगने के।
उत्तर :
(क) खेल प्रतियोगिता के

प्रश्न 5.
रानी आज बहुत…………… है। (उदास/परिहास)
उत्तर :
उदास।

6. रानी ने देखा कि चींटियों ने उस गीली मिट्टी से भी अपने लिए रास्ता बना लिया और अपने कार्य में जुट गईं। रानी समझ गई कि हिम्मत न हारने और लगातार मेहनत करने से ही सफलता मिलती है। वह उठी और बाहर पार्क में जाकर प्रतियोगिता की तैयारी में जी जान से जुट गई · और अगले दिन प्रतियोगिता में उसने पहला स्थान पाया।

प्रश्न 1.
रानी ने किसको देखा?
(क) चींटियों को
(ख) माता को
(ग) पिता को
(घ) बंदर को।
उत्तर :
(क) चींटियो को

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
रानी को किनसे प्रेरणा मिली?
(क) गुरु जी से
(ख) पिता जी से
(ग) चींटियों से
(घ) माता जी से।
उत्तर :
(ग)चींटियों से

प्रश्न 3.
रानी ने चींटियों से क्या करने की प्रेरणा ली?
(क) मेहनत
(ख) काम
(ग) पढ़ाई
(घ) कार्य।
उत्तर :
(क) मेहनत

प्रश्न 4.
लगातार मेहनत करने से क्या मिलता है?
(क) धन
(ख) सफलता
(ग) असफलता
(घ) संपत्ति।
उत्तर :
(ख) सफलता

प्रश्न 5.
तैयारी करने पर रानी को प्रतियोगिता में कौन – सा स्थान मिला?
(क) पहला
(ख) दूसरा
(ग) तीसरा
(घ) चौथा।
उत्तर :
(क) पहला

प्रश्न 6.
रानी प्रतियोगिता की तैयारी में से जुट गई। (जी – जान/मुश्किल)
उत्तर :
जी – जान।

7. माधोपुर गाँव में दीपा नामक लड़की रहती थीं। उसकी आयु 12 वर्ष की थी। उसके पिता जी शहर में नौकरी करते थे और माँ घर में बीमार रहती थी। दीपा बड़ी बहादुर लड़की थी। सारे घर के काम – काज़ करती और नदी पर कपड़े धोने भी जाती थी।

प्रश्न 1.
दीपा कहाँ रहती थी?
(क) माधोपुर
(ख) साधोपुर
(ग) बाधोपुर
(घ) नवीनपुर।
उत्तर :
(क) माधोपुर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
दीपा की आयु कितने वर्ष थी?
(क) 10
(ख) 11
(ग) 12
(घ) 13
उत्तर :
(ग) 12

प्रश्न 3.
दीपा कैसी लड़की थी?
(क) निडर
(ख) साहसी
(ग) बहादुर
(घ) डरपोक।
उत्तर :
(ग) बहादुर

प्रश्न 4.
दीपा नदी पर क्या करने जाती थी?
(क) कपड़े धोने
(ख) नहाने
(ग) घूमने
(घ) देखने।
उत्तर :
(क) कपड़े – धोने

प्रश्न 5.
दीपा की माँ घर में……………. रहती (बीमार/सुमार)
उत्तर :
बीमार।

8. एक दिन दीपा अपनी सहेली के साथ नदी के किनारे कपड़े धो रही थी और थोड़ी ही दूरी पर रवि और हरीश नदी में नहा रहे थे। नहाते – नहाते अचानक रवि नदी में डूबने लगा तो हरीश ने उसे बचाने की कोशिश की और सहायता के लिए चिल्लाने लगा।

प्रश्न 1.
दीपा नदी पर किसके साथ कपड़े धो रही थी?
(क) सहेली के
(ख) मित्र के
(ग) माँ के
(घ) पिता के।
उत्तर :
(क) सहेली के

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
नदी में कौन नहा रहे थे?
(क) रवि
(ख) हरीश
(ग) रवि और हरीश
(घ) कोई नहीं।
उत्तर :
(ग) रवि और हरीश

प्रश्न 3.
नदी में अचानक कौन डूबने लगा?
(क) रवि
(ख) हरीश
(ग) रवि और हरीश
(घ) दीपा।
उत्तर :
(क) रवि

प्रश्न 4.
रवि को किसने बचाने की कोशिश की?
(क) दीपा ने
(ख) सहेली ने
(ग) हरीश ने
(घ) सभी ने।
उत्तर :
(ग) हरीश ने

9. राजकुमार सिद्धार्थ बहुत ही दयालु था। उसे पशु – पक्षियों से बहुत प्यार था। एक दिन वह बगीचे में घूम रहा था। ठण्डी – ठण्डी हवा चल रही थी। पक्षी चहचहा रहे थे।

प्रश्न 1.
सिद्धार्थ कैसा व्यक्ति था?
(क) दयालु
(ख) निडर
(ग) साहसी
(घ) डरपोक।
उत्तर :
(क) दयालु

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
सिद्धार्थ किन से प्यार करते थे?
(क) पशुओं से
(ख) पक्षियों से
(ग) पशु – पक्षियों से
(घ) प्रजा से।
उत्तर :
(ग) पशु – पक्षियों से

प्रश्न 3.
सिद्धार्थ कहाँ घूम रहे थे?
(क) नदी पर
(ख) बगीचे में
(ग) जंगल में
(घ) वन में।
उत्तर :
(ख) बगीचे में

10. अचानक पक्षियों का चहचहाना बन्द हो गया। सिद्धार्थ ने ऊपर देखा। तभी अचानक एक हंस उसके पैरों के पास आकर गिरा। वह छटपटा रहा था, उसके शरीर में तीर लगा हुआ था।

प्रश्न 1.
सिद्धार्थ के पैरों में कौन आकर गिरा?
(क) हंस
(ख) वंश
(ग) दंश
(घ) भंस।
उत्तर :
(क) हंस

प्रश्न 2.
हंस का शरीर किससे घायल था?
(क) गोली से
(ख) तीर से
(ग) तलवार से
(घ) भाले से।
उत्तर :
(ख) तीर से

प्रश्न 3.
किसका चहचहाना बन्द हो गया ?
(क) पक्षियों का
(ख) बच्चों का
(ग) जानवरों का
(घ) हंसों का।
उत्तर :
(क) पक्षियों का

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

11. सिद्धार्थ ने हंस को ऊपर उठाया। उसके पंखों पर प्यार से हाथ फेरते हुए तीर को निकाला और उसके घाव को धोकर उस पर पट्टी बाँधी। इतने में सिद्धार्थ का चचेरा भाई देवदत्त वहाँ आया। उसके हाथ में धनष बाण था। आते ही उसने सिद्धार्थ से कहा, “यह हंस मेरा है, इसे मुझे दे दो।”

प्रश्न 1.
सिद्धार्थ ने किसको उठाया?
(क) हंस को
(ख) पक्षी को
(ग) व्यक्ति को
(घ) जानवर को।
उत्तर :
(क) हंस को,

प्रश्न 2.
सिद्धार्थ ने हंस के शरीर से क्या निकाला?
(क) तलवार
(ख) तीर
(ग) गोली
(घ) कांटा।
उत्तर :
(ख) तीर,

प्रश्न 3.
जब सिद्धार्थ हंस को पट्टी बांध रहे थे तब वहाँ कौन आया?
(क) देवदत्त
(ख) देवीदत्त
(ग) देवव्रत
(घ) देवीदूत।
उत्तर :
(क) देवदत्त,

प्रश्न 4.
देवदत्त क्या लेना चाहता था?
(क) हंस
(ख) बाण
(ग) तीर
(घ) धन।
उत्तर :
(क) हंस।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

12. लोहड़ी पंजाब का प्रसिद्ध त्योहार है। यह त्योहार जनवरी महीने की 13 तारीख को मनाया जाता है। लड़के – लड़कियाँ टोलियाँ बनाकर लोहड़ी का गीत गाते हुए घर – घर जाकर लोहड़ी माँगते हैं। सायंकाल के समय मोहल्ले के सभी लोग इकट्ठे होकर लकड़ियाँ इकट्ठी कर आग जलाते हैं। उस आग में तिल, रेवड़ियाँ आदि डाली जाती हैं।

प्रश्न 1.
पंजाब का प्रसिद्ध त्योहार कौन – सा है?
(क) लोहड़ी
(ख) वैशाखी
(ग) गिद्दा
(घ) होली।
उत्तर :
(क) लोहड़ी

प्रश्न 2.
लोहड़ी का त्योहार कब मनाया जाता है?
(क) 11 जनवरी
(ख) 12 जनवरी
(ग) 13 जनवरी
(घ) 14 जनवरी।
उत्तर :
(ग) 13 जनवरी

प्रश्न 3.
लड़के – लड़कियाँ घर – घर जाकर क्या माँगते हैं?
(क) लोहड़ी
(ख) वैशाखी
(ग) पैसे
(घ) कपड़े।
उत्तर :
(क) लोहड़ी

प्रश्न 4.
सायंकाल मोहल्ले के सभी लोग क्या करते
(क) आग जलाते हैं
(ख) लकड़ियों में आग जलाते हैं
(ग) नाचते हैं
(घ) गाते हैं।
उत्तर :
(ख) लकड़ियों में आग जलाते हैं।

13. सिक्ख धर्म के प्रथम गुरु, गुरु नानक देव जी ने मानवता के कल्याण के लिए अनेकों यात्राएँ की। इन यात्राओं में भाई मरदाना सदा उनके साथ रहते थे। एक बार यात्रा करते – करते गुरु जी एक गाँव में पहुंचे।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 1.
सिख धर्म के प्रथम गुरु कौन थे?
(क) गुरु नानक देव जी
(ख) गरु गोबिन्द सिंह जी
(ग) गुरु अंगद देव जी
(घ) गुरु अर्जन देव जी।
उत्तर :
(क) गुरु नानक देव जी

प्रश्न 2.
गुरु जी ने किनके कल्याण के लिए यात्राएँ की?
(क) देव के
(ख) राजाओं के
(ग) मानवता के
(घ) धर्म के
उत्तर :
(ग) मानवता के

प्रश्न 3.
गुरु जी के साथ सदा कौन रहते थे?
(क) गुरु भाई.
(ख) भाई मरदाना
(ग) भाई साहब
(घ) भाई रवि।
उत्तर :
(ख) भाई मरदाना।

14. चलते – चलते वे दूसरे गाँव पहुँचे। वहाँ के लोगों ने इनका खूब सत्कार किया और इनके विचार बड़े प्यार से सुने। जब गुरु जी इस गाँव से जाने लगे तो उन्होंने कहा – “यह गाँव उजड़ जाए।”

प्रश्न 1.
गाँव के लोगों ने किनका सत्कार किया?
(क) गुरु जी का
(ख) गुरु भाई का
(ग) देव का
(घ) देवी का।
उत्तर :
(क) गुरु जी का

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
गुरु जी ने गाँव से जाते समय किसका आशीर्वाद दिया?
(क) बसने का
(ख) उजड़ने का
(ग) आने का
(घ) जाने का।
उत्तर :
(ख) उजड़ने का

प्रश्न 3.
गाँव के लोगों ने गुरु जी का …………………………………………..किया। (सत्कार/उपकार)
उत्तर :
सत्कार

15. वह बहुत आज्ञाकारी बालक था। उसके माता पिता अन्धे थे। वही उनका एकमात्र सहारा था। वह अपने माता – पिता की हर इच्छा पूरी करता था। एक बार श्रवण के माता – पिता ने तीर्थ यात्रा पर जाने की इच्छा प्रकट की। उन दिनों उसके पास उन्हें तीर्थ यात्रा पर ले जाने के लिए कोई साधन नहीं था। उसने सोच – विचार कर एक तरकीब निकाली। उसने लकड़ी की एक बहँगी बनाई। उसमें माता – पिता को बिठाया और उन्हें तीर्थ यात्रा पर लेकर निकल पड़ा।

प्रश्न 1.
श्रवण कुमार कैसा बालक था ?
(क) आज्ञाकारी
(ख) अवज्ञाकारी
(ग) मेहनती
(घ) निड़र।
उत्तर :
(क) आज्ञाकारी

प्रश्न 2.
श्रवण कुमार अपने माता – पिता की क्या पूरी करता था ?
(क) प्यास
(ख) भूख
(ग) इच्छा
(घ) मेहनत।
उत्तर :
(ग) इच्छा

प्रश्न 3.
श्रवण के माता – पिता ने कहाँ जाने की इच्छा प्रकट की ?
(क) घर पर
(ख) ननिहाल
(ग) तीर्थ यात्रा पर
(घ) ससुराल।
उत्तर :
(ग) तीर्थ यात्रा पर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 4.
श्रवण ने माता – पिता को तीर्थयात्रा किसमें कराई ?
(क) बहँगी में
(ख) कार में
(ग) गाड़ी में
(घ) घोड़ा गाड़ी में।
उत्तर :
(क) बहँगी में

प्रश्न 5.
श्रवण के माता – पिता ………………………………………….. थे। (अंधे/बहरे)
उत्तर :
अंधे

चित्र देखकर पाँच वाक्य लिखो

(1)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 13
उत्तर :

  • दो बच्चे खेल रहे हैं।
  • एक बच्चा रो रहा है।
  • एक बच्चा पुस्तक पढ़ रहा है।
  • एक बच्चे के हाथ में फुटबाल है।
  • एक बच्चा बैठा है।

(2)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 14
उत्तर :

  • तालाब बहुत सुंदर है।
  • तालाब में अनेक पर्यटक नावों में घूम रहे हैं।
  • इसमें अनेक नावें हैं।
  • एक नाव में चार बच्चे हैं।
  • तालाब के बीच में एक लाइट लगी है।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

3. ‘लोहड़ी का चित्र’ जिसमें लड़के – लड़कियां (में चित्र बनाएं) महिला – पुरुष सभी नाच रहे हैं। मोहल्ले के बीच में लोहड़ी जल रही है। चारों तरफ लोग पूजा कर रहे हैं।
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 15
उत्तर :

  • आज लोहड़ी का पवित्र त्योहार है।
  • यह पंजाब का मुख्य त्योहार है।
  • लोहड़ी के दिन सभी लड़के – लड़कियाँ महिला – पुरुष नाच रहे हैं।
  • मोहल्ले के बीच में लोहड़ी जल रही है।
  • सभी लोग उसके चारों तरफ इक्ट्ठे होकर पूजा कर रहे हैं।

(4)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 16
उत्तर :

  • श्रवण कुमार के कन्धे पर बहँगी है।
  • श्रवण कुमार ने बहँगी में अपने अंधे – माता पिता को बिठा रखा है।
  • वह अपने माता – पिता को तीर्थ यात्रा पर ले जा रहा है।
  • उसके हाथों में एक लाठी है।
  • वह माता – पिता को बहँगी में बिठाकर जंगल से गुजर रहा है।

शब्दों को दो अलग – अलग वाक्यों में प्रयोग करते हुए अर्थ स्पष्ट करें –

(1) गृह – यह गृह मेरा है।
ग्रह – पृथ्वी एक बड़ा ग्रह है।

(2) सुत – सिमरजीत मेरा सुत है।
सूत – इस कपड़े में अनेक सूत हैं।

(3) ओर – मीरा स्कूल की ओर गई।
और – मीरा और नीर कक्षा में बैठी हैं।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(4) अलि – फूल पर अलि मंडरा रहा है।
अली – वह मेरी अली है।

(5) अनल – अनल जल रही है।
अनिल – अनिल चल रही है।

(6) अपेक्षा – मुझे सौ अंक की अपेक्षा है।
उपेक्षा – मैं झूठे लोगों की उपेक्षा करती हूँ।

(7) कर्म – हमें सदा कर्म करना चाहिए।
‘क्रम – कक्षा में मेरा दसवां क्रम है।

(8) कर्ण – मनुष्य के दो कर्ण हैं।
करण – कारक का एक भेद करण है।

(9) अचार – मुझे अचार पसंद है।
आचार – हमारा आचार अच्छा होना चाहिए।

(10) अचल – हिमालय अचल भारत का पहरेदार
अचला – अचला पर असंख्य प्राणी रहते हैं।

(11) आदि – हमें अपने आदि की पहचान होनी चाहिए।
आदी – हमें किसी का आदी नहीं होना चाहिए।

(12) खाद – फसल में खाद डाला जाता है।
खाद्य – आम एक खाद्य वस्तु है।

(13) कुल – हम सब रघु कुल की संतान हैं।
कूल – नदी का कूल बहुत दूर है।

(14) दिन – आज का दिन अच्छा है।
दीन – मोहन बहुत दीन है।

(15) परिमाण – इस वस्तु का परिमाण कितना है ?
परिणाम – अमरजीत का परिणाम बहुत अच्छा रहा।

(16) समान – हम सब एक समान हैं।
सामान – यह मेरा सामान है।

(17) हरि – मुझे अपने हरि पर भरोसा है।
हरी – यह कुटिया हरी है।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(18) हँस – हमें सदा हँसना चाहिए।
हंस – हंस बहुत सुंदर होते हैं।

(19) शोक – मुझे इस घटना पर शोक है।
शौक – मुझे पढ़ने का शौक है।

(20) मास – यह जनवरी मास है।
माँस – माँस खाना बुरा है।

चित्र देखकर दिए गए शब्दों की सहायता से वाक्य पूरा करें –

(1)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 17
(भोजन, बेटी, आग, धूआँ, खाना)

  1. माँ ……………………………………………… बना रही है।
  2. पिता जी ……………………………………………… खा रहे हैं।
  3. ……………………………………………… खाना परोस रही है।
  4. खाना ……………………………………………… पर बन रहा है।
  5. चूल्हे से ……………………………………………… उठ रहा है।

उत्तर :

  1. भोजन,
  2. खाना,
  3. बेटी,
  4. चूल्हे,
  5. धूआँ।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(2)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 18
(खेल, सरस्वती विद्यामंदिर, अध्यापिका, विद्यालय, हरे – भरे)

  1. यह हमारा ……………………………………………… है।
  2. विद्यालय का नाम ……………………………………………… है।
  3. बच्चे ……………………………………………… रहे हैं।
  4. ……………………………………………… पढ़ा रही हैं।
  5. विद्यालय में बहुत ……………………………………………… पेड़ हैं।

उत्तर :

  1. विद्यालय,
  2. सरस्वती विद्या मंदिर,
  3. खेल,
  4. अध्यापिका,
  5. हरे – भरे।

(3)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 19
(शेर, हाथी, तालाब, जंगल, पेड़)

  1. यह ……………………………………………… बहुत सुंदर है।
  2. इसमें एक ……………………………………………… है।
  3. जंगल में एक ……………………………………………… बैठा है।
  4. जंगल में अनेक ……………………………………………… हैं।
  5. यहाँ एक ……………………………………………… है।

उत्तर :

  1. जंगल,
  2. तालाब,
  3. शेर,
  4. पेड़,
  5. हाथी।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(4)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 20
(बीज़, बादल, किसान, बैल, वर्षा)

  1. खेत में ……………………………………………… हल जोत रहा है।
  2. एक महिला ……………………………………………… बो रही है।
  3. आकाश में घंने ……………………………………………… छाए हैं।
  4. धीमी – धीमी ……………………………………………… हो रही है।
  5. किसान के ……………………………………………… बहुत तेज़ चल रहे

उत्तर :

  1. किसान,
  2. बीज़,
  3. बादल,
  4. वर्षा,
  5. बैल।

माईंड मैपिंग से संबंधित प्रश्न

(i)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 21
उत्तर :
रंगों के नाम

  • लाल।
  • हरा।
  • पीला।
  • नीला।
  • काला।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(ii)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 22
उत्तर :
फलों के नाम

  • आम।
  • अंगूर।
  • अनार।
  • अमरूद।
  • संतरा।

(iii)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 23
उत्तर :
फूलों के नाम

  • कमल।
  • गुलाब।
  • गेंदा।
  • सूरजमुखी।
  • चमेली।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(iv)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 24
उत्तर :
सब्जियों के नाम

  • फूल गोभी।
  • आलू।
  • मटर।
  • बैंगन।
  • शलगम।

(v)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 25
उत्तर :
दिनों के नाम

  • सोमवार।
  • मंगलवार।
  • बुधवार।
  • वीरवार।
  • शुक्रवार।
  • शनिवार।
  • रविवार।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(vi)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 26
उत्तर :
पेड़ों के नाम

  • आम।
  • पीपल।
  • जामुन।
  • बरगद।
  • शीशम।

(vii)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 27
उत्तर :
पशुओं के नाम

  • शेर।
  • हाथी।
  • भालू।
  • बंदर।
  • चीता।

(viii)
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 28
उत्तर :
पक्षियों के नाम –

  • कौआ।
  • कोयल।
  • तोता।
  • चिड़िया।
  • कबूतर।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

विकल्पों से सही उत्तर चुन कर उन पर सही (✓) का निशान लगाएं।

प्रश्न 1.
(1) हमें ………………………………… बोलना चाहिए।
(i) हंसकर
(ii) रोकर
(iii) चिल्लाकर।
उत्तर :
(i) हंसकर

(2) हमें सदा ………………………………… बोलना चाहिए।
(i) झूठ
(ii) सच
(iii) कड़वा।
उत्तर :
(ii) सच

(3) हमारी बातचीत में ………………………………… होनी चाहिए।
(i) मिठास
(ii) हड़बड़ाहट
(iii) कड़वाहट।
उत्तर :
(i) मिठास

(4) हमें बड़ों का ………………………………… करना चाहिए।
(i) सम्मान
(ii) अपमान
(iii) उपकार।
उत्तर :
(i) सम्मान

प्रश्न 2.
(1) ईश्वर चन्द्र विद्यासागर से एक बालक ने ………………………………… मांगा।
(i) एक पैसा
(ii) एक बंगला
(iii) खाना।
उत्तर :
(i) एक पैसा

(2) विद्यासागर ने उस बालक को ………………………………… दिया।
(i) भोजन
(ii) एक रुपया
(iii) दस रुपया।
उत्तर :
(ii) एक रुपया

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(3) मैंने उससे ………………………………… की रेहड़ी लगाई।
(i) फलों
(i) सब्जी
(iii) चाय।
उत्तर :
(i) फलों

(4) इसी ………………………………… में मेरी फलों की दुकान है।
(i) गली
(ii) शहर
(iii) बाजार।
उत्तर :
(iii) बाजार।

प्रश्न 3.
(1) प्रिंसिपल ने ………………………………… विद्यार्थियों के नाम बताए।
(i) फेल हुए
(ii) पास हुए
(iii) होनहार।
उत्तर :
(ii) पास हुए

(2) लड़के को ………………………………… पूरा विश्वास था।
(i) अपने माता – पिता पर
(ii) अपने प्रिंसिपल पर
(iii) अपने पर।
उत्तर :
(iii) अपने पर।

(3) प्रिंसिपल ने उसे ………………………………… रुपए जुर्माना कर दिया।
(i) दस रुपए
(ii) बीस रुपए
(iii) पचास रुपए।
उत्तर :
(i) दस रुपए

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(4) एक नाम ………………………………… होना रह गया था।
(i) पास
(ii) टाइप
(iii) फेल।
उत्तर :
(ii) टाइप

प्रश्न 4.
(1) महाराजा रणजीत सिंह एक बार जंगल में ………………………………… पर गए।
(i) सैर
(ii) शिकार
(iii) भ्रमण।
उत्तर :
(ii) शिकार

(2) एक ………………………………… उनकी कनपटी पर आकर लगा।
(i) पत्थर
(ii) तीर
(iii) बेर।
उत्तर :
(i) पत्थर

(3) बच्चे ………………………………… मार – मार कर बेर तोड़ रहे थे।
(i) तीर
(ii) पत्थर
(iii) हाथ।
उत्तर :
(ii) पत्थर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(4) महाराजा ने बच्चों को मीठे…… और मिठाइयां दिलवाईं।
(i) सेब
(ii) आम
(iii) बेर।
उत्तर :
(iii) बेर।

प्रश्न 5.
(1) गुरु जी ………………………………… की कापियां जांच रहे थे।
(i) बच्चों
(ii) गणित
(iii) विज्ञान।
उत्तर :
(ii) गणित

(2) गोपाल एक ………………………………… बालक था।
(i) ईमानदार
(ii) चालाक
(iii) शरारती।
उत्तर :
(i) ईमानदार

(3) वह ………………………………… के लायक नहीं था।
(i) तारीफ
(ii) पढ़ने
(iii) खेलने।
उत्तर :
(i) तारीफ

(4) गुरु जी बहुत ………………………………… हुए।
(i) नाराज
(ii) प्रसन्न
(iii) दुखी।
उत्तर :
(ii) प्रसन्न

(5) गोपाल के सारे ………………………………… ठीक थे।
(i) कपड़े
(ii) कागज़
(iii) सवाल।
उत्तर :
(iii) सवाल।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 6.
(1) पेड़ पर ………………………………… का जोड़ा रहता था।
(i) बन्दर और बन्दरिया
(ii) कौवे और कौवी
(iii) तोता और मैना।
उत्तर :
(i) बन्दर और बन्दरिया

(2) छोटे बच्चे का नाम ………………………………… था।
(i) भालू
(ii) भोलू
(iii) गोलू।
उत्तर :
(ii) भोलू

(3) लाली संभल न पाया और ………………………………… में जा गिरा।
(i) दलदल
(ii) गढ्ढे
(iii) कुएं।
उत्तर :
(i) दलदल

(4) हमें दूसरों के साथ ………………………………… करना चाहिए।
(i) अच्छा व्यवहार
(ii) दुष्ट व्यवहार
(iii) छेड़छाड़।
उत्तर :
(i) अच्छा व्यवहार

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 7.
(1) पाठशाला में ………………………………… प्रतियोगिता होने जा रही है।
(i) नृत्य
(ii) खेल
(iii) गायन।
उत्तर :
(ii) खेल

(2) दादी मां ने रानी की ………………………………… का कारण पूछा।
(i) खुशी
(ii) उदासी
(iii) हंसी।
उत्तर :
(ii) उदासी

(3) लगातार ………………………………… करने से ही सफलता मिलती है।
(i) बातचीत
(ii) कसरत
(iii) मेहनत।
उत्तर :
(iii) मेहनत।

(4) फाइनल रिहर्सल में वह ………………………………… स्थान ही पा सकी।
(i) दूसरा
(ii) चौथा
(iii) तीसरा।
उत्तर :
(ii) चौथा

प्रश्न 8.
(1) चार्वी ने अनाथालय में बच्चों को ………………………………… बाँटी।
(i) कापियाँ
(ii) टाफियाँ
(iii) मिठाई।
उत्तर :
(iii) मिठाई।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(2) स्कूल जाकर चार्वी ने अपने सहपाठियों को ………………………………… बाँटी।
(i) पुस्तकें।
(ii) टाफियाँ
(iii) मिठाई।
उत्तर :
(ii) टाफियाँ

(3) चार्वी का ………………………………… जन्म दिन था।
(i) आठवाँ
(ii) सातवाँ
(iii) पाँचवां।
उत्तर :
(i) आठवाँ

(4) आज चार्वी बहुत ………………………………… है।
(i) नाराज
(ii) उदास
(iii) खुश।
उत्तर :
(iii) खुश।

प्रश्न 9.
(1) दीपा की आयु ………………………………… वर्ष थी।
(i) दस
(i) बारह
(iii) आठ।
उत्तर :
(i) बारह

दीपा के पिता…… में नौकरी करते थे।
(i) गाँव
(ii) शहर
(iii) विदेश।
उत्तर :
(ii) शहर

(3) रवि ………………………………… में डूबने लगा।
(i) तालाब
(i) नदी
(iii) कुएँ।
उत्तर :
(i) नदी

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(4) दीपा की बहादुरी पर उसे दिया।
(i) ईनाम
(ii) पुरस्कार
(iii) शाबाश।
उत्तर :
(ii) पुरस्कार

(5) नदी में ………………………………… था।
(i) सांप
(ii) मगरमच्छ
(iii) कछुआ।
उत्तर :
(ii) मगरमच्छ

(6) दीपा ………………………………… कपड़े धो रही थी।
(i) घर के बाहर
(ii) नदी के किनारे
(iii) तालाब के पास।
उत्तर :
(ii) नदी के किनारे

प्रश्न 10.
(1) चुन्नू – मुन्नू ………………………………… मोटरगाड़ी से टकरा गए।
(i) खेलते – खेलते
(ii) चलते – चलते
(iii) दौड़ते – दौड़ते।
उत्तर :
(i) खेलते – खेलते

(2) ………………………………… चलने का संकेत देती है।
(i) पीली बत्ती
(ii) लाल बत्ती
(iii) हरी बत्ती।
उत्तर :
(iii) हरी बत्ती।

(3) हमें सड़क के……… चलना चाहिए।
(i) बायीं ओर
(ii) दायीं ओर
(iii) बीचो – बीच।
उत्तर :
(i) बायीं ओर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

लाल बत्ती हमें ………………………………… का संकेत
(i) चलने
(ii) रुकने
(iii) तैयार रहने।
उत्तर :
(ii) रुकने

प्रश्न 11.
(1)……….. गमले, घड़े बनाता है।
(i) नाई
(ii) ललारी
(iii) कुम्हार।
उत्तर :
(iii) कुम्हार।

(2) ………………………………… खेतों में हल चलाता है।
(i) माली
(ii) किसान
(iii) नाई।
उत्तर :
(ii) किसान

(3) सुख का आधार है …………………………………।
(i) काम
(ii) आराम
(iii) प्रचार।
उत्तर :
(i) काम

(4) रंगाई का काम ………………………………… करता है।
(i) कुम्हार
(ii) ललारी
(iii) माली।
उत्तर :
(ii) ललारी

प्रश्न 12.
(1) राजकुमार सिद्धार्थ बहुत ही ………………………………… था।
(i) लोभी
(ii) नटखट
(iii) दयालु।
उत्तर :
(iii) दयालु।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(2) अचानक पक्षियों का ………………………………… बन्द हो गया।
(i) चहचहाना
(ii) चिल्लाना
(iii) उछलना।
उत्तर :
(i) चहचहाना

(3) देवदत्त के हाथ में ………………………………… था।
(i) धनुष बाण
(ii) घायल हंस
(iii) एक तीर।
उत्तर :
(i) धनुष बाण

(4) ………………………………… वाले से ………………………………… वाला बड़ा होता है।
(i) बचाने, मारने
(ii) मारने, बचाने
(iii) हंसाने, रुलाने।
उत्तर :
(ii) मारने, बचाने

(5) देवदत्त, सिद्धार्थ का ………………………………… भाई था।
(i) चचेरा
(ii) ममेरा
(iii) फुफेरा।
उत्तर :
(i) चचेरा

प्रश्न 13.
(1) श्रवण कुमार एक ………………………………… बालक था।
(i) आज्ञाकारी
(ii) नटखट
(iii) चतुर।
उत्तर :
(i) आज्ञाकारी

(2) श्रवण के माता – पिता ने ………………………………… पर जाने की इच्छा प्रकट की।
(i) यात्रा
(ii) सैर
(iii) तीर्थ – यात्रा।
उत्तर :
(iii) तीर्थ – यात्रा।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

(3) एक दिन वे ………………………………… नदी के किनारे पहुँचे।
(i) सरयू
(ii) गंगा
(iii) यमुना।
उत्तर :
(i) सरयू

(4) राजा ने समझा कि कोई ………………………………… जानवर पानी पी रहा है।
(i) पालतू
(ii) जंगली
(iii) बड़ा।
उत्तर :
(ii) जंगली

प्रश्न 14.
(1) बच्चे ………………………………… में बैठकर पिकनिक मनाने गए।
(i) कार
(ii) रिक्शा
(iii) बस।
उत्तर :
(iii) बस।

(2) अध्यापिका ने उन्हें ………………………………… की कहानी सुनाई।
(i) कबूतरों
(ii) बन्दरों
(iii) मोर।
उत्तर :
(i) कबूतरों

(3) बस का पहिया ………………………………… में धंस गया।
(i) सड़क
(ii) गड्डे
(ii) नदी।
उत्तर :
(ii) गड्डे

(4) बच्चों ने ………………………………… लगाया और बस गड्ढे से बाहर निकल गई।
(i) शोर
(ii) ज़ोर
(ii) कहकहा।
उत्तर :
(ii) ज़ोर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 15.
(1) गुरु नानक सिक्खों के ………………………………… थे।
(i) प्रथम गुरु
(ii) पाँचवें गुरु
(iii) दसवें गुरु।
उत्तर :
(i) प्रथम गुरु

(2) यात्रा करते – करते गुरु जी एक ………………………………… में पहुँचे।
(i) शहर
(ii) गाँव
(iii) नगर।
उत्तर :
(ii) गाँव

(3) सत्कार करने वाले ग्रामीणों को गुरु जी ने कहा …………………………………
(i) बसे रहो
(ii) चलते रहो
(iii) उजड़ जाओ।
उत्तर :
(iii) उजड़ जाओ।

(4) पहले गाँव के लोगों का व्यवहार ………………………………… था।
(i) अच्छा नहीं
(ii) बहुत अच्छा
(iii) ठीक – ठाक।
उत्तर :
(i) अच्छा नहीं

वाक्य पूरे करो

प्रश्न 1.
सही शब्द चुनकर वाक्य पूरे करो – (सोच समझकर, हँसकर, सच, झुककर, मिठास)

  1. हमें …………………………………….. बोलना चाहिए।
  2. हमारी बातचीत में …………………………………….. होनी चाहिए।
  3. हमें सदा …………………………………….. बोलना चाहिए।
  4. हमें …………………………………….. अपनी बात कहनी चाहिए।
  5. हमें अपनी बात …………………………………….. कहनी चाहिए।

उत्तर :

  1. हँसकर
  2. मिठास
  3. सच
  4. सोच – समझकर
  5. झुककर।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 2.
(समय पर, नित, पढ़ने, बड़े)

  1. समय पर …………………………………….. उठ जाओ।
  2. ठीक …………………………………….. खाना खाओ।
  3. तुम बहुत …………………………………….. कहलाओगें।
  4. समय पर …………………………………….. जाओ।

उत्तर :

  1. नित
  2. समय पर
  3. बड़े
  4. पढने।

प्रश्न 3.
(केक, पोशाक, जन्मदिन, गाना, उपहार)

  1. आज मेरा ……………………………………..।
  2. मैंने नयी …………………………………….. पहनी है।
  3. मेरे माता – पिता …………………………………….. लाए हैं।
  4. मैंने सबके साथ मिलकर …………………………………….. काटा।
  5. सभी ने मिलकर …………………………………….. गाया।

उत्तर :

  1. जन्मदिन
  2. पोशाक
  3. उपहार
  4. केक
  5. गाना।।

प्रश्न 4.
(वीरता – पुरस्कार, किनारे, मगरमच्छ, धन्यवाद, बहादुर)

  1. दीपा, रवि को …………………………………….. पर ले आई।
  2. दीपा बहुत …………………………………….. लड़की थी।
  3. नदी में …………………………………….. था।
  4. दीपा को बहादुरी के लिए …………………………………….. मिला।
  5. माता – पिता ने दीपा का …………………………………….. किया।

उत्तर :

  1. किनारे
  2. बहादुर
  3. मगरमच्छ
  4. वीरता पुरस्कार
  5. धन्यवाद।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 5.
(रंग – बिरंगे, बचाने वाले, गौतम – बुद्ध, देवदत्त, तीर)

  1. सिद्धार्थ बड़ा होकर …………………………………….. बना।
  2. बगीचे में …………………………………….. फूल खिले हुए थे।
  3. मारने वाले से …………………………………….. का हक ज्यादा होता है।
  4. हंस के शरीर में …………………………………….. लगा हुआ था।
  5. …………………………………….. सिद्धार्थ का चचेरा भाई था।

उत्तर :

  1. गौतम – बुद्ध
  2. रंग – बिरंगे
  3. बचाने वाले
  4. तीर
  5. देवदत्त।

प्रश्न 6.
(आज्ञाकारी, अन्धे, बहँगी, दशरथ, माता पिता)

  1. मरते वक्त भी उसे अपने …………………………………….. की चिन्ता थी।
  2. श्रवण एक …………………………………….. बालक था।
  3. श्रवण राजा …………………………………….. के बाण से घायल हुआ।
  4. श्रवण के माता – पिता …………………………………….. थे।
  5. श्रवण ने एक …………………………………….. बनाई।

उत्तर :

  1. माता – पिता
  2. आज्ञाकारी
  3. दशरथ
  4. अन्धे
  5. बहँगी।

प्रश्न 7.
(रोशनी, पानी, हरियाली, बारिश, इन्द्रधनुष)

  1. वर्षा के बाद आकाश में …………………………………….. दिखाई देता है।
  2. नदियाँ हमें …………………………………….. देती हैं।
  3. बादल हमें …………………………………….. देते हैं।
  4. चाँद और सूरज हमें …………………………………….. देते हैं।
  5. पेड़ हमें …………………………………….. देते हैं।

उत्तर :

  1. इन्द्रधनुष
  2. पानी
  3. बारिश
  4. रोशनी
  5. हरियाली।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 8.
(जुर्माना, खुश, राष्ट्रपति, परीक्षा, क्लर्क)

  1. एक विद्यार्थी …………………………………….. नहीं था।
  2. उसका …………………………………….. परिणाम बोला नहीं गया था।
  3. प्रिंसीपल ने उसे …………………………………….. कर दिया।
  4. वह बालक बड़ा होकर भारत का …………………………………….. बना।
  5. …………………………………….. ने अपनी गलती मानी।

उत्तर :

  1. खुश
  2. परीक्षा
  3. जुर्माना
  4. राष्ट्रपति
  5. क्लर्क।

प्रश्न 9.
(शिकार, पत्थर, बेर, कनपटी, डरने)

  1. बच्चे बेरी से …………………………………….. तोड़ रहे थे।
  2. पत्थर महाराजा की …………………………………….. पर लगा।
  3. महाराजा रणजीत सिंह …………………………………….. खेलने जा रहे थे।
  4. महाराजा ने कहा, “बच्चो …………………………………….. की कोई बात नहीं।”
  5. बच्चे …………………………………….. से बेर तोड़ रहे थे।

उत्तर :

  1. बेर
  2. कनपटी
  3. शिकार
  4. डरने
  5. पत्थर।

प्रश्न 10.
(पीठ थपथपाई, ईमानदारी, तारीफ, गणित, सवाल)

  1. गोपाल के सारे …………………………………….. ठीक थे।
  2. अध्यापक ने उसकी …………………………………….. ।
  3. उन्होंने गोपाल की …………………………………….. की।
  4. …………………………………….. अच्छी नीति है।
  5. अध्यापक …………………………………….. विषय का काम देख रहे थे।

उत्तर :

  1. सवाल
  2. पीठ – थपथपाई
  3. तारीफ
  4. ईमानदारी
  5. गणित।

प्रश्न 11.
(दलदल, नटखट, नज़रें, लाली, शरारत)

  1. भोलू बहुत …………………………………….. था।
  2. वह …………………………………….. बचाकर भाग गया।
  3. उसके मन में …………………………………….. सूझी।
  4. उसने एक …………………………………….. देखी।
  5. हिरण का बच्चा …………………………………….. आ रहा है।

उत्तर :

  1. नटखट
  2. नज़रें
  3. शरारत
  4. दलदल
  5. लाली।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 12.
(मज़बूत, सहायता, माता – पिता, चिल्लाने, शर्मिन्दा)

  1. वह …………………………………….. के लिए …………………………………….. लगा।
  2. भोलू के …………………………………….. दौड़े आए।
  3. उन्होंने एक …………………………………….. लता को खींचा।
  4. भोलू अपने किए पर …………………………………….. था।

उत्तर :

  1. सहायता, चिल्लाने
  2. मातापिता
  3. मज़बूत
  4. शर्मिन्दा।

प्रश्न 13.
(आँगन, उदास, चीटियाँ, कतार, रिहर्सल, चौथे – स्थान)

  1. रानी आज …………………………………….. है।
  2. …………………………………….. मेहनत करती हैं।
  3. दादी माँ उसे …………………………………….. में ले गई।
  4. वह …………………………………….. में …………………………………….. पर आई थी।
  5. उसने चींटियों की लम्बी …………………………………….. देखी।

उत्तर :

  1. उदास
  2. चींटियाँ
  3. आँगन
  4. रिहर्सल, चौथे स्थान
  5. कतार।

प्रश्न 14.
(रोटी, प्रेरणा, हिम्मत, गीली, बन्द, सफलता)

  1. रानी ने चींटियों से …………………………………….. ली।
  2. मेहनत से व्यक्ति …………………………………….. अवश्य पाता
  3. दादी माँ ने बिल को …………………………………….. मिट्टी से …………………………………….. कर दिया।
  4. चींटियाँ …………………………………….. के टुकड़े को खींच रही थीं।
  5. हमें …………………………………….. नहीं हारनी चाहिए।

उत्तर :

  1. प्रेरणा
  2. सफलता
  3. गीली, बन्द
  4. रोटी
  5. हिम्मत।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न 15.
(बधाई, जन्मदिन, गुब्बारों, अनाथाश्रम, बहन)

  1. आज चार्वी का …………………………………….. है।
  2. उसकी …………………………………….. का नाम एलीका है।
  3. दोनों ने …………………………………….. से घर सज़ा दिया।
  4. माँ ने सबसे पहले …………………………………….. दी।
  5. अभी …………………………………….. जाकर मिठाई बाँटनी है।

उत्तर :

  1. जन्मदिन
  2. बहन
  3. गुब्बारों
  4. बधाई
  5. अनाथाश्रम।

शुद्ध करके लिखो

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 29
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 30

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 31
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 32
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 33
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 34

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

1. निम्नलिखित पंक्तियों को शुद्ध करके लिखो :

प्रश्न –

  1. हमें चाहिए बोलना हँसकर।
  2. सच सदा चाहिए बोलना हमें।
  3. जा रहे थे कहीं एक बार ईश्वरचन्द्र विद्यासागर।
  4. फलों की रेहड़ी लगाई उससे मैंने।
  5. भीख माँगूगा नहीं फिर मैं।
  6. दुकान है फलों की बाज़ार इसी में मेरी।
  7. विद्यासागर ने दिया उसे रुपया एक।
  8. घूम रहे थे वह बाज़ार में।
  9. एक बालक उनके पास आया और माँगने लगा ‘एक पैसा’
  10. अच्छी नीति है ईमानदारी सबसे।

उत्तर :

  1. हमें हँसकर बोलना चाहिए।
  2. हमें सदा सच बोलना चाहिए।
  3. एक बार ईश्वरचन्द्र विद्यासागर कहीं जा रहे थे।
  4. मैंने उससे फलों की रेहड़ी लगाई।
  5. फिर मैं भीख नहीं माँगूगा।
  6. इसी बाज़ार में मेरी फलों की दुकान है।
  7. विद्यासागर ने उसे एक रुपया दिया।
  8. वह बाज़ार में घूम रहे थे।
  9. एक बालक उनके पास आया और ‘एक पैसा’ माँगने लगा।
  10. ईमानदारी सबसे अच्छी नीति है।

प्रश्न –

  1. उसने मुझसे माँगी क्षमा।
  2. बालक पणिराम से नाखुश था।
  3. घोषित होगा कल हमारा वार्षिक परीक्षा परिणाम।
  4. हमारे देश के थे प्रथम राष्ट्रपति डॉ० राजेन्द्र प्रसाद।
  5. बालक बोला बड़े आत्मविश्वास से।
  6. उठ जाओ ठीक समय पर नित।
  7. पढ़ने जाओ समय पर ठीक।
  8. प्रत्येक काम करें समय पर सही।
  9. सुनकर गोपाल रोने लगा अपनी प्रशंसा।
  10. गुरु जी हुए प्रसन्न बहुत बात उसकी सुनकर।

उत्तर :

  1. उसने मुझसे क्षमा माँगी।
  2. बालक परिणाम से नाखुश था।
  3. कल हमारा वार्षिक परीक्षा परिणाम घोषित होगा।
  4. डॉ० राजेन्द्र प्रसाद हमारे देश के प्रथम राष्ट्रपति थे।
  5. बालक बड़े आत्मविश्वास से बोला।
  6. ठीक समय पर नित उठ जाओ।
  7. ठीक समय पर पढ़ने जाओ।
  8. प्रत्येक काम सही समय पर करें।
  9. अपनी प्रशंसा सुनकर गोपाल रोने लगा।
  10. उसकी बात सुनकर गुरु जी बहुत प्रसन्न हुए।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

प्रश्न

  1. देखी दलदल उसने एक।
  2. लाली का बच्चा हिरण आ रहा है।
  3. मुझे पकड़ो लाली, उसने कहा लाली को।
  4. दलदल लाली धंसता जा रहा था में।
  5. जान बच गई इस तरह लाली की।
  6. बहुत उदास है आज रानी।
  7. पाठशाला में जा रही है होने खेल प्रतियोगिता।
  8. सफलता मिलती है मेहनत करने से लगातार।
  9. रानी ने स्थान पाया पहला प्रतियोगिता में।
  10. करती हैं कितनी मेहनत चींटियाँ।

उत्तर :

  1. उसने एक दलदल देखी।
  2. हिरण का बच्चा लाली आ रहा है।
  3. उसने लाली को कहा, “लाली! मझे पकड़ो।”
  4. लाली दलदल में फँसता जा रहा था।
  5. इस तरह लाली की जान बच गई।
  6. आज रानी बहुत उदास है।
  7. पाठशाला में खेल प्रतियोगिता होने जा रही है।
  8. लगातार मेहनत करने से सफलता मिलती
  9. प्रतियोगिता में रानी ने पहला स्थान पाया।
  10. चींटियाँ कितनी मेहनत करती हैं।

प्रश्न

  1. आज है जन्मदिन मेरा।
  2. लाए हैं उपहार माता – पिता मेरे।
  3. बहादुर बड़ी दीपा थी लड़की।
  4. उसने मगरमच्छ को रवि से बचा लिया।
  5. दयालु सिद्धार्थ बहुत था राजकुमार।
  6. सिद्धार्थ को हँस ने ऊपर उठाया।
  7. चचेरा भाई था देवदत्त सिद्धार्थ का।
  8. आज्ञाकारी बालक था कुमार श्रवण।
  9. अन्धे थे उसके माता – पिता।
  10. सुनकर यह मरदाना हुआ हैरान बहुत।

उत्तर :

  1. आज मेरा जन्मदिन है।
  2. मेरे माता – पिता उपहार लाए हैं।
  3. दीपा बड़ी बहादुर लड़की थी।
  4. उसने रवि को मगरमच्छ से बचा लिया।
  5. राजकुमार सिद्धार्थ बहत दयाल था।
  6. सिद्धार्थ ने हंस को ऊपर उठाया।
  7. देवदत्त, सिद्धार्थ का चचेरा भाई था।
  8. श्रवण कुमार आज्ञाकारी बालक था।
  9. उसके माता – पिता अन्धे थे।
  10. यह सुनकर मरदाना बहुत हैरान हुआ।

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

पंजाबी शब्दों का रूपान्तर

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 35
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 36

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 37
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 38

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran

PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 39
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 40
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 41
PSEB 5th Class Hindi Grammar Vyakaran 42

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Chapter 21 कौन? (कविता) Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 5 Hindi Chapter 21 कौन? (कविता) (2nd Language)

कौन? (कविता) अभ्यास

नीचे गुरुमुखी और देवनागरी लिपि में दिये गये शब्दों को पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखने का अभ्यास करो :

  • ਸੋਨੇ = सोने
  • ਰਾਤ = रात
  • ਦਿਸ਼ਾ = दिशा
  • ਸੂਰਜ = सूरज
  • ਦਨ = दिन
  • ਪਿਆਸ = प्यास
  • ਨਦੀਆਂ = नदियाँ
  • ਝਰਨਾ = झरना

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

नीचे एक ही अर्थ के लिए पंजाबी और हिन्दी भाषा में शब्द दिये गये हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखो :

  • ਚੰਨ = चाँद
  • ਸਾਫ = निर्मल
  • ਅਕਾਸ਼ = नभ
  • ਬੱਦਲ = बादल
  • ਸਤਰੰਗੀ ਪੀਂਘ = इन्द्रधनुष
  • ਸਵਾਲ = प्रश्न

पढ़ो, समझो और लिखो

(क) प् + य = प्य = प्यास
स् + क = स्क = मुस्काता
श् + न = श्न = प्रश्न
र् + व = 4 = पर्वत

कौन? (कविता) शब्दार्थ

  • दिशा – ओर, तरफ, चार मुख्य दिशाएँ पूर्व, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण
  • नभ = आकाश
  • निर्मल = मल रहित, साफ़
  • इन्द्रधनुष = बारिश के बाद आकाश में दिखाई देने वाला सात रंगों का आधा गोला
  • जग = संसार

वाक्य पूरे करो

  1. चाँद और सूरज हमें ……………………………….. देते हैं। – इन्द्रधनुष
  2. नदियाँ हमें ……………………………….. देती हैं। – बारिश
  3. पेड़ हमें ……………………………….. देते हैं। – रोशनी
  4. बादल हमें ……………………………….. देते हैं। – पानी
  5. बारिश के बाद आकाश में ……………………………….. दिखाई देता है। – हरियाली

उत्तर :

  1. रोशनी
  2. पानी
  3. हरियाली
  4. बारिश
  5. इन्द्रधनुष

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

बताओ

प्रश्न 1.
चाँद और सूरज से हमें क्या मिलता है?
उत्तर :
चाँद और सूरज से हमें रोशनी मिलती है।

प्रश्न 2.
नदियाँ हमारी किस ज़रूरत को पूरा करती हैं?
उत्तर :
नदियाँ हमारी पानी की ज़रूरत को पूरा करती हैं।

प्रश्न 3.
पेड़ों से हमें क्या-क्या प्राप्त होता है?
उत्तर :
पेड़ों से हमें फल तथा लकड़ी प्राप्त होती है।

प्रश्न 4.
फूल हमें क्या सिखाते हैं?
उत्तर :
फूल हमें हँसना-मुस्काना सिखाते हैं।

प्रश्न 5.
इन्द्रधनुष कब दिखाई देता है?
उत्तर :
इन्द्रधनुष, वर्षा के बाद दिखाई देता है।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

पढ़ो और समझो

(क) पर्वत = पहाड़
चाँद = चंद्रमा
पेड़ = वृक्ष
नभ = आकाश
दिन = दिवस
जग = संसार
सूरज = सूर्य
फूल = पुष्प
बादल = मेघ
रात = रात्रि

(ख) झरना = झरने
मुस्काता = ……………………………………..
फैलाता = ……………………………………..
बहाता = ……………………………………..
उत्तर :
उपरोक्त रेखांकित शब्दों के समानार्थक शब्द सामने लिखे गए हैं। समानार्थक शब्द पर्यायवाची शब्द भी कहलाते हैं। विद्यार्थी इन्हें भली प्रकार समझें।

रचनात्मक कौशल
बच्चे नीचे दिए गए बॉक्स में इन्द्रधनुष बनायें और उसमें अपने अध्यापक से पूछकर रंग भरें।
PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन (कविता) 1

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

कौन? (कविता) बहुवैकल्पिक प्रश्न

प्रश्न 1.
पंजाबी शब्द ‘हसीना’ का हिन्दी अर्थ है- नदि/नदी/नदियाँ/नदीयां
उत्तर :
नदियाँ

प्रश्न 2.
पंजाबी शब्द ‘महाल’ का हिन्दी अर्थ है- प्रश्न/सवाल/उत्तर/प्रीसन
उत्तर :
प्रश्न

प्रश्न 3.
‘मुस्काता’-मुस्काते है तो ‘झरना’ है-
(i) झरने
(ii) डरने
(iii) भरने
(iv) परने।
उत्तर :
(i) झरने

प्रश्न 4.
पेड़ हमें क्या देते हैं ?
(i) फल
(ii) लकडी
(iii) फल और लकडी
(iv) तेल
उत्तर :
(iii) फल और लकडी

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

प्रश्न 5.
चाँद और सूरज से हमें मिलता है-
(i) रोशनी
(ii) भोजन
(iii) आक्सीजन
(iv) खाना।
उत्तर :
(i) रोशनी।।

कौन? (कविता) Summary in Hindi

1. अगर न होता चाँद, रात में,
हमको दिशा दिखाता कौन ?
अगर न होता, सूरज दिन को,
सोने-सा चमकाता कौन ?

शब्दार्थ-

  • अगर = यदि।
  • दिशा = मार्ग, रास्ता।।
  • सोने-सा = सुनहरा।

सरलार्थ :
प्रस्तुत पंक्तियों में कवि सृष्टि की अनुपम सुन्दरता का वर्णन करते हुए कहता है कि यदि रात के समय यह चाँद अपनी चाँदनी न बिखराता तो अन्धेरे में हमें मार्ग कौन दिखाता और यदि यह सूरज न होता तो उसके सुनहरी प्रकाश से दिन को सोने जैसा चमकदार कौन बनाता।

2. अगर न होती निर्मल नदियाँ
जग की प्यास बुझाता कौन ?
अगर न होते पर्वत, मीठे
झरने भला बहाता कौन ?

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

शब्दार्थ-

  • निर्मल = साफ, स्वच्छ, पवित्र।
  • जग = संसार।
  • बुझाता = शान्त करता, तृप्त करता।
  • पर्वत = पहाड़।

सरलार्थ :
प्रस्तुत पंक्तियों में कवि प्रकृति की सुन्दरता को चित्रित करते हुए कहता है कि यदि इस संसार में पवित्र नदियाँ न होती तो बताओ इस संसार के लोगों की प्यास को कौन बुझाता और अगर ये पर्वत, पहाड़ न होते तो भला इन पवित्र झरनों को कौन बहाता। ये पर्वत यदि न होते तो झरने कहाँ से बहते।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन (कविता) 2

3. अगर न होते पेड़, भला फिर
हरियाली फैलाता कौन ?
अगर न होते फूल, बताओ
खिल विलाकर मुस्काता कौन ?

सरलार्थ :
प्रस्तुत पंक्तियों में कवि प्रकृति-सौन्दर्य की प्रशंसा करते हुए कहता है कि यदि इस संसार में पेड़-पौधे न होते तो फिर इस जगत में हरियाली कौन फैलाता और यदि इस संसार में रंग-बिरंगे फूल न खिलते तो बताओ भला खिल-खिलाकर कौन मुस्कराता। अभिप्राय यह है कि फूलों से ही मनुष्य ने हँसना सीखा है। फूलों को देखकर मनुष्य का मन भी आनन्दित हो उठता है।

4. अगर न होते बादल, नभ में,
इन्द्रधनुष रच पाता कौन ?
अगर न होते हम तो बोलो
ये सब प्रश्न उठाता कौन ?

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 21 कौन? (कविता)

सरलार्थ :
प्रस्तुत पंक्तियों में कवि प्रकृति की सुन्दरता की प्रशंसा करते हुए कहता है कि यदि इस आकाश में बादल नहीं होते तो फिर इन्द्रधनुष को कौन रचता और अगर इस संसार में हम ही न होते तो भला इन प्रश्नों को कौन उठाता ? अभिप्रायः मनुष्य का मन ही मनन करता है तभी तो ईश्वर के द्वारा फैलाए गए प्रकृति-सौन्दर्य को देख और अनुभव कर सकता है।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 5 Hindi Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर (2nd Language)

बापू गाँधी के तीन बन्दर अभ्यास

नीचे गुरुमुखी और देवनागरी लिपि में दिये गये शब्दों को पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखने का अभ्यास करो :

  • ਚਿਤੱਰ = चित्र
  • ਆਂਖ = आँख
  • ਪਤਨੀ = पत्नी
  • ਕਾਨ = कान
  • ਅੰਗਰੇਜ਼ = अंग्रेज़
  • ਮੁੰਹ = मुँह
  • ਅਹਿੰਸਾ = अहिंसा
  • ਦਿੱਲੀ = दिल्ली

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

नीचे एक ही अर्थ के लिए पंजाबी और हिंदी भाषा में शब्द दिये गये हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ो और हिन्दी शब्दों को लिखो :

  • ਸੱਚਾਈ = सत्य
  • ਸਿੱਖਿਆ = शिक्षा
  • ਸਮਾਧ = समाधि
  • ਮੌਤ = मृत्यु

पढ़ो, समझो और लिखो

(क) त् + य = त्य = सत्य, मृत्यु
प् + य = प्य = प्यार
त् + र = त्र = चित्र
न् + म = न्म = जन्म
ज् + य = ज्य = राज्य
स् + त = स्त = कस्तूरबा
च् + छ = च्छ = अच्छी
ल् + ल = ल्ल = दिल्ली

(ख) म् + ऊ + र् + त + इ = मूर्ति
अं + ग् + र + ए + ज़् + अ = अंग्रेज़
म् + आ + र् + ग् + अ = मार्ग
र + आ + ष् + ट् + र = राष्ट्र

बापू गाँधी के तीन बन्दर शब्दार्थ Meanings

  • समाधि = किसी महान पुरुष की यादगार
  • सत्य = सच
  • हिंसा = बुरा करना, चोट या हानि पहुँचाना

बताओ

प्रश्न 1.
बंदरों की तीन मूर्तियाँ कहाँ पर रखी हुई थीं?
उत्तर :
बन्दरों की तीन मूर्तियाँ गाँधी जी के कमरे में रखी हुई थीं।

प्रश्न 2.
बंदरों के तीनों चित्र हमें क्या शिक्षा दे रहे हैं?
उत्तर :
बन्दरों के तीनों चित्र हमें शिक्षा दे रहे हैं। कि कभी बुरा मत देखो, बुरा मत बोलो और बुरा मत सुनो।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

प्रश्न 3.
गाँधी जी का पूरा नाम क्या था?
उत्तर :
गाँधी जी का पूरा नाम था-मोहनदास कर्मचन्द गाँधी।

प्रश्न 4.
गाँधी जी ने हमें अंग्रेज़ों से आज़ाद कैसे करवाया?
उत्तर :
गाँधी जी ने सत्य और अहिंसा के मार्ग| पर चलते हुए हमें अंग्रेजों से आजाद करवाया।

प्रश्न 5.
गाँधी जी की समाधि कहाँ पर है?
उत्तर :
गाँधी जी की समाधि दिल्ली में राजघाट पर है।

प्रश्न 6.
राष्ट्रपिता के नाम से किसे जाना जाता है?
उत्तर :
महात्मा गाँधी को राष्ट्रपिता के नाम से जाना जाता है।

समान अर्थ वाले शब्दों का मिलान करो

  1. बंदर – तसवीर
  2. चित्र – रास्ता
  3. शिक्षा – वानर
  4. मार्ग – सीख

उत्तर :

  1. बन्दर – वानर।
  2. चित्र – तस्वीर।
  3. शिक्षा – सीख।
  4. मार्ग – रास्ता।

इन्हें समझो

मूर्ति = मूर्तियाँ
आँख = आँखें

  1. समाधि = …………………………
  2. बात = …………………………
  3. हाथ = …………………………
  4. कान = …………………………

उत्तर :
एकवचन – बहुवचन

  1. मूर्ति = मूर्तियाँ।
  2. समाधि = समाधियाँ।
  3. आँख = आँखें।
  4. बात = बातें।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

‘अ’ लगाकर विपरीत शब्द बनाओ

  1. सत्य = असत्य
  2. शिक्षा = …………………………
  3. हिंसा = …………………………
  4. समान = …………………………

उत्तर :
विपरीतार्थक शब्द

  1. सत्य = असत्य।
  2. हिंसा = अहिंसा।
  3. शिक्षा = अशिक्षा।
  4. समान = असमान।

जानो

जन्म = मृत्यु
सुमार्ग = कुमार्ग
आज़ादी = गुलामी
अर्थ = अनर्थ
उत्तर :
उपरोक्त रेखांकित शब्दों के विपरीत अर्थ वाले शब्द सामने लिखे गए हैं। विद्यार्थी इन्हें भली प्रकार समझें ओर लिखकर देखें।

सही मिलान करो

  1. कर्मचंद गाँधी – गाँधी जी का जन्म स्थान
  2. पोरबंदर – गाँधी जी की माता का नाम
  3. पुतलीबाई – गाँधी जी की पत्नी का नाम
  4. कस्तूरबा गाँधी – गाँधी जी के पिता का नाम

उत्तर :

  1. करमचन्द गाँधी = गाँधी जी के पिता का नाम।
  2. पोरबन्दर = गाँधी जी का जन्म-स्थान।
  3. पुतलीबाई =गाँधी जी की माता का नाम।
  4. कस्तूरबा गांधी = गाँधी जी की पत्नी का नाम।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

रचनात्मक अभिव्यक्ति

बच्चे देश के वर्तमान प्रधानमंत्री का चित्र चिपकाएं और उनके बारे में जानकारी एकत्र करें।
PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर 1

बापू गाँधी के तीन बन्दर बहुवैकल्पिक प्रश्न

प्रश्न 1.
गांधी जी का पूरा नाम क्या था?
(i) करमचन्द
(ii) मोहनदास कर्मचन्द गांधी
(iii) गांधी
(iv) कर्मचन्द गांधी
उत्तर :
(ii) मोहनदास कर्मचंद गांधी

प्रश्न 2.
महात्मा गांधी जी को किस नाम से जाना जाता है?
(i) राष्ट्रपिता
(ii) राष्ट्रपति
(iii) राष्ट्र का पिता
(iv) राष्ट्र के पिता।
उत्तर :
(i) राष्ट्रपिता

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 20 बापू गाँधी के तीन बन्दर

प्रश्न 3.
‘मूर्ति’-मूर्तियां है तो आँख है
(i) आँखें
(ii) अखियां
(iii) आँखों
(iv) अंखुवन।
उत्तर :
(i) आंखे

प्रश्न 4.
अगर ‘सत्य’-असत्य है तो ‘हिंसा’ है
(i) हिंसक
(ii) अहिंसा
(iii) अंहिमा
(iv) अहिंसक।
उत्तर :
(ii) अंहिसा

प्रश्न 5.
अगर ‘शिक्षा’-अशिक्षा है तो ‘आजादी’
(i) गुलामी
(ii) आज़ाद
(iii) आजारी
(iv) अगुलामी।
उत्तर :
(i) गुलामी।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Chapter 19 अनमोल सीख Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 5 Hindi Chapter 19 अनमोल सीख (2nd Language)

अनमोल सीख अभ्यास

नीचे गुरुमुखी और देवनागरी लिपि में दिये गये शब्दों को पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखने का अभ्यास करो :

  • ਸਿੱਖ = सिक्ख
  • ਭਾਈ = भाई
  • ਮਰਦਾਨਾ = मरदाना
  • ਭੋਜਨ = भोजन

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

नीचे एक ही अर्थ के लिए पंजाबी और हिन्दी भाषा में शब्द दिये गये हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ो और हिन्दी शब्दों को लिखो :

  • ਸਿੱਖਿਆ = सीख, शिक्षा
  • ਅਮੁੱਲ = अनमोल
  • ਯਾਤਰਾਵਾਂ = यात्राएँ
  • ਸ਼ਰਾਪ = शाप, श्राप
  • ਚੰਗਿਆਈ = अच्छाई
  • ਵਰਤਾਵ = व्यवहार
  • ਭਲਾਈ = कल्याण
  • ਪਹਿਲੇ = प्रथम

पढ़ो, समझो और लिखो :

(क) क् + ख = क्ख = सिक्ख
द् + व = द्व = द्वारा
ल् + य = ल्य = कल्याण
व् + य = व्य = व्यवहार
च् + छ = च्छ = अच्छा, अच्छाई
स् + व = स्व = स्वभाव

(ख) ध + र् + म = धर्म
प् + र + थ + म = प्रथम
य + आ + त् + र + आ = यात्रा

बताओ

प्रश्न 1.
सिक्ख धर्म के पहले गुरु का नाम लिखो।
उत्तर :
गुरु नानक देव जी सिक्ख धर्म के पहले गुरु हैं।

प्रश्न 2.
गुरु जी के साथी का क्या नाम था?
उत्तर :
गुरु जी के साथी का नाम भाई मरदाना था।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

प्रश्न 3.
जिस गाँव के लोगों का स्वभाव रूखा था, गुरु जी ने उनके लिए क्या कहा ?
उत्तर :
गुरु जी ने गाँव के लोगों के लिए कहा|’यह गाँव बसा रहे।’

प्रश्न 4.
जिस गाँव के लोगों का स्वभाव अच्छा था, गुरु जी ने उनके लिए क्या कहा?
उत्तर :
गुरु जी ने अच्छे स्वभाव वाले लोगों के लिए कहा-‘यह गाँव उजड़ जाये।’

प्रश्न 5.
गुरु जी ने उजड़ने का शाप क्यों दिया?
उत्तर :
दूसरे गाँव के लोगों का व्यवहार बहत अच्छा था। वे जहाँ भी जाएँगे अच्छाई फैलाएँगे इसलिए गुरु जी ने उन्हें उजड़ जाने का शाप दिया।

वाक्य पूरे करो

  1. ……………………………………… सिक्ख धर्म के प्रथम गुरु थे।
  2. उनका साथी ……………………………………… हमेशा उनके साथ रहता था।
  3. उजड़ जाओ और ………………………………………।
  4. गुरु जी ने मानवता के ……………………………………… के लिए अनेक यात्राएँ कीं।

उत्तर :

  1. गुरु नानक देव जी सिक्ख धर्म के प्रथम गुरु हैं।
  2. उनका साथी मरदाना हमेशा उनके साथ रहता था।
  3. उजड़ जाओ और अच्छाई फैलाओ।
  4. गुरु जी ने मानवता के कल्याण के लिए अनेक यात्राएँ की।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

जानो और लिखो

पहला = अन्तिम
उजड़ना = बसना
गुरु = शिष्य
शाप = वरदान
उत्तर :
उपरोक्त रेखांकित शब्दों के विपरीतार्थक शब्द सामने दिखाए गए हैं। विद्यार्थी इन्हें समझें और लिखें।

लिखो

  1. घटना = घटनाएँ
  2. बुराई = बुराइयाँ
  3. यात्रा = ………………………………..
  4. अच्छाई = ………………………………..

उत्तर :

  1. घटना = घटनाएँ
  2. बुराई = बुराइयाँ
  3. यात्रा = यात्राएँ
  4. अच्छाई = अच्छाइयाँ

रचनात्मक ज्ञान

सिक्ख धर्म के दस गुरुओं के नाम पता करके लिखो।

  1. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  2. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  3. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  4. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  5. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  6. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  7. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  8. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  9. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _
  10. _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _ _

उत्तर :
सिक्ख धर्म के दस गुरुओं के नाम इस प्रकार हैं –

  1. गुरु नानक देव जी।
  2. गुरु अंगद देव जी।
  3. गुरु अमरदास जी।
  4. गुरु रामदास जी।
  5. गुरु अर्जुन देव जी।
  6. गुरु हरिगोबिन्द जी।
  7. गुरु हरिराय जी।
  8. गुरु हरिकृष्ण जी।
  9. गुरु तेग बहादुर जी।
  10. गुरु गोबिन्द सिंह जी।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

अनमोल सीख बहुवकाल्पक प्रश्न

प्रश्न 1.
सिक्खों के पहले गुरु कौन हैं ?
(i) गुरु नानक देव जी
(ii) गुरु गोबिन्द सिंह जी
(iii) गुरु हरकृष्ण जी
(iv) गुरु हरगोबिन्द जी
उत्तर :
(i) गुरु नानक देव जी

प्रश्न 2.
गुरु जी के साथी का क्या नाम था?
(i) मरसाना
(ii) मरदाना
(iii) युगबाना
(iv) नरवाना।
उत्तर :
(ii) मरदाना

प्रश्न 3.
‘घटना’-घटनाएँ है तो बुराई है-
(i) बुरी
(ii) बुराइयाँ
(iii) खुशियां
(iv) बुरे।
उत्तर :
(ii) बुराइयाँ

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

प्रश्न 4.
‘बुराई-बुराइयाँ है तो अच्छाई ………………………………. है।
(i) अछाइयाँ
(ii) अच्छाईयाँ
(iii) अच्छाइयाँ
(iv) अच्छाँईया।
उत्तर :
(iii) अच्छाइयाँ।

अनमोल सीख Summary in Hindi

सिक्ख धर्म के प्रथम गरु, गुरु नानक देव जी ने मानवता के कल्याण के लिए अनेकों यात्राएँ कीं। इन यात्राओं में भाई मरदाना सदा उनके साथ रहते थे। एक बार यात्रा करते-करते गुरु जी एक गाँव में पहुँचे। वहाँ के लोग बड़े रूखे स्वभाव के थे। उन्होंने गुरु जी को ठहरने के लिए भी नहीं कहा। जाते समय गुरु जी ने कहा-यह गाँव बसा रहे।

चलते-चलते वे दूसरे गाँव पहँचे। वहाँ के लोगों ने इनका खुब सत्कार किया और इनके विचार बडे प्यार से सुने। जब गुरु जी इस गाँव से जाने लगे तो उन्होंने कहा-यह गाँव उजड़ जाए। इनकी बात सुनकर मरदाना बहुत हैरान हुआ।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख 1

उसने गुरु जी से पूछ ही लिया कि गुरु जी जिस गाँव के लोगों ने हमें पूछा तक नहीं उस गाँव को आपने बसे रहने को कहा और जहाँ के लोगों ने हमारी इतनी सेवा की उन्हें आपने उजड़ जाने का शाप क्यों दिया ? गुरु जी उसे समझाते हुए बोले-“भाई मरदाना ! पहले गाँव के लोगों का व्यवहार अच्छा नहीं था।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 19 अनमोल सीख

इसलिए मैंने उन्हें बसे रहने को कहा क्योंकि ये जहाँ भी जाएँगे अपनी बुराई ही फैलाएँगे। दूसरे गाँव के लोगों का व्यवहार अच्छा था और मैंने उन्हें उजड़ जाने को इसलिए कहा कि वे जहाँ भी जाएँगे, अच्छाई ही फैलाएँगे। यह सुनकर मरदाना के मुँह से स्वतः निकल पड़ा-“वाह गुरु जी।”

अनमोल सीख शब्दार्थ Meanings

  • भाँति-भाँति= तरह-तरह
  • बसना = एक स्थान पर टिके रहना
  • गूढ = गहरी
  • उजड़ना = चारों ओर फैल जाना

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 5 Hindi Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना (2nd Language)

साथी हाथ बढ़ाना अभ्यास

नीचे गुरुमुखी और देवनागरी लिपि में दिये गये शब्दों को पढ़ो और हिन्दी शब्दों को लिखने का अभ्यास करो :

  • ਸਾਥੀ = साथी
  • ਅਧਿਆਪਕ = अध्यापक
  • ਕੰਡਕਟਰ = कंडक्टर
  • ਸੀਟੀ = सीटी
  • ਟਿਫਿਨ = टिफिन
  • ਨਾਸ਼ਤਾ = नाश्ता
  • ਕਬੂਤਰ = कबूतर
  • ਜਾਲ = जाल
  • ਪਕੌੜੇ = पकौड़े
  • ਪਿਕਨਿਕ = पिकनिक

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

नीचे एक ही अर्थ के लिए पंजाबी और हिंदी भाषा में शब्द दिये गये हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ो और हिन्दी शब्दों को लिखो :

  • ਅੰਨ = अनाज
  • ਟੋਆ = गड्ढा
  • ਇੱਟ = ईंट

पढ़ो, समझो और लिखो

(क) ध् + य = ध्य = अध्यापक
त् + न = न = प्रयत्न
स् + क = स्क = बिस्कुट
ड् + र = ड्र = ड्राइवर
स् + थ = स्थ = स्थ ल
ज् + य = ज्य = ज्यों
त् + थ = त्थ = पत्थर
त् + य = त्य = त्यों
क् + ट = क्ट = कंडक्टर

(ख) ड् + ड = ड्ड = लड्डू

बताओ

प्रश्न 1.
रवि धीरे-धीरे क्यों चल रहा था?
उत्तर :
रवि धीरे-धीरे चल रहा था क्योंकि उसके पैर में चोट लगी हुई थी।

प्रश्न 2.
बच्चों ने नाश्ता कैसे किया?
उत्तर :
बच्चा ने नाश्ता मिल-बाँट कर किया।

प्रश्न 3.
शिकारी ने कबूतरों को जाल में फँसाने के लिए क्या किया?
उत्तर :
शिकारी ने कबूतरों को जाल में फँसाने के लिए अनाज के दाने बिखराकर जाल बिछा दिया।

प्रश्न 4.
कबूतरों वाली कहानी से आपको क्या शिक्षा मिलती है?
उत्तर :
कबूतरों वाली कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि मुसीबत के समय एकजुट होकर काम करना चाहिए।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

प्रश्न 5.
बच्चों ने बस के पहिये को गड्ढे से बाहर कैसे निकाला?
उत्तर :
बच्चों ने बस के पहिये के नीचे ईंट पत्थर डाले और एकजुट होकर बस को धकेला। पहिया गड्ढे से बाहर निकल आया।

वाक्य बनाओ

  1. अध्यापक
  2. पिकनिक
  3. प्रतीक्षा
  4. कंडक्टर
  5. गड्ढा

उत्तर :

  1. अध्यापक-अध्यापक कक्षा में पढ़ाता है।
  2. पिकनिक-बच्चे पिकनिक मनाने गए।
  3. प्रतीक्षा-अध्यापक सबकी प्रतीक्षा कर रहा था।
  4. कंडक्टर-कंडक्टर ने सीटी बजाई।
  5. गड्ढा-बस का पहिया गड्ढे में फँस गया था।

पढ़ो, समझो और लिखो

(क) पूरी = पूरियाँ
कचौरी = कचौरियाँ
सीटी = सीटियाँ
कहानी = कहानियाँ

(ख) बच्चा = बच्चे
पकौड़ा = पकौड़े
दाना = दाने
पहिया = पहिये

मुहावरों के अर्थ समझते हुए वाक्य बनाओ

  1. सहारा देना = सहायता करना
  2. टस से मस न होना = एक स्थान पर बने रहना
  3. हिम्मत न हारना = हौसला बनाये रखना
  4. मज़ा किरकिरा होना = खुशी में रुकावट होना
  5. आँखों में चमक आना = आशा दिखना

उत्तर :

  1. सहारा देना (सहायता देना)-हमें गरीबों को सहारा देना चाहिए।
  2. टस से मस न होना (एक स्थान पर बने रहना)मेरी दुःख भरी बातों को सुनकर भी वह टस से मस न हुआ।
  3. हिम्मत न हारना (हौंसला बनाए रखना)मुसीबत के समय भी बच्चों ने हिम्मत नहीं हारी।
  4. मजा किरकिरा होना (खुशी में रुकावट होना)वर्षा के कारण सारा मजा किरकिरा हो गया।
  5. आँखों में चमक आना (खुश होना)-अपने पुराने मित्र को देखकर उसकी आँखों में चमक आ गई।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

समझो
अध्यापक = शिक्षक
कहानी = कथा
प्रतीक्षा = इन्तज़ार
आकाश = नभ, आसमान
सहारा = सहायता
ड्राइवर = बस चालक
उत्तर :
उपरोक्त शब्दों के सामने उनके अर्थ के रूप में उनके पर्याय शब्द लिखे गए हैं। विद्यार्थी इन्हें समझ कर याद करें।

इनसे नये शब्द बनाओ

  1. ध्य
  2. स्क
  3. त्थ
  4. त्न

उत्तर :

  1. ध्य = ध्यान, मध्य।
  2. स्क = स्कूटर, वयस्क।
  3. त्थ = उत्थन
  4. ल = प्रयत्न।

रचनात्मक अभिव्यक्ति

बच्चे चित्र देखकर बतायें कि दोनों व्यक्ति एक दूसरे को किस प्रकार सहयोग कर रहे हैं।
PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना 1

साथी हाथ बढ़ाना बहुवकल्पिक प्रश्न

प्रश्न 1.
‘टस से मस न होना’ का अर्थ है
(i) एक जगह रहना
(ii) मस होना
(iii) टिस सेलना
(iv) मसूर होना।
उत्तर :
(i) एक जगह रहना

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

प्रश्न 2.
‘आँखों में चमक आना’ का अर्थ है
(i) आँखों में लाइट जलना
(ii) आँखों की बीमारी होना
(iii) आशा दिखना
(iv) तारे दिखना।
उत्तर :
(ii) आशा दिखना

प्रश्न 3.
मजा किरकिरा होना का अर्थ है
(i) खुशी में रुकावट होना
(ii) मजा करना
(iii) मजा आना
(iv) मजा न आना।
उत्तर :
(i) खुशी में रुकावट होना

प्रश्न 4.
अगर ‘सीटी’-सीटियाँ है तो ‘कहानी’ है
(i) कहानियाँ
(ii) कहानीपूर्ण
(iii) कहनीपूर्ण
(iv) कहना।
उत्तर :
(i) कहानियाँ

साथी हाथ बढ़ाना Summary in Hindi

बच्चे अपने अध्यापकों के साथ बस में बैठकर पिकनिक मनाने गए। रास्ते में सभी बच्चों ने मिलकर नाश्ता किया। बच्चों ने अध्यापिका को कोई कहानी सुनाने के लिए कहा तो अध्यापिका ने उन्हें उन कबूतरों की कहानी सुनाई जो जाल में फँस जाने पर एक होकर जाल को ले उड़े थे।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 18 साथी हाथ बढ़ाना 3

तभी अचानक बच्चों की बस का पहिया गड्ढे में धंस गया। अध्यापक ने सुझाव दिया कि यदि पहिये के नीचे कुछ ईंट, पत्थर – आदि डालकर बस को सरकाया जाये तो पहिया गड्ढे से अवश्य बाहर निकल आएगा।

बच्चों ने वैसा ही किया और बस का पहिया गड्ढे से बाहर निकल आया। बच्चे अपने पिकनिक स्थल पर पहुंच गए।

साथी हाथ बढ़ाना शब्दार्थ Meaning

  • प्रतीक्षा = इन्तज़ार
  • कंडक्टर = बस में टिकट देने वाला, परिचालक
  • पिकनिक = किसी खूबसूरत स्थान पर जाकर खाने-पीने और खेलने का आनन्द लेना
  • एकजुट = मिलकर, इकट्ठे होकर
  • स्थल = स्थान, जगह

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

Punjab State Board PSEB 5th Class Hindi Book Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता) Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 5 Hindi Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता) (2nd Language)

प्यारा पंजाब अभ्यास

नीचे गुरुमुखी और देवनागरी लिपि में दिये गये शब्दों को पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखने का अभ्यास करो :

  • ਹਰਿਆਲੀ = हरियाली
  • ਖੇਤ = खेत
  • ਪੰਜਾਲੀ = पंजाली
  • ਹਲ = हल
  • ਮੰਦਿਰ = मंदिर
  • ਗੁਰਦੁਆਰਾ = गुरुद्वारा
  • ਗਵਾਹੀ = गवाही
  • ਮਸਜਿਦ = मस्जिद
  • ਈਸ਼ਵਰ = ईश्वर
  • ਪੰਜਾਬ = पंजाब

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

नीचे एक ही अर्थ के लिए पंजाबी और हिंदी भाषा में शब्द दिये गये हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ो और हिंदी शब्दों को लिखो :

  • ਭੁੱਖ = भूख
  • ਗਰੀਬੀ = कंगाली
  • ਪਵਿਤੱਰ = पावन
  • ਮਿਤੱਰ = मीत
  • ਰਖਿਅਕ = रक्षक
  • ਨੌਜਵਾਨ = नवयुवक

पढ़ो, समझो और लिखो

(क) प् + य = प्य = प्यारा
त् + र = त्र = शत्रु
द् + व = द्व = गुरुद्वारा
क् + ष = क्ष = रक्षक
न् + य = न्य = न्यारा
स् + ज = स्ज = मस्जिद

(ख) द् + द् = द्द = गिद्दा

बताओ

प्रश्न 1.
पंजाबियों ने अपने देश की गरीबी को कैसे मिटाया है?
उत्तर :
पंजाबियों ने अपने परिश्रम के बल पर अपने देश की गरीबी को दूर किया है।

प्रश्न 2.
पंजाब के सभी धार्मिक स्थानों का क्या महत्व है?
उत्तर :
पंजाब के सभी धार्मिक स्थानों की महत्ता एक समान है। मन्दिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और गिरजा सब समान हैं।

प्रश्न 3.
पंजाबी युवक अपना मनोरंजन कैसे करते हैं?
उत्तर :
पंजाबी युवक भंगड़ा, गिद्दा तथा गीतसंगीत द्वारा अपना मनोरंजन करते हैं।

प्रश्न 4.
पंजाबी शत्रु का सामना किस प्रकार करते हैं?
उत्तर :
पंजाबी अपने शत्रु को नष्ट करके ही दम लेते हैं।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

तुक मिलाओ

  1. पंजाली = कंगाली
  2. राही = ……………………………..
  3. मीत = ……………………………..
  4. तबाही = ……………………………..

उत्तर :

  1. पंजाली = कंगाली।
  2. राही = सिपाही।
  3. मीत = गीत।
  4. तबाही = गवाही।

वाक्य बनाओ

  1. आँखों का तारा,
  2. भाईचारा,
  3. गवाही

उत्तर :

  1. आँखों का तारा-श्रवण अपने माता-पिता की आँखों का तारा है।
  2. भाईचारा-पंजाबियों में भाईचारे की भावना भरी पड़ी है।
  3. गवाही-मैं आपके विरुद्ध गवाही नहीं दूंगा।

पढ़ो और समझो

दु:ख = सुख
धर्म = अधर्म
भूख = प्यास
शत्रु = मित्र
जीत = हार
रक्षक = भक्षक
उत्तर :
उपरोक्त शब्दों के विपरीतार्थक शब्द सामने। दर्शाए गए हैं। विद्यार्थी इन्हें भली प्रकार समझ लें।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

रचनात्मक ज्ञान मिलान करें

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता) 1

प्यारा पंजाब बहवैकल्पिक प्रश्न

प्रश्न 1.
पंजाबी शब्द ‘गवरमाता’ का हिन्दी अर्थ – गुरुद्वारा/गुरुद्वा/गुरुपर्व/गुरुभाई
उत्तर :
गुरुद्वारा

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

प्रश्न 2.
पंगाली से तुकबन्दी करते हुए शब्द मिलाएँ। सही पर गोला लगाओ।
(i) कंगाली
(ii) पहली
(iii) दूसरी
(iv) अंगुली।
उत्तर :
(i) कंगाली

प्रश्न 3.
‘राही’ से तुकबन्दी करते हुए शब्द मिलाएँ।
(i) पही
(ii) सिपाही
(iii) सुरही
(iv) सुभरी।
उत्तर :
(ii) सिपाही

प्रश्न 4.
‘आँखो का तारा’ का अर्थ है
(i) बहुत प्यारा
(ii) प्यारा।
(iii) अच्छा
(iv) अच्छाई।
उत्तर :
(i) बहुत प्यारा

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

प्रश्न 5.
अगर ‘सुख’ का दुख है तो ‘जीत’ का है
(i) हार
(ii) हारी
(iii) सुराही
(iv) सुरी।
उत्तर :
(i) हार

प्यारा पंजाब Summary in Hindi

1. यह प्यारा पंजाब हमारा।
हम सबकी आँखों का तारा॥
इसके खेतों की हरियाली,
दुःख और भूख मिटाने वाली;
इसके हल, इसकी पंजाली,
देश की दूर करें कंगाली।
भारत माँ का राज दुलारा।
यह प्यारा पंजाब हमारा॥

सरलार्थ-प्रस्तुत पंक्तियों में कवि पंजाब की प्रशंसा करते हुए कहता है कि हमारा यह पंजाब बहुत ही प्यारा है और यह सबकी आँखा का तारा है। सबका प्यार है। इसके खेतो में फैली हुई हरी भरी फसलें देश से दुःख और भूख को मिटाती हैं। यहाँ के किसान, किसानों के हल और पंजाली देश से निर्धनता को दूर करने वाली हैं। इसी कारण हमारा यह पंजाब, भारत माँ का प्यारा है।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता) 2

2. इसके गुरुद्वारे, मंदिर, मस्जिद,
गिरजे हैं सभी बराबर।
ये सब ही हैं ईश्वर के घर,
सब ही पावन, सब ही सुन्दर।
इसका है आदर्श न्यारा।
यह प्यारा पंजाब हमारा॥

सरलार्थ-प्रस्तुत पंक्तियों में कवि पंजाब की प्रशंसा करते हुए कहता है कि इसके गुरुद्वारे, मन्दिर, मस्जिद और गिरजे सभी बरावर हैं। ये सभी ईश्वर के ही घर हैं, सभी एक समान पवित्र हैं और सभी एक जैसे ही सुन्दर हैं। इसका आदर्श अलग ही है। यह हमारा प्यारा पंजाब है।

3. इसके भंगड़े, गिद्दे, गीत,
इसके माज़ और संगीत।
इसक युवक सभा क मात,
सबके मन को लेते जीत॥
सब जग इनका भाईचारा।
यह प्यारा पंजाब हमारा।।

सरलार्थ-प्रस्तुत पंक्तियों में कवि पंजाब की संस्कृति की प्रशंसा करते हुए कहता है कि इस प्रदेश के प्रसिद्ध लोकगीत, भंगड़ा और गिद्दा लोक-नृत्य, इसका संगीत आज के युवकों के. गीत हैं। सभी युवक इन गीत-संगीत को गाते रहते हैं और इनके यह गीत सभी के मन को मोह लेते हैं। सारा संसार ही इनके लिए भाई-समान है। यह हमारा प्यारा पंजाब है।

PSEB 5th Class Hindi Solutions Chapter 17 प्यारा पंजाब (कविता)

4. इसके बेटे वीर सिपाही,
धर्म के रक्षक अमन के राही।
शत्रु-दल की करें तबाही,
देते सारे देश गवाही।
इनसे परिचित है जग सारा।
यह प्यारा पंजाब हमारा॥

सरलार्थ-प्रस्तुत पंक्तियों में कवि पंजाब के – युवकों के गुणगान करते हुए कहते हैं कि इस प्रदेश के बेटे वीर सिपाही हैं, ये धर्म की रक्षा करने वाले और शान्ति के पुजारी हैं। शत्रुओं का विनाश करने वाले योद्धा हैं। इनकी वीरता की गवाही तो सारा – भारत देश देता है। इनकी वीरता से तो सारा संसार। परिचित है। हमारा यह प्यारा पंजाब प्रदेश है।

प्यारा पंजाब शब्दार्थ

  • पंजाब = पाँच नदियों का प्रदेश जो अब भारत और पाकिस्तान में बँट गया है
  • पंजाली = खेती में प्रयोग होने वाला औज़ार, जिससे भूसा इकट्ठा किया जाता है
  • कंगाली = गरीबी
  • पावन = पवित्र
  • मीत = मित्र
  • रक्षक = रक्षा करने वाला
  • अमन = सुख-शांति
  • तबाही = नष्ट होना
  • गवाही = सत्य का बयान करना
  • राही = यात्री, मुसाफिर