PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

PSEB 8th Class Science Guide वायु तथा जल का प्रदूषण Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
किन विभिन्न विधियों द्वारा जल का संदूषण होता है ?
उत्तर-
जल के संदूषित होने की विभिन्न विधियाँ हैं-

  1. कपड़े धोने, नहाने और घर के अन्य कार्यों से।
  2. सीवेज़ (Sewage) से।
  3. उद्योग द्वारा फेंके गए जहरीले पदार्थों से।
  4. कूड़ा-कर्कट और मृत शरीरों को पानी स्रोतों में फेंकने से।
  5. उर्वरकों, कीटनाशकों, जीवनाशकों से।
  6. खनिजों, धातुओं आदि के नदी तल पर बैठने से।

प्रश्न 2.
व्यक्तिगत स्तर पर आप वायु प्रदूषण को कम करने में कैसे सहायता कर सकते हैं ?
उत्तर-
व्यक्तिगत स्तर पर वायु प्रदूषण कम करने के उपाय-

  1. वाहनों के उपयोग को कम करना और उसकी अच्छी तरह रख-रखाव करना। डीज़ल अथवा सीसा रहित पेट्रोल का उपयोग
  2. करना।
  3. पत्तों, टायरों आदि के जलाने पर रोक लगाना।
  4. घरों के आस-पास पेड़-पौधे लगाना।
  5. जन परिवहन का उपयोग करना।

प्रश्न 3.
स्वच्छ, पारदर्शी जल सदैव पीने योग्य होता है। टिप्पणी कीजिए।
उत्तर-
यह कथन सही नहीं है ! स्वच्छ, पारदर्शी जल देखने में साफ़ है, परंतु इसमें कई घुली हुई अशुद्धियाँ और सूक्ष्मजीव हो सकते हैं। ये सूक्ष्मजीव, रोगों के वाहक हो सकते हैं। इसलिए पीने योग्य जल साफ़, स्वच्छ, पारदर्शी, गंधरहित, सूक्ष्मजीवों रहित और घुली हुई अशुद्धियों रहित होना चाहिए। शुद्ध जल पाने का उत्तम तरीका उबालना है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 4.
आप अपने शहर की नगरपालिका के सदस्य हैं। ऐसे उपायों की सूची बनाइए जिससे नगर के सभी निवासियों को स्वच्छ जल की आपूर्ति सुनिश्चित हो सके।
उत्तर-
शुद्ध जल पाने के उपायों की सूची-

  1. उद्योगों के अपशिष्ट का जल स्रोतों में फेंकने से पहले उपचारित करना चाहिए।
  2. सीवेज का भौतिक और रसायनों से उपचार करने के बाद जल स्रोतों में निष्कासित करना चाहिए।

प्रश्न 5.
शुद्ध वायु और प्रदूषित वायु में अंतर स्पष्ट कीजिए।
उत्तर-
शुद्ध वायु तथा प्रदूषित वायु में अंतर

शुद्ध वायु (Pure Air) प्रदूषित वायु (Polluted air)
(i) वायु साफ़ और पारदर्शी है। (i) वायु गंदी और पारभासी है।
(ii) धुआँ और धूलकण दिखाई नहीं देते। (ii) धुआँ और धूलकणों की मात्रा अत्यधिक होती है।
(iii) कोई गंध नहीं होती। (iii) दुर्गंध हो सकती है।
(iv) सूक्ष्मजीव अनुपस्थित होते हैं। (iv) सूक्ष्मजीव उपस्थित होते हैं।

प्रश्न 6.
उन अवस्थाओं की व्याख्या कीजिए जिनसे अम्ल वर्षा होती है ? अम्ल वर्षा हमें कैसे प्रभावित करती
उत्तर-
अम्ल वर्षा (Acid Rain) – जीवाश्म ईंधनों के अपूर्ण जलने और अधातुओं के परिष्करण से निकली गैसें, जैसे-SO2, SO3, NO2, N2O आदि, जब जल में घुलती हैं, तो H2SO3, H2SO4, HNO3, अम्ल बनाती हैं। यह अम्ल वर्षा के रूप में गिरते हैं, जिन्हें अम्ल वर्षा कहते हैं।

अम्ल वर्षा फसल, जंगली पौधों, स्टील, रेल पटरियों और विद्युत् उपकरणों को नष्ट करती है। यह गले, नाक और आँखों में जलन पैदा करती है।

प्रश्न 7.
निम्नलिखित में से कौन-सी पौधा-घर गैस नहीं है ?
(क) कार्बन डाइऑक्साइड
(ख) सल्फर डाइऑक्साइड
(ग) मेथैन
(घ) नाइट्रोजन।
उत्तर-
(घ) नाइट्रोजन।

प्रश्न 8.
पौधा-घर प्रभाव का अपने शब्दों में वर्णन कीजिए।
उत्तर-
पौधा-घर प्रभाव (Green House Effect) – वायुमंडल में कार्बन डाइऑक्साइड की थोड़ी मात्रा उपलब्ध है, जो प्रकाश संश्लेषण क्रिया में सहायक है। यह समुद्री जल में घुल कर कार्बोनेट बनाती है। यह पौधा-घर प्रभाव भी उत्पन्न करती है। पृथ्वी के वातावरण का गर्म होना, इसी के प्रभाव का कारण है। सूर्य से निकली किरणों में आरक्त और पराबैंगनी विकिरणें होती हैं। ओज़ोन परत, पराबैंगनी विकिरणों को अवशोषित कर लेती है, पर अवरक्त विकिरणे धरती पर पहुँचती हैं। इनमें से कुछ किरणें परावर्तित होती हैं। इन परावर्तित किरणों को CO2 अवशोषित करती है और वातावरण को गर्म करती हैं, क्योंकि अवरक्त किरणों में गर्मी उत्पन्न करने का गुण है। चार गैसें जैसे-CO2, जल कण (H2O), ओज़ोन (O3) तथा मिथेन (CH4 ) अवरक्त किरणों को अवशोषित कर सकती है। इनमें से CO2 ही चारों तरफ फैली है, इसलिए यही पौधा-घर प्रभाव के लिए उत्तरदायी है। यह शब्द शीशा घर से लिया गया है, जहाँ हरे पौधे रखे जाते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 9.
आपके द्वारा कक्षा में विश्व ऊष्णन के बारे में दिया जाने वाला संक्षिप्त भाषण लिखिए।
उत्तर-
विश्व ऊष्णन – जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, कि यह विश्व के तापमान में वृद्धि है। कुछ गैसें, जैसे CO2 मैथेन, ओज़ोन इसके लिए उत्तरदायी हैं। इन गैसों की मात्रा वातावरण में धीरे-धीरे बढ़ रही है। यदि इसको समय पर नियंत्रित न किया गया, तो वातावरण में वृद्धि चारों तरफ समस्याएँ उत्पन्न कर देगी। जैसे-हिमपात पिघल जाएँगे, निम्न क्षेत्र डूब जाएँगे, वर्षा पर प्रभाव पड़ेगा। समुद्र तल ऊँचा उठेगा, जिससे कृषि, वन आदि और रहन-सहन पर प्रभाव पड़ेगा। इसलिए विश्व ऊष्णन को रोकने के लिए उचित और शीघ्र उपाय करने चाहिए।

प्रश्न 10.
ताजमहल की सुंदरता पर संकट का वर्णन कीजिए।
उत्तर-
ताज, दुनिया के सात अजूबों में से एक है। यह संगमरमर से बनी सफ़ेद इमारत है।
वायु प्रदूषण से इमारत को ख़तरा है। ताज का क्षेत्र सल्फर डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड जैसी जहरीली गैसों से घिरा हुआ है। ये गैसें जीवाश्म ईंधन के अपूर्ण जलने से उत्पन्न होती हैं। ये गैसें वर्षा के जल में घुलकर अम्ल वर्षा बनाती हैं। यह अम्ल वर्षा, इमारत पर गिरती है, उसे घोलती और पीला करती है। यदि अम्ल वर्षा को न रोका गया तो एक दिन इमारत, गिर जाएगी या इसके पत्थर नष्ट हो जाएंगे।

प्रश्न 11.
जल में पोषकों के स्तर में वृद्धि किस प्रकार जल जीवों की उत्तरजीविता को प्रभावित करती है ?
उत्तर-
पोषकों (नाइट्रेट, फास्फेट) के स्तर की वृद्धि से जल में शैवाल (algae) की वृद्धि होती है। इस शैवाल के नष्ट होने पर अपघटित करने के लिए आक्सीजन की उपस्थिति आवश्यक है। इस कारण जल में आक्सीजन स्तर कम हो जाता है, जिससे जलीय जीवों की उत्तरजीविता प्रभावित होती है।

PSEB Solutions for Class 8 Science वायु तथा जल का प्रदूषण Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
पर्यावरण की गुणवत्ता में कमी का उत्तरदायी कौन है ?
उत्तर-
मानव और उसकी गतिविधियाँ।

प्रश्न 2.
वातावरण की कौन-सी परिस्थितियाँ आजकल उपलब्ध नहीं हैं ?
उत्तर-
साफ़ आकाश, ताज़ी हवा, साफ़ जल आदि।

प्रश्न 3.
वायु के संघटक क्या हैं ?
उत्तर-
वायु के संघटक – वायु गैसों का मिश्रण है, जिसमें 78% नाइट्रोजन, 21% ऑक्सीजन, 1% अन्य गैसें। जैसे-कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, जल-कण, आर्गन, ओज़ोन, मैथेन आदि।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 4.
कौन-सा पदार्थ मुख्य वायु प्रदूषक है ?
उत्तर-
धुआँ।

प्रश्न 5.
धुएँ का मुख्य कारण है ?
उत्तर-
धुएँ का कारण-

  1. वाहन
  2.  ईंधनों का जलना।

प्रश्न 6.
कुछ प्राकृतिक वायु प्रदूषकों के नाम लिखिए।
उत्तर-
धुआँ, धुल।

प्रश्न 7.
वायु प्रदूषण से कौन-सा रोग फैलता है ?
उत्तर-
श्वसन संबंधी रोग (Respiratory Problems)।

प्रश्न 8.
वाहनों से कौन-सी गैसें उत्सर्जित होती हैं ?
उत्तर-
कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड, धुआँ आदि।

प्रश्न 9.
कौन-सी गैस रक्त में ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता को कम करती है ?
उत्तर-
कार्बन मोनोऑक्साइड (Carbon monoxide)।

प्रश्न 10.
धूम-कोहरा (Smog) क्या है ?
उत्तर-
स्मोग, धुआँ और धुंध का मिश्रण है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 11.
श्वसन संबंधी कुछ समस्याओं के नाम लिखिए।
उत्तर-
श्वसन समस्याएँ-
दमा, खाँसी, बच्चों में छाती की छाँ-छाँ।

प्रश्न 12.
रेफ्रीजेनरेट्स, वातानुकूल, इत्रों में कौन-से रसायन उपयुक्त होते हैं ?
उत्तर-
क्लोरोफ्लोरो कार्बन।

प्रश्न 13.
क्लोरोफ्लोरो कार्बन के दुष्प्रभाव क्या हैं ?
उत्तर-
क्लोरोफ्लोरो (CFC) कार्बन ओज़ोन परत को नष्ट करते हैं।

प्रश्न 14.
ओज़ोन परत क्यों महत्त्वपूर्ण है ?
उत्तर-
यह पृथ्वी को सूर्य की UV किरणों से बचाती है।

प्रश्न 15.
वायु में निलंबित ठोस कणों के स्रोत क्या हैं ?
उत्तर-

  1. वाहनों में पेट्रोल, डीज़ल आदि का जलना।
  2. औद्योगिक प्रक्रियाएँ जैसे-स्टील उत्पादन और खाने खोदना।
  3. शक्ति घर।

प्रश्न 16.
निलंबित ठोस कणों के दुष्प्रभाव क्या हैं ?
उत्तर-
दृष्टयता को कम करते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 17.
आगरे में स्थित ताज को कौन-से उद्योग अम्ल वर्षा से नष्ट करने में उत्तरदायी हैं ?
उत्तर-
रबड़ प्रक्रमण, स्वचालित वाहन, रसायन, मथुरा तेल परिष्करणी।

प्रश्न 18.
अम्ल-गैसें कौन-सी हैं ?
उत्तर-
सल्फर डाइऑक्साइड, सल्फर ट्राइऑक्साइड, नाइट्रस ऑक्साइड।

प्रश्न 19.
दो साफ़ ईंधनों के नाम लिखिए।
उत्तर-
CNG और LPG.

प्रश्न 20.
कौन-सी गैस सूर्य की विकिरणों को पकड़ कर पर्यावरण को गर्म करती है ?
उत्तर-
कार्बन डाइऑक्साइड।

प्रश्न 21.
कुछ पौधा-घर गैसों के नाम लिखिए।
उत्तर-
मैथेन, ओज़ोन, जल-कण, कार्बन डाइऑक्साइड।।

प्रश्न 22.
पौधा-घर प्रभाव कम करने के लिए कौन-सा अनुबंध किया है ?
उत्तर-
क्योटो प्रोटोकॉल (Kyoto Protocol) ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 23.
कुछ वैकल्पिक ऊर्जा स्त्रोतों के नाम लिखिए।
उत्तर-
सूर्य ऊर्जा, जल शक्ति, पन ऊर्जा।

प्रश्न 24.
भारत में वन-महोत्सव कब मनाया जाता है ?
उत्तर-
प्रतिवर्ष जुलाई में।

प्रश्न 25.
सूखे पत्तों का क्या करना चाहिए ?
उत्तर-
सूखे पत्तों को कंपोस्ट गड्ढों में डालकर कंपोस्ट तैयार करनी चाहिए।

प्रश्न 26.
पानी के कौन-से गुणों में परिवर्तन होता है ?
उत्तर-
गंध, रंग तथा अम्लीयता।।

प्रश्न 27.
जल प्रदूषकों के नाम लिखिए।
उत्तर-
सीवेज़, ज़हरीले तत्व, कीटनाशक, खरपतवार नाशक आदि।

प्रश्न 28.
गंगा कार्य परियोजना कब आरंभ की गई ?
उत्तर-
सन् 1985 में।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 29.
गंगा नदी निर्जीव किन स्थानों पर है ?
उत्तर-
जिन स्थानों पर प्रदूषण स्तर अत्यधिक बढ़ने से, जल जीवन नष्ट हो गया है।

प्रश्न 30.
कौन-से शहर में गंगा अत्यधिक प्रदूषित है ? ।
उत्तर-
कानपुर में।

प्रश्न 31.
जल में ऑक्सीजन स्तर कम होने के क्या कारण हैं ?
उत्तर-
शैवाल की वृद्धि और मृत्यु।

प्रश्न 32.
कुछ जल वाहक रोगों के नाम लिखो।
उत्तर-
हैजा, टायफॉइड, पीलिया।

प्रश्न 33.
जल-वाहक सूक्ष्मजीव कौन-कौन से हैं ?
उत्तर-
जल-वाहक सूक्ष्मजीव – जीवाणु, विषाणु, कवक, मृतजीवी आदि।

प्रश्न 34.
पेयजल को परिभाषित करें।
उत्तर-
पेयजल-पीने योग्य जल को पेयजल कहते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 35.
पेयजल के गणों के बारे लिखो।
उत्तर-
रंगरहित, गंधरहित, घुलनशील, अशुद्धियों और सूक्ष्मजीवों के बिना।

प्रश्न 36.
जनसंख्या के कितने % को पेयजल उपलब्ध नहीं है ?
उत्तर-
25%.

प्रश्न 37.
एक आम प्रचलित घरेलू फिल्टर कौन-सा है ?
उत्तर-
कैंडल फिल्टर।

प्रश्न 38.
किस प्रक्रिया से जल में उपस्थित जीवाणु भर जाते हैं ?
उत्तर-
उबालने से।

प्रश्न 39.
कुछ रसायनों के नाम लिखिए जिनसे जल शुद्ध किया जाता है ?
उत्तर-
विरंजक चूर्ण अथवा क्लोरीन, ओज़ोन और आयोडीन गैस।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 40.
3R सिद्धांत क्या है ?
उत्तर-
3R सिद्धांत-कम उपयोग (Reduce), पुनः उपयोग (Reuse), पुनः चक्रण (Recycle)।

प्रश्न 41.
वाहित मल का उपचार क्यों करना चाहिए ?
उत्तर-
शुद्ध और साफ़ जल के लिए।

प्रश्न 42.
संदूषित जल पीने में क्या नुकसान है ?
उत्तर-
बीमारी का होना।

प्रश्न 43.
घरों में स्वच्छ जल की आपूर्ति के लिए कौन-सी संस्था उत्तरदायी है?
उत्तर-
नगर-निगम अथवा नगरपालिकाएँ।

प्रश्न 44.
क्या जल संरक्षण की आवश्यकता है ?
उत्तर-
हाँ।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
वायु प्रदूषकों के दो उदाहरण लिखिए।
उत्तर-
वायु प्रदूषकों के उदाहरण-

  1. सल्फर और नाइट्रोजन ऑक्साइड।
  2. रेडियो ऐक्टिव कचरा।

प्रश्न 2.
वायु प्रदूषण के मुख्य स्रोत कौन-से हैं ?
उत्तर-
वायु प्रदूषण के मुख्य स्रोत-

  1. उद्योग-कागज़ उद्योग, स्टील उद्योग, पेट्रोलियम परिष्करणशालाएँ और रसायन उद्योग।
  2. वाहन
  3. धुआँ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 3.
वाहित मल (Sewage) क्या है ?
उत्तर-
वाहित मल – म्यूनिस्पिल और घरेलू अपशिष्ट का बहुत बड़ी मात्रा में उत्सर्जन वाहित मल कहलाता है। इसमें जैविक अपशिष्ट, जहरीले पदार्थ होते हैं जो कई कार्यविधियों को नुकसान पहुंचाते हैं।

प्रश्न 4.
वाहित मल-जल संदूषित जल क्यों कहलाता है ?
उत्तर-
वाहित मल-जल में मानव मल-मूत्र, कपड़े धोने का जल, औद्योगिक अपशिष्ट होते हैं। यह जल पीने के लिए अनोपयोगी है। इसमें ऑक्सीजन की कमी होती है। इसकी दुर्गंध होती है। यह कई रोगों का कारक है। इसलिए इसे संदूषित जल कहते हैं।

प्रश्न 5.
वायु प्रदूषणों को कैसे नियंत्रित किया जा सकता है ?
उत्तर-
वायु प्रदूषण नियंत्रित करने के उपाय-

  1. जलनशील ठोस व्यर्थ भट्ठियों में जलाना चाहिए।
  2. वाहनों में ईंधनों के पूर्ण जलने वाले ईंधनों जैसे डीज़ल आदि का प्रयोग करना चाहिए ताकि हानिकारक उत्पाद न बनें।
  3. वनस्पति को अत्यधिक और अनावश्यक नहीं जलाना चाहिए।

प्रश्न 6.
नदी का प्रदूषण कैसे नियंत्रित किया जा सकता है ?
उत्तर-
नदी के प्रदूषण का नियंत्रण-

  1. भौतिक और रासायनिक विधियों से वाहित मल का उपचार करके जलाशयों में गिराना चाहिए।
  2. नदी के किनारों से रसायन उद्योग को दूर करना चाहिए और नए उद्योग लगाने में मनाही होनी चाहिए।

प्रश्न 7.
क्लोरोफ्लोरो कार्बन हानिकारक कैसे है ?
उत्तर-
क्लोरोफ्लोरो कार्बन वातावरण की ओज़ोन परत को क्षति पहुँचाते हैं। यह परत पृथ्वी पर रहने वाले जीवों की हानिकारक UV विकिरणों से रक्षा करती है।

प्रश्न 8.
कार्बन मोनोऑक्साइड जीवों पर क्या प्रभाव डालती है ?
उत्तर-
कार्बन मोनोऑक्साइड का जीवों पर प्रभाव-रक्त में उपस्थित हीमोग्लोबिन कार्बन मोनोऑक्साइड अवशोषित करती है, जिससे रक्त द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण करने की शक्ति कम हो जाती है। ऑक्सीजन की आपूर्ति न होने से जीव की मृत्यु हो जाती है।

प्रश्न 9.
कौन-से धातु स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं ?
उत्तर-
सीसा, आर्सेनिक, पारा।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 10.
वायु के मुख्य प्रदूषकों को चित्र द्वारा दर्शाओ।
उत्तर-
वायु प्रदूषक (Air Pollutants)।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण 1

प्रश्न 11.
पौधा-घर प्रभाव के हानिकारक प्रभाव लिखें।
उत्तर-
पौधा-घर प्रभाव के हानिकारक प्रभाव-
पौधा-घर प्रभाव से पृथ्वी के तापमान में वृद्धि होगी। इससे जीव-जंतुओं और मानवों का जीवन असुविधाजनक हो जाएगा।

वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है, कि समुद्र तल 100 मी० ऊपर/बढ़ जाएगा। जब पौधा-घर प्रभाव से विश्व ऊष्णन में 3-6°C वृद्धि होगी। यदि ऐसा हुआ, तो तटीय क्षेत्र और कई द्वीप डूब जाएँगे और काफ़ी हानि होगी।

प्रश्न 12.
कानपुर में गंगा अत्यधिक संदूषित क्यों है ?
उत्तर-
कानपुर में गंगा में जल की मात्रा कम और गति धीमी है। लगभग 5000 उद्योग, अपने अपशिष्ट जहरीले पदार्थ नदी में विसर्जित करते हैं। लोग नदी में नहाते हैं, कपड़े धोते हैं, मल-मूत्र फेंकते हैं, फूल तथा पूजा सामग्री और प्लास्टिक थैले भी नदी में फेंकते हैं।

प्रश्न 13.
ओजोन परत हमारे लिए कैसे लाभदायक है ?
उत्तर-
वातावरण की ओजोन परत सभी जीवित वस्तुओं के लिए अत्यंत महत्त्वपूर्ण है। यह परत सूर्य से उत्सर्जित हानिकारक पराबैंगनी विकिरणों को अवशोषित कर लेती है। अन्यथा ये किरणें मानव और अन्य जंतुओं में त्वचा का कैंसर जैसे भयानक रोग उत्पन्न कर सकती हैं। ये पराबैंगनी किरणें फसलों के लिए भी हानिकारक होती हैं।

प्रश्न 14.
ओजोन परत की व्याख्या करो।
उत्तर-
ओज़ोन परत-हमारे वायुमंडल के समताप मंडल में पाई जाने वाली ओजोन, ओजोन परत के रूप में पाई जाती है जो हमें सूर्य की पराबैंगनी विकिरणों से सुरक्षा प्रदान करती है। फ्रिज, एयर कंडीशनर, प्लास्टिक फोम में एक जहरीले पदार्थ CFC (क्लोरोफ्लोरो कार्बन) का उपयोग होता है जो ओजोन परत को पतला कर देता है। इसे ओजोन परत ह्रास कहते हैं।

प्रश्न 15.
विश्व तापमान में वृद्धि से कौन-कौन सी समस्याएं पैदा हो सकती हैं ?
उत्तर-
विश्व तापमान से निम्नलिखित समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं-

  1. इससे गर्मियाँ खुश्क और गर्म हो जाएँगी। इसी प्रकार सर्दियाँ नमी वाली और अधिक ठंडी हो जाएँगी।
  2. तापमान के बढ़ने से ग्लेशियर पिघल जाएँगे और समुद्र में जल का स्तर 2 फुट और बढ़ जाएगा।
  3. जल की आपूर्ति प्रभावित हो जाएगी तथा व्यापक स्तर पर सूखा पड़ेगा।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 16.
गंगा के किनारे स्थित उद्योग धंधों ने गंगा को कैसे प्रदूषित करने का कार्य किया ?
उत्तर-
गंगा के किनारे बसे शहरों व नगरों में भारी संख्या में उद्योग स्थापित हैं। अकेले कानपुर में 5000 से अधिक औद्योगिक इकाइयाँ हैं जो गंगा में अपमार्जक चर्म के पेंट के उद्योगों का जहरीला अपशिष्ट, वाहित मल, कीटनाशक व कूड़ा कचरा आदि मिला रहे हैं। कागज़ की फैक्ट्रियाँ, चीनी मिलें व अन्य रासायनिक फैक्ट्रियाँ गंगा के जल में भारी मात्रा में अपशिष्ट मिलाकर दूषित कर रहे हैं।

प्रश्न 17.
सरकार ने गंगा जैसी पवित्र नदियों के जल की स्वच्छता बनाए रखने के लिए उद्योगों के लिए क्या निर्देश जारी किए हुए हैं ?
उत्तर-
तेल परिष्करणशालाएँ, वस्त्र व. चीनी मिलें, कागज़ फैक्ट्रियाँ व रासायनिक फैक्ट्रियाँ अपने औद्योगिक अपशिष्ट को सीधे नदियों में बहा देती हैं जिससे नदियों का जल विषैला होता जा रहा है इसे रोकने के लिए सरकार ने अधिनियम बनाए हैं। जिनके अनुसार उद्योगों को अपने यहाँ उत्पन्न अपशिष्टों को जल में प्रवाहित करने से पूर्व उपचारित करना आवश्यक है। परंतु अधिकतर उद्योग इन नियमों को अनुपालना नहीं कर रहे हैं।

TYPE -III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
अपने चारों तरफ वायु प्रदूषण कम करने के आप क्या सुझाव देंगे ?
उत्तर-
वायु प्रदूषण कम करने के उपाय-

  1. वैकल्पिक ऊर्जा के स्रोतों का उपयोग करना जो प्रदूषण न फैलाएँ जैसे-सौर ऊर्जा, पन ऊर्जा।
  2. सीसा रहित ईंधन का उपयोग करके जैसे संपीड़ित प्राकृतिक गैस (CNG) का उपयोग कारों, बसों और ट्रकों में। वाहन नियमित रूप में प्रदूषण के लिए प्रेषित किए जाने चाहिए।
  3. उद्योगों को घरों से दूर लगाना चाहिए और उनकी चिमनियों में फिल्टर होने चाहिए।
  4. पेड़ वायु को शुद्ध करते हैं, इसलिए अधिक पेड़ लगाने चाहिए।
  5. प्लास्टिक के थैलों की जगह कपड़े अथवा जूट के थैले उपयोग में लाने चाहिए।
  6. पदार्थों का पुनः चक्रण जैसे-कागज़, धातु आदि करना चाहिए।
  7. सूखे पत्ते, पेड़ों की शाखाएँ, कागज, कूड़े आदि को जलाना नहीं चाहिए क्योंकि धुआँ वायु प्रदूषण फैलाता है।
  8. विद्युत् बचत करनी चाहिए।
  9. ऐरोसाल जैसे पदार्थों के उपयोग में कमी लानी चाहिए क्योंकि यह पदार्थ वातावरण में कुछ मिनटों से कई वर्षों तक लटके रह सकते हैं। इनके आकार और भार पर सब निर्भर करता है जैसे–सुगंध आदि।
  10. धूम्रपान से परहेज़ करना चाहिए और दूसरों को भी ऐसा करने की सलाह देनी चाहिए।

प्रश्न 2.
सीवेज़ जल प्रदूषण में कैसे उत्तरदायी है ?
उत्तर-
सीवेज़ को घरेलू और औद्योगिक अपशिष्ट में वर्गीकृत किया जा सकता है। घरेलू अपशिष्ट सीवेज़ का प्राथमिक स्रोत है। औद्योगिक अपशिष्ट भी जल संदूषण में मुख्य भूमिका निभाते हैं।

सीवेज से नदी, झील और समुद्र संदूषित होते हैं। संदूषित जल हैजा, टायफॉइड, पेचिश, पीलिया और त्वचा रोग जैसे संक्रमण रोगों का वाहक है।
सीवेज जल के अपघटन में ऑक्सीजन उपयोग में आती है जिससे जल में ऑक्सीजन की मात्रा में कमी आ जाती है। इस कमी के कारण जल जीवन प्रभावित होता है और मछलियों तथा अन्य जलीय जंतुओं के मृत्यु का कारण बनता है।
संदूषित जल पीने और खाना बनाने के उपयुक्त नहीं होता है। यह कृषि के लिए भी उपयुक्त नहीं होता।

प्रश्न 3.
वायु प्रदूषण पर संक्षिप्त नोट लिखें।
उत्तर-
वायु प्रदूषण – वायु प्राकृतिक और मानव क्रियाओं द्वारा शुद्ध नहीं रही। वायु के जैविक, भौतिक और रासायनिक गुणों में अवांछनीय परिवर्तनों को वायु प्रदूषण कहते हैं। वे पदार्थ जो वायु प्रदूषण के उत्तरदायी हैं, वायु प्रदूषक कहलाते हैं। मुख्य प्रदूषक कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, नाइट्रोजन के ऑक्साइड और निलंबित ठोस कण हैं। वायु प्रदूषण के मानव पर अत्यधिक दुष्प्रभाव हैं। यह कच्चे माल, औद्योगिक प्रक्रियाओं, रहन-सहन और सांस्कृतिक संपदा जैसे ऐतिहासिक इमारतों को प्रभावित करता है। यह जीवन के लिए घातक सिद्ध हो रहा है।

प्रश्न 4.
अम्ल गैसों को परिभाषित करें। उदाहरण दें। क्या इसका प्रभाव आप नयी बनी संगमरमर की इमारतों में देख सकते हो ?
उत्तर-
वे गैसें जो जल में घुलकर अम्ल बनाती हैं, अम्ल गैसें कहलाती हैं।
उदाहरण – सल्फर डाइऑक्साइड (SO2 नाइट्रोजन डाइऑक्साइड (NO2).
संगमरमर इमारत पर प्रभाव – वातावरण में पाई जाने वाली SO2 और NO2 जल से क्रिया करके अम्ल बनाती है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण 2

यह अम्ल वर्षा के जल के साथ इमारतों पर गिरते हैं । अम्ल-युक्त इस वर्षा को अम्ल वर्षा कहते हैं। अम्ल संगमरमर (CaCO3) पत्थर को नष्ट करते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण 3
इस तरह अम्ल वर्षा संगमरमर की इमारतों को क्षति पहुँचाती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण

प्रश्न 5.
ओज़ोन ह्रास (Ozone depletion) (Ozone depletion) का वर्णन करें।
उत्तर-
ओज़ोन ह्रास (Ozone depletion) – ओज़ोन परत पृथ्वी की सुरक्षा परत है। मानव क्रियाओं द्वारा उत्पन्न CFC ओजोन परत का ह्रास हो रहा है जिससे UV विकिरणें धरती पर पहुँच रही हैं। यही ओजोन ह्रास है।

ओज़ोन ह्रास के प्रभाव-

  1. UV विकिरणें, त्वचा कैंसर और आँखों के रोगों को फैला रही हैं।
  2. ये किरणें, मानव शरीर में प्रतिरक्षी तंत्र को प्रभावित करती हैं।
  3. विश्व वर्षा को प्रभावित करती है।
  4. पर्यावरणीय दुर्घटनाएँ जैसे-बाढ़, खाद्य पदार्थों में कमी आदि के लिए उत्तरदायी।

प्रश्न 6.
जल संदूषण के स्रोतों की व्याख्या करो।
उत्तर-
जल संदूषण के स्रोत :-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 18 वायु तथा जल का प्रदूषण 4
(क) घरेलू अपशिष्ट – इसमें शामिल हैं-
(a) मानव और जंतु का मल-मूत्र
(b) जैविक पदार्थ (खाद्य पदार्थों)
(c) अपमार्जक
(d) जीवाणु।

(ख) औद्योगिक अपशिष्ट – औद्योगिक अपशिष्टों में भारी धातुएँ जैसे-पारा, सीसा, कॉपर, ऑर्सेनिक, कैडमियम हो सकते हैं जिन्हें नदी, झीलों, तालाबों में फेंक दिया जाता है।

(ग) पीड़कनाशी और उर्वरक – खेतों से पानी अपने साथ उर्वरक, पीड़कनाशी, कीटनाशी आदि कई रसायन जलाशयों तक बहा ले जाता है। DDT जैसे पीड़कनाशी अनिम्नकरणीय पदार्थ हैं।

(घ) जल ऊष्मा – मानव कार्यविधियों द्वारा पानी के ताप की वृदधि जल ऊप्मा कहलाती है। ऊष्मीय शक्ति घर आदि गर्म जल जलाशयों में बहा देते हैं जिससे जलाशयों के जल अचानक गर्म हो जाते हैं और जलीय जीवन पर दुष्प्रभाव डालते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

PSEB 8th Class Science Guide तारे एवं सौर परिवार Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1-3 में सही उत्तर का चयन कीजिए-
प्रश्न 1.
निम्नलिखित में से कौन सौर परिवार का सदस्य नहीं है ?
(क) क्षुद्रग्रह
(ख) उपग्रह
(ग) तारामंडल
(घ) धूमकेतु।
उत्तर-
(घ) धूमकेतु।

प्रश्न 2.
निम्नलिखित में से कौन सूर्य का ग्रह नहीं है ?
(क) सीरियस
(ख) बुध
(ग) शनि
(घ) पृथ्वी।
उत्तर-
(क) सीरियस।

प्रश्न 3.
चंद्रमा की कलाओं के घटने का कारण यह है कि
(क) हम चंद्रमा का केवल वह भाग ही देख सकते हैं जो हमारी ओर प्रकाश को परावर्तित करता है।
(ख) हमारी चंद्रमा से दूरी परिवर्तित होती रहती है।
(ग) पृथ्वी की छाया चंद्रमा के पृष्ठ के केवल कुछ भागों को ही ढकती है।
(घ) चंद्रमा के वायुमंडल की मोटाई नियत नहीं है।
उत्तर-
(क) हम चंद्रमा का केवल वह भाग ही देख सकते हैं जो हमारी ओर प्रकाश को परावर्तित करता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 4.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) सूर्य से सबसे अधिक दूरी वाला ग्रह …………………………….. है।
उत्तर-
नेप्ट्यून

(ख) वर्ण में रक्ताभ प्रतीत होने वाला ग्रह ………………………. है।
उत्तर-
मंगल

(ग) तारों के ऐसे समूह को जो कोई पैटर्न बनाता है …………………………. कहते हैं।
उत्तर-
तारामंडल

(घ) ग्रह की परिक्रमा करने वाले खगोलीय पिंड को ……………………. कहते हैं।
उत्तर-
उपग्रह

(ङ) शूटिंग स्टार वास्तव में ………………………….. नहीं है।
उत्तर-
तारा

(च) क्षुद्र ग्रह …………………… तथा …………………… की कक्षाओं के बीच पाए जाते हैं।
उत्तर-
मंगल, बृहस्पति।

प्रश्न 5.
निम्नलिखित कथनों पर सत्य (T) अथवा असत्य (F) अंकित कीजिए-

(क) ध्रुव तारा सौर परिवार का सदस्य है।
उत्तर-
False

(ख) बुध सौर परिवार का सबसे छोटा ग्रह है।
उत्तर-
True

(ग) यूरेनस सौर परिवार का दूरतम ग्रह है।
उत्तर-
False

(घ) INSAT एक कृत्रिम उपग्रह है।
उत्तर-
True

(ङ) हमारे सौर परिवार में नौ ग्रह हैं।
उत्तर-
False

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

(च) ओरॉयन तारामंडल केवल दूरदर्शक द्वारा देखा जा सकता है।
उत्तर-
False

प्रश्न 6.
स्तंभ I के शब्दों का स्तंभ II के एक या अधिक पिंड या पिंडों के समूह से उपयुक्त मिलान कीजिए-

स्तंभ I स्तंभ II
(क) आंतरिक ग्रह (a) शनि
(ख) बाह्य ग्रह (b) ध्रुवतारा
(ग) तारामंडल (c) सप्तर्षि
(घ) पृथ्वी के उपग्रह (d) चंद्रमा
(e) पृथ्वी
(f) ओरॉयन
(g) मंगल

उत्तर-

स्तंभ I स्तंभ II
(क) आंतरिक ग्रह (g) मंगल
(e) पृथ्वी
(ख) बाह्य ग्रह (a) शनि
(ग) तारामंडल (c) सप्तर्षि
(f) ओरॉयन
(घ) पृथ्वी के उपग्रह (d) चंद्रमा

प्रश्न 7.
यदि शुक्र सांध्य तारे के रूप में दिखाई दे रहा है तो आप इसे आकाश के किस भाग में पाएँगे ?
उत्तर-
आकाश के पश्चिम भाग में।

प्रश्न 8.
सौर परिवार के सबसे बड़े ग्रह का नाम लिखिए।
उत्तर-
बृहस्पति।

प्रश्न 9.
तारामंडल क्या होता है ? किन्हीं दो तारामंडलों के नाम लिखिए।
उत्तर-
तारामंडल – तारों के समूह, जो पहचानने योग्य आकृतियां बनाते हैं और सभी तारे समूह में इकट्ठे रहते हैं और उनकी स्थिति एक-दूसरे के सामने स्थिर है। उदाहरण-ऊर्सा मेजर, ओरॉयन।

प्रश्न 10.
(i) सप्तर्षि तथा
(ii) ओरॉयन तारामंडल के प्रमुख तारों की आपेक्षिक स्थितियां दर्शाने के लिए आरेख खींचिए।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 1

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 11.
ग्रहों के अतिरिक्त सौर परिवार के अन्य दो सदस्यों के नाम लिखिए।
उत्तर-
क्षुद्र ग्रह, उल्का, प्राकृतिक उपग्रह।

प्रश्न 12.
व्याख्या कीजिए कि सप्तर्षि की सहायता से ध्रुव तारे की स्थिति आप कैसे ज्ञात करेंगे ?
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 2
ऊर्सा मेजर आकाश में तीन घंटे बाद अपनी स्थिति बदलता है और एक स्थिर तारे के चारों तरफ परिक्रमा करता है। यह स्थिर तारा, ध्रुव तारा है।

प्रश्न 13.
क्या आकाश में सारे तारे गति करते हैं ? व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
ध्रुव तारे को छोड़कर सभी तारे पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते प्रतीत होते हैं क्योंकि पृथ्वी अपने अक्ष पर पश्चिम से पूर्व की ओर गति करती है। ध्रुव तारा स्थिर है क्योंकि वह पृथ्वी के अक्ष की दिशा में स्थित है।

प्रश्न 14.
तारों के बीच की दूरियों को प्रकाश वर्ष में क्यों व्यक्त करते हैं ? इस कथन से क्या तात्पर्य है कि कोई तारा पृथ्वी से आठ प्रकाश वर्ष दूर है ?
उत्तर-
तारों के बीच की दूरियाँ बहुत अधिक हैं। यह दूरियाँ मिलियन अथवा बिलियन किलोमीटर से भी अधिक हैं। इसलिए दूरियों को किलोमीटर में व्यक्त करना मुश्किल है। इसलिए एक बड़े मात्रक प्रकाश वर्ष से तारों के बीच की दूरियों को व्यक्त करते हैं। प्रकाश द्वारा एक वर्ष में तय की गई दूरी प्रकाश वर्ष कहलाती है।

जब एक तारा आठ प्रकाश वर्ष दूर है, तो इसका तात्पर्य है कि प्रकाश अपने वेग 3 × 108 m/s से 8 साल में पृथ्वी से उस तारे तक पहुँचेगा।
अब 1 प्रकाश वर्ष = 9.46 × 1015 मीटर
8 प्रकाश वर्ष = 8 × 9.46 × 1015 मीटर
= 75.6 × 1015 मीटर
अतः तारा पृथ्वी से 7.56 × 1016 मीटर दूर है।

प्रश्न 15.
बृहस्पति की त्रिज्या पृथ्वी की त्रिज्या की 11 गुनी है। बृहस्पति तथा पृथ्वी के आयतनों का अनुपात परिकलित कीजिए। बृहस्पति में कितनी पृथ्वियाँ समा सकती हैं ?
हल-
मान लो पृथ्वी की त्रिज्या = r मी०
तो बृहस्पति की त्रिज्या = 11 मी०
पृथ्वी का आयतन : बृहस्पति का आयतन
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 3
अतः बृहस्पति में लगभग 1331 पृथ्वियाँ समा सकती हैं।

प्रश्न 16.
बूझो ने सौर परिवार का निम्नलिखित आरेख खींचा। क्या यह आरेख सही है ? यदि नहीं, तो इसे संशोधित कीजिए।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 4
उत्तर-
संशोधित आरेख
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 5

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

PSEB Solutions for Class 8 Science तारे एवं सौर परिवार Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
सूर्य के अतिरिक्त पृथ्वी से निकटतम तारे का नाम बताओ।
उत्तर-
ऐल्फा सेन्टारी (Alpha Centuri)।

प्रश्न 2.
ऐल्फा सेन्टारी से प्रकाश कितने समय में पृथ्वी पर पहुँचता है ?
उत्तर-
4.3 वर्ष।

प्रश्न 3.
कौन-सा तारामंडल एक लंबी पूंछ वाली पतंग जैसा प्रतीत होता है ?
उत्तर-
ऊर्सा मेज़र तारामंडल।

प्रश्न 4.
कौन-सा तारामंडल आकाश में चमकीले पत्थरों के समूह जैसा है ?
उत्तर-
प्लीड्स (Pleides).

प्रश्न 5.
प्रकाश वर्ष की परिभाषा लिखें।
उत्तर-
प्रकाश वर्ष-प्रकाश द्वारा एक वर्ष में तय की गई दूरी प्रकाश वर्ष कहलाती है।

प्रश्न 6.
सूर्य पृथ्वी से कितनी दूर है ?
उत्तर-
सूर्य पृथ्वी से 1.5 × 108 किलोमीटर दूर है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 7.
लाल ग्रह कौन-सा है ?
उत्तर-
मंगल ग्रह।

प्रश्न 8.
कौन-सा ग्रह अपने अक्ष पर पश्चिम से पूर्व की ओर गति करता है ?
उत्तर-
यूरेनस।

प्रश्न 9.
कौन-सा बल ग्रहों को सूर्य के चारों ओर परिक्रमा में बांधे रखता है ?
उत्तर-
गुरुत्व बल ग्रहों को सूर्य के चारों तरफ परिक्रमा में बांधे रखता है।

प्रश्न 10.
क्षुद्रग्रह (Asteroids) क्या है ?
उत्तर-
क्षुद्रग्रह (Asteroids) – बृहस्पति और मंगल की कक्षाओं के बीच पाए जाने वाले छोटे-छोटे पिंडों को क्षुद्रग्रह कहते हैं। यह सूर्य की परिक्रमा करते हैं।

प्रश्न 11.
उल्का पिंड (Meteorites) क्या है ?
उत्तर-
उल्का पिंड – वह उल्का, जो आकार में बड़ी होती है और वायुमंडल में पूर्णतः वाष्पित नहीं हो पाती और पृथ्वी की सतह पर पहुँचती है, उल्का पिंड कहलाती है।

प्रश्न 12.
चंद्रमा की कलाएँ क्या हैं ?
उत्तर-
चंद्रमा की कलाएँ – चंद्रमा एक छोटे दीप्त भाग (बालचंद्र) से बढ़ते हुए पूर्ण चक्र और पूर्ण चक्र से घटते हुए शून्य चंद्रमा तक अपनी आकृतियाँ बदलता रहता है। इन बदलती आकृतियों को चंद्रमा की कलाएँ कहते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 13.
कृत्रिम उपग्रह क्या है ?
उत्तर-
कृत्रिम उपग्रह – एक ऐसा पिंड, जो पृथ्वी की परिक्रमा करने में समर्थ हो।

प्रश्न 14.
कृत्रिम उपग्रहों के दो उपयोग लिखिए।
उत्तर-
कृत्रिम उपग्रहों के उपयोग – कृत्रिम उपग्रह सुदूर संवेदन, अनुसंधान, संचार के लिए उपयोग में लाए जाते
है

प्रश्न 15.
कौन-से ग्रह के अधिकतम प्राकृतिक उपग्रह हैं ?
उत्तर-
बृहस्पति।

प्रश्न 16.
ध्रुव तारा स्थिर क्यों है ?
उत्तर-
क्योंकि ध्रुव तारा पृथ्वी के अक्ष की दिशा में स्थित है।

प्रश्न 17.
पृथ्वी का प्राकृतिक उपग्रह कौन-सा है ?
उत्तर-
चंद्रमा।

प्रश्न 18.
चंद्रमा का पृष्ठ संचार के लिए उपयोग क्यों नहीं किया जाता ?
उत्तर-
चंद्रमा पर कोई वातावरण नहीं है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 19.
सौर परिवार का सबसे बड़ा ग्रह कौन-सा है ?
उत्तर-
बृहस्पति।

प्रश्न 20.
पृथ्वी के निकटतम ग्रह कौन-सा है ?
उत्तर-
मंगल।

प्रश्न 21.
आकाश की कौन-सी दिशा में और किस समय निम्न तारामंडल दिखाई पड़ते हैं ? वृश्चिक (Scorpio), ग्रेट बियर (Great Bear), ध्रुवतारा (Pole Star), ओरॉयन (Orion)।
उत्तर-
(क) वृश्चिक गर्मियों में नज़र आता है।
(ख) ग्रेट बियर अथवा सप्तर्षि गर्मियों में उत्तरी गोलार्ध में नज़र आता है।
(ग) ध्रुव तारा पूरे वर्ष में उत्तर में दिखाई देता है।
(घ) शिकारी अथवा ओरॉयन सर्दियों में दक्षिण आकाश में दिखाई देता है।

प्रश्न 22.
हैले धूमकेत कब देखा गया ?
उत्तर-
सन् 1986 में।

प्रश्न 23.
सूर्य के निकटतम और दूरस्थ ग्रह के नाम बताइए।
उत्तर-
सूर्य के निकटतम ग्रह बुध है और दूरस्थ ग्रह नेप्ट्यून है।

प्रश्न 24.
निम्न ग्रहों के नाम लिखिए-
(i) सबसे छोटा ग्रह।
(ii) सबसे गर्म ग्रह।
(iii) सूर्य से दूरस्थ ग्रह।
(iv) जिस पर जीवन उपस्थित है।
(v) बृहस्पति और पृथ्वी के बीच का ग्रह।
उत्तर-
(i) बुध
(ii) बुध
(iii) नेप्ट्यून
(iv) पृथ्वी
(v) मंगल।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 25.
उन तारों के समूह को क्या कहते हैं जो ग्रह बनाने में असफल रहे ?
उत्तर-
क्षुद्र ग्रह।

प्रश्न 26.
क्षुद्र ग्रह किन दो ग्रहों के बीच परिक्रमा करते हैं ?
उत्तर-

  1. मंगल
  2. बृहस्पति।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
ऊर्सा मेजर की पहचान क्या है ?
उत्तर-
ऊर्सा मेजर की पहचान – यह सात चमकीले तारों का समूह है। यह एक बड़ी कलछी अथवा प्रश्न चिह्न जैसा प्रतीत होता है। इसके दो तारे ऊपरी सिरे पर 1 और 2 अंकित हैं। यह तारे सरल रेखा से मिलाने पर ध्रुव तारे को इंगित करते हैं।

प्रश्न 2.
ग्रह क्या है ? सौरमंडल में कितने ग्रह हैं ? उनके नाम लिखिए।
उत्तर-
ग्रह – रात्रि आकाश में चमकीले पिंड, जो तारों की भांति टिमटिमाते नहीं और तारों के सापेक्ष अपनी स्थिति में बदलाव लाते हैं, ग्रह (Planets) कहलाते हैं।

सौर परिवार में नौ ग्रह हैं। जैसे-
बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, यूरेनस, प्लूटो और नेप्ट्यून।

प्रश्न 3.
तारे और ग्रह में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-
तारे और ग्रह में अंतर-

तारे (Stars) ग्रह (Planets)
(i) ये बहुत गर्म होते हैं। (i) यह अधिक गर्म नहीं होते।
(ii) ये स्वयं प्रकाश उत्पन्न करते हैं। (ii) यह सूर्य की पड़ने वाली किरणों को परावर्तित करते हैं।
(iii) ये टिमटिमाते हैं। (iii) ये टिमटिमाते नहीं।
(iv) ये बिंदु जैसे होते हैं। (iv) ये तश्तरी के आकार के होते हैं।
(v) यह आकाश में पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते हैं। (v) यह आकाश में सूर्य के गिर्द पश्चिम से पूर्व की ओर परिक्रमा करते हैं।

प्रश्न 4.
पृथ्वी पर जीवन क्यों संभव है ?
उत्तर-
पृथ्वी पर जीवन के लिए काफी मात्रा में ऑक्सीजन और जल उपलब्ध है। पृथ्वी का तापमान भी जीवन के लिए उचित है। इसके चारों तरफ ओज़ोन परते हैं, जो सजीवों को सूर्य की हानिकारक विकिरणों से बचाती हैं। इसलिए पृथ्वी पर जीवन संभव है।

प्रश्न 5.
क्या तारामंडल के सभी तारे वास्तव में एक-दूसरे के निकट होते हैं ?
उत्तर-
तारामंडल के सभी तारे वास्तव में एक-दूसरे के निकट नहीं होते। यह एक ही दिशा में होते हैं, परंतु एक दूसरे से बहुत ही दूर होते हैं। पृथ्वी से दूर होने के कारण एक-दूसरे के निकट दिखाई देते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 6.
उन ग्रहों के नाम लिखिए, जिन्हें नंगी आँखों द्वारा देखा जा सकता है ?
उत्तर-
पृथ्वी के अतिरिक्त पाँच अन्य ग्रह नंगी आँख से देखे जा सकते हैं। जैसे-बुध, मंगल, शुक्र, बृहस्पति, शनि।

प्रश्न 7.
सौर परिवार क्या है ? सूर्य और पृथ्वी के बीच कौन-कौन से ग्रह स्थित हैं?
उत्तर-
सौर परिवार – सूर्य और उसका परिवार जैसे ग्रह, उपग्रह, क्षुद्र ग्रह, धूमकेतु आदि से बना समूह सौर परिवार कहलाता है। सूर्य सौरमंडल अथवा सौर परिवार के केंद्र में स्थित है और सभी सदस्य सूर्य के चारों तरफ वलय कक्षाओं में परिक्रमा करते हैं जिन्हें ‘कक्षा’ कहते हैं।
सूर्य और पृथ्वी के बीच बुध और शुक्र ग्रह स्थित है।

प्रश्न 8.
ध्रुव तारा क्या है और यह क्यों महत्त्वपूर्ण है ?
उत्तर-
ध्रुव तारा – एक तारे को छोड़कर बाकी सभी तारे पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते प्रतीत होते हैं। केवल एक ही तारा है जो अपनी स्थिति नहीं बदलता, इसे ध्रुव तारा कहते हैं। यह पृथ्वी के अक्ष की दिशा में उत्तर ध्रुव के ऊपर उत्तर में स्थित है।
समुद्री यात्री इसके द्वारा दिशा निर्धारित करते हैं।

प्रश्न 9.
तारे और टूटते तारे में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-
तारे और टूटते तारे में अंतर-

तारा (Star) टूटता तारा (Shooting Star)
(i) तारा गर्म गैसों जैसे हाइड्रोजन और हीलियम से बनता है। (i) टूटता तारा चट्टानों और धातु कणों से बनता है।
(ii) यह प्रकाश उत्सर्जित करता है जो नाभिकीय क्रियाओं के कारण है। (ii) टूटता तारा वायुमंडल में घर्षण कारण उत्पन्न ऊर्जा से दीप्त होता है।
(iii) तारे का आकार बहुत बड़ा होता है। (iii) टूटता तारा आकार में धूल कण से भी छोटा हो सकता है।

प्रश्न 10.
उल्काएँ अथवा टूटते तारे (Meteors/Shooting Star) क्या है ?
उत्तर-
उल्काएँ – कुछ पिंड आकाश में प्रकाश की पतली सी धारा छोड़ते हैं। यह टूटते तारे कहलाते हैं। ‘तारा’ शब्द इनके लिए उपयुक्त नहीं क्योंकि न तो यह स्वयं तारे हैं और न ही तारों से किसी तरह संबंधित हैं। वास्तव में ये चट्टानों के टुकड़े हैं, जो ब्रह्मांड में तैर रहे हैं।

जब यह तैरते कण पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करते हैं तो वायु में घर्षण से यह जल उठते हैं। यह आग के गोले की भांति पृथ्वी पर गिरते नज़र आते हैं। इनमें से काफ़ी वायुमंडल में ही नष्ट हो जाते हैं।

जब उल्का बहुत बड़ी होती है, यह पूर्ण रूप से नहीं जलती और यह पृथ्वी पर पहुँचती है। पृथ्वी पर पहुँचने वाले ये टुकड़े टूटते तारे कहलाते हैं।

प्रश्न 11.
सौर परिवार को सारणी रूप में दर्शाएँ।
उत्तर-
सौर परिवार का सारणी रूप-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 6

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 12.
प्रकाश वर्ष क्या है ? यह मीटरों में कैसे दर्शाया जा सकता है ?
उत्तर-
प्रकाश वर्ष – प्रकाश वर्ष प्रकाश द्वारा एक साल में तय की गई दूरी है। प्रकाश एक सेकंड में लगभग 3 × 108 मी० अथवा 3 × 105 कि० मी० दूरी तय करती है।
∴ 1 प्रकाश वर्ष = 365\(\frac{1}{4}\) × 24 × 60 × 60 × 3 × 108 m
अथवा 1 प्रकाश वर्ष = 9.46 × 1015 m

प्रश्न 13.
आकाशीय पिंड पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते हुए क्यों दिखाई देते हैं ?
उत्तर-
आकाशीय पिंड पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते दिखाई देते हैं क्योंकि पृथ्वी अपने अक्ष पर पश्चिम से पूर्व की ओर घूमती है जबकि हमें ऐसा दिखता है कि पृथ्वी स्थिर है। यही कारण है कि विभिन्न आकाशीय पिंड पूर्व से पश्चिम की ओर गति करते दिखाई देते हैं। पृथ्वी अपने अक्ष पर 24 घंटे में एक चक्कर पूरा करती है।

प्रश्न 14.
निम्नलिखित की परिभाषाएं लिखें-
(i) ग्रह
(ii) उपग्रह
(iii) घूर्णन काल।
उत्तर-
(i) ग्रह – सूर्य की परिक्रमा करने वाले आकाशीय पिंडों को ग्रह कहते हैं; जैसे बुध, पृथ्वी व शुक्र।

(ii) उपग्रह – ग्रहों की परिक्रमा करने वाले आकाशीय पिंडों को उपग्रह कहते हैं। पृथ्वी का उपग्रह चंद्रमा है। अन्य कुछ ग्रहों के भी उपग्रह हैं।

(iii) घूर्णन काल – किसी ग्रह द्वारा अपने अक्ष पर एक घूर्णन पूरा करने में जितना समय लगाया जाता है, उसे उसका घूर्णन काल कहते हैं।

प्रश्न 15.
सभी ग्रहों में कौन-सा ग्रह चमकीला है तथा क्यों ?
उत्तर-
सभी ग्रहों में शुक्र ग्रह चमकीला है। इसके चमकीलेपन का कारण इसका घने बादलों से युक्त वायुमंडल __ है, जो अपने ऊपर पड़ने वाले सूर्य के प्रकाश के लगभग तीन-चौथाई भाग को परावर्तित कर देता है।

प्रश्न 16.
बुध और शुक्र ग्रहों के दिन व रात के तापमानों में बहुत अधिक अंतर है, जबकि पृथ्वी और मंगल ग्रहों पर ऐसा नहीं होता, क्यों ?
उत्तर-
सूर्य के निकटतम पड़ोसी बुध और शुक्र हैं। इनके चारों ओर वायुमंडलीय आवरण इतना नहीं है, जो ऊष्मीय आवरण की भांति कार्य करता हो, परंतु ये दोनों ग्रह सूर्य के इतने निकट हैं कि दिन के समय सूर्य की ऊष्मा से बच ही नहीं सकते और अत्यधिक गरम हो जाते हैं। सूर्यास्त के पश्चात् ये अत्यधिक ठंडे हो जाते हैं। केवल पृथ्वी और मंगल ही ऐसे ग्रह हैं जिन पर वायुमंडलीय आवरण और सूर्य की उनसे दूरी में सही संतुलन बना हुआ है। यही संतुलन इन दोनों ग्रहों पर दिन व रात के तापमानों में अत्यधिक परिवर्तन नहीं होने देता।

प्रश्न 17.
बुध व शुक्र ग्रह को प्रातस्तारा या सांध्यतारा के नाम से क्यों जाना जाता है ?
उत्तर-
बुध व शुक्र ग्रह को प्रास्तारा या सांध्यतारा के नाम से जाना जाता है क्योंकि दोनों को सूर्योदय से कुछ पहले या सूर्यास्त के तुरंत बाद क्षितिज के पास देखा जा सकता है। इस समय ये अत्यधिक चमकीले तारे जैसे दिखाई पड़ते है।

प्रश्न 18.
वह कौन-सी परिस्थितियाँ हैं, जिनके कारण पृथ्वी पर जीवन संभव है ?
उत्तर-
पृथ्वी पर निम्नलिखित परिस्थितियों के कारण जीवन संभव हआ

  1. पृथ्वी के वायुमंडल में ऑक्सीजन का पाया जाना जो सभी जीवों के श्वसन के लिए आवश्यक है।
  2. पृथ्वी पर जैव-प्रक्रियाओं के लिए पानी का उपस्थित होना।
  3. पृथ्वी की सूर्य से उचित दूरी होने के कारण तापमान का उचित होना।
  4. पृथ्वी के चारों ओर रक्षात्मक परत ओजोन का उपस्थित होना जो सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी विकिरणों से हमारी रक्षा करती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

TYPE -III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
सौर मंडल (परिवार ) क्या है ?
उत्तर-
सौर मंडल – सौर मंडल में सूर्य और मंगल और बृहस्पति के बीच बहुत बड़ी संख्या में क्षुद्र ग्रह से मिलकर बना परिवार है। इसमें बड़ी संख्या में धूमकेतु और टूटते तारे हैं जो काफ़ी बड़े वलय वृत्तों में परिक्रमा करते हैं। बुध सूर्य के निकटतम तारा है और शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, यूरेनस, नेप्ट्यून क्रमशः बुध के बाद आते हैं। जहाँ बुध सबसे छोटा ग्रह है वहाँ बृहस्पति सबसे बड़ा ग्रह है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 7

सभी ग्रह सूर्य के चारों तरफ वलय वृत्तों में और अपने अक्ष के चारों तरफ परिक्रमा करते हैं।
अल्फा सेन्टरी तारा पृथ्वी के निकटतम तारा है और लगभग 4.3 प्रकाश वर्ष पृथ्वी से दूर है। सबसे चमकीला तारा सीरियस (Sirius) है जो पृथ्वी से 8.3 प्रकाश वर्ष दूर है।
सूर्य सौर परिवार का मुखिया है और इसका 99.9% द्रव्यमान है। सूर्य ऊर्जा का संपूर्ण स्रोत है। पृथ्वी लगभग सारी ऊर्जा सूर्य से प्राप्त करती है।

प्रश्न 2.
उत्तरायन और दक्षिणायन से क्या अभिप्राय है ?
उत्तर-
उत्तरायन और दक्षिणायन – आमतौर से यह कहा जाता है कि सूर्य पूर्व से उदय होता है और पश्चिम में छिपता है। यह कथन आंशिक रूप से सत्य है क्योंकि सूर्य सदैव एक ही दिशा से उदय नहीं होता, इसकी स्थिति प्रतिदिन बदलती रहती है।

इसके लिए समय संबंधित क्रियाकलाप करके इस कथन पर विचार किया जा सकता है। सूर्योदय की स्थिति का प्रेक्षण करें। इसे कई दिनों तक दोहराएँ। एक निरंतर बदलाव दिखाई देगा। गर्मियों में 21 जून के आसपास सूर्योदय का बिंदु धीरे-धीरे दक्षिण की ओर स्थानांतरित होता है। तब सूर्य को दक्षिणायन (दक्षिण दिशा में गतिमान) कहते हैं। यह दक्षिण दिशा में सर्दियों तक गतिमान रहता है। फिर 22 दिसंबर के आसपास उत्तर की ओर गति करना आरंभ कर देता है, इसे उत्तरायन (उत्तर दिशा में गतिमान) कहते हैं। केवल 21 मार्च और 23 सितंबर को सूर्योदय ठीक पूर्व दिशा में उदय होता है और ठीक पश्चिम दिशा में अस्त होता है।

प्रश्न 3.
पृथ्वी जैसे और बृहस्पति जैसे ग्रह कौन-से हैं ?
उत्तर-
पृथ्वी जैसे ग्रह (Terrestrial Planets) – सूर्य के चार निकट स्थित ग्रहों-बुध, शुक्र, पृथ्वी और मंगल को पृथ्वी जैसे ग्रह कहा जाता है. क्योंकि इनकी बनावट पृथ्वी की बनावट जैसी है। इन ग्रहों के वायुमंडल पतले हैं। ये छोटे ग्रह हैं।

बृहस्पति जैसे ग्रह (Jovian Planets) – बृहस्पति, शनि, अरुण और वरुण, पृथ्वी जैसे ग्रहों की तुलना में आकार में काफ़ी बड़े हैं। ये ग्रह मुख्य रूप में हाइड्रोजन और हीलियम के बने हुए हैं। इनको इस कारण ऐसा कहा जाता है, क्योंकि इनकी बनावट बृहस्पति की बनावट जैसी है। इन ग्रहों के बहुत सारे चांद हैं और इर्द-गिर्द छल्ले भी हैं। इनकी सतही अवस्थाएं जैसे कि तापमान और गुरुत्वा उसी प्रकार की हैं जैसे कि शुरू में थीं। इन ग्रहों पर जीवन की कोई संभावना नहीं।

प्रश्न 4.
धूमकेतु पर संक्षिप्त नोट लिखें।
उत्तर-
घूमकेतु – ये आकाशीय पिंड भी सूर्य के चारों ओर परिक्रमा करते हैं, परंतु इनका परिक्रमा काल अधिक होता है। इनके चमकीले शीर्ष के कारण एक लंबी पूंछ होती है जो सूर्य से परे होती है।

जब धूमकेतु सूर्य के निकट आते हैं तो सूर्य की गर्मी के कारण इनका पानी वाष्प में बदल जाता है। सूर्य का प्रकाश इस वाष्प पर दबाव डालता है और इसको एक पुच्छल के रूप में धूमकेतु से दूर धकेल देता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार 8

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 17 तारे एवं सौर परिवार

प्रश्न 5.
कृत्रिम उपग्रहों के मुख्य उपयोग लिखिए।
उत्तर-
कृत्रिम उपग्रहों के मुख्य उपयोग-

  1. पृथ्वी उपग्रहों का उपयोग टेलीफोन द्वारा दूर स्थानों पर बातचीत करने और टी० वी० एवं रेडियो के पुनः प्रसारण के लिए किया जाता है।
  2. इनका प्रयोग मौसमी प्रयोगशाला में मौसम संबंधी अवलोकन करने के लिए किया जाता है।
  3. बाहरी अंतरिक्ष की परिस्थितियों के बारे में आंकड़े इकट्ठे करने के लिए इनका प्रयोग किया जाता है।
  4. जासूसी वाहनों के रूप में भी इसका प्रयोग किया जाता है। यह पृथ्वी पर होने वाली घटनाओं विशेष तौर पर सैनिक संबंधी बातों का पता लगाते रहते हैं।
  5. आकाशीय अवलोकन संबंधी ज्ञान प्राप्त करने के लिए इन उपग्रहों का आधार स्टेशन के रूप में प्रयोग किया जा सकता है।
  6. पृथ्वी के किसी भाग में स्थित प्राकृतिक स्रोतों का पता लगाने के लिए इनका प्रयोग किया जा सकता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 16 प्रकाश Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 16 प्रकाश

PSEB 8th Class Science Guide प्रकाश Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
मान लीजिए आप एक अंधेरे कमरे में हैं। क्या आप कमरे में वस्तुओं को देख सकते हैं ? क्या आप कमरे के बाहर वस्तुओं को देख सकते हैं ? व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
नहीं, अंधेरे में कुछ दिखाई नहीं देता क्योंकि कमरे में पड़ी हुई वस्तुओं पर कोई प्रकाश नहीं पड़ रहा और न ही वह स्वयं प्रकाश उत्सर्जित कर रही हैं। इसलिए अंधेरे कमरे में कुछ नहीं दिखाई देता।

कमरे के बाहर की वस्तुएँ दिखाई दे सकती हैं, यदि उन पर प्रकाश की किरणें आपतित हों अथवा वे अपना प्रकाश उत्सर्जित करें।

प्रश्न 2.
नियमित तथा विसरित परावर्तन में अंतर बताइए। क्या विसरित परावर्तन का अर्थ है कि परावर्तन के नियम विफल हो गए हैं ?
उत्तर-
नियमित तथा विसरित परावर्तन में अंतर-

नियमित परावर्तन विसरित परावर्तन
(1) समतल और चिकने पृष्ठ पर परावर्तन होता है। (1) विषम और अनियमित पृष्ठ पर परावर्तन होता है।
(2) परावर्तित किरणें समांतर होती हैं। (2) परावर्तित किरणें असमांतर होती हैं।

विसरित परावर्तन के नियम का विफल होना नहीं है। यह पृष्ठ की अनियमिताओं के कारण हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 3.
निम्न में से प्रत्येक के स्थान के सामने लिखिए, यदि प्रकाश की एक समांतर किरण-पुंज इनसे टकराए तो नियमित परावर्तन होगा या विसरित परावर्तन होगा। प्रत्येक स्थिति में अपने उत्तर का औचित्य बताइए।
(क) पॉलिश युक्त लकड़ी की मेज़
(ख) चाक पाऊडर
(ग) गत्ते का पृष्ठ
(घ) संगमरमर के फर्श पर फैला जल
(ङ) दर्पण
(च) कागज़ का टुकड़ा।
उत्तर-
(क) पॉलिश युक्त लकड़ी की मेज़ – नियमित परावर्तन क्योंकि लकड़ी की मेज़ का पृष्ठ पॉलिश होने के अतिरिक्त समतल भी है।

(ख) चाक पाऊडर – विसरित परावर्तन क्योंकि चाक पाऊडर रुक्ष पृष्ठ प्रदान करता है।

(ग) गत्ते का पृष्ठ – विसरित परावर्तन, पृष्ठ पर उपस्थित अनियमितताओं के कारण।

(घ) संगमरमर के फर्श पर फैला जल – नियमित परावर्तन क्योंकि जल से समतल पृष्ठ बन जाता है।

(ङ) दर्पण – नियमित परावर्तन क्योंकि इसका पृष्ठ समतल है।

(च) कागज़ का टुकड़ा – नियमित यदि कागज़ समतल है और विसरित यदि कागज़ रुक्ष है।

प्रश्न 4.
परावर्तन के नियम बताइए।
उत्तर-
परावर्तन के नियम-
(i) आपतित कोण ∠i = परावर्तित कोण ∠r
(ii) आपतित किरण, आपतन बिंदु पर अभिलंब तथा परावर्तित किरण सभी एक ही तल में होते हैं।

प्रश्न 5.
यह दर्शाने के लिए कि आपतित किरण, परावर्तित किरण तथा आपतन बिंदु पर अभिलंब एक ही तल में होते हैं, एक क्रियाकलाप का वर्णन कीजिए।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 1
क्रियाकलाप – एक मेज़ पर एक सफेद शीट फैलाइए। इस पर MM1 एक सीधी रेखा खींचिए। इस समतल दर्पण रेखा के अनुदिश समतल दर्पण की एक पट्टी ऊध्वाधर स्थिति में रखें। अब टार्च की सहायता से प्रकाश को कंघी पर पुंज इस तरह डालें कि इससे निकलने वाला प्रकाश पुंज मेज़ के समांतर हो। आपतित और परावर्तित किरणों का एक सुंदर पैटर्न प्राप्त होता है, एक पेंसिल से किसी भी आपतित किरण पर तीन बिंदु A, B, C अंकित करें और इसकी संगत परावर्तित किरण पर बिंदु D.E,F, अंकित करें। टार्च बंद कर दें। दर्पण हटा लें। अब बिंदुओं को मिलाकर दर्पण तक बढ़ाएं। ABC रेखा MM’ को O पर मिलती है। इसी तरह DEF रेखा भी MM’ को O पर मिलती है। OA आपतित किरण है जबकि OF परावर्तित किरण है। O पर अभिलंब ON खींच कर आपतन कोण AON तथा परावर्तन कोण FON मापें जो बराबर होगा। आपतित किरण, परावर्तित किरण और आपतन बिंदु पर अभिलंब सभी एक ही तल (पृष्ठ) में हैं। इससे परावर्तन के दोनों नियम सत्यापित होते हैं।

प्रश्न 6.
नीचे दिए गए रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-
(a) एक समतल दर्पण के सामने 1m दूर खड़ा व्यक्ति अपने प्रतिबिंब से …………………………. m दूर दिखाई देता है।
(b) यदि किसी समतल दर्पण के सामने खड़े होकर आप अपने दाएँ हाथ से अपने ………………………… कान को छुएँ तो दर्पण में ऐसा लगेगा कि आपका दायाँ कान …………………………. हाथ से छुआ गया है।
(c) जब आप मंद प्रकाश में देखते हैं तो आपकी पुतली का साइज़ ………………………….. हो जाता है।
(d) रात्रि पक्षियों के नेत्रों में शलाकाओं की संख्या की अपेक्षा शंकुओं की संख्या …………………………. होती है।
उत्तर-
(a) 2
(b) बाएँ, बाएँ
(c) बड़ा
(d) अधिक।

प्रश्न 7 तथा 8 में सही विकल्प छाँटिए-
प्रश्न 7.
आपतन कोण परावर्तन कोण के बराबर होता है-
(क) सदैव
(ख) कभी-कभी
(ग) विशेष दशाओं में
(घ) कभी नहीं।
उत्तर-
(क) सदैव।

प्रश्न 8.
समतल दर्पण द्वारा बनाया गया प्रतिबिंब होता है-
(क) आभासी, दर्पण के पीछे तथा आवर्धित।
(ख) आभासी, दर्पण के पीछे तथा वस्तु के साइज के बराबर।
(ग) वास्तविक, दर्पण के पृष्ठ पर तथा आवर्धित।
(घ) वास्तविक, दर्पण के पीछे तथा वस्तु के साइज़ के बराबर।
उत्तर-
(ख) आभासी, दर्पण के पीछे तथा वस्तु के साइज़ के बराबर ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 9.
कैलाइडोस्कोप की रचना का वर्णन कीजिए।
उत्तर-
कैलाइडोस्कोप – यह एक खिलौना है, जिससे अनेक प्रतिबिंब बनाए जा सकते हैं। बहुमूर्तिदर्शी में दर्पण की लीन आयताकार पट्टियों को प्रिज्म की आकृति में जोड़ा जाता है और एक मोटे चार्ट से बने बेलनाकार ट्यूब में लगा दिया जाता है। ट्यूब के एक सिरे पर केंद्र पर छिद्रयुक्त एक गत्ते की डिस्क लगाते और दूसरे सिरे पर समतल काँच की वृत्ताकार प्लेट, दर्पण को छूते हुए दृढ़तापूर्वक चिपका देते हैं। इसके ऊपर कुछ रंगीन काँच के टुकड़े रखकर घिसे हुए काँच की प्लेट से बंद कर देते हैं। इस प्रकार बहुमूर्तिदर्शी तैयार हो जाती है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 2

प्रश्न 10.
मानव नेत्र का एक नामांकित रेखाचित्र बनाइए।
उत्तर-
मानव नेत्र का नामांकित रेखाचित्र-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 3

प्रश्न 11.
गुरमीत लेज़र टार्च के द्वारा पाठ्य-पुस्तक के क्रियाकलाप 16.8 को करना चाहता था। उसके अध्यापक ने ऐसा करने से मना किया। क्या आप अध्यापक की सलाह के आधार की व्याख्या कर सकते हैं ?
उत्तर-
लेज़र टार्च की किरण आँख के रेटिना को क्षति पहुँचा सकती है। इसलिए अध्यापक ने लेज़र टार्च के उपयोग के लिए मना किया।

प्रश्न 12.
वर्णन कीजिए कि आप अपने नेत्रों की देखभाल कैसे करेंगे ?
उत्तर-
आँखों की देखभाल – नेत्र प्रकृति की दी हुई बहुमूल्य देन हैं। इसलिए यह आवश्यक है, कि नेत्रों की उचित देखभाल की जाए।

  1. साफ स्वच्छ जल से प्रतिदिन नेत्रों की सफाई करनी चाहिए।
  2. बहुत तेज़ अथवा मंद प्रकाश में नहीं पढ़ना चाहिए।
  3. चलते वाहन में कभी नहीं पढ़ना चाहिए।
  4. आँखों को अधिक मलना नहीं चाहिए।
  5. बहुत गर्मी वाले दिन, धूप के चश्मे उपयोग में लाने चाहिए।
  6. सूर्य को सीधा नहीं देखना चाहिए और न ही सूर्य ग्रहण को देखना चाहिए।
  7. स्वस्थ, साफ आँखों के लिए विटामिनयुक्त भोजन खाना चाहिए।

प्रश्न 13.
यदि परावर्तित किरण, आपतित किरण से 90° का कोण बनाए तो आपतन कोण का मान कितना होगा ? . .
हल-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 4

यदि ∠i = आपतन कोण
∠r = परावर्तन कोण
तो ∠i + ∠r = 90° (दिया हुआ)
पर ∠i = ∠r (∵ परावर्तन के नियम)
∴ ∠i + ∠i = 90°
या 2∠i = 90°
∠i = \(\frac{90^{\circ}}{2}\) = 45°

प्रश्न 14.
यदि दो समांतर समतल दर्पण एक-दूसरे से 40cm के अंतराल पर रखे हों तो इनके बीच रखी एक मोमबत्ती के कितने प्रतिबिंब बनेंगे ?
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 5
यदि दो समतल दर्पण 40cm की परस्पर दूरी पर | समांतर रखे हैं तो दर्पण के बीच का कोण 0° होगा जो 360° का छोटा गुणांक नहीं है। इसलिए वास्तव में प्रतिबिंबों की संख्या असंख्य होनी चाहिए क्योंकि परावर्तनों के कारण, प्रकाश की ऊर्जा नष्ट हो जाती है। इसलिए कुछ ही प्रतिबिंब बनते हैं जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है।

प्रश्न 15.
दो दर्पण एक-दूसरे के लंबवत् रखे हैं। प्रकाश की एक किरण एक दर्पण पर 30° के कोण पर आपतित होती है जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है। दूसरे दर्पण से परावर्तित होने वाली परावर्तित किरण बनाइए।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 6
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 7

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 16.
चित्र में दर्शाए अनुसार बूझो एक समतल दर्पण के ठीक सामने पार्श्व से कुछ हटकर एक किनारे A पर खड़ा होता है। क्या वह स्वयं को दर्पण में देख सकता है ? क्या वह P, Q तथा R पर स्थित वस्तुओं के प्रतिबिंब भी देख सकता है ?
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 8
उत्तर-
बूझो स्वयं को नहीं देख सकता क्योंकि वह दर्पण सीमा से बाहर है। उसे P का प्रतिबिंब आसानी से दिखाई देंगे परंतु Q तथा R का प्रतिबिंब नहीं दिखाई देगा।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 9

प्रश्न 17.
(a) A पर स्थित किसी वस्तु के समतल दर्पण में बनने वाले प्रतिबिंब की स्थिति ज्ञात कीजिए।
(b) क्या स्थिति B से पहेली प्रतिबिंब को देख सकती है ?
(c) क्या स्थिति C से बूझो इस प्रतिबिंब को देख सकता है ?
(d) जब पहेली B से C पर चली जाती है तो A का प्रतिबिंब किस ओर खिसक जाता है ?
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 10
उत्तर-
(a) A पर स्थित वस्तु का प्रतिबिंब दर्पण में उतनी ही दूरी पर बनेगा जितनी दूरी पर वस्तु दर्पण के सामने
(b) स्थिति B से पहेली A का प्रतिबिंब देख सकती है।
(c) स्थिति C से बूझो A का प्रतिबिंब देख सकता है।
(d) जब स्थिति B से पहेली स्थिति C पर जाती है तो प्रतिबिंब आगे की ओर नहीं खिसकता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 11

PSEB Solutions for Class 8 Science प्रकाश Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
क्या कोई अंधेरे में देख सकता है ?
उत्तर-
नहीं।

प्रश्न 2.
हमें देखने के लिए किस वस्तु की आवश्यकता होती है ?
उत्तर-
प्रकाश।

प्रश्न 3.
किन्हीं दो दीप्त वस्तुओं के नाम लिखो।
उत्तर-

  1. सूर्य,
  2. विद्युत् बल्ब।

प्रश्न 4.
क्या चंद्रमा दीप्त पिंड है अथवा अदीप्त ?
उत्तर-
अदीप्त पिंड।

प्रश्न 5.
प्रतिबिंब कहाँ दिखाई देता है ?
उत्तर-
दर्पण में।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 6.
कौन-से पृष्ठ दर्पण बन सकते हैं ?
उत्तर-
कोई भी पॉलिश किया हुआ अथवा चमकीला पृष्ठ।

प्रश्न 7.
यदि आप दर्पण के सम्मुख खड़े हों और आप अपना प्रतिबिंब देख रहे हों। आपका और आपके प्रतिबिंब में कितनी दूरी है ?
उत्तर-
वस्तु की दर्पण से दूरी = प्रतिबिंब की दर्पण से दूरी। इसलिए हम अपने प्रतिबिंब से दुगुनी दूरी पर हैं।

प्रश्न 8.
जब प्रकाश की किरण दर्पण पर अभिलंब रूप में गिरती है, तो आपतन कोण कितना होता है ?
उत्तर-
शून्य।

प्रश्न 9.
किन्हीं दो वस्तुओं के नाम लिखो जो सफेद प्रकाश को कई रंगों में विभाजित करती हैं।
उत्तर-
पानी के बुलबुले, CD का पृष्ठ, प्रिज्म।

प्रश्न 10.
प्रकाश के सात रंगों के नाम लिखो।
उत्तर-
लाल, केसरी, पीला, हरा, नीला, नील, बैंगनी।

प्रश्न 11.
सात रंगों की प्राकृतिक उदाहरण क्या है ?
उत्तर-
इंद्र धनुष।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 12.
सफेद आवरण (Sclerotic) का मानव नेत्र में क्या कार्य है ?
उत्तर-
सफेद आवरण नेत्र को आकार और आंतरिक भागों की दुर्घटनाओं से रक्षा करता है।

प्रश्न 13.
पक्ष्माभ पेशी (Ciliary muscle) का मानव नेत्र में क्या कार्य है ?
उत्तर-
पक्ष्माभ पेशी नेत्र लेंस को स्थिर रखती हैं और नेत्र लेंस को अपने फोकस में परिवर्तन लाने में सहायक होती है।

प्रश्न 14.
क्या नेत्र लेंस का फोक्स अनिश्चित है ?
उत्तर-
नहीं। मानव नेत्र लेंस का फोकस अनिश्चित है। यह पक्ष्माभ पेशी द्वारा बदलता रहता है।

प्रश्न 15.
शलाकाओं (Rods) का मानव नेत्र में काम लिखिए।
उत्तर-
शलाकाएँ प्रकाश की तीव्रता के लिए सुग्राही हैं। अधिक प्रकाश की तीव्रता से शलाकाएँ अधिक उत्तेजित होती हैं।

प्रश्न 16.
शंकु (Cones) क्या है ?
उत्तर-
रेटिना पर शंकु रंगों के संवेदक हैं। यदि शंकु कम मात्रा में या नहीं हैं, तो व्यक्ति रंगांधता (colour blind) से ग्रसित होता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 17.
अंधराता का मूल कारण क्या है ?
उत्तर-
शंकुओं का कम मात्रा में अथवा न होना।

प्रश्न 18.
बिल्लियाँ और चमगादड़ रात्रि में कैसे देख पाते हैं ?
उत्तर-
इनके रेटिना पर शलाकाओं की मात्रा बहुत अधिक होती है, इसलिए यह मंद से मंद प्रकाश में भी देख पाते

प्रश्न 19.
चलचित्र पर्दे पर बिंब किस दर से परिवर्तित होते हैं ?
उत्तर-
25 बिंब/सेकंड और इससे अधिक।

प्रश्न 20.
नेत्र के रेटिना पर कौन-से प्रकाश सुग्राही अंग हैं ?
उत्तर-
शंकु और शल्काएँ।

प्रश्न 21.
उस यंत्र का नाम बताओ जिससे एक बौना व्यक्ति भीड़ में से ऊपर देख सकता है ?
उत्तर-
परिदर्शी (पेरिस्कोप) (Periscope)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 22.
अंग्रेज़ी वर्णमाला अथवा किसी दूसरी वर्णमाला के उन अक्षरों को लिखिए, जो दर्पण में समान दिखाई देते हैं।
उत्तर-
अंग्रेज़ी वर्णमाला के शब्द
A, H, O, I, M, T, U, V, W, X.
हिंदी और पंजाबी के अक्षर
ठ तथा ठ क्रमशः।

TYPE -II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
दीप्त और अदीप्त पिंड क्या है ? उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
दीप्त पिंड – वे पिंड जो स्वयं प्रकाश उत्सर्जित करते हैं, दीप्त पिंड कहलाते हैं। जैसे-सूर्य, तारे, अग्नि, रेडियम आदि।
अदीप्त पिंड – वे पिंड जो स्वयं प्रकाश उत्सर्जित नहीं करते पर दूसरे दीप्त पिंडों के कारण चमकते हैं, अदीप्त पिंड कहलाते हैं। वे तभी दिखाई देते हैं, जब प्रकाश उन पर पड़ता है।
जैसे-चंद्रमा, पृथ्वी तथा अन्य ग्रह, कमरे की वस्तुएँ।

प्रश्न 2.
हम वस्तुएँ कैसे देखते हैं ?
उत्तर-
जब किसी स्रोत से प्रकाश वस्तु पर पड़ता है तो इस द्वारा परिवर्तित होता है । यह परिवर्तित प्रकाश आँखों में प्रवेश करता है और वस्तु का प्रतिबिंब आँखों में बनता है, जिससे वस्तु दिखाई देती हैं।

प्रश्न 3.
किसी वस्तु को देखने के लिए किन शर्तों की आवश्यकता है ?
उत्तर-
किसी वस्तु को देखने के लिए तीन अनिवार्य शर्ते हैं

  1. प्रकाश का स्रोत
  2. वस्तु
  3. दृष्टि।

प्रश्न 4.
आभासी प्रतिबिंब (Virtual Image) क्या है ? एक स्थिति बताएँ जहाँ आभासी प्रतिबिंब बनता है ?
उत्तर-
आभासी प्रतिबिंब – ऐसा प्रतिबिंब, जो प्रकाश किरणों के परावर्तन अथवा अपवर्तन के पश्चात् एक बिंदु दर नहीं मिलती, से बनता है आभासी प्रतिबिंब कहलाता है। इसे पर्दे पर प्राप्त नहीं किया जा सकता। दर्पण में सदैव आभासी प्रतिबिंब ही बनता है।

प्रश्न 5.
पार्श्व-परिवर्तन (Lateral Inversion) से क्या तात्पर्य है ?
उत्तर-
पार्श्व-परिवर्तन – एक समतल दर्पण में, वस्तु का दायां भाग बिंब में बायां और वस्तु का बायां भाग बिंब में दायां बन जाता है अर्थात् पार्श्व परिवर्तन होता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 6.
परावर्तन के नियम लिखिए।
उत्तर-
परावर्तन के नियम – समतल पृष्ठ से प्रकाश का परावर्तन दो नियमों का पालन करता है, जिन्हें परावर्तन के नियम कहते हैं।

  1. आपतन कोण सदैव परिवर्तित कोण के बराबर होता है अर्थात् ∠i = ∠r
  2. आपतित किरण, परिवर्तित किरण, आपतन बिंदु पर अभिलंब, सभी एक ही तल में होते हैं।

प्रश्न 7.
विसरित (Diffused) और नियमित (Regular) परावर्तन क्या है ?
उत्तर-
विसरित परावर्तन – जब पृष्ठ समतल अथवा पॉलिश न हो। (दीवार, कागज़) तब इस प्रकार का परावर्तन होता है। किरणें खुरदरे पृष्ठ से परिवर्तित होकर समांतर नहीं रहतीं और सभी दिशाओं में फैल जाती हैं। इस परावर्तन को विसरित परावर्तन कहते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश 12
नियमित परावर्तन – यह परावर्तन समतल अथवा पॉलिश पृष्ठ दर्पण से होता है। समतल पृष्ठ से परावर्तन किरणें साफ प्रतिबिंब बनाती हैं।

प्रश्न 8.
प्रकाश के परावर्तन (Reflection of Light) से क्या अभिप्राय है ?
उत्तर-
प्रकाश का परावर्तन – जब प्रकाश की किरण किसी समतल अथवा पॉलिश पृष्ठ पर पड़ती है तो परावर्तन के नियमों अनुसार विशेष दिशा में वापस लौट आती है। इस प्रक्रिया को प्रकाश का परावर्तन कहते हैं।

प्रश्न 9.
निम्न की परिभाषा दीजिए।
(i) परावर्तित किरण
(ii) परावर्तन कोण।
उत्तर-
(i) परावर्तित किरण – दर्पण से निकली हुई किरण, परिवर्तित किरण कहलाती है।
(ii) परावर्तन कोण – अभिलंब और परावर्तित किरण के बीच बना कोण परावर्तन कोण कहलाता है। इसे । द्वारा दर्शाया जाता है।

प्रश्न 10.
यदि आपतित किरण दर्पण R 90° पर टकराती है तो परावर्तित किरण कौन-सा कोण बनाएगी ?
उत्तर-
जब आपतित किरण दर्पण को 90° पर टकराती है तो परावर्तित किरण उसी दिशा में वापस लौट आएगी। आपतन कोण शून्य है इसलिए परावर्तन कोण भी शून्य होगा।

प्रश्न 11.
प्रकाश का विक्षेपण (Dispersion of Light) क्या है ?
उत्तर-
प्रकाश का विक्षेपण (Dispersion of Light) – जब सफेद प्रकाशं एक प्रिज्म में से गुज़रता है तो यह अपने संघटक रंगों में विभाजित हो जाता है। सफेद प्रकाश के अपने संघटक रंगों में विभाजित होने की परिघटना को, वर्ण-विक्षेपण कहते हैं।

प्रश्न 12.
प्रिज्म में से गुज़रते समय, सफेद प्रकाश सात रंगों में विभाजित क्यों होता है ?
उत्तर-
विभिन्न रंगों की तरंगें वायु में से आराम से गुज़र जाती हैं परंतु प्रिज्म में से गुज़रते समय उन्हें अपनी गति प्रिज्म के कोण के अनुसार बदलनी पड़ती है। विभिन्न रंगों के विचलन की मात्रा विभिन्न होती है इसलिए वे विभिन्न रास्तों पर चलते हैं और स्पैक्ट्रम बनता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 16 प्रकाश

प्रश्न 13.
निकट दृष्टि दोष (Myopia) क्या है ?
उत्तर-
निकट दृष्टि दोष – कुछ व्यक्तियों के नेत्र लेंस की फोकस दूरी कम होती है। इसलिए दूरस्थ वस्तुओं का प्रतिबिंब रेटिना से काफ़ी आगे बनता है। दूसरे शब्दों में वे दूर की वस्तुएँ नहीं देख पाते। इस दोष को निकट दृष्टि दोष कहते हैं।

प्रश्न 14.
दूर दृष्टि दोष (Hypermetropia) क्या है ?
उत्तर-
दूर दृष्टि दोष – वृद्ध होने पर, नेत्र लेंस की पेशियाँ दुर्बल हो जाती हैं और नेत्र लेंस की वक्रता को नियंत्रित नहीं कर पाती हैं। ऐसे में निकट पड़ी वस्तुओं का प्रतिबिंब रेटिना से पीछे बनता है। इसलिए ऐसे व्यक्ति निकट पड़ी वस्तुएँ नहीं देख पाते। इस दृष्टि दोष को दूर दृष्टि दोष कहते हैं।

प्रश्न 15.
रंगों की पहचान (Perception of Colour) पर संक्षिप्त नोट लिखें।
उत्तर-
मानव नेत्र में कई शंकु और शाल्काएँ होती हैं जो प्रकाश संवेदी हैं । शल्काएं प्रकाश की तीव्रता के संवेदक हैं और शंकु रंगों के संवेदक हैं। यदि आँख में शंकु नहीं होते तो व्यक्ति रंगांधता (colourblindness) का शिकार होता है। शंकुओं के होने से ही रंगों की पहचान होती है।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
वास्तविक और आभासी प्रतिबिंब में अंतर लिखिए।
उत्तर-
वास्तविक और आभासी प्रतिबिंब में अंतर-

वास्तविक प्रतिबिंब आभासी प्रतिबिंब
1. प्रकाश की किरणें परावर्तन या अपवर्तन के बाद वास्तव में एक बिंदु पर मिलती हैं। 1. प्रकाश की किरणें परावर्तन या अपवर्तन के बाद एक बिंदु पर मिलती प्रतीत होती हैं।
2. ये सदा उल्टे बनते हैं। 2. ये सदा सीधे बनते हैं।
3. इन्हें पर्दे पर प्राप्त किया जा सकता है। 3. इन्हें पर्दे पर प्राप्त नहीं किया जा सकता।

प्रश्न 2.
समतल दर्पण के द्वारा बने प्रतिबिंब की विशेषताएँ लिखिए।
उत्तर-
समतल दर्पण के द्वारा बने प्रतिबिंब की विशेषताएं-

  1. यह दर्पण के पीछे उतनी ही दूरी पर बनता है जितनी दूरी पर वस्तु, दर्पण के सामने होती है।
  2. यह सीधा तथा आभासी होता है। यह वस्तु के आकार के बराबर होता है।
  3. यह पार्श्व परिवर्तित होता है।
  4. यह पर्दे पर नहीं प्राप्त किया जा सकता।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

PSEB 8th Class Science Guide कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1 तथा 2 में सही विकल्प का चयन कीजिए-
प्रश्न 1.
निम्नलिखित में से किसे घर्षण द्वारा आसानी से आवेशित नहीं किया जा सकता?
(क) प्लास्टिक का पैमाना
(ख) तांबे की छड़
(ग) फूला हुआ गुब्बारा
(घ) ऊनी वस्त्र।
उत्तर-
(ख) ताँबे की छड़।

प्रश्न 2.
जब काँच की छड़ को रेशम के कपड़े से रगड़ते हैं तो छड़-
(i) तथा कपड़ा दोनों धनावेश अर्जित कर लेते हैं।
(ii) धनावेशित हो जाती है तथा कपड़ा ऋणावेशित हो जाता है।
(iii) तथा कपड़ा दोनों ऋणावेश अर्जित कर लेते हैं।
(iv) ऋणावेशित हो जाती है तथा कपड़ा धनावेशित हो जाता है।
उत्तर-
(ii) धनावेशित हो जाती है तथा कपड़ा ऋणावेशित हो जाता है।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित कथनों के सामने सही के सामने ‘T’ तथा गलत कथनों के सामने ‘F’ लिखिए-
(क) सजातीय आवेश एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं। [T/F]
(ख) आवेशित काँच की छड़ आवेशित प्लास्टिक स्ट्रा को आकर्षित करती है। [T/F]
(ग) तड़ित चालक किसी भवन की तड़ित से सुरक्षा नहीं कर सकता। [T/F]
(घ) भूकंप की भविष्यवाणी की जा सकती है। [T/F]
उत्तर-
(क) False
(ख) True
(ग) False
(घ) False.

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 4.
सर्दियों में स्वैटर उतारते समय चट-चट की ध्वनि सुनाई देती है। व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
स्वैटर उतारते समय घर्षण के कारण स्वैटर आवेशित हो जाता है। इन आवेशों के एक-दूसरे के संपर्क में आने के कारण हुए आकर्षण/प्रतिकर्षण के कारण चट-चट की ध्वनि सुनाई देती है।

प्रश्न 5.
जब हम किसी आवेशित वस्तु को हाथ से छूते हैं तो वह अपना आवेश खो देती है, व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
मानव शरीर विद्युत् का चालक है। जब किसी आवेशित वस्तु को हाथ से छुआ जाता है, तो आवेश शरीर से होकर पृथ्वी में चला जाता है और वस्तु अनावेशित हो जाती है।

प्रश्न 6.
उस पैमाने का नाम लिखिए जिस पर भूकंपों की विनाशी ऊर्जा मापी जाती है। इस पैमाने पर किसी भूकंप का माप 3 है। क्या इसे भूकंप लेखी (सीसमोग्राफ़ी ) से रिकॉर्ड किया जा सकेगा? क्या इससे अधिक हानि होगी?
उत्तर-
रिक्टर पैमाने पर भूकंपों की विनाशी ऊर्जा मापी जाती है। यह पैमाना रेखिक नहीं है।
रिक्टर पैमाने पर 3 का मान सिसमोग्राफी द्वारा रिकार्ड किया जा सकता है, परंतु यह भूकंप बहुत दुर्बल होता है और इससे अधिक हानि नहीं होती।

प्रश्न 7.
तड़ित से अपनी सुरक्षा के तीन उपाय सुझाइए।
उत्तर-
तड़ित से सुरक्षा के उपाय-

  1. तड़ित की गरज सुनते ही किसी मकान अथवा भवन में चले जाएँ।
  2. तड़ित समय यदि वाहन में हैं, तो वाहन की खिड़कियां व दरवाज़े बंद कर लें।
  3. तड़ित समय यदि खुले में है तो सिमट कर बैठ जाएं और सिर को घुटनों और हाथों के बीच रखें।

प्रश्न 8.
आवेशित गुब्बारा दूसरे आवेशित गुब्बारे को प्रतिकर्षित करता है, जबकि अनावेशित गुब्बारे द्वारा आकर्षित किया जाता है। व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
एक ही तरह के पदार्थ आवेशित होने पर समान रूप से आवेशित होते हैं। सजातीय आवेश एक-दूसरे को प्रतिकर्षित करते हैं। इसलिए दो आवेशित गुब्बारे, सजातीय होने के कारण प्रतिकर्षण करते हैं। एक आवेशित और एक अनावेशित गुब्बारा विजातीय होने के कारण आकर्षित होते हैं।

प्रश्न 9.
चित्र की सहायता से किसी ऐसे उपकरण का वर्णन कीजिए जिसका उपयोग किसी आवेशित वस्तु की पहचान में होता है?
उत्तर-
आवेशित वस्तु की पहचान करने वाला उपकरण विद्युत्दर्शी कहलाता है।
विद्युत्दर्शी बनाना – एक शीशे के जार के मुँह के साइज़ से बड़े गत्ते के टुकड़े में पेपर क्लिप खोल कर लगाते हैं। इसमें एल्यूमीनियम की दो बारीक पत्तियाँ गत्ते के लंबवत् लगाते हैं और इसे जार में फिट कर देते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ 1

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 10.
भारत के उन तीन राज्यों ( प्रदेशों) की सूची बनाइए जहाँ भूकंपों के झटके अधिक संभावित हैं ?
उत्तर-
भारत के अति भूकंप आशंकित राज्यों के नाम-

  1. कच्छ का रन
  2. राजस्थान
  3. सिंध-गंगा के मैदान
  4. कश्मीर।

प्रश्न 11.
मान लीजिए आप घर से बाहर हैं तथा भूकंप के झटके लगते हैं। आप अपने बचाव के लिए क्या सावधानियां बरतेंगे?
उत्तर-
घर के बाहर भूकंप के झटकों से बचाव-

  1. भवन, वृक्ष, विद्युत् लाइनों से दूर किसी खुले स्थान पर लेट जाएं।
  2. कार या बस में से बाहर न निकलें।
  3. कार या बस को खुले स्थान की ओर ले जाएं।

प्रश्न 12.
मौसम विभाग यह भविष्यवाणी करता है कि किसी निश्चित दिन तड़ित झंझा की संभावना है और मान लीजिए उस दिन आपको बाहर जाना है। क्या आप छतरी लेकर जाएँगे? व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
तड़ित झंझा में बाहर निकलना सुरक्षित नहीं है और छतरी लेकर निकलना तो अधिक घातक है, क्योंकि ऊँचे भवन, विद्युत् तारें, काले रंग की वस्तुएँ तड़ित झंझा को आकर्षित करती हैं। इसलिए इन सबसे दूर रहना ही अक्लमंदी है।

PSEB Solutions for Class 8 Science कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
ऐंबर क्या है?
उत्तर-
ऐंबर एक प्रकार की रेज़िन (राल) (Resin) है।

प्रश्न 2.
ऐंबर को अधिक देर रगड़ने से क्या होता है?
उत्तर-
एक चिंगारी उत्पन्न होती है।

प्रश्न 3.
किस वैज्ञानिक ने दर्शाया कि तड़ित और चिंगारी एक ही परिघटना है?
उत्तर-
अमेरिकी वैज्ञानिक बेंजामिन फ्रेंकलिन।

प्रश्न 4.
क्या होता है, जब प्लास्टिक पैमाने को सूखे बालों में रगड़ कर कागज़ के टुकड़ों के पास लाते हैं ?
उत्तर-
पैमाना टुकड़ों को आकर्षित करता है।

प्रश्न 5.
आवेशित वस्तुओं के कुछ उदाहरण दीजिए।
उत्तर-

  1. सूखे बालों में रगड़ा हुआ प्लास्टिक पैमाना।
  2. पॉलिथीन से रगड़ी हुई प्लास्टिक रिफिल।
  3. ऊनी कपड़े से रगड़ा हुआ गुब्बारा।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 6.
जब दो ऊनी कपड़े से रगड़े गए दो गुब्बारे एक-दूसरे के पास लाए जाते हैं, तो क्या होता है ?
उत्तर-
वे एक-दूसरे को प्रतिकर्षित करते हैं।

प्रश्न 7.
कौन-से आवेश एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं ?
उत्तर-
असमान अथवा विजातीय आवेश एक-दूसरे को आकर्षित करते हैं।

प्रश्न 8.
आवेश कितनी प्रकार के होते हैं ?
उत्तर-
आवेश दो प्रकार के होते हैं-

  1. ऋणावेश और
  2. धनावेश।

प्रश्न 9.
बालों में रगड़ी प्लास्टिक कंघी कागज़ के टुकड़ों को आकर्षित क्यों करती है?
उत्तर-
क्योंकि कंघी आवेशित हो गई है।

प्रश्न 10.
दो विजातीय बादलों के एक-दूसरे के संपर्क में आने से क्या होता है?
उत्तर-
तड़ित उत्पन्न होती है।

प्रश्न 11.
क्या मानव शरीर विद्युत् का चालक है या नहीं?
उत्तर-
विद्युत् का चालक है।

कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
बालों में रगड़ा गया फूला हुआ गुब्बारा दीवार से क्यों चिपक जाता है ?
उत्तर-
हवा से फूला हुआ गुब्बारा बालों में रगड़ने से आवेशित हो जाता है। इस आवेश के कारण गुब्बारा दीवार से चिपक जाता है।

प्रश्न 2.
कागज़ की पत्ती को जब आवेशित छड़ से छते हैं तो वह फैल जाती है। क्यों?
उत्तर-
जब कागज़ की पत्ती को आवेशित छड़ से छुआ जाता है तो कागज़ की पत्ती पर समान आवेश प्राप्त होता है। सजातीय आवेशों के कारण पत्तियाँ प्रतिकर्षण करती हैं और अपसरित हो जाती हैं।

प्रश्न 3.
तड़ित झंझा के समय पेड़ के नीचे खड़े होने की सलाह क्यों नहीं दी जाती?
उत्तर-
एक आवेशित बादल जब पेड़ के ऊपर से गुज़रता है तो वह उसमें असमान आवेश उत्पन्न करता है। इन विजातीय आवेशों के कारण तड़ित उत्पन्न हो सकती है, जो वृक्ष को नष्ट कर आग लगा देगी। इसलिए तड़ित झंझा के समय पेड़ के नीचे खड़ा होने की सलाह नहीं दी जाती है।

प्रश्न 4.
ऊँचे भवनों में धातुओं की लंबी छड़ें, ऊपर से पृथ्वी के नीचे तक क्यों लगाई जाती हैं ?
उत्तर-
एक आवेशित बादल भवन के पास से गुज़रता है, तो असमान आवेश धातु की छड़ की नोक पर उत्पन्न करता है। यह आवेश छड़ द्वारा पृथ्वी में पहुँच जाता है जिससे भवन सुरक्षित रहता है।

प्रश्न 5.
किसी वस्तु के आवेशित होने से क्या अभिप्राय है?
उत्तर-
प्लास्टिक की कंघी, पेन आदि जैसी वस्तुएँ जब दूसरे पदार्थों से रगड़ी जाती हैं, तो उनमें कागज़ के टुकड़ों अथवा पिथ गेंद को अपनी और आकर्षित करने का गुण उत्पन्न हो जाता है। तब इस वस्तु को आवेशित कहते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 6.
सुनामी पर संक्षिप्त नोट लिखें।
उत्तर-
सुनामी – कंपनों के कारण समुद्र में उठी लंबी और ऊँची लहरें, सुनामी हैं। यह प्रायः अत्यंत तीव्र वेग की लहरें हैं, जो समुद्र में उत्पन्न होती हैं। इन्हें हार्बर तरंग (Harbour Wave) भी कहते हैं।
उदाहरण-

  1. हवाई छिद्रों में 1819 में।
  2. 2004 में।

सुनामी के प्रभाव-

  1. जीवन की क्षति।
  2. जल-जीवन की क्षति।
  3. भवनों सड़कों तथा चल-अचल संपत्ति का नुकसान।
  4. तटीय क्षेत्रों अथवा समुद्र के किनारों पर वृक्षों का उखड़ना।

प्रश्न 7.
विद्युत्दर्शी के उपयोग लिखें।
उत्तर-
विद्युत्दर्शी के उपयोग-

  1. विद्युत्दर्शी आवेश की उपस्थिति का पता लगाने में काम आता है।
  2. यह आवेश का प्रकार पता लगाने में प्रयुक्त होता है।
  3. यह आवेशों की मात्रा की तुलना करने के लिए प्रयुक्त होता है।

प्रश्न 8.
विद्युत् विसर्जन क्या है ?
उत्तर-
विद्युत् विसर्जन (तड़ित) की परिघटना वायु में विसर्जन के कारण होती है। गर्जन से पहले बादलों में अत्यधिक मात्रा में आवेश एकत्र हो जाता है। आकाश में विजातीय आवेशित बादलों के परस्पर निकट आने पर, इनके मध्य वायु में आवेश तीव्र वेग से गति करते हैं। इससे वायु में तड़ित की तीव्र चिंगारी गति करती दिखाई देती है। इसे विद्युत् विसर्जन अथवा तड़ित कहते हैं।

प्रश्न 9.
विद्युत् विसर्जन के दो उदाहरण दीजिए जिनका उपयोग हम ईंधन को जलाने में करते हैं।
उत्तर-
विद्युत् विसर्जन के उदाहरण :

  1. स्कूटर तथा कार में स्पार्क प्लग द्वारा।
  2. रसोई गैस जलाने के लिए विद्युत् लाइटर द्वारा।

प्रश्न 10.
प्राकृतिक परिघटनाएँ क्या होती हैं ?
उत्तर-
प्रकृति में अचानक घटने वाली घटनाएँ, प्राकृतिक परिघटनाएँ कहलाती हैं। इनसे संबद्ध क्षेत्र में व्यापक रूप से जान-माल की हानि होती है और मानव जीवन के साथ-साथ पर्यावरण प्रभावित होता है।
उदाहरण – भूकंप, भूस्खलन, बाढ़, सूखा, चक्रवात, ज्वालामुखी का फटना व सुनामी आदि।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 11.
चक्रवात किसे कहते हैं ? इसके उत्पन्न होने के कारण व प्रभाव लिखो।
उत्तर-
चक्रवात-चक्रवात एक भयानक तूफान होता है जिसकी गति 119 कि० मी० प्रति घंटा से अधिक होती है।

कारण – जब गर्म मौसम में सागरों का जल वाष्पित होता है तो यह वायु मंडल में ऊपर जाता है, संघनित होता है और बादल बनाता है। ऊपर उठती वायु का स्थान लेने के लिए वायु तेज़ी से नीचे आती है। वहाँ यह एक केंद्र के आस-पास (चक्रीय गति) बनाती है अर्थात् सागर के गर्म जल के ऊपर उपस्थित वायु के तापमान तथा दबाव में अंतर के कारण चक्रवात आते हैं।

प्रभाव – चक्रवात के प्रभाव निम्नलिखित हैं-फसलों, स्वास्थ्य समुद्रीयानों आदि पर चक्रवातों का विपरीत प्रभाव पड़ता है। भू-स्खलन व बाढ़ से जन-जीवन को भारी नुकसान होता है।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
एक प्रयोग द्वारा दर्शाओ कि जब वस्तुएँ परस्पर रगड़ी जाती हैं तो उन पर विजातीय आवेश उत्पन्न होते हैं।
उत्तर-
प्रयोग – एक प्लास्टिक का पैमाना लें। इसके एक सिरे को ऊनी कपडे से रगड़ें। अब इस पैमाने को दसरे पैमाने से रगड़ें। इन दोनों पैमानों को अलग-अलग कागज़ के छोटे-छोटे टुकड़ों के पास लाएं। आप देखेंगे कि दोनों पैमाने कागज़ के टुकड़ों को आकर्षित करते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ 2

इससे ज्ञात होता है कि दोनों पैमाने आवेशित हैं। अब एक पैमाने को स्टैंड से लटकाएँ और दूसरे पैमाने को उसके पास लेकर जाएँ दोनों में आकर्षण होगा क्योंकि आकर्षण केवल विजातीय आवेशों में होता है। इस प्रयोग से यह सिद्ध हुआ कि दो वस्तुओं को परस्पर में रगड़ने से उन दोनों में विजातीय आवेश उत्पन्न होते हैं।

प्रश्न 2.
तड़ित (Lightning) क्या है ?
उत्तर-
तड़ित – वायु में विद्युत् विसर्जन द्वारा तड़ित उत्पन्न होती है। जब बादलों में आवेशों की संघनता एक निश्चित सीमा से अधिक हो जाती है तब विद्युत् विसर्जन होता है। इन परिस्थितियों में, बादलों के ऊपरी किनारों के निकट धनावेश एकत्र हो जाते हैं तथा ऋणावेश बादलों के निचले किनारे पर संचित हो जाते हैं। धरती के निकट भी आवेशों का संचय होता है। जब आवेशों का परिमाण अधिक हो जाता है तो वायु की विद्युत्हीन चालकता भी आवेशों के प्रवाह को नहीं रोक पाती। ऋणात्मक और धनात्मक आवेशों के उस रास्ते से तीव्र गति में प्रवाहित होने से वायु कण गर्म होकर चमकीली धारियाँ और ध्वनि उत्पन्न करते हैं, जिसे तड़ित कहते हैं।

प्रश्न 3.
तड़ित से बचने के क्या उपाय हैं ?
उत्तर-
तड़ित से बचने के उपाय-

  1. तड़ित के समय, वृक्षों के नीचे नहीं खड़े होना चाहिए। वर्षा के दिन, तड़ित झंझा की अधिक संभावना होती है। इसलिए वृक्ष के नीचे नहीं खड़ा होना चाहिए।
  2. भवनों और मकानों को नष्ट होने से बचाने के लिए तड़ित चालक का उपयोग करना चाहिए।
  3. टी० वी० के स्विच को सोकट में से निकाल देना चाहिए।

प्रश्न 4.
तड़ित चालक की संरचना और कार्यविधियों की चर्चा कीजिए।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ 3
तड़ित चालक – यह एक नुकीली धातु की छड़ है जो भवनों के एक सिरे में जुड़ी होती है। इस छड़ के निचले सिरे को धरती के भीतर दबा दिया जाता है।

कार्यविधि – एक तड़ित चालक दो तरीकों से तड़ित से सुरक्षा करता है-

  • तड़ित झंझा के समय, एक आवेशित बादल जब तड़ित चालक के ऊपर से गुज़रता है तो इसके नुकीले सिरे पर विपरीत आवेश उत्पन्न करता है। यह सिरा नुकीला होने के कारण आवेश संचित नहीं कर पाता और वायुमंडल में समान प्रकृति के आवेश को विसर्जित करता है। यह आवेश बादलों के आवेशों को उदासीन करते हैं जिससे तड़ित की संभावना कम हो जाती है।
  • यदि विद्युत् विसर्जन होता है तो तड़ित चालक द्वारा यह विसर्जन आसानी से पृथ्वी में चला जाता है और भवन को कोई क्षति नहीं पहुँचती।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ

प्रश्न 5.
भूकंप के कारण और प्रभाव क्या हैं ? इससे बचने के उपाय लिखो।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ 4
भूकंप – पृथ्वी की सतहों में उत्पन्न तरंगें भूकंप हैं। यह अचानक ही उत्पन्न होती हैं।
भूकंप का कारण – पृथ्वी की परत सात खंडों से बनी है जिन्हें प्लेट कहते हैं। यह प्लेटें बहुत धीमी गति करती हैं। परंतु जब इस गति में वृद्धि होती है तो पृथ्वी पर हलचल (विक्षोभ) होती है। इस विक्षोभ से भवन, पुल तथा सड़कें आदि टूट जाते हैं।

भूकंप के प्रभाव-
सुनामी – यह एक समुद्री लहर सुनामी के कारण आता है।

  1. कई भवनों का गिरना।
  2. मूल वस्तुओं की आपूर्ति में रुकावट।
  3. स्वास्थ्य समस्याएँ उत्पन्न हो जाती हैं।

भूकंप से बचने के उपाय-

  1. भूकंप संभावित क्षेत्रों में मकान इमारती लकड़ी के बनाए जाने चाहिएँ न कि भारी पदार्थों मिट्टी, पत्थर व ईंटों आदि से।
  2. अलमारियाँ इत्यादि दीवार जड़ित होनी चाहिएँ ताकि वे भूकंप के समय आसानी से न गिरें।
  3. दीवार घड़ी, फोटो, फ्रेम, जल तापक (गीजर) आदि को दीवारों पर सावधानीपूर्वक लटकाओं ताकि भूकंप के समय ये वस्तुएँ न गिरें।
  4. भवनों में भूकंप के कारण आग लग सकती है अतः इन भवनों में अग्निशमन के उपकरण स्थापित किए जाने चाहिएं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

PSEB 8th Class Science Guide विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-
(a) विद्युत् चालन करने वाले अधिकांश द्रव ……………….., ………………… तथा ………………. के विलयन होते हैं।
(b) किसी विलयन से विद्युत् धारा प्रवाहित होने पर …………………… प्रभाव उत्पन्न होता है।
(c) यदि कॉपर सल्फेट विलयन से विद्युत् धारा प्रवाहित की जाए तो कॉपर बैटरी के ………………………….. टर्मिनल से संयोजित प्लेट पर निक्षेपित होता है।
(d) विद्युत् धारा द्वारा किसी पदार्थ पर वांछित धातु की परत निक्षेपित करने की प्रक्रिया को ………………… कहते हैं।
उत्तर-
(a) अम्ल, क्षार, लवण
(b) रासायनिक
(c) -ve (ऋण)
(d) विद्युत् लेपन।

प्रश्न 2.
जब किसी संपरीक्षित्र के स्वतंत्र सिरों को किसी विलयन में डुबोते हैं तो चुंबकीय सुई विक्षेपित होती है। क्या आप ऐसा होने के कारण की व्याख्या कर सकते हैं ?
उत्तर-
विलयन में विद्युत् धारा के प्रवाहित होने से चुंबकीय सुई विक्षेपित होती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

प्रश्न 3.
ऐसे तीन द्रवों के नाम लिखिए जिनका परीक्षण चित्र में दर्शाए अनुसार करने पर चुंबकीय सुई विक्षेपित हो सके।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 1
उत्तर-
अम्ल, क्षार और लवण के विलयन।

प्रश्न 4.
चित्र में दर्शायी गई व्यवस्था में बल्ब नहीं जलता। क्या आप संभावित कारणों की सूची बना सकते हैं ? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 2
उत्तर-
चित्र में दर्शाई गई व्यवस्था में बल्ब प्रदीप्त नहीं होता है परंतु इसका अर्थ यह नहीं कि द्रव में से धारा प्रवाहित नहीं हो रही। हो सकता है कि द्रव इतना दुर्बल हो कि बल्ब को प्रदीप्त करने में समर्थ न हो। इसलिए विश्वसनीय जाँच के लिए, LED का उपयोग किया जा सकता है, जो बहुत ही दुर्बल विद्युत् धारा से भी प्रदीप्त हो उठता है।

प्रश्न 5.
दो द्रवों A तथा B के विद्युत् चालन की जाँच करने के लिए एक संपरीक्षित्र का प्रयोग किया गया। यह देखा गया कि संपरीक्षित का बल्ब द्रव A के लिए चमकीला दीप्त हुआ जबकि द्रव B के लिए अत्यंत धीमा दीप्त हुआ। आप निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि :
(i) द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है।
(ii) द्रव B, द्रव A से अच्छा चालक है।
(iii) दोनों द्रवों की चालकता समान है।
(iv) द्रवों की चालकता के गुणों की तुलना इस प्रकार नहीं की जा सकती।
उत्तर-
(i) द्रव A, द्रव B से अच्छा चालक है।

प्रश्न 6.
क्या शुद्ध जल विद्युत् का चालन करता है ? यदि नहीं, तो इसे चालन बनाने के लिए हम क्या कर सकते हैं ?
उत्तर-
शुद्ध जल विद्युत् का चालन नहीं करता। इसको चालक बनाने के लिए इसमें कुछ बूंदें तनु सल्फ्यूरिक अम्ल की डालनी चाहिए।

प्रश्न 7.
आग लगने के समय, फायरमैन पानी के हौज़ (पाइपों) का उपयोग करने से पहले उस क्षेत्र की मुख्य विद्युत् आपूर्ति को बन्द कर देते हैं। व्याख्या कीजिए कि वे ऐसा क्यों करते हैं ?
उत्तर-
शुद्ध जल विद्युत्हीन चालक है, परंतु नल का जल विद्युत् का अच्छा चालक है। विद्युत् के झटके से बचने के लिए फायरमैन पानी के हौज (पाइपों) का उपयोग करने से पहले मुख्य विद्युत् आपूर्ति को बंद कर देते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

प्रश्न 8.
तटीय क्षेत्र में रहने वाला एक बालक अपने संपरीक्षित से पीने के पानी तथा समुद्र के पानी का परीक्षण करता है। वह देखता है कि समुद्र के पानी के लिए चुंबकीय सुई अधिक विक्षेप दर्शाती है। क्या आप इसके कारण की व्याख्या कर सकते हैं ? ।
उत्तर-
समुद्र के पानी में लवणों की सघनता अधिक होती है। इसी कारण चुंबकीय सुई अधिक विक्षेपित होती है।

प्रश्न 9.
क्या तेज़ वर्षा के समय किसी लाइनमैन के लिए बाहरी मुख्य लाइन के विद्युत् तारों की मरम्मत .. करना सुरक्षित होता है ? व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
नहीं, लाइनमैन के लिए वर्षा के समय, बाहरी मुख्य लाइन के विद्युत् तारों की मरम्मत करना सुरक्षित नहीं है क्योंकि वर्षा का जल विद्युत् का चालक है, जिससे लाइनमैन को विद्युत् झटका लग सकता है।

प्रश्न 10.
पहेली ने सुना था कि वर्षा का जल उतना ही शुद्ध है जितना कि आसुत जल। इसलिए उसने एक स्वच्छ काँच के बर्तन में कुछ वर्षा का जल एकत्रित करके संपरीक्षित्र से उसका परीक्षण किया। उसे यह देखकर आश्चर्य हुआ कि चुंबकीय सुई विक्षेप दर्शाती है। इसका क्या कारण हो सकता है ?
उत्तर-
निसंदेह वर्षा का जल आसुत जल की तरह ही शुद्ध होता है, परंतु वातावरण अशुद्धियों से भरा पड़ा है। ये अशुद्धियाँ वर्षा के जल में घुल कर इसे विद्युत् चालक बना देती हैं।

प्रश्न 11.
अपने आस-पास उपलब्ध विद्युत्लेपित वस्तुओं की सूची बनाइए।
उत्तर-
विद्युत् लेपित वस्तुएँ-

  1. साइकिल का हैंडल
  2. कार के पहिए
  3. कृत्रिम गहने
  4. स्नानगृह के नल
  5. गैस चुल्हे के बर्नर।

प्रश्न 12.
जो प्रक्रिया आपने पाठ्य-पुस्तक के क्रियाकलाप 14.7 में देखी वह कॉपर के शोधन में उपयोग होती है। एक पतली शुद्ध कॉपर छड़ एवं एक अशुद्ध कॉपर की छड़ इलेक्ट्रोड के रूप में उपयोग की जाती है। कौन-सा इलेक्ट्रोड बैटरी के धन टर्मिनल से संयोजित किया जाए ? कारण भी लिखिए।
उत्तर-
जब कॉपर सल्फेट विलयन में विद्युत् धारा प्रवाहित की जाती है, तो कॉपर सल्फेट, कॉपर और सल्फेट में नियोजित होता है। कॉपर ऋण टर्मिनल पर जुड़े अशुद्ध कॉपर इलेक्ट्रोड पर निक्षेपित हो जाता है जबकि धन टर्मिनल पर जुड़ा शुद्ध कॉपर इलेक्ट्रोड विलयन में कॉपर की आपूर्ति करता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

PSEB Solutions for Class 8 Science विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
क्या मानव शरीर विद्युत् चालक है या विद्युत् प्रतिरोधक ?
उत्तर-
विद्युत् चालक।

प्रश्न 2.
विद्युत चालक (Conductors) क्या है ?
उत्तर-
विद्युत् चालक – पदार्थ जो अपने में से विद्युत् धारा प्रवाहित होने देते हैं, विद्युत् चालक कहलाते हैं। उदाहरण-चाँदी, ताँबा, एल्यूमीनियम, लोहा, मानव शरीर आदि।

प्रश्न 3.
विद्युतरोधक (Insulators) क्या है ?
उत्तर-
विद्युतरोधक-वे पदार्थ जो अपने से विद्युत् धारा प्रवाहित नहीं होने देते, विद्युत्रोधक कहलाते हैं। उदाहरण-लकड़ी, रबड़, रेशम तथा प्लास्टिक आदि।

प्रश्न 4.
क्या सभी द्रव विद्युत् प्रवाहित होने देते हैं ?
उत्तर-
नहीं।

प्रश्न 5.
एल० ई० डी० (LED) क्या है ?
उत्तर-
एल० ई० डी०-प्रकाश उत्सर्जक डायोड।

प्रश्न 6.
उस प्रक्रम का नाम बताओ जिसमें कोई भी रासायनिक पदार्थ विद्युत् धारा के प्रवाह से अपघटित हो जाता है ?
उत्तर-
विद्युत् अपघटन (Electrolysis)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

प्रश्न 7.
अम्लयुक्त जल के विद्युत् अपघटन से क्या उत्पाद मिलते हैं ?
उत्तर-
हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन।

प्रश्न 8.
विद्युत् लेपन में विद्युत् धारा का कौन-सा प्रभाव उपयोग में आता है ?
उत्तर-
रासायनिक प्रभाव।

प्रश्न 9.
विद्युत् धारा का कौन-सा प्रभाव बल्ब जलाने में सहायक होता है ?
उत्तर-
ऊष्मीय प्रभाव।

प्रश्न 10.
दुर्बल और थोड़ी विद्युत् धारा का परीक्षण कैसे होता है ?
उत्तर-
एल० ई० डी० के उपयोग से।

प्रश्न 11.
विद्युत् धारा के विभिन्न प्रभावों के नाम लिखो।
उत्तर-
ऊष्मीय प्रभाव, रासायनिक तथा चुंबकीय प्रभाव।

प्रश्न 12.
क्या वायु विद्युत्रोधक है ?
उत्तर-
हाँ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

प्रश्न 13.
कुछ द्रवों के नाम बताइए जो विद्युत् चालक हैं ?
उत्तर-
नींबू का रस, चूने का पानी, सिरका, नल का जल।

प्रश्न 14.
क्या विद्युत् चालकों को विद्युत्हीन चालकों में, विशेष परिस्थितियों में वर्गीकृत कर सकते
उत्तर-
हाँ।

प्रश्न 15.
कौन-से द्रव विद्युत् चालन कर सकते हैं ?
उत्तर-
म्ल, क्षार और लवण के विलयन।

प्रश्न 16.
इलेक्ट्रोड (Electrodes) क्या है ?
उत्तर-
इलेक्ट्रोड – बैटरी से जोड़ने के लिए विद्युत् चालक द्रव में उपयुक्त की जाने वाली धातु की छड़ें, इलेक्ट्रोड कहलाती हैं।

प्रश्न 17.
किस प्रक्रम द्वारा सस्ती धातु को सोने अथवा महँगी धातु से ढका जाता है ?
उत्तर-
विद्युत् लेपन।

प्रश्न 18.
क्या विद्युत् लेपन लाभकारी प्रक्रम है ?
उत्तर-
हाँ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
वायु विद्युत् की अच्छी चालक नहीं है। प्रयोग द्वारा दर्शाइए।
उत्तर-
वायु विद्युत्हीन चालक – एक बल्ब लेकर एक सैल और स्विच से इसे जोड़ो। जब स्विच में पिन का उपयोग होता है तो बल्ब प्रकाशमान हो जाता है। परंतु पिन को हटाने से स्विच के बीच वायु होती है और विद्युत् धारा नहीं बहती। इससे सिद्ध होता है कि वायु विद्युत् की अच्छी चालक नहीं है।

प्रश्न 2.
विद्युत् अपघटन (Electrolysis) क्या है ?
उत्तर-
विद्युत् अपघटन – विद्युत् के प्रवाह से रासायनिक यौगिकों के विलयन का अपघटित होना, विद्युत् अपघटन कहलाता है। जब अम्लीय जल में से विद्युत् धारा प्रवाहित होती है तो यह अपने संघटक-हाइड्रोजन और ऑक्सीजन में टूट जाता है। हाइड्रोजन कैथोड पर और ऑक्सीजन एनोड पर एकत्रित होती है।

प्रश्न 3.
विद्युत् लेपन (Electroplating) क्या है ?
उत्तर-
विद्युत् लेपन – विद्युत् अपघटन के प्रक्रम द्वारा किसी सस्ती धातु पर मूल्यवान धातु (जैसे जस्त, चाँदी और सोने) की पतली परत चढ़ा कर संक्षरण से बचाया जा सकता है। इस प्रक्रम को विद्युत् लेपन कहते हैं।

प्रश्न 4.
LED पर एक संक्षिप्त नोट लिखो।
उत्तर-
एल० ई० डी० (LED) – यह प्रकाश उत्सर्जक डायोड है। यह अति दुर्बल विद्युत् धारा से भी दीप्त हो उठता है।

इसमें एक बल्ब और दो तारें होती हैं। तारों को लीड्स कहते हैं। एक तार दूसरे की अपेक्षा थोड़ी लंबी होती है। लंबी तार, बैटरी के धन (+ve) टर्मिनल से तथा छोटी तार बैटरी के ऋण (-ve) टर्मिनल से जोडते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 3

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
क्या जल विद्युत् का अच्छा चालक है ? क्या होता है जब जल में साधारण नमक मिलाया जाता है ?
उत्तर-
प्रयोग – शुद्ध अथवा आसुत जल विद्युत् के रोधक हैं। दो कार्बन की छड़ें आसुत जल में डुबोएँ और उन्हें बल्ब, 6V बैटरी और स्विच से जोड़ें, बल्ब दीप्त नहीं होगा। इसका निष्कर्ष है कि आसुत जल विद्युत्हीन चालक है।

अब आसुत जल के स्थान पर साधारण नमक का विलयन उपयोग में लाएँ। स्विच दबाते ही बल्ब दीप्त हो जाएगा। इससे सिद्ध होता है कि आसुत जल विद्युत्रोधक है, परंतु अशुद्ध जल विशेष तौर पर साधारण नमक मिश्रित जल विद्युत् का अच्छा चालक है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 4

प्रश्न 2.
विद्युत् लेपन क्या है ? इसके उपयोग लिखिए।
उत्तर-
विद्युत् लेपन – इस प्रक्रिया में सस्ती धातु पर महँगी धातु की पतली परत, विद्युत् धारा के प्रवाह से रोपित की जाती है। जब विद्युत् धारा रासायनिक यौगिक अथवा द्रव में से प्रवाहित होती है तो यह अपने संघटकों से टूट जाता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 5

धन-आयन, ऋण इलेक्ट्रोड की तरफ और ऋण-आयन-धन इलेक्ट्रोड की ओर आकर्षित होते हैं। इस प्रक्रिया का उपयोग घटिया वस्तुओं पर धातुओं की पतली परत विलोपित करने के लिए किया जाता है।

विद्युत् लेपन के उपयोग

  1. लोहे को संक्षरण से बचाने के लिए निकिल अथवा क्रोमियम से विलोपित किया जाता है।
  2. कृत्रिम आभूषण, जो सस्ती धातुओं से बनते हैं, उन्हें आकर्षित बनाने के लिए सोने अथवा चाँदी से विलोपित करते हैं।
  3. साइकिल के हैंडल, पहिए के रिम, कारों के भाग क्रोमियम से विलोपित होते हैं ताकि वे चमकदार तथा आकर्षक बन सकें।
  4. लोहे पर टीन की पतली परत विलोपित करने से टीन के डिब्बे तैयार किये जाते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव

प्रश्न 3.
एक चम्मच कॉपर से कैसे विलोपित किया जा सकता है ?
उत्तर-
प्रयोग – एक चम्मच लो जिसका कॉपर से विद्युत् लेपन करना है। एक कॉपर प्लेट लो और उसे एनोड इलेक्ट्रोड की जगह बैटरी के धन (+ve) टर्मिनल से जोड़ो। चम्मच को ऋण (-ve) टर्मिनल से जोड़ो। एक रियोस्टेट (Rheostat), स्विच और एममीटर (Ammetre) को भी धारा में जोड़ो जैसा कि चित्र में दर्शाया गया है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 6

काँच के जार में कॉपर सल्फेट (CuSO4) का विलयन लो। रियोस्टेट (Rheostat) को इस तरह स्थापित करो कि विलयन में से उचित धारा का प्रवाह हो। (प्रायः 1A धारा 100 cm2 क्षेत्रफल के लिए पर्याप्त होती है अर्थात् यदि चम्मच का क्षेत्रफल दोनों तरफ से 60 cm2 है तो 0.6 A धारा का प्रवाह होना अनिवार्य है।) अब विद्युत् धारा का प्रवाह 5-10 मिनट तक होने दें ताकि चम्मच पर चमकता हुआ कॉपर विलोपित हो जाए।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 13 ध्वनि Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 13 ध्वनि

PSEB 8th Class Science Guide ध्वनि Textbook Questions and Answers

अभ्यास
प्रश्न 1.
सही उत्तर चुनिए-
ध्वनि संचरित हो सकती है :
(क) केवल वायु या गैसों में
(ख) केवल ठोसों में
(ग) केवल द्रवों में
(घ) ठोसों, द्रवों तथा गैसों में।
उत्तर-
(घ) ठोसों, द्रवों तथा गैसों में।

प्रश्न 2.
निम्न में से किस वाक् ध्वनि की आवृत्ति न्यूनतम होने की संभावना है-
(क) छोटी लड़की की
(ख) छोटे लड़के की
(ग) पुरुष की
(घ) महिला की।
उत्तर-
(ग) पुरुष की।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित कथनों में सही कथन के सामने ‘T’ तथा गलत कथन के सामने ‘F’ पर निशान लगाइए-

(क) ध्वनि निर्वात में संचरित नहीं हो सकती।
[T/F]
उत्तर-
True

(ख) किसी कंपित वस्तु के प्रति सेकंड होने वाली दोलनों की संख्या को इसका आवर्तकाल कहते हैं। [T/F]
उत्तर-
False

(ग) यदि कंपन का आयाम अधिक है, तो ध्वनि मंद होती है। [T/F]
उत्तर-
False

(घ) मानव कानों के लिए श्रव्यता का परास 20 Hz से 20,000 Hz है। [T/F]
उत्तर-
True

(ङ) कंपन की आवृत्ति जितनी कम होगी, तारत्व उतना ही अधिक होगा। [T/F]
उत्तर-
False

(च) अवांछित या अप्रिय ध्वनि को संगीत कहते हैं। [T/F]
उत्तर-
False

(छ) शोर प्रदूषण आंशिक श्रवण अशक्कता उत्पन्न कर सकता है। [T/F]
उत्तर-
True

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 4.
उचित शब्दों द्वारा रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) किसी वस्तु द्वारा एक दोलन को पूरा करने में लिए गए समय को ………………………. कहते हैं।
उत्तर-
आवर्तकाल

(ख) प्रबलता कंपन के ……………………… से निर्धारित की जाती है।
उत्तर-
आयाम

(ग) आवृत्ति का मात्रक ………………………. है।
उत्तर-
हर्ट्ज

(घ) अवांछित ध्वनि को ………………………… कहते हैं।
उत्तर-
शोर

(ङ) ध्वनि की तीक्ष्णता कंपनों की ………………………. से निर्धारित होती है।
उत्तर-
आवृत्ति।

प्रश्न 5.
एक दोलक 4 सेकंड में 40 बार दोलन करता है। इसका आवर्तकाल और आवृत्ति ज्ञात कीजिए।
हल-
दोलनों की संख्या = 40
दोलनों के लिए लगा कुल समय = 4 सेकंड
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि 1
समय (सेकंड में)
\(\frac{40}{4}\) = 10 Hz.
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि 2
\(\frac{1}{10}\) = 0.1 सेकंड उत्तर

प्रश्न 6.
एक मच्छर अपने पंखों को 500 कंपन प्रति सेकंड की औसत दर से कंपित करके ध्वनि उत्पन्न करता है। कंपन का आवर्तकाल कितना है ?
हल-
आवृत्ति = 500 कंपन प्रति सेंकड = 500 Hz
आवर्तकाल = ?
हम जानते हैं. आवर्तकाल = PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि 3
= \(\frac{1}{500}=\frac{2 \times 1}{2 \times 500}\)
= 2 × 10-3 सेकंड उत्तर

प्रश्न 7.
निम्न वाद्ययंत्रों में उस भाग को पहचानिए जो ध्वनि उत्पन्न करने के लिए कंपित होता है-
(क) ढोलक
(ख) सितार
(ग) बाँसुरी।
उत्तर-

वाद्ययंत्र कंपित भाग
(क) ढोलक तानित झिल्ली
(ख) सितार तानित तार
(ग) बाँसुरी वायु-स्तंभ

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 8.
शोर तथा संगीत में क्या अंतर है ? क्या कभी संगीत शोर बन सकता है ?
उत्तर-
शोर और संगीत में अंतर-

शोर संगीत
(i) यह अप्रिय ध्वनि है। (i) यह प्रिय ध्वनि है।
(ii) यह कष्टदायक है। (ii) यह सुखद है।
(iii) इससे स्वास्थ्य समस्याएँ उत्पन्न होती हैं। (iii) स्वास्थ्य समस्याओं से इसका कोई संबंध नहीं।

हाँ. संगीत उस अवस्था में शोर बनता है, जब यह बहत ऊँचा होता है अर्थात् इसकी तीव्रता अधिक होती है।

प्रश्न 9.
अपने वातावरण में शोर प्रदूषण के स्रोतों की सूची बनाइए।
उत्तर-
शोर प्रदूषण के स्त्रोत-

  1. वाहनों का शोर
  2. लाऊडस्पीकर
  3. चलित मशीनें
  4. पटाखे
  5. वातानुकूलक
  6. रेडियो अथवा टेलीविज़न
  7. रसोई के उपकरण
  8. खोमचे वाले।

प्रश्न 10.
वर्णन कीजिए कि शोर प्रदूषण मानव के लिए किस प्रकार से हानिकारक है ?
उत्तर-
शोर प्रदूषण के हानिकारक प्रभाव

  1. नींद कम आना
  2. उच्च रक्त-चाप
  3. उत्सुकता
  4. आंशिक श्रवण अशक्तता (Partial deafness)।

प्रश्न 11.
आपके माता-पिता एक मकान खरीदना चाहते हैं। उन्हें एक मकान सड़क के किनारे पर तथा दूसरा सड़क से तीन गली छोड़कर देने का प्रस्ताव किया गया है। आप अपने माता-पिता को कौन-सा मकान खरीदने का सुझाव देंगे ? अपने उत्तर की व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
माता-पिता को सड़क से तीन गली दूर वाला मकान खरीदना चाहिए क्योंकि सड़क वाले मकान की कई हानियाँ हैं। जैसे –

  1. मकान के पास से गुज़रते हुए वाहनों का अत्यधिक शोर
  2. वाहनों से निकला धुआँ और धूल
  3. ट्रैफिक बाधा के समय ऊँचे हॉर्मों का शोर ।

प्रश्न 12.
मानव वाक्यंत्र का चित्र बनाइए तथा इसके कार्य की अपने शब्दों में व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
वाक्यंत्र की कार्य-विधि – जब वायु वाक् तंतुओं में से गुज़रती है, तो कंपन होता है, जिससे ध्वनि उत्पन्न होती है। वाक् तंतु ढीले, मोटे, तने हुए, पतले होने पर विभिन्न गुणों वाली वाक् ध्वनि उत्पन्न करते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि 4

प्रश्न 13.
आकाश में तड़ित तथा मेघगर्जन की घटना एक समय पर तथा हमसे समान दूरी पर घटित होती है। हमें तड़ित पहले दिखाई देती है तथा मेघगर्जन बाद में सुनाई देता है। क्या आप इसकी व्याख्या कर सकते हैं ?
उत्तर-
प्रकाश का वेग 3 × 108 m/s है, जबकि ध्वनि का वेग 340 m/s है। इसलिए तड़ित तथा मेघगर्जन की घटना एक ही समय तथा एक समान दूरी पर होने पर भी तड़ित प्रकाश से पहले दिखाई देगी और मेघगर्जन बाद में सुनाई देगी।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

PSEB Solutions for Class 8 Science ध्वनि Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
ध्वनि क्या है ?
उत्तर-
ध्वनि – यह एक प्रकार की ऊर्जा का रूप है, जो सुनने की क्षमता प्रदान करती है।

प्रश्न 2.
ध्वनि कैसे उत्पन्न होती है ?
उत्तर-
कंपित वस्तुओं द्वारा ध्वनि उत्पन्न होती है।

प्रश्न 3.
क्या ध्वनि निर्वात में संचरित होगी ?
उत्तर-
नहीं, इसे संचारित होने के लिए माध्यम चाहिए।

प्रश्न 4.
क्या ध्वनि गैसों में संचरित होती है ?
उत्तर-
हाँ।

प्रश्न 5.
क्या ध्वनि द्रवों में संचरित होती है ?
उत्तर-
हाँ।

प्रश्न 6.
क्या ध्वनि ठोसों में संचरित होती है ?
उत्तर-
हाँ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 7.
ध्वनि की तीव्रता किन कारकों पर निर्भर करती है ?
उत्तर-
ध्वनि की तीव्रता कंपित वस्तु के आयाम पर निर्भर करती है।

प्रश्न 8.
यदि एक वस्तु एक सेकंड में 10 दोलन करती है तो उसकी आवृत्ति क्या है ?
उत्तर-
10 Hz.

प्रश्न 9.
ध्वनि लकड़ी या जल किस में तेज़ चलती है ?
उत्तर-
ठोसों में ध्वनि द्रवों की अपेक्षा तेज़ चलती है। इसलिए लकड़ी में ध्वनि अधिक तेज़ चलती है।

प्रश्न 10.
ध्वनि उत्पन्न होती है, जब वस्तुएँ ………………………. करती हैं।
उत्तर-
ध्वनि उत्पन्न होती है, जब वस्तुएँ कंपन करती हैं।

प्रश्न 11.
एक सेकंड में दोलनों की संख्या ………………… कहलाती है।
उत्तर-
एक सेकंड में दोलनों की संख्या आवृत्ति कहलाती है।

प्रश्न 12.
हमारे कर्ण ध्वनि की उस आवृत्ति को ग्रहण करते हैं जो …………………… से अधिक और ……………………. से कम होती है।
उत्तर-
हमारे कर्ण ध्वनि की उस आवृत्ति को ग्रहण करते हैं, जो 20 Hz से अधिक और 20,000 Hz से कम होती है।

प्रश्न 13.
मनुष्य शरीर के उस भाग का नाम बताओ, जिसमें ध्वनि उत्पन्न होती है ?
उत्तर-
वाक्यंत्र अथवा कंठ (Larynx)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 14.
ध्वनि का कौन-सा गुण विभिन्न ध्वनियों को पहचानने में सहायक हैं?
उत्तर-
ध्वनि के गुण जो विभिन्न ध्वनियों को पहचानने में सहायक हैं-तारत्व और तीक्ष्णता।

प्रश्न 15.
मानव कानों के लिए श्रव्य की आवृत्ति का परास क्या है ?
उत्तर-
20 Hz से 20,000 Hz तक।

प्रश्न 16.
तारत्व को परिभाषित करें।
उत्तर-
तारत्व – कंपन की आवृत्ति ध्वनि के तारत्व का माप है।

प्रश्न 17.
किसकी आवृत्ति अधिक होगी ? भिनभिनाते मच्छर की अथवा गरजते शेर की।
उत्तर-
भिनभिनाते मच्छर की ध्वनि की आवृत्ति शेर के गरजने की आवृत्ति से अधिक होगी।

प्रश्न 18.
निम्न आवृत्तियों को बढ़ते क्रम में लिखिए।
(i) बच्चे की ध्वनि
(ii) मानव नर की ध्वनि
(iii) औरत की ध्वनि।
उत्तर-
मानव नर की ध्वनि < औरत की ध्वनि < बच्चे की ध्वनि।

प्रश्न 19.
हम आवाज़ कैसे सुन पाते हैं ?
उत्तर-
जब ध्वनि की तरंगें हमारे कानों को छूती हैं, तो यह कर्ण पट्ट (Ear drum) से टकराती हैं, जहाँ कंपन उत्पन्न होता है। ये कंपन छोटी हड्डियों द्वारा मस्तिष्क तक भेज दिए जाते हैं और हम सुन पाते हैं।

प्रश्न 20.
पुरुषों में वाक् तंतुओं की लंबाई कितनी होती है ?
उत्तर-
लगभग 20 mm.

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 21.
अप्रिय ध्वनि को ………………………. कहते हैं ?
उत्तर-
शोर।

प्रश्न 22.
वाद्ययंत्रों द्वारा कैसी ध्वनि उत्पन्न होती है ?
उत्तर-
संगीतमयी (मधुर)।

प्रश्न 23.
ध्वनि की प्रबलता का मात्रक क्या है ?
उत्तर-
डेसीबल (dB)।

प्रश्न 24.
किसी एक वाद्य यंत्र का नाम लिखें जो मधुर ध्वनि उत्पन्न करता है ?
उत्तर-
हारमोनियम/गिटार/पिआनो।

प्रश्न 25.
श्रवण अश्क्तता किसे कहते हैं ?
उत्तर-
ध्वनियों का न सुन पाना श्रवण अशक्तता है।

प्रश्न 26.
श्रवण अशक्तता के कारण क्या हैं ?
उत्तर-
श्रवण रोग, चोट, आयु और ऊँचा शोर।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 27.
शोर के उदाहरण दो।
उत्तर-

  1. फैक्टरी में मशीनों की ध्वनियाँ
  2. ऊँची आवाज़ में लाऊडस्पीकर ।

प्रश्न 28.
किस मात्रक पर ध्वनि हानिकारक हो जाती है ?
उत्तर-
80 dB से अधिक।

प्रश्न 29.
शोर प्रदूषण का मुख्य कारण क्या है ?
उत्तर-
वाहन।

प्रश्न 30.
कौन-से प्राकृतिक सजीव शोर प्रदूषण कम करने में महत्त्वपूर्ण हैं ?
उत्तर-
पेड़-पौधे।

प्रश्न 31.
शोर प्रदूषण (Noise-pollution) क्या है ?
उत्तर-
वातावरण में अत्यधिक व अवांछित ध्वनियाँ, शोर प्रदूषण कहलाती हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
आयाम, आवर्तकाल और आवृत्ति को परिभाषित कीजिए।
उत्तर-
आयाम – कंपित वस्तु द्वारा माध्य स्थिति से अधिकतम तय की दूरी, आयाम कहलाती है।
आवर्तकाल – एक दोलन को पूरा करने में लगा समय, वस्तु का आवर्तकाल कहलाता है।
आवृत्ति – प्रति सेकंड होने वाली दोलनों की संख्या को दोलन की आवृत्ति कहते हैं। आवृत्ति का मात्रक हर्ज़ (Hz.) है।

प्रश्न 2.
चाँद पर एक यात्री दूसरे यात्री से बात करता है। क्या दूसरा यात्री पहले यात्री की बात सुन सकता
उत्तर-
चाँद पर कोई वातावरण नहीं है। इसलिए यात्री एक-दूसरे की बातचीत नहीं सुन सकते क्योंकि ध्वनि के संचारण के लिए माध्यम की आवश्यकता होती है।

प्रश्न 3.
मच्छरों द्वारा उत्पन्न की ध्वनि शेर की दहाड़ से भिन्न क्यों होती है ?
उत्तर-
ध्वनि की प्रबलता वस्तु के आयाम पर निर्भर करती है। मच्छरों में ध्वनि पंखों की फरफराहट से उत्पन्न होती है। जबकि शेर की दहाड़ गले में उपस्थित वाक्-तंतुओं से उत्पन्न होती है। मच्छरों में ध्वनि का आयाम कम होता है। इसलिए दोनों ध्वनियों का तारत्व और गुण भिन्न होते हैं जिससे दोनों ध्वनियाँ भिन्न और पहचानने योग्य होती हैं।

प्रश्न 4.
एक प्रयोग द्वारा दर्शाओ कि ध्वनियाँ ठोसों में संचारित होती हैं।
उत्तर-
प्रयोग – दो माचिस की डिब्बियों को धागे के दोनों सिरों पर बाँधे। अपने मित्र को एक माचिस की डिब्बी
कान के पास रखने के लिए कहें (आग्रह करें)। फिर धागे को तानित कर दूसरी डिब्बी में आवाज़ पैदा करें। आपका मित्र यह आवाज़ आसानी से सुन लेगा। इससे यह प्रमाणित होता है ध्वनि ठोसों में संचारित होती है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि 5

प्रश्न 5.
मनुष्य ध्वनि कैसे उत्पन्न करता है ?
उत्तर-
मनुष्य ध्वनि की उत्पत्ति – मानव ध्वनि कंपनों का परिणाम है। यह वाक्यंत्र (Harynx) में उत्पन्न होती है। वाक्यंत्र की पेशियाँ वाक्तंतुओं को तानित करती हैं। फेफड़ों से वायु जब इन तंतुओं में में गुज ली है. तो कंपन पैदा होता है। यह कंपन ध्वनि पैदा करती हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 6.
पराश्रव्य ध्वनि क्या है ?
उत्तर-
पराश्रव्य ध्वनि (Ultrasound) – हमारे कान 20 हर्ट्ज से कम और 20.(04)() हर्ज़ से अधिक आवृत्ति वाली ध्वनि नहीं सुन सकते। 20,000 हर्ज़ से अधिक आवृत्ति वाली ध्वनि पराश्रव्य ध्वनि कहलाती है। इस ध्वनि को उत्पन्न करने वाला यंत्र पराश्रव्य CT है।

प्रश्न 7.
पराश्रव्य ध्वनि के उपयोग क्या हैं ?
उत्तर-
पराश्रव्य ध्वनि के उपयोग-

  1. कुत्ते पराश्रव्य ध्वनि को सुन सकते हैं। इसलिए कुत्तों को बुलाने के लिए लोग इस ध्वनि का उपयोग करते हैं।
  2. चिकित्सा विज्ञान में पराश्रव्य द्वारा मानव शरीर के आंतरिक अंगों की तस्वीरें बनाई जाती हैं।

प्रश्न 8.
एक बच्चा सीढ़ियों के सामने ताली बजाता है और मीठी ध्वनि सुनता है। वर्णन करें।
उत्तर-
सीढ़ियों के हर स्टिप (step) की दूरी बच्चे से बढ़ती जाती है। जब बच्चा नाला बनाता है, तो ध्यान प्रत्येक कदम पर एक जैसे और एक समय पर नहीं टकराती। यह छोटे. नियमित अंतगला पर टकाना है और लंट कर वापस आती है। यह ध्वनि कानों को मधुर प्रतीत होती है, क्योंकि यह नियमित रूप में की है।

प्रश्न 9.
एक प्रयोग द्वारा सिद्ध कीजिए कि ध्वनि वायु की अपेक्षा त्रों में अधिक तेज़ी से संचरित होती
उत्तर-
ध्वनि द्रवों में गैसों की अपेक्षा तीव्र गति से संचरित होती है। इसको हम निम्नलिखित प्रयोग द्वारा सिद्ध कर सकते हैं।
प्रयोग – एक लंबा गुब्बारा लो और इसे पानी से भरी। इस कान के पास रखा और दूसरे सिरे पर अंगुली से खरोंचो। एक ध्वनि उत्पन्न होगी। अब यही क्रिया वायु से भरे गुब्बारे से करो। दोनों ध्वनियों की तुलना से सुनिश्चित होता है कि ध्वनि द्रवों में अधिक तीव्र गति से संचारित होती है।

प्रश्न 10.
शोर क्या है ? इसका मात्रक क्या है ?
उत्तर-
शोर-अप्रिय ध्वनि जो मधुर और धीमी नहीं होती, शोर कहलाती है जैसे- मशीनों, वाहनों, पटाखों आदि की ध्वनि।
ध्वनि का मात्रक डेसीबल (dB) है। शोर का परास 80 dB-120 dB हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 11.
शोर और संगीत में एक अंतर लिखिए।
उत्तर-
शोर ऐसी ध्वनि है जो कानों के लिए अप्रिय है, जबकि संगीत एक मधुर ध्वनि है, जो कानों के लिए प्रिय है।

प्रश्न 12.
श्रवण क्षतिग्रस्त बच्चे आपस में बातचीत कैसे करते हैं ?
उत्तर-
श्रवण क्षतिग्रस्त बच्चे इंगित भाषा (संकेत भाषा) और औद्योगिक युक्तियों के प्रयोग द्वारा आपस में बातचीत करते हैं।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
एक प्रयोग द्वारा दर्शाओ कि ध्वनि को सुनने के लिए माध्यम की आवश्यकता होती है।
उत्तर-
ध्वनि को सुनने के लिए माध्यम की आवश्यकता – कंपित वस्तु से ध्वनि कानों तक वायु (माध्यम) के अणुओं के कंपन द्वारा पहुँचती है। यदि कान और कंपित वस्तु के बीच कोई माध्यम नहीं होगा, तो ध्वनि सुनाई नहीं देगी। इसका अध्ययन अग्र वर्णित क्रिया द्वारा किया जा सकता है-

क्रिया-कलाप – एक लकड़ी की छड़ लो और उसका एक सिरा कान के पास रखो। किसी मित्र से दूसरे सिरे को खरोंचने के लिए कहो। आप खरोंचने की ध्वनि आसानी से सुन सकते हैं।

इसी तरह पानी से भरे गुब्बारे और वायु से भरे गुब्बारे द्वारा ध्वनि को सुनो। आप पाओगे कि तीनों अवस्थाओं में ध्वनि सुनाई देती है परंतु वायु में इसकी प्रबलता कम होती है।
इससे सिद्ध हुआ कि ध्वनि सुनने के लिए माध्यम की आवश्यकता होती है।

प्रश्न 2.
शोर प्रदूषण क्या है ? इसके कारण और प्रभाव क्या हैं ?
उत्तर-
शोर प्रदूषण – अवांछित ध्वनि, जो कानों के लिए प्रिय और मधुर नहीं, शोर कहलाती है। वातावरण में पाई जाने वाली अत्यधिक ऊँची ध्वनि शोर प्रदूषण करती है।
शोर प्रदूषण के कारण-

  1. फैक्टरियों में मशीनों द्वारा उत्पन्न ध्वनि
  2. लाऊडस्पीकर
  3. जेनरेटर
  4. रेलवे स्टेशन
  5. हवाई अड्डे
  6. संगीत कार्यक्रम
  7. पटाखे।

शोर प्रदूषण के प्रभाव-

  1. बहरापन (श्रवण अशक्तता)
  2. हृदय गति को तीव्र करना
  3. पुतली को प्रभावित करती है जिसके परिणामस्वरूप रात को दिखाई देना बंद हो जाता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 13 ध्वनि

प्रश्न 3.
संगीत क्या है ? वाद्य यंत्रों में उपयोग होने वाली विभिन्न कंपित वस्तुओं के नाम लिखो।
उत्तर-
संगीत (Music) – ध्वनि को विभिन्न आवृत्ति के अनुसार स्वरों में डालने से मधुर ध्वनि पैदा करना, संगीत कहलाता है। वादय यंत्रों में डोरी, झिल्ली, वायु स्तंभ आदि का उपयोग होता है। अत: वादय यंत्रों के तीन वर्ग हैं-

  1. तंतु वाद्य : उदाहरण-वायलिन, सितार आदि।
  2. सुशीर वाद्य : उदाहरण-बाँसुरी, शहनाई आदि।
  3. अवाद्य वाद्य : उदाहरण-तबला, मृदंगम आदि।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 12 घर्षण Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 12 घर्षण

PSEB 8th Class Science Guide घर्षण Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) घर्षण एक-दूसरे के संपर्क में रखी दो वस्तुओं के पृष्ठों के बीच …………………….. का विरोध करता है।
उत्तर-
गति

(ख) घर्षण पृष्ठों के ………………….. पर निर्भर करता है।
उत्तर-
चिकनेपन

(ग) घर्षण से ……………………. उत्पन्न होती है।
उत्तर-
ऊष्मा

(घ) कैरम बोर्ड पर पाऊडर छिड़कने से घर्षण ……………………….. हो जाता है।
उत्तर-
कम

(ङ) सर्पा घर्षण स्थैतिक घर्षण से ………………………….. होता है।
उत्तर-
कम।

प्रश्न 2.
चार बच्चों को लोटनिक, स्थैतिक तथा सी घर्षण के कारण बलों को घटते क्रम में व्यवस्थित करने लिए कहा गया। उनकी व्यवस्था नीचे दी गयी है। सही व्यवस्था का चयन कीजिए-
(क) लोटनिक, स्थैतिक, सपी
(ख) लोटनिक, सी, स्थैतिक
(ग) स्थैतिक, सी, लोटनिक
(घ) सी, स्थैतिक, लोटनिक।
उत्तर-
(ग) स्थैतिक, सी, लोटनिक।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण

प्रश्न 3.
आलिदा अपनी खिलौना कार को संगमरमर के सूखे फर्श, संगमरमर के गीले फर्श, फर्श पर बिछे समाचार-पत्र तथा तौलिए पर चलाती है। कार पर विभिन्न पृष्ठों द्वारा लगे घर्षण बल का बढ़ता क्रम होगा-
(क) संगमरमर का गीला फर्श, संगमरमर का सूखा फर्श, समाचार-पत्र, तौलिया
(ख) समाचार-पत्र, तौलिया, संगमरमर का सूखा फर्श, संगमरमर का गीला फर्श
(ग) तौलिया, समाचार-पत्र, संगमरमर का सूखा फर्श, संगमरमर का गीला फर्श
(घ) संगमरमर का गीला फर्श, संगमरमर का सूखा फर्श, तौलिया, समाचार-पत्र।
उत्तर-
(क) संगमरमर का गीला फर्श, संगमरमर का सूखा फर्श, समाचार-पत्र, तौलिया।

प्रश्न 4.
मान लीजिए आप अपने डेस्क को थोड़ा झुकाते हैं। उस पर रखी कोई पुस्तक नीचे की ओर सरकना आरंभ कर देती है। इस पर लगे घर्षण बल की दिशा दर्शाइए।
उत्तर-
घर्षण बल ऊपर की दिशा में लगता है।

प्रश्न 5.
मान लीजिए दुर्घटनावश साबुन के पानी से भरी बाल्टी संगमरमर के किसी फर्श पर उलट जाए। इस गीले फर्श पर आपके लिए चलना आसान होगा या कठिन। अपने उत्तर का कारण बताइए।
उत्तर-
हम जानते हैं कि चलने में सुगमता के लिए एक सीमा तक घर्षण होना वांछनीय है। साबुन का पानी गिरने से गीले हुए फर्श पर चलना कठिन हो जाता है क्योंकि इस अवस्था में चिकने साबुन के पानी की पतली परत बन जाती है। इस प्रकार अनियमितताओं का अंत: बंधन काफ़ी सीमा तक कम हो जाता है जिससे चलने में कठिनाई अनुभव होती है।

प्रश्न 6.
खिलाड़ी कीलदार जूते ( स्पाइक्स ) क्यों पहनते हैं ? व्याख्या कीजिए।
उत्तर-
कीलदार जूतों की फर्श पर पकड़ मजबूत होती है और वे फिसलने से बचाते हैं। इसलिए खिलाड़ी कीलदार जूते पहनते हैं।

प्रश्न 7.
इकबाल को हलकी पेटिका धकेलनी है तथा सीमा को उसी फर्श पर भारी पेटिका धकेलनी है ? कौन अधिक घर्षण बल अनुभव करेगा और क्यों ?
उत्तर-
हम जानते हैं कि दाब बढ़ने से घर्षण बल भी बढ़ जाता है। सीमा अधिक घर्षण बल को अनुभव करेगी क्योंकि भारी पेटिका, हल्की पेटिका से अधिक दाब डालती है।

प्रश्न 8.
व्याख्या कीजिए, सी घर्षण, स्थैतिक घर्षण से कम क्यों होता है ?
उत्तर-
जब वस्तु विराम अवस्था में होती है, तो वस्तु और धरती की सतह के बीच उन दोनों के पृष्ठों की अनियमितताओं के कारण घर्षण अधिक होगा।

परंतु जब वस्तु गति की स्थिति में होती है, तो अनियमितताओं को एक-दूसरे में धंसने का अधिक अवसर नहीं मिलता, जिससे घर्षण कम होती है। इसलिए सी घर्षण, स्थैतिक घर्षण से कम होता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण

प्रश्न 9.
वर्णन कीजिए, घर्षण किस प्रकर शत्रु एवं मित्र दोनों हैं ?
उत्तर-
घर्षण एक अनिवार्य हानिकारक बल है क्योंकि यह शत्रु भी है और मित्र भी है। यह एक मित्र है, क्योंकि यह सहायता करता है-

  1. चलने में
  2. मोटर और मशीन चलाने में
  3. ब्रेक लगाने में।

यह एक शत्रु है, क्योंकि-

  1. यह टूट-फूट का उत्तरदायी है।
  2. ऊष्मा के रूप में ऊर्जा व्यय होती है।
  3. मशीन की कार्यक्षमता कम करता है।
  4. मशीनों के पुों को स्नेहक लगाने से काफी मात्रा में धन व्यय होता है।

प्रश्न 10.
वर्णन कीजिए, तरल में गति करने वाली वस्तुओं की आकृति विशेष प्रकार की क्यों बनाते हैं ?
उत्तर-
तरल में गति कर रही वस्तु को उस पर लगे घर्षण बल को पार करने में ऊर्जा की क्षति होती है। इस ऊर्जा की क्षति को रोकने और सुगम गति के लिए मछली अथवा पक्षी, जैसी विशेष आकृतियों वाली वस्तुएँ बनाई जाती हैं।

PSEB Solutions for Class 8 Science घर्षण Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
घर्षण बल किस दिशा में कार्यरत होता है ?
उत्तर-
घर्षण बल वस्तु पर लग रहे बल की दिशा से विपरीत दिशा में कार्यरत होता है।

प्रश्न 2.
साइकिल की ब्रेक लगाते हुए उसे सड़क पर चलाना मुश्किल है। क्यों ?
उत्तर-
सपी घर्षण, लोटनिक घर्षण से अधिक होता है।

प्रश्न 3.
लुढ़कता हुआ गेंद कुछ समय बाद रुक क्यों जाता है ?
उत्तर-
गेंद और धरती की सतहों के मध्य घर्षण बल के कारण गेंद रुक जाता है क्योंकि यह बल गति का प्रतिरोध करता है।

प्रश्न 4.
घर्षण क्या है ?
उत्तर-
घर्षण – यह एक प्रतिरोध है, जो एक वस्तु की गति के सापेक्ष दूसरी वस्तु की गति को कम करता है।

प्रश्न 5.
टायर वृत्तीय क्यों बनाए जाते हैं ?
उत्तर-
लोटनिक घर्षण सी घर्षण से कम होता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण

प्रश्न 6.
घर्षण स्व:अनुकूलित होता है। क्या यह सत्य है ?
उत्तर-
जब तक वस्तु गति करती है, घर्षण बल स्वयं को इस प्रकार अनुकूलित करता है ताकि यह लगाए गए बल के समान और उल्ट दिशा में हो।

प्रश्न 7.
कौन-सी अधिक चिकनी है-गीली मिट्टी अथवा सीमेंट फर्श।
उत्तर-
गीली मिट्टी।

प्रश्न 8.
कमानीदार तुला (Spring Balance) किस काम आती है ?
उत्तर-
कमानीदार तुला – यह एक ऐसा यंत्र है, जिस से वस्तु पर लगे गुरुत्वीय बल को मापा जाता है।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
टाँगा चलाते समय अधिक बल क्यों चाहिए ?
उत्तर-
शुरू में घोड़े को टाँगा के घर्षण बल पर काबू पाने के लिए और उसको संवेग देने के लिए (गतिज ऊर्जा की वृद्धि) अधिक बल लगाना पड़ता है। इसके बाद केवल घर्षण बल पर काबू पाने के लिए बल लगाना पड़ता है।

प्रश्न 2.
घर्षण बल के कुछ उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
दैनिक जीवन में घर्षण बल के निम्नलिखित उदाहरण हैं-

  1. एक बड़े कमरे के चिकने फर्श पर गेंद ज्यादा दूरी तक लुढ़कती है जबकि खुरदरे फर्श पर कम दूरी तय करती है।
  2. कमरे की पॉलिश की गई टाइलों पर चलने वाला व्यक्ति डरता है विशेषकर जब टाइलें गीली हों।
  3. यदि कैरम बोर्ड पृष्ठ पर बोरिक पाऊडर छिड़का जाता है तो गोटियाँ आराम से और अधिक दूरी तक सरकती हैं।
  4. वाहन चालक द्वारा ब्रेक लगाने से वाहन रुक जाता है।

प्रश्न 3.
घर्षण ऊष्मा पैदा करता है। कैसे ?
उत्तर-
घर्षण से ऊष्मा उत्पन्न होती है। इसे निम्न उदाहरणों द्वारा दर्शाया जा सकता है-

  1. हाथों को परस्पर रगड़ने से हाथ गर्म हो जाते हैं।
  2. माचिस की तीली रगड़ने से आग उत्पन्न होती है।
  3. मिक्सर का ज़ार, कुछ देर चलने के बाद गर्म हो जाता है।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
घर्षण को परिभाषित करें। घर्षण का कारण क्या है ? कौन-से कारक घर्षण के लिए उत्तरदायी हैं ? वर्णन करें कि घर्षण हानिकारक है, परंतु अनिवार्य भी है ?
उत्तर-
घर्षण – वह प्रतिरोधी बल जो किसी वस्तु के किसी सतह पर चलने के समय लगता है, घर्षण बल कहलाता है।

जब एक वस्तु पर धीरे से धक्का लगाया जाए, तो वह नहीं हिलती। इसका अर्थ हुआ कि जिस सतह पर वस्तु रखी गई है, वह लगाए गए बल के उल्ट दिशा में प्रतिरोध बल लगाती रही है। यह प्रतिरोधक बल घर्षण बल है।

घर्षण के कारण – सभी सतहें अनियमित होती हैं अर्थात् उन पर गड्ढे होते हैं। जब एक सतह दूसरी सतह पर सरकती है, तो यह अनियमितताएँ एक-दूसरे में फँस जाती हैं और प्रतिरोध उत्पन्न करती हैं। यह घर्षण बल है। अत: घर्षण बल पृष्ठों के खुरदरेपन के कारण होता है।

घर्षण के उत्तरदायी कारक

  1. दो संपर्की सतहों/पृष्ठों की प्रकृति
  2. संपर्क क्षेत्र
  3. बल जिससे दोनों पृष्ठों को दबाया जाता है।
    घर्षण हानिकारक है, परंतु अनिवार्य भी है।

घर्षण के लाभ – यह हमारे दैनिक जीवन में महत्त्वपूर्ण है।

  1. टहलने, दौड़ने, पर्वतों और पेड़ों पर चढ़ने के लिए घर्षण का उपयोग होता है। सीढ़ियाँ बनाई जाती हैं ताकि फिसलने से बचा जाए।
  2. गतिशील वाहन केवल ब्रेक लगाकर रोके जा सकते हैं। कीचड़ में घर्षण न होने के कारण, वाहन को कीचड़ में चलाना अति मुश्किल है। टायरों पर खांचे बनाए जाते हैं ताकि फिसलन न हो सके।
  3. घर्षण के बिना गाँट नहीं बाँधी जा सकती, लकड़ी में कील नहीं लगाया जा सकता, इमारतें नीचे गिर पड़तीं, खाद्य पदार्थ न तो हाथों में पकड़े जाते और न ही दाँतों द्वारा चबाए जाते, कपड़े सिले नहीं जा सकते और पेन से लिखना असंभव होता है।

घर्षण की हानियाँ-

  1. यह टूट-फूट का कारण है।
  2. घर्षण सं ऊर्जा की क्षति होती है और मशीनों की कार्यक्षमता में कमी आती है।
  3. घर्षण से उत्पन्न ऊष्मा मशीनों को नष्ट करती है।
    यह सब दर्शाता है कि घर्षण हानिकारक है, परंतु अनिवार्य भी है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण

प्रश्न 2.
घर्षण (Limiting Friction) तथा सी घर्षण (Sliding Friction) क्या है ?
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 12 घर्षण 1
उत्तर-
जब किसी वस्तु पर कोई बल नहीं लग रहा होता तो उस समय इस पर कोई घर्षण बल भी नहीं लगता और वस्तु आराम की स्थिति में रहती है। जैसे-जैसे लगाया गया बल बढ़ता है, वैसे ही घर्षण बल उसी परिमाण से स्थिति तक बढ़ता है। O से L तक, वस्तु आराम की स्थिति में रहती है, इसे स्थैतिक घर्षण कहते हैं। यदि बल को थोड़ा-सा L से बढ़ा देते हैं, तो वस्तु दूसरी वस्तु पर सरकना आरंभ कर देती है। यह अत्यधिक बल जो उत्पन्न होता है उसे (Limiting friction) कहते हैं। . के आगे, घर्षण बल थोड़ा कम हो जाता है और वस्तु सरलता से सरकती है। इस घर्षण बल को सी या गतिज बल कहते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 11 बल तथा दाब Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 11 बल तथा दाब

PSEB 8th Class Science Guide बल तथा दाब Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
धक्के या खिंचाव के द्वारा वस्तुओं की गति की अवस्था में परिवर्तन के दो-दो उदाहरण दीजिए।
उत्तर-

  1. क्रिकेट मैच में क्षेत्र रक्षक गेंद को धक्का लगाकर रोकता है।
  2. चलती हुई गाड़ी को रोकने के लिए ब्रेक लगाई जाती है।

प्रश्न 2.
ऐसे दो उदाहरण दीजिए जिनमें लगाए गए बल द्वारा वस्तु की आकृति में परिवर्तन हो जाए।
उत्तर-

  1. मेज़ पर पड़े गेंद को दबाने से।
  2. साइकिल की सीट पर लगा स्प्रिंग, सवारी के भार से नीचे चला जाता है।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित कथनों में रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-
(क) कुएँ से पानी निकालते समय हमें रस्सी को …………………… पड़ता है।
(ख) एक आवेशित वस्तु अनावेशित वस्तु को ……………………… करती है।
(ग) सामान से लदी ट्रॉली को चलाने के लिए हमें उसको ………………….. पड़ता है।
(घ) किसी चुंबक का उत्तरी ध्रुव दूसरे चुंबक के उत्तरी ध्रुव को ………………………. करता है।
उत्तर-
(क) खींचना
(ख) आकर्षित
(ग) धकेलना
(घ) प्रतिकर्षित।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 4.
एक धनुर्धर लक्ष्य पर निशाना साधते हुए अपने धनुष को खींचती है। जब वह तीर को छोड़ती है जो लक्ष्य की ओर बढ़ने लगता है। इस सूचना के आधार पर निम्नलिखित प्रकथनों में दिए गए शब्दों का उपयोग करके रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए।
पेशीय/संपर्क/असंपर्क/गुरुत्व/घर्षण/आकृति/आकर्षण
(क) धनुष को खींचने के लिए धनुर्धर एक बल लगाती है, जिसके कारण इसकी …………………. में परिवर्तन होता है।
(ख) धनुष को खींचने के लिए धनुर्धर द्वारा लगाया गया बल ……………………… बल का उदाहरण है।
(ग) तीर की गति की अवस्था में परिवर्तन के लिए उत्तरदायी बल का प्रकार ……………………….. बल का उदाहरण है।
(घ) जब तीर लक्ष्य की ओर गति करता है तो इस पर लगने वाले बल ………………………. तथा वायु के ……………………… के कारण होते हैं।
उत्तर-
(क) आकृति
(ख) पेशीय
(ग) पेशीय
(घ) गुरुत्व, घर्षण।

प्रश्न 5.
निम्न स्थितियों में बल लगाने वाले कारक तथा जिस वस्तु पर बल लग रहा है, उनको पहचानिए। प्रत्येक स्थिति में जिस रूप में बल का प्रभाव दिखाई दे रहा है, उसे भी बताइए।
(क) रस निकालने के लिए नींबू के टुकड़ों को अँगुलियों से दबाना।
(ख) दंत मंजन की ट्यूब से पेस्ट बाहर निकालना।
(ग) दीवार में लगे हुए हुक से लटकी कमानी के दूसरे सिरे पर लटका एक भार।
(घ) ऊँची कूद करते समय एक खिलाड़ी द्वारा एक निश्चित ऊँचाई की छड़ (बाधा) को पार करना।
उत्तर-

स्थिति बल का कारक बल प्रभावित वस्तु परिणाम
(क) अंगुलियाँ नींबू रस का स्त्राव
(ख) अंगुलियाँ दंत मंजन की ट्यूब पेस्ट का बाहर आना
(ग) लटकता भार कमानी कमानी का लंबा होना
(घ) टांग का पेशीय बल खिलाड़ी का शरीर ऊँची कूद

प्रश्न 6.
एक औज़ार बनाते समय कोई लोहार लोहे के गर्म टुकड़े को हथौड़े से पीटता है। पीटने के कारण लगने वाला बल लोहे के टुकड़े को किस प्रकार प्रभावित करता है ?
उत्तर-
पीटने के कारण लगने वाले बल से लोहे का टुकड़ा चपटा हो जाता है।

प्रश्न 7.
एक फुलाए हुए गुब्बारे को संश्लिष्ट कपड़े के टुकड़े से रगड़ कर एक दीवार पर दबाया गया। यह देखा गया कि गुब्बारा दीवार से चिपक जाता है। दीवार तथा गुब्बारे के बीच आकर्षण के लिए उत्तरदायी बल का नाम बताइए।
उत्तर-
स्थिर विदयुतीय बल।

प्रश्न 8.
आप अपने हाथ में पानी से भरी प्लास्टिक की बाल्टी लटकाए हुए हैं। बाल्टी पर लगने वाले बलों के नाम बताइए। विचार-विमर्श कीजिए की बाल्टी पर लगने वाले बलों द्वारा इसकी गति की अवस्था में परिवर्तन क्यों नहीं होता ?
उत्तर-
प्लास्टिक की बाल्टी पर लगे बल से :

  1. धरती का गुरुत्वाकर्षण बल (नीचे की ओर)
  2. बाजुओं का पेशीय बल (ऊपर की ओर)

दोनों बलों से बाल्टी की गति की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं आता, क्योंकि दोनों बल समान हैं और एक-दूसरे से विपरीत दिशा में कार्य करते हैं। अतः एक-दूसरे के प्रभाव को समाप्त कर देते हैं। बाल्टी के भार के कारण पेशियाँ खिंच जाती हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 9.
किसी उपग्रह को इसकी कक्षा में प्रमोचित करने के लिए किसी रॉकेट को ऊपर की ओर प्रक्षेपित किया गया। प्रमोचन मंच को छोड़ने के तुरंत बाद रॉकेट पर लगने वाले दो बलों के नाम बताइए।
उत्तर-
प्रमोचित रॉकेट पर लगने वाले बल से :

  1. धरती का गुरुत्वाकर्षण बल (नीचे की ओर)।
  2. ईंधनों के जलने से उत्सर्जित गैसों का निर्मोचित बल (ऊपर की ओर)।

प्रश्न 10.
जब किसी ड्रॉपर के चंचु ( नोज़ल) को पानी में रखकर इसके बल्ब को दबाते हैं तो ड्रॉपर की वायु बुलबुलों के रूप में बाहर निकलती हुई दिखलाई देती है। बल्ब पर से दाब हटा लेने पर ड्रॉपर में पानी भर जाता है। ड्रॉपर में पानी के चढ़ने का कारण है-
(क) पानी का दाब
(ख) पृथ्वी का गुरुत्व
(ग) रबड़ के बल्ब की आकृति
(घ) वायुमंडलीय दाब।
उत्तर-
(घ) वायुमंडलीय दाब।

PSEB Solutions for Class 8 Science बल तथा दाब Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
निम्न क्रियाएँ समान क्यों हैं ? ठोकर मारना, हिट करना, उठाना, खींचना।
उत्तर-
उपरोक्त सभी क्रियाओं में वस्तु की गति बदलने के लिए बल लगाया जाता है।

प्रश्न 2.
गति से संबंधित कार्यों को किन नामों से जाना जा सकता है ?
उत्तर-
खिंचाव अथवा धक्का।

प्रश्न 3.
बल क्या है ?
उत्तर-
बल – यह खिंचाव या धक्का है जो वस्तु की गति अथवा आकृति में परिवर्तन करता है या करने का प्रयत्न करता है।

प्रश्न 4.
दाब से क्या तात्पर्य है ?
उत्तर-
दाब – एकांक क्षेत्र पर लगाए गए बल को दाब कहते हैं।

प्रश्न 5.
एक उदाहरण द्वारा वर्णन करो कि बल वस्तु की गति बदल सकता है ?
उत्तर-
मान लो आप उत्तर से दक्षिण दिशा की ओर 10 m/s की चाल से साइकिल चला रहे हो। यदि आपका मित्र उसी दिशा में धक्का लगाता है, तो आपकी चाल बढ़ जाती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 6.
एक क्रिया द्वारा दर्शाओ कि बल वस्तु की आकृति बदल देता है ?
उत्तर-
रबड़ की गेंद को हथेलियों के मध्य दबाने से गेंद की आकृति गोल नहीं रहती और चपटी-गोल हो जाती है।

प्रश्न 7.
एक क्रिया द्वारा दर्शाओ कि बल वस्तु की गति और दिशा दोनों में परिवर्तन लाता है ?
उत्तर-
गेंदबाज द्वारा फेंका गया गेंद जब बल्ले से टकराता है, तो उसकी गति और दिशा दोनों में परिवर्तन आ जाता है।

प्रश्न 8.
एक क्रिया द्वारा दर्शाओ कि बल गति कर रही वस्तु की दिशा बदलता है।
उत्तर-
फुटबाल के खेल में, गतिशील गेंद को ठोकर मारकर उसकी गति की दिशा बदल सकते हैं।

प्रश्न 9.
जब बल को गति की दिशा में लगाया जाता है, तो क्या होता है ?
उत्तर-
गति में वृद्धि होती है।

प्रश्न 10.
क्या होता है जब समान परिणाम वाला बल उल्ट दिशा में लगाया जाता है ?
उत्तर-
नेट बल शून्य होगा अर्थात् वस्तु किसी दिशा में गति नहीं करेगी।

प्रश्न 11.
संपर्क बल क्या है ?
उत्तर-
संपर्क बल – वह बल, जो दो वस्तुओं के परस्पर के संपर्क में आने से लगता है, संपर्क बल कहलाता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 12.
संपर्क बल का उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
पेशीय तथा घर्षण बल।

प्रश्न 13.
गुरुत्व बल किस प्रकार का बल है ?
उत्तर-
असंपर्क बल।

प्रश्न 14.
किसी एक असंपर्क बल का उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
चुंबकीय बल।

प्रश्न 15.
स्थिर विद्युतीय बल क्या है ?
उत्तर-
आवेशित वस्तुओं द्वारा लगाया गया बल।

प्रश्न 16.
दाब को किस प्रकार बढ़ाया या घटाया जा सकता है ?
उत्तर-
क्षेत्रफल में परिवर्तन करके।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 17.
दीवार की नींव चौड़ी क्यों रखी जाती है ?
उत्तर-
दीवार के आधार पर लग रहे दाब को कम करने के लिए।

प्रश्न 18.
बल, क्षेत्रफल और दाब में संबंध बताइए।
क्षेत्रफल
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब 1

प्रश्न 19.
काटने अथवा छेद करने के लिए कैसा औज़ार चाहिए ?
उत्तर-
तीखी धार वाला औजार ।

प्रश्न 20.
क्या द्रव और गैसें दाब डालते हैं ?
उत्तर-
हाँ।

प्रश्न 21.
ट्यूबें हवा भरने से फूल क्यों जाती हैं ?
उत्तर-
ट्यूब की दीवार पर हवा के दाब बढ़ने के कारण।

प्रश्न 22.
फव्वारा किस सिद्धांत पर कार्य करता है ?
उत्तर-
द्रव दाब डालते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 23.
पृथ्वी के इर्द-गिर्द वातावरण के आवरण को क्या कहते हैं ?
उत्तर-
वायुमंडल।

प्रश्न 24.
वायुमंडलीय दाब अधिक है या कम ?
उत्तर-
अधिक।

प्रश्न 25.
क्या कभी मानव या अन्य प्राणी वायुमंडलीय दाब से दब सकते हैं ?
उत्तर-
कभी नहीं।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
गति करती हुई गेंद को कैसे रोका जा सकता है ?
उत्तर-
गति की विपरीत दिशा में बल लगाकर गेंद को रोका जा सकता है।

प्रश्न 2.
क्या एक समतल सतह पर वस्तु की गति कम हो सकती है ? यदि हाँ तो क्यों ?
उत्तर-
एक गति करती वस्तु की गति समतल सतह पर कम हो सकती है क्योंकि इसकी समतल सतह के बीच घर्षण होता है। घर्षण उल्टी दिशा में बल लगाता है जिससे वस्तु की गति कम हो जाती है।

प्रश्न 3.
नेट बल शून्य कब होता है ? उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
जब किसी वस्तु पर दो बल एक-दूसरे की उल्टी दिशा में और समान परिमाण के लग रहे हों, तब नेट बल शून्य होता है। उदाहरण-रस्सा-कशी का खेल।

प्रश्न 4.
बल एक सदिश राशि है ? कैसे ?
उत्तर-
सदिश राशि में परिमाण और दिशा दोनों होते हैं। बल को परिभाषित करने के लिए भी दोनों परिमाण और दिशा का ज्ञान होना आवश्यक है। अतः बल एक सदिश राशि है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 5.
बल की विभिन्न किस्मों के नाम लिखिए।
उत्तर-
बल की विभिन्न किस्में-

  1. पेशीय बल
  2. चुंबकीय बल
  3. स्थिर विद्युतीय बल
  4. गुरुत्व बल
  5. घर्षण बल।

प्रश्न 6.
बल के दो प्रभाव लिखिए।
उत्तर-
बल के प्रभाव-

  1. बल गति की स्थिति में परिवर्तन लाता है।
  2. बल आकृति में परिवर्तन लाता है।

प्रश्न 7.
वस्तु की गति की स्थिति से क्या अभिप्राय है ?
उत्तर-
वस्तु की चाल और दिशा वस्तु की गति की स्थिति कहलाती है। . विराम की स्थिति में चाल शून्य होती है। चाल और दिशा में परिवर्तन से वस्तु की गति की स्थिति में परिवर्तन आता है।

प्रश्न 8.
क्या बल से केवल दिशा में परिवर्तन हो सकता है, गति में नहीं ? यदि हाँ, तो कैसे ?
उत्तर-
बिना गति में परिवर्तन हुए बल द्वारा वस्तु की दिशा में परिवर्तन किया जा सकता है। इसके लिए निम्न प्रयोग है-
प्रयोग – एक छोटा पत्थर लें। इसे धागे से बांधे। धागे को हाथ से घुमाएँ। पत्थर वृतीय पथ में एक समान गति से घूमता है। जब घुमाना बंद कर छोड़ दिया जाता है, तो पत्थर सरल रेखा में जाता है। इससे प्रमाणित होता है कि बल से दिशा में परिवर्तन हुआ है परंतु, गति में नहीं।

प्रश्न 9.
पेशीय बल के कुछ उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
टहलना, साँस लेना, दौड़ना, उठाना, बर्फ पर चलना, प्रहार करना आदि कुछ उदाहरण हैं जिनमें पेशीय बल की आवश्यकता होती है।

प्रश्न 10.
संपर्क बल की एक उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
कैरम बोर्ड के खेल में जब एक गोटी से दूसरी गोटी टकराती है, तो विराम अवस्था वाली गोटी गति में आ जाती है। यह संपर्क बल का उदाहरण है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 11.
गुरुत्व बल को असंपर्क बल क्यों कहते हैं ? व्याख्या करें।
उत्तर-
गुरुत्व बल धरती पर या धरती की सतह से ऊपर पड़ी वस्तुओं पर लगता है। यह दूरस्थ वस्तुओं पर भी लगता है। उदाहरणार्थ पेड़ों से पत्ते गिरते हैं, नदियों में पानी नीचे की ओर बहता है, चंद्रमा धरती के चारों तरफ घूमता है। इन सभी उदाहरण में वस्तु धरती के संपर्क में नहीं है। इसलिए, इसे असंपर्क बल कहते हैं।

प्रश्न 12.
दाब की परिभाषा दीजिए। इसका मात्रक क्या है ?
उत्तर-
दाब- प्रति एकांक क्षेत्रफल पर लगने वाले बल को दाव कहते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब 2
दाव का मात्रक पासकल अथवा Nm-2 है।

प्रश्न 13.
फल को काटने के लिए तेज़ धार वाला चाकू क्यों चाहिए ?
उत्तर-
तेज़ धार वाला चाकू फल पर अधिक दाब डालता है जो फल को आसानी से काट देता है।

प्रश्न 14.
पानी से भरी बोतल में दाब सबसे अधिक और सबसे कम कहाँ होगा ?
उत्तर-
पानी से भरी बोतल में दाब बोतल के निचले तल पर सबसे अधिक होगा और ऊपरी सतह पर सबसे कम होगा।

प्रश्न 15.
हवा भरने से गुब्बारा क्यों फैल जाता है ? उत्तर-गुब्बारे में हवा भरने से, हवा गुब्बारे की भीतरी दीवारों पर दाब डालती है। यह दाब गुब्बारे को फैलाता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 16.
प्रयोग द्वारा सिद्ध करो कि दाब गहराई के साथ बढ़ता है।
उत्तर-
द्रव का दाब उसकी गहराई पर निर्भर करता है। इसे निम्न प्रयोग द्वारा सिद्ध कर सकते हैं-
प्रयोग – एक लंबा बर्तन लीजिए, जिसमें कम-से-कम तीन छिद्र हों (जैसे चित्र में दर्शाया गया है) अब इसे पानी से भरिए। तीनों छिद्रों में से पानी की धारा बाहर निकलती है। परंतु सबसे नीचे वाली धारा सबसे दूर जाकर गिरती है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब 3
यह बात प्रमाणित होती है कि दाब गहराई के साथ बढ़ता है।

प्रश्न 17.
वायुमंडलीय दाब क्या है ?
उत्तर-
वायुमंडलीय दाब – धरती के चारों तरफ वायु का आवरण है। वायु का स्तंभ, द्रव स्तंभ की तरह ही दाब डालता है। वायु के इस दाब को वायुमंडलीय दाब कहते हैं।

प्रश्न 18.
वायुमंडलीय दाब अधिक है, परंतु इस दाब से हम पिचकते क्यों नहीं ?
उत्तर-
हमारा शरीर और अन्य जंतुओं का शरीर कोशिकाओं से बना है जिनमें द्रव है, जो अंदर से बाहर की ओर दाब डालता है। शरीर के अंदर का दाब, वायुमंडलीय दाब के बराबर होता है। इसलिए हम पिचकने से बच जाते हैं।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
बल कितनी प्रकार का होता है ? प्रत्येक का एक उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
बल के प्रकार-

  1. पेशीय बल
  2. चुंबकीय बल
  3. स्थिर विद्युतीय बल
  4. गुरुत्व बल
  5. घर्षण बल।

1. पेशीय बल – सजीवों द्वारा अपनी पेशियों का बल उपयोग में लाना, पेशीय बल कहलाता है। जैसे-बैलों द्वारा पेशीय बल से गाड़ी खींचना।

2. चुंबकीय बल – चुंबक का गुण है कि वह कोबाल्ट, निक्कल, लोहे अथवा स्टील से बनी वस्तुओं को आकर्षित करता है। चुंबकीय पदार्थ पर लगने वाला बल चुंबकीय बल कहलाता है। जैसे चुंबक से लोहे की कीलें आकर्षित होती हैं।

3. स्थिर विद्युतीय बल (Electric Static Force) – जब प्लास्टिक और टैरीलीन जैसे पदार्थ परस्पर रगड़े जाते हैं तो उनमें विद्युत् उत्पन्न होती है। इस विद्युत् कारण उत्पन्न बल, स्थिर विद्युतीय बल कहलाता है। जैसे-जब शीशे की छड़ को रेशम के कपड़े से रगड़ा जाता है, तो शीशे की छड़, कागज़ के टुकड़ों को अपनी ओर आकर्षित करती है। ऐसा स्थिर विद्युतीय बल के कारण होता है।

4. गुरुत्व बल – धरती की सतह के ऊपर और निकट पाई जाने वाली वस्तुओं पर धरती एक बल लगाती है, जिसे गुरुत्व बल कहते हैं। ऊँचाई से छोड़ी गई कोई भी वस्तु, धरती पर गुरुत्व बल के कारण गिरती है।

5. घर्षण बल – एक वस्तु का दूसरी वस्तु के ऊपर गति करने से, उन दोनों के बीच उत्पन्न बल को घर्षण बल कहते हैं। घर्षण बल, वस्तु की गति से उल्ट दिशा में होता है। जैसे काँच की गोली धरती पर कुछ समय लुढ़कने के बाद रुक जाती है। यह घर्षण बल के कारण होता है।

प्रश्न 2.
एक वस्तु पर बल लगने के परिणाम लिखिए।
उत्तर-
बल लगाने से वस्तु पर प्रभाव-

  1. गति में परिवर्तन-बल वस्तु की गति बदल सकता है।
  2. दिशा में परिवर्तन-बल से गति की दिशा में परिवर्तन होता है।
  3. गति और दिशा दोनों में परिवर्तन-बल वस्तु की गति और दिशा दोनों बदल सकता है।
  4. आकृति और आकार में परिवर्तन-बल से वस्तु की आकृति और आकार दोनों बदले जा सकते हैं।

प्रश्न 3.
बल की लाभ और हानियाँ लिखिए।
उत्तर-
बल के लाभ-

  1. यह एक स्थिर वस्तु को गति में ला सकता है। जैसे, एक खिलौने को बल लगाकर हिलाया जा सकता है।
  2. इससे गति कर रही वस्तु को धीमा किया जा सकता है। जैसे-बल लगाकर साइकिल की गति कम की जाती
  3. इससे गति की दिशा में परिवर्तन किया जा सकता है। जैसे-बल्लेबाज गेंद को हिट करके उसकी गति और दिशा में परिवर्तन लाता है।
  4. इससे वस्तु की आकृति बदली जा सकती है। जैसे- स्पंज को हथेली से दबाकर अर्थात् बल लगाकर उसकी आकृति बदली जा सकती है।

बल की हानियाँ-

  1. घर्षण बल से वाहनों के टायर और जूते टूट-फूट जाते हैं।
  2. घर्षण बल से ऊष्मा उत्पन्न होती है जो हानिकारक है। तेज़ गति से चलती मशीनों में यह ऊष्मा उनकी कार्यक्षमता को कम करती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब

प्रश्न 4.
एक प्रयोग द्वारा सिद्ध करो कि दाब समान गहराई पर एक समान होता है।
उत्तर-
प्रयोग- एक खाली टीन लो और उसमें एक समान गहराई पर तीन-चार छेद करो और उन्हें सैलोटेप से बंद कर दें। टीन को पानी से भर दो
और सभी सैलोटेप को हटा दो। पानी सभी छेदों से एक समान गति से बाहर निकलता है और समान दूरी पर पहुँचता है।
इस प्रयोग से सिद्ध होता है कि समान गहराई पर दाब एक समान होता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब 4

प्रश्न 5.
प्रयोग द्वारा वायुमंडलीय दाब की उपस्थिति दर्शाइए।
उत्तर-
प्रयोग – एक धातु का टीन लो। उसमें थोड़ा पानी डालें। ढक्कन उतार दें और टीन को गर्म करें। पानी उबलना शुरू कर देगा और भाप बाहर निकल जाएगी। भाप के साथ टीन में से वायु भी बाहर निकल जाएगी। अब ढक्कन को बंद कर दें और टीन पर ठंडा पानी डालें। पानी से टीन में बची भाप पानी बन जाएगी और टीन में निर्वात पैदा हो जाएगा जिसके फलस्वरूप वायुमंडलीय दाब भीतरी दाब से बढ़ जाएगा और टीन को पिचका देगा।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 11 बल तथा दाब 5

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

PSEB 8th Class Science Guide किशोरावस्था की ओर Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
शरीर में होने वाले परिवर्तनों के लिए उत्तरदायी अंतःस्रावी ग्रंथियों द्वारा स्त्रावित पदार्थ का क्या नाम है ?
उत्तर-
हार्मोन (Hormone) ।

प्रश्न 2.
किशोरावस्था को परिभाषित कीजिए।
उत्तर-
किशोरावस्था (Adolescence) – जीवनकाल की वह अवधि, जब जनन विकास के कारण शरीर में परिवर्तन होते हैं, किशोरावस्था कहलाती है। यह अवस्था 11 वर्ष की आयु से 18 या 19 वर्ष की आयु तक रहती है। किशोरावस्था को टीनेजर्स (Teenagers) भी कहते हैं। लड़कियों में यह अवस्था लड़कों की अपेक्षा एक या दो वर्ष पूर्व प्रारंभ हो जाती है। यह अवस्था की अवधि विभिन्न व्यक्तियों में भिन्न होती है।

प्रश्न 3.
ऋतुस्त्राव क्या है ? वर्णन कीजिए।
उत्तर-
ऋतुस्त्राव (Monstrual Cycle) – स्त्री में रजोधर्म चक्र अथवा ऋतुस्राव किशोरावस्था से प्रारंभ होता है, जो सामान्य रूप से प्रत्येक 28 दिनों के बाद स्त्री के सारे जनन जीवन (गर्भ धारण अवस्था छोड़कर) में नियमित चलता रहता है। इस चक्र की एक अवस्था में गर्भाशय से रुधिर प्रवाह होता है। इसको मासिक धर्म अथवा ऋतुस्त्राव कहते हैं। इस चक्र में लिंग हार्मोन गर्भाशय की दीवार को अंडे के चिपकने के लिए तैयार करते हैं। जब गर्भ धारण नहीं होता तो दीवार की तरह वह टूट जाती है और डिसचार्ज हो जाती है। यह ऋतु स्त्राव सामान्यतः 10 से 14 वर्ष की आयु में शुरू होता है और 45-50 वर्ष तक चलता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 4.
यौवनारंभ के समय होने वाले शारीरिक परिवर्तनों की सूची बनाइए।
उत्तर-
यौवनारंभ की अवधि 11 से 19 वर्ष के बीच की है। इस अवस्था में निम्न परिवर्तन आते हैं-
यौवनारंभ में लड़कों में परिवर्तन-

  1. अचानक लंबाई में वृद्धि होना। बाजू और टाँगों की अस्थियाँ लंबी हो जाती हैं और लड़का लंबा हो जाता है।
  2. कंधे और वक्ष दोनों ही चौड़े हो जाते हैं।
  3. शरीर की माँसपेशियाँ विकसित हो जाती हैं।
  4. आवाज़ भारी हो जाती है। ऐडम्स (Adams Apple) ऐपल, सुस्पष्ट उभरा भाग गले में दिखाई देता है। आवाज़ भर्राने लगती है।
  5. पसीना और स्वैद ग्रंथियों के स्त्राव में वृद्धि के कारण चेहरे पर कुंसियाँ और मुँहासे हो जाते हैं।
  6. नर जननांग जैसे शिश्न एवं वृषण पूर्णतः विकसित हो जाते हैं।
  7. लड़कों के सीने, बगल एवं जाँघ के ऊपरी भाग में बाल आ जाते हैं।

यौवनारंभ में लड़कियों में परिवर्तन-

  1. लंबाई में वृद्धि तुलनात्मक कम होती है।
  2. कमर के नीचे का भाग चौड़ा हो जाता है।
  3. लड़कियों का स्वरयंत्र नज़र नहीं आता। उनकी आवाज़ उच्च तारत्व वाली होती है।
  4. लड़कों की तरह, चेहरे पर मुँहासे हो जाते हैं।
  5. अंडाशय बड़े हो जाते हैं और अंडाणु विकसित होने लगते हैं।
  6. स्तन विकसित हो जाते हैं।
  7. बगल और जाँघों में बाल आ जाते हैं।

प्रश्न 5.
दो कॉलम वाली एक सारणी बनाइए जिसमें अंतःस्रावी ग्रंथियों के नाम तथा उनके द्वारा स्रावित हार्मोन के नाम दर्शाए गए हों।
उत्तर-अग्र सारणी में अंत:स्त्रावी ग्रंथियों के नाम और उनके हार्मोन दर्शाए गए हैं-

अंत:स्त्रावी ग्रंथि (Endocrine Glands) हार्मोन (Hormones)
(1) पीयूष (Pituitary gland) (1) वृद्धि हार्मोन (Growth Hormone)
(2) थायराइड (Thyroid) (2) थायराक्सिन हार्मोन (Thyroxin Hormone)
(3) एड्रीनल (Adrenal) (3) एड्रिनेलिन (Adrenal)
(4) अग्न्याशय (Pancreas) (4) इंसुलिन (Insulin)
(5) वृषण (Testis) (5) एंड्रोजन (टैस्टोस्टीरॉन) (Endrogen)
(6) अंडाशय (Ovaries) (6) एस्ट्रोजन (Estrogen)

प्रश्न 6.
लिंग हार्मोन क्या हैं ? उनका नामकरण इस प्रकार क्यों किया गया ? उनके प्रकार्य बताइए।
उत्तर-
लिंग हार्मोन – नर में वृषण द्वारा और मादा में अंडाशय द्वारा स्त्रावित हार्मोन, लिंग हार्मोन कहलाते हैं। इन्हें यह नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि यह नर और मादा लिंग में भिन्न-भिन्न होते हैं।

नर लिंग हार्मोन (टेस्टोस्टरॉन) वृषण द्वारा स्त्रावित होता है। इससे लड़के में चेहरे के बालों में वृद्धि होती है। यह शुक्राणु उत्पन्न करने की क्षमता उत्पन्न करता है।

मादा लिंग हार्मोन (एस्ट्रोजन) अंडाशय द्वारा स्त्रावित होते हैं। यह मादा में गौण जनन लक्षण जैसे स्तनों की वृद्धि आदि को नियंत्रित करते हैं। यह गर्भधारण में सहायक है।

प्रश्न 7.
सही विकल्प चुनिए-

(क) किशोरों को सचेत रहना चाहिए कि वे क्या खा रहे हैं, क्योंकि
(i) उचित भोजन से उनके मस्तिष्क का विकास होता है।
(ii) शरीर में तीव्र गति से होने वाली वृद्धि के उचित आहार की आवश्यकता होती है।
(iii) किशोर को हर समय भूख लगती रहती है।
(iv) किशोर में स्वाद कलिकाएँ (ग्रंथियाँ) भली-भाँति विकसित होती हैं।
उत्तर-
(ii) शरीर में तीव्र गति से होने वाली वृद्धि के लिए उचित आहार की आवश्यकता होती है।

(ख) स्त्रियों में जनन आयु (काल) का प्रारंभ उस समय होता है जब उनके :
(i) ऋतुस्त्राव प्रारंभ होता है।
(ii) स्तन विकसित होना प्रारंभ करते हैं।
(iii) शारीरिक भार में वृद्धि होने लगती है।
(iv) शरीर की लंबाई बढ़ती है।
उत्तर-
(i) ऋतुस्त्राव प्रांरभ होता है।

(ग) निम्न में से कौन-सा आहार किशोर के लिए सर्वोचित है ?
(i) चिप्स, नूडल्स, कोक
(ii) रोटी, दाल, सब्ज़ियाँ
(iii) चावल, नूडल्स, बर्गर
(iv) शाकाहारी टिक्की, चिप्स तथा लेमन पेय।
उत्तर-
(ii) रोटी, दाल, सब्जियाँ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 8.
निम्न पर टिप्पणी लिखिए-
(i) ऐडम्स ऐपॅल
(ii) गौण लैंगिक लक्षण
(ii) गर्भस्थ शिशु में लिंग निर्धारण।
उत्तर-
(i) ऐडम्स ऐप्पल (Adam’s Apple) – यौवनारंभ में लड़कों में स्वरयंत्र के बढ़ने से जो अंग गले में सुस्पष्ट उभरा हुआ नज़र आता है, इसे ऐडम्स ऐप्पल कहते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 1

(ii) गौण लैंगिक लक्षण (Secondary Sexual Characters) – वृषण और अंडाशय जननांग हैं। वे युग्मक उत्पन्न करते हैं जैसे शुक्राणु और अंडाणु/लड़कियों में स्तनों का विकास होता है और लड़कों में चेहरे पर दाड़ी, मूंछ आने लगती है। यह लक्षण लड़की और लड़के को भिन्न करने में मदद करते हैं। इसलिए इन्हें गौण लैंगिक लक्षण कहते हैं। लड़कों के सीने पर बाल आ जाते हैं। दोनों, लड़कों और लड़कियों के बगल और जांघों के ऊपरी भाग अथवा प्यूबिक क्षेत्र में बाल आ जाते हैं।

(ii) गर्भस्थ शिशु में लिंग निर्धारण-
लिंग निर्धारण विशेष लिंग गुणसूत्रों के आधार पर होता है। नर में XY गुणसूत्र होते हैं और मादा में XX गुणसूत्र विद्यमान होते हैं। इससे स्पष्ट है कि मादा के पास Y गुणसूत्र होता ही नहीं है। जब नर-मादा के संयोग से संतान उत्पन्न होती है तो मादा किसी भी अवस्था में नर शिशु को उत्पन्न करने में समर्थ हो ही नहीं सकती क्योंकि नर शिशु में XY गुणसूत्र होने चाहिए।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 2

निषेचन क्रिया में यदि पुरुष का X लिंग गुणसूत्र स्त्री के X लिंग गुणसूत्र से मिलता है तो इससे XX जोड़ा बनेगा। अत: संतान लड़की के रूप में होगी लेकिन जब पुरुष का Y लिंग गुणसूत्र स्त्री के X लिंग गुणसूत्र से मिलकर निषेचन करेगा तो XY बनेगा। इससे लड़के का जन्म होगा। किसी भी परिवार में लड़के या लड़की का जन्म पुरुष के गुणसूत्रों पर निर्भर करता है, क्योंकि Y गुणसूत्र तो केवल उसी के पास होता है।

प्रश्न 9.
शब्द पहेली : शब्द बनाने के लिए संकेत संदेश का प्रयोग कीजिए-
बाईं से दाईं ओर
3. एड्रिनल ग्रंथि से स्रावित हार्मोन
4. मेंढक में लारवा से वयस्क तक होने वाला परिवर्तन
5. अंत: स्रावी ग्रंथियों द्वारा स्रावित पदार्थ
6. किशोरावस्था को कहा जाता है।

ऊपर से नीचे की ओर
1. अंत: स्रावी ग्रंथियों का दूसरा नाम
2. स्वर पैदा करने वाला अंग
3. स्त्री हार्मोन।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 3
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 4

प्रश्न 10.
नीचे दी गई सारणी में आयु वृद्धि के अनुपात में लड़कों एवं लड़कियों की अनुमानित लंबाई के आँकडे दर्शाए गए हैं। लड़के एवं लड़कियां दोनों की लंबाई एवं आयु को प्रदर्शित करते हुए एक ही कागज़ – पर ग्राफ खींचिए। इस ग्राफ से आप क्या निष्कर्ष निकाल सकते हैं ?
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 5
उत्तर-
उपरोक्त ग्राफ से पता लगता है कि लड़कों और लड़कियों दोनों में लंबाई वृद्धि लगभग एक समान होती है। यह वृद्धि पहले 8 वर्षों तक लड़कियों में कम और फिर 20 वर्ष तक समान होती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

PSEB Solutions for Class 8 Science किशोरावस्था की ओर Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
कॉलम I में दी गई हार्मोन ग्रंथि को कॉलम II में दिए गए हार्मोनों से मिलाइए।

कॉलम I कॉलम I
(क) थाइरॉयड 1. थाइरोट्रापिक
(ख) वृषण 2. थायराक्सिन
(ग) अंडाशय 3. टेस्टोस्टरॉन
(घ) पीयूष 4. एस्ट्रोजन।

उत्तर-

कॉलम I कॉलम I
(क) थाइरॉयड 2. थायराक्सिन
(ख) वृषण 3. टेस्टोस्टरॉन
(ग) अंडाशय 4. एस्ट्रोजन
(घ) पीयूष 1. थाइरोट्रापिक।

प्रश्न 2.
मानव में दो अंतःस्त्रावी ग्रंथियों के नाम लिखिए।
उत्तर-

  1. पीयूष
  2. थाइरॉयड।

प्रश्न 3.
कौन-सी अंतःस्त्रावी ग्रंथि वृद्धि हार्मोन उत्पन्न करती है ?
उत्तर-
पीयूष ग्रंथि (Pituitary gland)।

प्रश्न 4.
मादा जनन कोशिका को क्या कहते हैं ?
उत्तर-
अंडा (Ova).

प्रश्न 5.
मानव में वृद्धि किस आयु में रुक जाती है ?
उत्तर-
20-25 वर्ष की आयु में।

प्रश्न 6.
थाइराक्सिन हार्मोन का मुख्य तत्त्व क्या है ?
उत्तर-
आयोडीन (Iodine)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 7.
कौन-सी ग्रंथि से एडीनेलिन उत्पन्न होती है ?
उत्तर-
एड्रीनल ग्रंथि (Adrenal gland)।

प्रश्न 8.
नर और मादा जनन हार्मोनों के नाम लिखिए।
उत्तर-
टेस्टोस्टरॉन और एस्ट्रोजन।

प्रश्न 9.
निम्न के नाम लिखिए-
(i) ग्रंथियाँ जो हार्मोन उत्पन्न करती हैं।
(ii) हार्मोन की प्रकृति।
(iii) मास्टर ग्रंथि।
(iv) थाइरॉयड ग्रंथि से स्त्रावित हार्मोन।
(v) आयोडीन की कमी से होने वाला रोग।
(vi) हार्मोन जो शक्कर का स्तर नियंत्रित करता है।
(vii) ‘आपातकालीन हार्मोन’ उत्पन्न करने वाली ग्रंथि।
उत्तर-
(i) अंत: स्त्रावी ग्रंथियाँ अथवा नलिकाविहीन ग्रंथियाँ ।
(ii) रासायनिक स्त्राव
(iii) पीयूष ग्रंथि
(iv) थाइराक्सिन
(v) घेघा (Goitre)
(vi) इंसुलिन तथा ग्लूकोज़न
(viii) एड्रीनल।

प्रश्न 10.
लिंग गुणसूत्रों (Sex Chromosomes) को परिभाषित करें।
उत्तर-
लिंग गुणसूत्र (Sex Chromosomes) – वे गुणसूत्र जो लिंग निर्धारण से संबंध रखते हैं, लिंग गुणसूत्र कहलाते हैं। मादा में XX और नर में XY गुणसूत्र है।

प्रश्न 11.
मानव कोशिका में कितने गुणसूत्र पाए जाते हैं ?
उत्तर-
46 (44 सामान्य गुणसूत्र और एक जोड़ी लिंग गुणसूत्र)।

प्रश्न 12.
किशोरावस्था कब आरंभ और खत्म होती है ?
उत्तर-
किशोरावस्था 11 वर्ष की आयु से आरंभ होकर 18 अथवा 19 वर्ष की आयु तक रहती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 13.
ग्रंथियां जो अपना स्त्राव सीधा रक्त प्रवाह में बहने देती हैं …………………….. कहलाती हैं।
उत्तर-
अतःस्त्रावी ग्रंथियाँ (Endocrine glands) |

प्रश्न 14.
‘लक्ष्य स्थल’ क्या है ?
उत्तर-
लक्ष्य स्थल – शरीर का वह भाग जहाँ हार्मोन प्रभावित होते हैं।

प्रश्न 15.
मादा मानव में जनन प्रक्रिया की अवधि क्या है ?
उत्तर-
मादा में जनन प्रक्रम 10-12 वर्ष की आयु में विकसित होता है और 45-50 वर्ष की आयु में खत्म हो जाता है।

प्रश्न 16.
रजोदर्शन (Menarche) की परिभाषा दीजिए।
उत्तर-
रजोदर्शन : यौवनारंभ का पहला ऋतु स्राव रजोदर्शन कहलाता है।

प्रश्न 17.
रजोनिवृत्ति (Menopause) क्या है ?
उत्तर-
रजोनिवृत्ति : ऋतु स्त्राव का रुक जाना रजोनिवृत्ति कहलाता है।

प्रश्न 18.
नर और मादा के लैंगिक गुण सूत्र कौन-से हैं ?
उत्तर-
मादा में दो X-गुणसूत्र (XX) होते हैं जबकि नर में एक X-गुणसूत्र और दूसरा Y-गुणसूत्र होता है। (XY).

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 19.
पीयूष ग्रंथि कहाँ होती है ?
उत्तर-
मस्तिष्क के पास।

प्रश्न 20.
कीटों और मेढकों के कायांतरण में से कौन-से हार्मोन उपयोग में आते हैं ?
उत्तर-
कीट हार्मोन।

प्रश्न 21.
AIDS को विस्तृत रूप में लिखें।
उत्तर-
AIDS : एक्वायरड इम्यूनो डैफीशेंसी सिंड्रॉम। (Acquired Immuno Deficiency Syndrome).

प्रश्न 22.
भारतीय संविधान के अनुसार विवाह की आयु क्या है ?
उत्तर-
लड़की की न्यूनतम आयु-18 वर्ष
लड़के की न्यूनतम आयु-21 वर्ष।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
लड़की के 10-15 वर्ष की आयु में हार्मोन क्या करते हैं ?
उत्तर-
10-15 वर्ष की आयु में लड़की के स्तन विकसित होते हैं और नितंब गोल हो जाते हैं।

प्रश्न 2.
लड़के की 10-15 वर्ष की आयु में हार्मोन क्या प्रभाव डालते हैं ?
उत्तर-
लड़के के शरीर में हार्मोन का प्रभाव-

  1. उसकी आवाज़ भर्राने लगती है और गहरी हो जाती है।
  2. चेहरे और सीने पर बाल आ जाते हैं।
  3. शरीर की माँसपेशियाँ विकसित हो जाती हैं।
  4. वृषण शुक्राणु पैदा करना आरंभ कर देते हैं।

प्रश्न 3.
संक्षिप्त नोट लिखें-
(i) ऋतुस्त्राव
(ii) रजोनिवृत्ति।
उत्तर-
(i) ऋतुस्त्राव – भ्रूण की म्यूक्स झिल्ली का नष्ट होना और प्रति माह रक्त स्त्राव होना ऋतुस्त्राव कहलाता है। यह प्रक्रम मादा मानव और मादा स्तनधारी में होता है।

(ii) रजोनिवृत्ति – ऋतु स्त्राव का रुकना रजोनिवृत्ति है। यह 45-55 वर्ष की आयु में होता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 4.
मादा मानव में जनन चक्र समझाइए।
उत्तर-
ऋतुस्त्राव (Monstrual Cycle) – स्त्री में रजोधर्म चक्र अथवा ऋतुस्राव किशोरावस्था से प्रारंभ होता है, जो सामान्य रूप से प्रत्येक 28 दिनों के बाद स्त्री के सारे जनन जीवन (गर्भ धारण अवस्था छोड़कर) में नियमित चलता रहता है। इस चक्र की एक अवस्था में गर्भाशय से रुधिर प्रवाह होता है। इसको मासिक धर्म अथवा ऋतुस्त्राव कहते हैं। इस चक्र में लिंग हार्मोन गर्भाशय की दीवार को अंडे के चिपकने के लिए तैयार करते हैं। जब गर्भ धारण नहीं होता तो दीवार की तरह वह टूट जाती है और डिसचार्ज हो जाती है। यह ऋतु स्त्राव सामान्यतः 10 से 14 वर्ष की आयु में शुरू होता है और 45-50 वर्ष तक चलता है।

यदि अंडाणु शुक्राणु से निषेचित हो जाता है, तो युग्मनज गर्भाशय में विकसित होता है और विकसित होता भ्रूण, गर्भ कहलाता है और अपरा (Placenta) से पोषण ग्रहण करता है। इस अवधि में अंडोत्सर्जन और ऋतुस्त्राव नहीं होता परंतु यह सभी कार्यविधियाँ बच्चे के जन्म के बाद पुनः आरंभ हो जाती हैं।

प्रश्न 5.
प्रजनन संबंधी स्वास्थ्य से क्या भाव है ?
उत्तर-
प्रजनन संबंधी स्वास्थ्य (Reproductive Health) – जनन अंगों की संभाल तथा सफ़ाई की आवश्यकता होती है। यदि हम ऐसा नहीं करते, तो हमें कई प्रकार के संक्रमण रोग हो सकते हैं। इनकी सही संभाल जानकारी की आवश्यकता है। इसलिए प्रजनन संबंधी स्वास्थ्य भी व्यक्तिगत स्वास्थ्य का एक महत्त्वपूर्ण अंग है। जनन अंगों के कारण होने वाले रोगों को सैक्सूयली ट्रांसमिटड रोग (S.T.D.) कहते हैं।

प्रश्न 6.
AIDS फैलने के तरीके लिखिए।
उत्तर-
AIDS (Acquired Immuno Deficiency Syndrome)
फैलने के तरीके – संक्रमित रक्त देने से, संक्रमित सूइयों के उपयोग से, कृत्रिम गर्भारोधन से और संक्रमित व्यक्ति से लैंगिक संपर्क रखने से।

प्रश्न 7.
रजोदर्शन और रजोनिवृत्ति में अंतर स्पष्ट करें।
उत्तर-
रजोदर्शन और रजोनिवृत्ति में अंतर-

रजोदर्शन (Menarche) रजोनिवृत्ति (Menopause)
(i) यौवनारंभ में पहला ऋतु स्राव (i) ऋतु स्राव का रुकना
(ii) 11-12 वर्ष की आयु में (ii) 40-45 वर्ष की आयु में।

प्रश्न 8.
सत्य (T) और असत्य (F) कथन अंकित करें-
(i) निषेचन क्रिया में शुक्राणु और अंडाणु का युग्म होता है।
(ii) ऋतुस्त्राव की मानव मादा में अवधि 20 दिन होती है।
(iii) ऋतुस्त्राव के शुरू होने को रजोनिवृत्ति कहते हैं।
(iv) मानव में नर मादा से कुछ देर में किशोरावस्था में आते हैं।
उत्तर-
(i) सत्य (T)
(ii) असत्य (F)
(iii) असत्य (F)
(ii) सत्य (T).

प्रश्न 9.
अंतःस्त्रावी ग्रंथियों को नलिका रहित ग्रंथियाँ क्यों कहते हैं ?
उत्तर-
हार्मोन का स्थानांतरण नलियों द्वारा नहीं होता बल्कि द्रव्यों द्वारा होता है। इसलिए अंत: स्त्रावी ग्रंथियों को नलिका रहित ग्रंथियाँ भी कहते हैं।

प्रश्न 10.
किस ग्रंथि का स्त्राव पीयूष ग्रंथि के स्त्राव को कम कर देता है ?
उत्तर-
थाइरॉइड ग्रंथि का स्त्राव थाइरॉक्सिन की अधिक मात्रा पीयूष ग्रंथि के स्त्राव (हार्मोन) को कम करता है।

प्रश्न 11.
एडीनेलिन स्त्राव भयभीत स्थिति में बढ़ जाता है ? यह कौन-सी उत्तेजना है ?
उत्तर-
भयभीत दृश्य एक ऐसी उत्तेजना है जिसके कारण एड्रिनेलिन स्त्राव बढ़ जाता है। इसलिए एड्रिनेलिन स्त्राव उत्तेजना का परिणाम है।

प्रश्न 12.
एक चित्र बनाइए जिसमें सभी अंत:स्त्रावी ग्रंथियाँ दर्शाइए।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 6

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 13.
पीयूष ग्रंथि के कुछ कार्य लिखिए।
उत्तर-
पीयूष ग्रंथि के कार्य-

  1. वृद्धि का नियंत्रण
  2. थाइरॉयड, एड्रीनल और लैंगिक ग्रंथियों को प्रभावित करती है।
  3. जलचर और मछलियों में रंग परिवर्तित करना।

प्रश्न 14.
किसी किशोर को उचित आहार क्यों खाना चाहिए ?
उत्तर-
किशोर की आयु में वृद्धि हो रही होती है। उचित आहार वृद्धि करती हड्डियों, पेशियों और दूसरे भागों के लिए आवश्यक है।

प्रश्न 15.
किशोर आत्मनिर्भर कैसे हो जाते हैं ?
उत्तर-
किशोर आत्मनिर्भर और सचेत होते हैं। यह अवधि उनकी सोच में परिवर्तन लाती है। विचारों में बदलाव आते हैं और किशोर कल्पनाओं में अपना समय व्यतीत करता है। सच्चाई यह है कि इस अवधि में मस्तिष्क की सीखने की क्षमता अत्यधिक होती है। कभी-कभी, किशोर अपने आप को अपने शरीर और मन के बदलावों के अनुरूप नहीं ढाल पाते और स्वयं को असुरक्षित समझते हैं।

प्रश्न 16.
वर्णन करो कि लैंगिक हार्मोन पीयूष ग्रंथि पर निर्भर करते हैं ?
उत्तर-
लैंगिक हार्मोन पीयूष ग्रंथि द्वारा नियंत्रित होते हैं। पीयूष ग्रंथि कई हार्मोन स्त्रावित करता है। उनमें से एक हार्मोन FSH है। यह अंडाणु और शुक्रास्त्राणु को अंडाशय और वृषण में क्रमशः विकसित करते हैं। जैसे- पीयूष ग्रंथि से स्त्रावित हार्मोन टेस्टोस्टरॉन और एस्ट्रोजन को उत्तेजित करते हैं। हार्मोन स्त्रावित होकर लक्ष्य स्थल पर पहुँचते हैं। शरीर में परिवर्तन लाते हैं और यौवनारंभ हो जाता है।

प्रश्न 17.
किशोरों को नशीले पदार्थों को ‘न’ कहना चाहिए। क्यों ?
उत्तर-
किशोर अवस्था में मन और शरीर अत्यधिक क्रियाशील होता है। इसलिए असुरक्षित और बेचैन नहीं होना चाहिए और किसी द्वारा सुझाया गया तरीका अर्थात् नशा करने से आराम मिल सकता है, कभी न अपनाएँ। यदि किसी डॉक्टर ने दवाई के रूप में दिया है तो अवश्य ग्रहण करें। जब एक बार नशा करने की लत लग जाती है तब बार-बार नशा करने को मन करता है। नशे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। यह स्वास्थ्य और खुशियों को खत्म कर देते हैं।

प्रश्न 18.
किशोरों में कुछ भ्रांतियाँ लिखिए।
उत्तर-
किशोरों में कुछ भ्रांतियाँ-

  1. लड़की यदि ऋतुस्त्राव में लड़कों की तरफ देखे तो गर्भधारण हो जाता है।
  2. वीर्य की एक बूंद नष्ट होने का अर्थ है, 10 बूंदें रुधिर की नष्ट होना, जिससे लड़का कमज़ोर हो जाता है।
  3. माता शिशु के लिंग को निर्धारित करती है।
  4. ऋतुस्त्राव के दिनों में लड़की को रसोई में नहीं जाने दिया जाता।

प्रश्न 19.
यौवनारंभ के समय आवाज में किस प्रकार का परिवर्तन आता है ?
उत्तर-
यौवनारंभ के समय लड़कों का स्वरयंत्र अपेक्षाकृत बड़ा होकर बाहर की ओर उभरा हुआ दिखाई देता है। लड़कों की आवाज स्वरयंत्र में वृद्धि के कारण भारी या फटी हुई हो जाती है। लड़कियों के स्वरयंत्र में इस प्रकार का अंतर दिखाई नहीं देता। लड़कियों के स्वरयंत्र के छोटा होने के कारण इनकी आवाज पतली व सुरीली होती है।

प्रश्न 20.
हार्मोन के लक्षण लिखें।
उत्तर-
हार्मोन के प्रमुख लक्षण-

  1. हार्मोन अन्तः-स्त्रावी ग्रंथियों द्वारा स्त्रावित होते हैं। इनके कार्य विशिष्ट होते हैं।
  2. ये केवल कार्यक्षेत्र बिंदु पर ही प्रभावी होते हैं, अन्यत्र कहीं नहीं।
  3. इनकी आवश्यकता बहुत कम मात्रा में होती है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 21.
पीयूष ग्रंथि (Pituitary Gland) को मास्टर ग्रंथि क्यों कहते हैं ?
उत्तर-
यह ग्रंथि मस्तिष्क के निचले भाग में स्थित होती है। इसके द्वारा स्त्रावित हार्मोन से हड्डी तथा ऊतकों की वृद्धि को नियंत्रित किया जाता है। यह ग्रंथि ऐसे हार्मोन स्त्रावित करती है, जो अन्य ग्रंथियों के कार्यों को नियंत्रित करते हैं। इसलिए इसे ‘मास्टर ग्रंथि’ कहा जाता है।

प्रश्न 22.
लड़के-लड़कियों का विवाह कम उम्र में क्यों नहीं करना चाहिए ?
उत्तर-
कम उम्र में किशोरों के शरीर, विशेष कर जनन अंग मातृत्व का बोझ सहन करने के लिए भली-भाँति तैयार नहीं होते। यदि ऐसी अवस्था में विवाह हो भी जाए तो ऐसे युगलों में स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं जिनसे युवा तनाव में आ सकते हैं और इनका भविष्य इससे प्रभावित हो सकता है। हमारे देश के कानून के अनुसार लड़कियों की 18 वर्ष और लड़कों की 21 वर्ष आयु ऐसी अवस्था है जब किशोरों को विवाह करने की अनुमति होती है।

प्रश्न 23.
किशोरों में HIV-AIDS के होने की संभावना प्रबल क्यों होती है ?
उत्तर-
काफी संख्या में किशोर तनाव से मुक्ति पाने हेतु ड्रग्स लेना आरंभ कर देते हैं। HIV की संदूषित इंजेक्शन की सूई से ड्रग्स लेने पर यह खतरनाक विषाणु अन्य किशोरों में फैल जाता है। इस विषाणु के फैलने का अन्य कारण असुरक्षित लैंगिक संपर्क भी है। कई मामलों में यह विषाणु पीड़ित (रोगी) माँ से दूध द्वारा शिशु में भी फैल सकता है।
अत: किशोरों को अपने बहुमूल्य जीवन को HIV से बचाने के लिए सचेत रहने की अति आवश्यकता है।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
एक सारणी बनाओ जिसमें आयु में वृद्धि के साथ लंबाई में औसतन दर से वृद्धि दर्शाएँ।
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 7
उदाहरण के लिए – एक लड़के की आयु 8 वर्ष है और लंबाई 108 cm है। वृद्धि अवधि के पश्चात् उसकी लंबाई-
= \(\frac{108}{72}\) × 100 = 150 cm.

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर

प्रश्न 2.
किशोरावस्था में स्वस्थ शरीर के लिए कौन-से कारक उत्तरदायी हैं ?
उत्तर-
किशोरावस्था में निम्न परिस्थितियां अथवा कारक उत्तरदायी हैं-

(i) पाचन संबंधी – किशोरावस्था में तीव्र वृद्धि और विकास होता है, इसलिए आहार नियमित और सुचारु ढंग से करना चाहिए। एक संतुलित आहार जिसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेटस, वसा, विटामिन और खनिज उचित अनुपात में होते हैं। भारतीय भोजन जिसमें रोटी, चावल, दाल और सब्जियाँ, दूध, फल एक संतुलित आहार है।
चिप्स और डिब्बाबंद नाश्ते स्वादिष्ट तो होते हैं परंतु नियमित रूप से सेवन नहीं करने चाहिएं क्योंकि उनमें पोषक तत्त्वों की कमी होती है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 10 किशोरावस्था की ओर 8

(ii) व्यक्तिगत सफ़ाई – प्रतिदिन स्नान आवश्यक है क्योंकि तेलीय ग्रंथियों से स्त्रावित द्रव्य शरीर में बदबू पैदा करते हैं। शरीर के सभी भागों की नित्यप्रति सफ़ाई आवश्यक है। यदि सफ़ाई पर ध्यान न दिया गया तो जीवाणु संरक्षण हो सकता है। लड़कियों को ऋतुस्त्राव अवधि का ध्यान रखना चाहिए।

(iii) व्यायाम – टहलना और खेलना शरीर को स्वस्थ रखता है। किशोरों को खेल में टहलना, व्यायाम करना और खेलना चाहिए।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

Punjab State Board PSEB 8th Class Science Book Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन Textbook Exercise Questions and Answers.

PSEB Solutions for Class 8 Science Chapter 9 जंतुओं में जनन

PSEB 8th Class Science Guide जंतुओं में जनन Textbook Questions and Answers

अभ्यास

प्रश्न 1.
सजीवों के लिए जनन क्यों महत्त्वपूर्ण है ? समझाइए।
उत्तर-
सजीवों में जनन की महत्ता – यह जीवों में योग्यता है जिस द्वारा वे अपने जैसे जीव पैदा करते हैं । जनन से प्रजाति की वृद्धि होती है। यह जैविक प्रक्रम उत्तरजीविता और निरंतरता बनाए रखने के लिए आवश्यक है। इससे आनुवंशिकता और गुणों का अगली पीढ़ी में स्थानांतरण भी होता है।

प्रश्न 2.
मनुष्य में निषेचन प्रक्रम को समझाइए।
उत्तर-
निषेचन-वृषण, नर युग्मक, शुक्राणु पैदा करते हैं। वृषण द्वारा लाखों शुक्राणु उत्पन्न होते हैं। शुक्राणु चाहे बहुत सूक्ष्म होते हैं, परंतु प्रत्येक में एक सिर, मध्यभाग और एक पूंछ होती है।

जनन प्रक्रम का पहला चरण शुक्राणु और अंडाणु का संलयन है। नर से लाखों शुक्राणु मादा शरीर में डाले जाते हैं। शुक्राणु पूंछ द्वारा अंडाणु तक पहुंचने के लिए अंडवाहिनी में तैरते हैं। जब ये अंडाणु के निकट आते हैं तो एक शुक्राणु अंडाणु से संलयन करता है। इसे निषेचन कहते हैं। निषेचन के परिणामस्वरूप युग्मनज (Zygote) का निर्माण होता है। युग्मनज नए जीव का निर्माण करता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 1
निषेचन प्रक्रम में नर से शुक्राणु और मादा से अंडाणु का युग्म होता है। इसलिए नयी संतति में कुछ लक्षण माता के और कुछ लक्षण पिता के होते हैं।

प्रश्न 3.
सर्वोचित उत्तर चुनिए-
(क) आंतरिक निषेचन होता है-
(i) मादा के शरीर में
(ii) मादा के शरीर से बाहर
(iii) नर के शरीर में
(iv) नर के शरीर से बाहर।
उत्तर-
(i) मादा के शरीर में

(ख) एक टैडपोल जिस प्रक्रम द्वारा वयस्क में विकसित होता है, वे हैं-
(i) निषेचन
(ii) कायांतरण
(iii) रोपण
(iv) मुकुलन।
उत्तर-
(ii) कायांतरण

(ग) एक युग्मनज में पाए जाने वाले केंद्रकों की संख्या होती है-
(i) कोई नहीं
(ii) एक
(iii) दो
(iv) चार।
उत्तर-
(iii) एक।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 4.
निम्न कथन सत्य (T) है अथवा असत्य (F) संकेतित कीजिए-

(क) अंडप्रजनक जंतु विकसित शिशु को जन्म देता है।
उत्तर-
असत्य (F)

(ख) प्रत्येक शुक्राणु एक एकल कोशिका है।
उत्तर-
सत्य (T)

(ग) मेंढक में बाह्य निषेचन होता है।
उत्तर-
सत्य (T)

(घ) वह कोशिका, जो मनुष्य में नए जीवन का प्रारंभ है, युग्मक कहलाती है।
उत्तर-
असत्य (F)

(ङ) निषेचन के पश्चात् दिया गया अंडा एक एकल कोशिका है।
उत्तर-
सत्य (T)

(च) अमीबा मुकुलन द्वारा जनन करता है।
उत्तर-
असत्य (F)

(छ) अलैंगिक जनन में भी निषेचन आवश्यक है।
उत्तर-
असत्य (F)

(ज) द्विखंडन अलैंगिक जनन की एक विधि है।
उत्तर-
सत्य (T)

(झ) निषेचन के परिणामस्वरूप युग्मनज बनता है।
उत्तर-
सत्य (T)

(ज) भ्रूण एक एकल कोशिका का बना होता है।
उत्तर-
असत्य (F)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 5.
युग्मनज और गर्भ में दो भिन्नताएँ दीजिए।
उत्तर-
युग्मनज और गर्भ में दो भिन्नताएँ-

युग्मनज (Zygote) गर्भ (Foetus)
(1) शुक्राणु और अंडाणु का संलयन युग्मनज कहलाता है। (1) भ्रूण की वह अवस्था जिसमें विभिन्न अंग पहचानने योग्य होते हैं।
(2) यह एक एकल कोशिका है। (2) यह बहु-कोशिका है।

प्रश्न 6.
अलैंगिक जनन की परिभाषा लिखिए। जंतुओं में अलैंगिक जनन की दो विधियों का वर्णन कीजिए।
उत्तर-
अलैंगिक जनन – जनन की वह किस्म जिसमें केवल एक ही जीव भाग लेता है, अलैंगिक जनन कहलाता है। जंतुओं में अलैंगिक जनन की विधियाँ निम्नलिखित हैं-
1. विखंडन (Binary Fission) – द्विखंडन में जीव का शरीर लंबवत् अनुप्रस्थ खांच से दो बराबर भागों में विभाजित हो जाता है। प्रत्येक भाग जनक के समान हो जाता है। जनन की यह विधि प्रोटोज़ोआ (अमीबा, पैरामिशियम आदि) में होती है, जिन में यही विधि आवश्यक रूप से कोशिका विभाजन की विधि है जिसके परिणामस्वरूप संतति कोशिकाओं का पृथक्करण होता है। बहु- कोशिकीय जंतुओं में भी इस विधि को देखा गया है। जैसे-सी-ऐनीमोन में लंबवत् खंडन तथा प्लेनेरिया में अनुप्रस्थ खंडन।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 2

2. मुकुलन (Budding) – मुकुलन एक प्रकार की अलैंगिक जनन क्रिया है जिसमें नया जीव जो अपेक्षाकृत छोटे पुंज की कोशिकाओं से निकलता है, आरंभ में जनक जीव में मुकुल बनाता है। मुकुल अलग होने से पहले जनक का रूप धारण कर लेता है जैसे-बाह्य मुकुलन में या जनक से अलग होने के पश्चात् आंतरिक मुकुलन में। बाह्य मुकुलन स्पंज, सीलेंट्रेटा (जैसे हाइड्रा), चपटे कृमि और ट्यूनीकेट में मिलता है, लेकिन कुछ सीलेंट्रेट जैसे ओबलिया पोलिप की अपेक्षा मैड्रयूसी पैदा करते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 3

प्रश्न 7.
मादा के किस जनन अंग में भ्रूण का रोपण होता है ?
उत्तर-
गर्भाशय (Uterus)।

प्रश्न 8.
कायांतरण किसे कहते हैं ? उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
कायांतरण (Metamorphosis) लारवा के कुछ उग्र-परिवर्तनों द्वारा वयस्क जंतु में बदलने की प्रक्रिया को कायांतरण कहते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 4

उपरोक्त चित्र में मेंढक के विकास के विभिन्न चरण हैं। तीन स्पष्ट चरण हैं-

  1. अंडा
  2. टैडपोल लारवा
  3. वयस्क।

मेंढक व टैडपोल वयस्क एक-दूसरे से बिल्कुल भिन्न होते हैं। मेंढक में एक विशेष परिवर्तन है-
गलफड़ों का फेफड़ों में परिवर्तित होना। जिन जंतुओं में कायांतरण होते हैं वे हैं मेंढक, रेशमकीट।

प्रश्न 9.
आंतरिक निषेचन एवं बाह्य निषेचन में भेद कीजिए।
उत्तर-
आंतरिक निषेचन एवं बाह्य निषेचन में भेद-

आंतरिक निषेचन (Internal Fertilization) बाह्य निषेचन (External Fertilization)
(1) नर युग्मक और मादा युग्मक का संलयन शरीर के अंदर होता है। (1) नर युग्मक (शुक्राणु) और मादा युग्मक (अंडे) का संलयन शरीर के बाहर होता है।
(2) नर मादा के शरीर में शुक्राणुओं का उत्सर्जन करता है। (2) दोनों व्यष्टि युग्मकों को शरीर के बाहर फेंकते हैं।
(3) विकास शरीर के अंदर हो सकता है। (3) विकास शरीर के बाहर ही होता है।
(4) उदाहरण-मनुष्य, पशु, शार्क, पक्षी। (4) उदाहरण- मेंढ़क।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 10.
नीचे दिए गए संकेतों की सहायता से क्रॉस शब्द पहेली को पूरा कीजिए।
बाईं से दाईं ओर
(1) यहाँ अंडाणु उत्पादित होते हैं।
(2) वृषण में उत्पादित होते हैं।
(3) हाइड्रा का अलैंगिक जनन है।

ऊपर से नीचे की ओर
(1) यह मादा युग्मक है।
(2) नर और मादा युग्मक का मिलना।
(3) एक अंडप्रजनक जंतु।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 5
उत्तर-
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 6

PSEB Solutions for Class 8 Science जंतुओं में जनन Important Questions and Answers

TYPE-I
अति लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
रिक्त स्थान भरिए-

(i) ……………………… प्रक्रम जाति की निरंतरता बनाए रखता है।
उत्तर-
जनन

(ii) फूल में नर और मादा युग्मक, ……………………….. और …………………….. कहलाते हैं।
उत्तर-
परागकण, अंडा

(iii) ……………….. जनन में, एक जीव अपने शरीर के भागों से नए जीव उत्पन्न करता है
उत्तर-
कायिक

(iv) ……………………… सारा जीवन काल वृद्धि करते हैं, परंतु …………………………… कुछ ही आयु तक वृद्धि करते हैं।
उत्तर-
पौधे, जीव

(v) एक बहुकोशिक जंतु अपना जीवन प्रक्रम एक …………………….. से करता है, जो लैंगिक जनन द्वारा बनता है।
उत्तर-
युग्मनज।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 2.
कौन-सा शरीर का भाग-
(क) शुक्राणु उत्पादित करता है?
(ख) अंडाणु उत्पादित करता है?
(ग) आदमी से शुक्राणु मादा में भेजता है?
उत्तर-
(क) वृषण
(ख) अंडाशय
(ग) शिश्न।

प्रश्न 3.
स्तंभ ‘क’ और स्तंभ ‘ख’ के शब्दों का मिलान करें-

स्तंभ ‘क’ स्तंभ ‘ख’
शुक्राणु मादा जननांग
अंडाशय वृद्धि
कोशिका नर युग्मक

उत्तर-

स्तंभ ‘क’ स्तंभ ‘ख’
शुक्राणु नर युग्मक
अंडाशय मादा जननांग
कोशिका वृद्धि।

प्रश्न 4.
पौधों और जंतुओं में जनन के कितने तरीके हैं ?
उत्तर-
दो-(क) लैंगिक (ख) अलैंगिक।

प्रश्न 5.
अलैंगिक जनन में कितने जीवों की आवश्यकता होती है ?
उत्तर-
एक।

प्रश्न 6.
लैंगिक जनन में कितने सजीवों की आवश्यकता होती है ?
उत्तर-
दो।

प्रश्न 7.
जननांगों में विशेष कोशिकाएं कौन-सी होती हैं ?
उत्तर-
युग्मक (Gametes) ।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 8.
द्विखंडन विधि से जनन करने वाले दो जंतुओं के नाम लिखिए।
उत्तर-

  1. अमीबा
  2. पैरामीशियम।

प्रश्न 9.
कौन-से जीवों में मुकुल जनक के शरीर पर लगी रहती है?
उत्तर-
स्पंज, कोरल (Corals)।

प्रश्न 10.
युग्मनज (Zygote) क्या है ?
उत्तर-
युग्मनज – युग्मनज, नर और मादा युग्मकों के संलयन से बनने वाली पहली संरचना है।

प्रश्न 11.
निषेचन (Fertilization) क्या है?
उत्तर-
निषेचन – नर और मादा युग्मकों का संलयन।

प्रश्न 12.
दो उभयलिंगी जंतुओं (Hermaphrodite) के उदाहरण दो।
उत्तर-

  1. केंचुआ
  2. जोंक (leech)।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 13.
कौन-सा बड़ा है-अंडाणु अथवा शुक्राणु।
उत्तर-
अंडाणु।

प्रश्न 14.
दो उदाहरण दो जिन जीवों में बाहय निषेचन होता है।
उत्तर-

  1. मेंढक
  2. मछली।

प्रश्न 15.
कायांतरण की परिभाषा दो।
उत्तर-
कायांतरण – लारवा के कुछ उग्र परिवर्तनों द्वारा वयस्क जंतु में बदलने की प्रक्रिया कायांतरण .कहलाती है।

प्रश्न 16.
रिक्त स्थान भरो-
(i) जनन प्रक्रम में भाग लेने वाली कोशिकाएँ ……………………. कहलाती हैं।
(ii) युग्मकों के संलयन से एक कोशिक संरचना ………………………. उत्पन्न होती है।
(iii) पौधों और जंतुओं में युग्मकों का संलयन …………………………. कहलाता है।
(iv) जीव जिनमें दोनों नर और मादा जनन अंग पाए जाते हैं, ………………………… कहलाते हैं।
उत्तर-
(i) युग्मक
(ii) युग्मनज
(ii) निषेचन
(iv) उभयलिंगी।

प्रश्न 17.
जननांग (Gonads) क्या है ? मानव में नर और मादा जननांग के नाम लिखो।
उत्तर-
जननांग – जो विशेष कोशिकाएँ युग्मक उत्पन्न करते हैं, जननांग कहलाते हैं।
मानव नर जननांग – वृषण मानव मादा जननांग-अंडाशय।

प्रश्न 18.
नर और मादा युग्मकों के नाम लिखिए।
उत्तर-
नर युग्मक-शुक्राण, मादा युग्मक-अंडाणु।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 19.
बाह्य निषेचन और आंतरिक निषेचन का एक-एक उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
बाह्य निषेचन-मेंढक।
आंतरिक निषेचन-मानव।

प्रश्न 20.
शुक्राणु नली (Vas deferens) का क्या कार्य है ?
उत्तर-
शुक्राणु नली वृषण से शुक्राणु गर्भाशय में स्थानांतरण करती है।

प्रश्न 21.
हाईमन (Hymen) किसे कहते हैं?
उत्तर-
हाईमन – योनि (Vagina) के बाहर पतली झिल्ली का डायफ्राम हाइमन कहलाता है। यह रजोनवृत्ति के लिए सरंध्र होता है।

प्रश्न 22.
निम्न कथन सही अथवा गलत अंकित करें-
(i) मानव अंडे का निषेचन गर्भाशय में होता है।
(ii) औरतों में नसबंदी शिशु नियंत्रण की विधि है।
(iii) अंडाणु का निषेचन योनि में होता है।
(iv) शुक्राणु एक एकलकोशिक है।
(v) वृषण पेट गुहा में पाए जाते हैं।
(vi) शुक्राणु मानव ताप (37°C) पर उत्पन्न होते हैं।
उत्तर-
(i) गलत
(ii) गलत
(iii) गलत
(iv) सही
(v) गलत
(vi) सही।

प्रश्न 23.
हाइड्रा में किस प्रकार का अलैंगिक जनन होता है ?
उत्तर-
मुकुलन (Budding)।

प्रश्न 24.
क्लोनिंग की परिभाषा दें।
उत्तर-
क्लोनिंग – किसी समरूप कोशिका, किसी अन्य जीवित भाग अथवा संपूर्ण जीव को कृत्रिम रूप से उत्पन्न करना।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 25.
किस जंतु की सफलतापूर्वक क्लोनिंग सर्वप्रथम इयान विलमट ने एडिनबर्ग, स्काटलैंड के रोजलिन इंस्टीच्यूट में की।
उत्तर-
डोली भेड की।

प्रश्न 26.
पहले स्तनधारी का नाम लिखें, जिसे क्लोन किया गया?
उत्तर-
5 जुलाई, 1996 में पैदा हुई डॉली भेड़।

प्रश्न 27.
जनन किसे कहते हैं ?
उत्तर-
जनन – जीवों द्वारा अपने जैसे जीव उत्पन्न करने की क्रिया को जनन कहते हैं।

प्रश्न 28.
मानव के शुक्राणु में पूंछ का कार्य क्या है ?
उत्तर-
गति प्रदान करना।

प्रश्न 29.
अंडोत्सर्ग किसे कहते हैं ?
उत्तर-
अंडोत्सर्ग – अंडाशय द्वारा अंडाणु निकालने की क्रिया को अंडोत्सर्ग कहते हैं।

प्रश्न 30.
परखनली शिशु क्या होता है ?
उत्तर-
वह शिशु जो शरीर से बाहर कृत्रिम निषेचन द्वारा उत्पन्न होता है परखनली शिशु कहलाता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 31.
IVF का पूरा नाम लिखें।
उत्तर-
इनविट्रो निषेचन।

प्रश्न 32.
परखनली शिशु का विकास कहाँ होता है ?
उत्तर-
गर्भाशय में।

प्रश्न 33.
अंडप्रजक जंतु क्या होते हैं ?
उत्तर-
वे जंतु जो अंडे देते हैं अण्डप्रजक जन्तु कहलाते है।

प्रश्न 34.
जरायुज जंतु क्या होते हैं ?
उत्तर-
वे जंतु जो बच्चों को जन्म देते हैं जरायुज जंतु कहलाते है।

प्रश्न 35.
डॉली क्लोन की मौत कब हुई ?
उत्तर-
14 फरवरी, 2003 में।

प्रश्न 36.
किस जनन में नर तथा मादा की आवश्यकता नहीं होती ?
उत्तर-
अलैंगिक जनन में।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 37.
पहला परखनली शिशु कौन था ?
उत्तर-
लुईस जाय ब्राऊन।

TYPE-II
लघु उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
लैंगिक और अलैंगिक जनन में क्या अंतर है?
उत्तर-
लैंगिक और अलैंगिक में अंतर-

लैंगिक जनन (Sexual Reproduction) अलैंगिक जनन (Asexual Reproduction)
(1) नए जीव की उत्पत्ति के लिए दोनों नर और मादा जीवों की आवश्यकता होती हैं। (1) नए जीव केवल एक ही जीव से उत्पन्न होते हैं।
(2) जनन अंगों की आवश्यकता होती है। (2) जनन अंग विकसित नहीं होते।
(3) अर्धसूत्री विभाजन किसी एक चरण में आवश्यक है। (3) इसमें अर्धसूत्री विभाजन नहीं होता।
(4) युग्मकों का संलयन होता है। (4) कोशिकाओं का संलयन नहीं होता।
(5) नया जीव युग्मकों के संयोजन से विकसित होता है। (5) नया जीव एक कोशिका से विकसित होता है।
(6) नया जीव प्रायः भिन्न होता है। (6) नया जीव जनक जैसा होता है।
(7) इससे विविधता आती है। (7) इससे विविधता नहीं आती।

प्रश्न 2.
लैंगिक जनन क्या है ? जंतुओं में लैंगिक जनन की चर्चा कीजिए।
उत्तर-
लैंगिक जनन – नर और मादा के संयोजन से निषेचन होने की क्रिया को लैंगिक जनन कहते हैं।
जंतुओं में लैंगिक जनन – लैंगिक जनन में दो जीव होते हैं। जीवों में जनन अंग होते हैं, जो जनन कोशिकाएँ पैदा करते हैं । मादा अंडाणु और नर शुक्राणु उत्पन्न करते हैं। शुक्राणु जननांग वृषण में और अंडाणु जननांग अंडाशय में उत्पन्न होते हैं। शुक्राणु अंडाणु से संलयन करता है, इसे निषेचन कहते हैं। निषेचित अंडा निरंतर विभाजित होता है और भ्रूण में विकसित होता है। भ्रूण से वयस्क बनता है।

प्रश्न 3.
मानव में कौन-से अंग युग्मक उत्पन्न करते हैं ?
उत्तर-
नर में जनन अंग, एक जोड़ी वृषण है और मादा में जनन अंग, एक जोड़ी अंडाशय है।

प्रश्न 4.
उन दो जीवों के उदाहरण दें जो दो प्रकार की अलैंगिक जनन विधियों से उत्पन्न होते हैं ? विधियों के नाम भी लिखिए। .
उत्तर-
जीव का नाम – अलैंगिक जनन
(1) हाइड्रा – (क) मुकुलन (ख) पुनर्जनन
(2) खमीर – (क) मुकुलन (ख) बीजाणु बनना।

प्रश्न 5.
युग्मक (Gamete) क्या है ? एक लिंगी और उभयलिंगी में क्या अंतर है?
उत्तर-
युग्मक (Gamete) – जनन कोशिकाएँ जिनको जनन अंग उत्पन्न करते हैं, युग्मक कहलाते हैं । युग्मक दो तरह के होते हैं-नर और मादा। युग्मकों के संलयन से निषेचन होता है।

एक-लिंगी जीव – वे जीव जिनमें एक ही प्रकार के जननांग हों; नर अथवा मादा।
उभयलिंगी जीव – वे जीव जिनमें दोनों जननांग हों।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 6.
‘उभयलिंगी जीव’ क्या है ? उदाहरण दीजिए।
उत्तर-
वे जीव जो दोनों नर और मादा युग्मक उत्पन्न कर सकते हैं, उभयलिंगी अथवा द्वि-लिंगी कहलाते हैं।
उदाहरण-

  1. केंचुआ
  2. हाइड्रा।

प्रश्न 7.
एक ऊतक आकार में किन विधियों से वृद्धि करता है ?
उत्तर-
वृद्धि का अर्थ है आकार में बढ़ना।
एक ऊतक के बढ़ने में-

  1. कोशिकाओं की संख्या बढ़ती है।
  2. कोशिकाओं का आकार बढ़ता है।

प्रश्न 8.
अलैंगिक जनन की मूल विशेषताएँ क्या हैं ?
उत्तर-
अलैंगिक जनन की मूल विशेषताएँ-

  1. केवल एक जीव की उपस्थिति
  2. सभी कोशिकाओं में सूत्री विभाजन
  3. जनक के समरूपी नए जीव
  4. जनक इकाई जीव का विशेष भाग।

प्रश्न 9.
विखंडन प्रक्रम मुकुलन से कैसे भिन्न है ?
उत्तर-
द्विखंडन और मुकुलन में भिन्नता-

द्विखंडन (Binary Fission) मुकुलन (Budding)
(1) केवल दो नए जीव उत्पन्न होते हैं। (1) बड़ी संख्या में मुकुल उत्पन्न हो सकते हैं और प्रत्येक मुकुल नया जीव पैदा करता है।
(2) उदाहरण-अमीबा, यूगलीना। (2) उदाहरण-स्पंज, हाइड्रा।

प्रश्न 10.
अंडोत्सर्ग (Ovulation) को परिभाषित करें।
उत्तर-
अंडोत्सर्ग (Ovulation) – अंडाशय द्वारा अंडा छोड़ने की प्रक्रिया अंडोत्सर्ग कहलाती है। अंडा 28 दिन वाले आतर्व चक्र के 14वें दिन छोड़ा जाता है।

प्रश्न 11.
जनन क्या है ? इसकी किस्में कौन-सी हैं ?
उत्तर-
जनन – सभी सजीव जो धरती पर उत्पन्न होते हैं, एक विशेष जीवन चक्र दर्शाते हैं जिसमें जन्म, वृद्धि, परिपक्वता, जनन और मौत अवस्थाएँ हैं। जनन एक महत्त्वपूर्ण प्रक्रम है जिससे एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक निरंतरता बनी रहती है। वयस्क और वृद्ध जीव का स्थान नए और छोटे जीव प्रजनन द्वारा ग्रहण करते हैं। दो प्रकार की जनन विधियाँ हैं-

  1. अलैंगिक जनन
  2. लैंगिक जनन।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 12.
मानव नर के जनन तंत्र के विभिन्न अंगों के नाम लिखो।
उत्तर-
मानव नर जनन तंत्र के अंग-

  1. एक जोड़ी वृषण (Testes)
  2. एक जोड़ी शुक्रवाहिनी (Vas deferentia)
  3. मूत्र वाहिनी (Urethra)
  4. शिश्न (Penis)
  5. नर जनन ग्रंथियां (Cowpers and Prostate glands)।

प्रश्न 13.
मानव मादा जनन तंत्र विभिन्न अंगों के नाम लिखिए।
उत्तर-
मानव मादा जनन तंत्र के अंग-

  1. एक जोड़ी अंडाशय (Ovaries)
  2. एक जोड़ी फैलोपियन नलिका (Fallopian Tubes)
  3. गर्भाशय (Uterus)
  4. योनि (Vagina)
  5. भग (Vulva)।

प्रश्न 14.
अंतर स्पष्ट करें-
(i) शुक्राणु एवं अंडाशय
(ii) शुक्रवाहिनी एवं फैलोपियन नलिका
(iii) नर मूत्रवाहिनी एवं मादा मूत्र वाहिनी।
(iv) भ्रूण एवं गर्भ।
उत्तर-
(i) शुक्राणु एवं अंडाणु में अंतर-

शुक्राणु (Sperm) अंडाणु (Ovum)
(1) यह चुस्त होता है। (1) यह अक्रियाशील होता है।
(2) यह चलने में समर्थ है। (2) यह गतिहीन अथवा स्थिर है।
(3) इसकी पूंछ है, जो चलने का अंग है। (3) इसका कोई चलन अंग नहीं है।
(4) यह आकार में छोटी है। (4) यह आकार में बड़ा है क्योंकि इसमें योक (Yok) होता है।

(ii) शुक्रवाहिनी और फैलोपियन नलिका में अंतर-

शुक्रवाहिनी (Vas Deferens) फैलोपियन नलिका (Fallopian Tube)
(1) यह नर जनन अंग का एक भाग है। (1) यह मादा जनन अंग का एक भाग है।
(2) यह वृषण से शुक्राणु मूत्रवाहिनी में लाती है। (2) यह अंडाशय से अंडाणु गर्भाशय तक लाती है।

(iii) नर मूत्रवाहिनी और मादा मूत्रवाहिनी में अंतर-

नर मूत्रवाहिनी (Male Urethra) मादा मूत्रवाहिनी (Female Urethra)
नर मूत्रवाहिनी मूत्र और वीर्य दोनों को बाहर निकालती है। मादा मूत्रवाहिनी केवल मूत्र लेकर आती है क्योंकि गर्भाशय और योनि मार्ग भिन्न होते हैं।

(iv) भ्रूण एवं गर्भ में अंतर-

भ्रूण (Embryo) गर्भ (Foetus)
(1) निषेचित अंडे के विकास से भ्रण बनता है। (1) स्तनधारी गर्भ वह अवस्था है जिसमें विकसित अंग पहचानने योग्य हो जाते हैं।
(2) यह पहला चरण है जिसमें विकास प्रारंभ होता है। (2) मनुष्य में दो महीने के विकास के बाद भ्रण गर्भ कहलाता है।

प्रश्न 15.
‘परखनली शिशु’ पर एक नोट लिखिए।
उत्तर-
परखनली शिशु – यह एक मिथ्या नाम है क्योंकि शिशु का विकास परखनली में नहीं होता। कुछ मादाओं की अंडवाहनियाँ अवरुद्ध होती हैं। यह मादा शिशु उत्पन्न नहीं कर सकती क्योंकि शुक्राणु, अंडाणु तक नहीं पहुँच पाते। ऐसी स्थिति में डॉक्टर ताज़ा अंडाणु और शुक्राणु एकत्र करके कुछ घंटों के लिए एक साथ रखते हैं ताकि इनविट्रो निषेचन (IVF) [शरीर के बाहर कृत्रिम निषेचन] हो सके। निषेचन के एक सप्ताह बाद युग्मनज को माता के गर्भाशय में स्थापित किया जाता है। माता के गर्भाशय में पूर्ण विकास के बाद सामान्य शिशु की तरह शिशु जन्म लेता है।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 16.
मेंढक में निषेचन कैसे होता है ?
उत्तर-
मेंढक में निषेचन – मेंढक में निषेचन मादा शरीर के बाहर होता है इसलिए इसे बाह्य निषेचन कहते हैं। बसंत अथवा वर्षा ऋतु में मेंढक और टोड तालाबों की ओर जाते हैं। जब अंडे छोड़े जाते हैं तो नर उन पर शुक्राणु छोड़ देता है। प्रत्येक शुक्राणु अपनी लंबी पूंछ की सहायता से जल में तेज़ गति से तैरता है। शुक्राणु अंडों के संपर्क में आते हैं। फलस्वरूप निषेचन होता है।

प्रश्न 17.
वे जीव जिनमें बाहय निषेचन होता है जैसे मछली और मेंढक एक साथ सैंकड़ों अंडे देते हैं जबकि मुर्गी केवल एक समय में एक ही अंडा देती है। क्यों ?
उत्तर-
मछली और मेंढक सैंकड़ों अंडे और करोड़ों शुक्राण छोड़ते हैं पर प्रत्येक अंडा निषेचित नहीं होता क्योंकि अंडे और शुक्राणु जल की गति, वायु और वर्षा से प्रभावित होते हैं। कुछ जलीय जंतु अंडे खा लेते हैं। इसलिए सुनिश्चित निषेचन के लिए बड़ी संख्या में अंडों का होना आवश्यक है।

प्रश्न 18.
अंडप्रजनक और जरायुज जंतु किन्हें कहते हैं ?
उत्तर-
अंडप्रजनक जंतु (Oviparous Organisms) – वे जीव जो अंडे देते हैं। जैसे मेंढक, तितली, मुर्गी, कौआ आदि।
जरायुज जंतु (Viviparous Organisms) – वे जीव जो शिशु को जन्म देते हैं। जैसे मानव, कुत्ता, गाय, बिल्ली आदि।

TYPE-III
दीर्घ उत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
जननांग क्या हैं ? मनुष्य में नर के प्रजनन अंगों का संक्षेप में वर्णन करो।
उत्तर-
जननांग (Gonads) – प्राथमिक जनन अंग जो युग्मक पैदा करते हैं, जननांग कहलाते हैं। नर में इनको वृषण (Testis) तथा मादा में इनको अंडाशय (Ovary) कहते हैं। यह जननांग यौवनारंभ अवस्था के बाद ही क्रियाशील होते हैं।

मानव के नर प्रजनन अंग-
1. वृषण (Testis) – नर मनुष्य (पुरुष) में जंघनास्थि क्षेत्र में एक मांसल संरचना शिश्न होता है जिसके बीच में मूत्रवाहिनी होती है। शिश्न के नीचे उसकी जड़ में एक मांसल थैली वृषण कोष होता है जिसमें अंडाकार संरचनाएँ वृषण होते हैं। वृषण नर युग्मक शुक्राणु का निर्माण करते हैं । वृषण में एक विशिष्ट संरचना शुक्राणु पाया जाता है जिसमें शुक्राणु के पोषण के लिए चिपचिपा पदार्थ स्रावित होता है।

2. शुक्र वाहिनी (Vas Deferens) – प्रत्येक वृषण में से एक वाहिनी निकलती है जिसे शुक्र वाहिनी कहते हैं। ये वाहिनियां वृषण में से वीर्य को लाती हैं जिनमें शुक्राणु होते हैं।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 7

3. मूत्रवाहिनी (Urethra) – शुक्र वाहिनी मूत्र मार्ग या मूत्र वाहिनी में खुलती है। चिपचिपा पदार्थ (वीर्य) के साथ शुक्राणु एक संकरी नली द्वारा मूत्र वाहिनी में पहुँचते हैं, जहां से शिश्न की सहायता से मादा की योनि में छोड़ दिए जाते हैं। शिश्न मूत्र एवं शुक्राणु युक्त वीर्य दोनों को बाहर निकालता है।

4. उपग्रंथियां (Accessory Glands) – ये ग्रंथियां शुक्राणुओं के आहार के लिए विभिन्न घटकों का रिसाव करती हैं। ये ग्रंथियां हैं-प्रोस्ट्रेट, काऊपर्स ग्रंथियाँ तथा वीर्य थैली।

प्रश्न 2.
मनुष्य में मादा प्रजनन अंगों का संक्षेप में वर्णन करो।
उत्तर-
मानव मादा प्रजनन अंग (Female Reproductive Organs) – मनुष्य के मादा प्रजनन अंग निम्नलिखित हैं-

1. अंडाशय (Ovary) – श्रोणिय गुहिका में दो अंडाशय होते हैं जो बहुत छोटे आकार के होते हैं। अंडाशय में अंडे बनते हैं। अंडाशय की अंदर की सतह पर एपीथीलियम कोशिकाओं की पतली परत होती है जिसे जनन एपीथीलियम कहते हैं। इसकी कोशिकायें विभाजित होकर फोलिकल तथा अंडा बनाती हैं। अंडाशय की गुहा में संयोजी ऊतक होते हैं जिन्हें स्ट्रोमा कहते हैं। प्रत्येक फोलिकल में एक जनन कोशिका होती है जिसके चारों ओर स्ट्रोमा की कोशिकाएँ रहती हैं। अर्ध सूत्री विभाजन के फलस्वरूप जनन कोशिकाएँ अंडे का निर्माण करती हैं।
ओस्ट्रोजिन तथा प्रोजिस्ट्रॉन नामक दो हार्मोन अंडाशय द्वारा स्रावित होते हैं जो मादा में जनन संबंधी विभिन्न क्रियाओं का नियंत्रण करते हैं।

2. फैलोपियन नलिका (Fallopian Tube) – यह रचना में नलिका समान होती है। इसका एक सिरा गर्भाशय से जुड़ा रहता है और दूसरा सिरा अंडाशय के पास खुला रहता है। इसके सिरे पर झालदार रचना होती है जिसे फिंब्री कहते हैं। अंडाशय से जब अंडा निकलता है तो फिंब्री की संकुचन क्रिया के कारण फैलोपियन नलिका में आ जाता है। यहाँ से गर्भाशय की ओर बढ़ता है। अंड निषेचन फैलोपियन नलिका में ही होता है। यदि अंडे का निषेचन नहीं होता तो यह गर्भाशय से होकर योनि में और ऋतु स्राव के समय योनि से बाहर निकल जाता है।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 8

3. गर्भाशय (Uterus) – यह मूत्राशय तथा मलाशय के बीच स्थित एक मांसल रचना है। फैलोपियन नलिकाएँ इसके दोनों ओर ऊपर के भागों में खुलती हैं। गर्भाशय का निचला सिरा कम चौड़ा होता है और योनि में खुलता है। गर्भाशय के अंदर की दीवार एंड्रोमीट्रियम की बनी होती है। गर्भाशय का मुख्य कार्य निषेचित अंडे को परिवर्धन काल में जब तक कि गर्भ विकसित होकर शिशु के रूप में जन्म न ले ले, आश्रय तथा भोजन प्रदान करना है।

4. योनि (Vagina) – यह मांसल नलिका समान रचना है। इसका पिछला भाग गर्भाशय की ग्रीवा में खुलता है। मादा में मूत्र निष्कासन के लिए अलग छिद्र होता है जो योनि में खुलता है।

5. भग (Vulva) – योनि बाहर की ओर एक सुराख से खुलती है जिसे भग कहते हैं।

PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन

प्रश्न 3.
क्लोनिंग पर एक नोट लिखो।
उत्तर-
क्लोनिंग – यह समरूप कोशिका अथवा संपूर्ण जीव उत्पन्न करने की विधि है। डॉली, एक भेड़ को सफलतापूर्वक क्लोन किया गया। यह पहला स्तनधारी 1996 में क्लोन किया गया।
PSEB 8th Class Science Solutions Chapter 9 जंतुओं में जनन 9

फिन डारसेट नामक मादा भेड़ की स्तन ग्रंथि से एक कोशिका एकत्र की गई। उसी समय स्काटिश ब्लैक फेस ईव से एक अंडकोशिका एकत्र की गई। अंडकोशिका का केंद्रक हटा दिया गया। तत्पश्चात् फिनडारसेट से एकत्र कोशिका का केंद्रक, दूसरी केंद्रक विनि कोशिका में स्थापित किया गया। इस प्रकार उत्पन्न अंड कोशिका को स्काटिश ब्लैक फेस ईव में रोपित किया गया। अंड कोशिका का विकास एवं परिवर्धन सामान्य रूप से हुआ और अंततः डॉली का जन्म हुआ। यद्यपि स्काटिश ब्लैकफेस ईव ने डॉली को जन्म दिया परंतु डॉली फिन डारसेट भेड़ के समरूप थी, जिससे केंद्रक लिया गया था। डॉली में स्काटिश ईव के कोई लक्षण परिलक्षित नहीं हुए क्योंकि इसका केंद्रक हटा दिया गया | था। दुर्भाग्य से फेफड़ों के रोग के कारण डॉली की 14 फरवरी, 2003 में मृत्यु हो गई।
क्लोन वाले जंतुओं में अक्सर जन्म के समय अनेक विकृतियाँ होती हैं।